COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
13th February, 20204 min read

पैनिक अटैक किसे कहते हैं?

Medical Reviewer:Healthily's medical team
Author:Georgina Newman
मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है। यह Georgina Newman द्वारा लिखा गया है और Healthily's medical team ने इसकी मेडिकल समीक्षा की है।

आपकी हृदयगति तेज़ हो जाती है आपको साँस लेने में दिक्कत होती है कमरा घूमने लगता और आपको पसीना होने लगता है।

आपको पता नहीं चलेगा कि इस समय क्या हो सकता है लेकिन आपको पैनिक अटैक (panic attack) होने की संभावना हो सकती है।

पैनिक अटैक (panic attack) अत्यधिक भय और चिंता के क्षण को कहते हैं। यह डर के प्रति आपके शरीर की शारीरिक और मानसिक प्रतिक्रिया होती है। डर जो वास्तविक, काल्पनिक, शारीरिक या भावनात्मक हो सकता है।

अनुभव व्याकुल करने वाला हो सकता है जबकि होता सामान्य है। 3 में से हर 1 व्यक्ति को अपने जीवन में पैनिक अटैक (panic attack) आता है।

यदि आपको नियमित या कभी पैनिक अटैक (panic attack) आया है तो ये चीज़ें है जिसे आपको जानने की ज़रूरत है।

पैनिक अटैक के दौरान कैसा महसूस होता है?

पैनिक अटैक सबको अलग-अलग महसूस हो सकता है। लेकिन बोला जाता है कि ये आपको ऐसा महसूस करा सकते हैं:

  • की आप नियंत्रण हो चुके हैं
  • आप बेहोश हो रहे हैं
  • आपको दिल का दौरा पड़ रहा है
  • कि आप मरने वाले हैं

बस इतना नहीं है कि आप पैनिक अटैक के दौरान होने वाले परिवर्तनों को कैसे महसूस करते हैं ये दौरे शारीरिक लक्षणों का भी कारण बन सकते हैं जिसमें शामिल है :

  • हृदयगति का तेज होना (a pounding and racing heartbeat)
  • बेहोशी जैसा महसूस होना, सुस्त महसूस करना (feeling faint or light headed)
  • कंपकपी लगना (chills)
  • पसीना आना
  • उलटी आना
  • सीने या पेट में दर्द (chest or tummy pain)
  • साँस फूलना या दम घुटने का अनुभव

अधिकतर पैनिक अटैक 5 से 30 मिनट के बीच होते हैं लेकिन ये लम्बे समय तक रह सकते हैं।

यदि आप और जानकारी चाहते हैं तो पैनिक अटैक के लक्षणों और संकेतो के बारे में और पढ़ सकते हैं.

पैनिक अटैक का क्या कारण हैं?

पैनिक अटैक के विशेष कारण हो सकते हैं लेकिन इसका कोई कारण भी नहीं हो सकता है

लगभग 8 में से 1 लोग जिन्हें पैनिक अटैक आता है, रिपोर्ट बताती है वे गम्भीर नकारात्मक जीवन के दौरे से गुज़र रहे होते हैं जैसे कि कोई क्रोनिक बीमारी या कोई बुरा अनुभव।

अन्य कारणों में शामिल है:

  • परिवार में किसी को पैनिक अटैक रहा हो
  • दुर्व्यवहार का इतिहास
  • अत्यधिक धूम्रपान या बहुत ज़्यादा कैफ़ीन का सेवन
  • तनाव पूर्ण स्थितियों में रहना

पैनिक अटैक के लिए सहायता (help for panic attack)

क्या आपको पैनिक अटैक के लिए डॉक्टर को दिखाने की ज़रूरत है?

पैनिक अटैक का अनुभव भयावह होने के बाद भी ये अमतौर पर डॉक्टर के पास जाने का कोई कारण नहीं होता है। हालांकि डॉक्टर को दिखाएं यदि आपको लगातार पैनिक अटैक आ रहे हैं। क्योंकि यह पैनिक डिसऑर्डर का संकेत हो सकता है।

डॉक्टर को दिखाना तब भी मदद कर सकता है, यदि:

  • 20 मिनट तक साँसों को नियंत्रित करने के बाद भी पैनिक अटैक बना रहता है
  • आपकी साँस सामान्य हो जाती है लेकिन आप खराब महसूस करते हैं
  • पैनिक अटैक के बाद भी आपके सीने में दर्द या हृदयगति तेज़ है

आप अपने पैनिक अटैक के बारे में किससे बात कर सकते हैं?

पैनिक अटैक आपके जीवन को विशेष रूप से प्रभावित कर सकता है और आप अपने अनुभवों के बारे में किसी से बात करने को सहायक पा सकते हैं।

परिवार के किसी करीबी सदस्य, दोस्त या साथी बात करना मदद कर सकता है। बताएं कि आपको पैनिक अटैक कैसा महसूस होता है और संकेतों को कैसे पहचाना जाए ताकि एक और पैनिक अटैक आने पर वे मदद कर सकें।

उन्हें बताएं कि पैनिक अटैक के बाद वे किस तरह से आपकी सहायता कर सकते हैं।

यदि आप अपने तत्काल समर्थन नेटवर्क के बाहर किसी से बात करना चाहते हैं, तो कॉग्निटिव बिहेवियरल थेरेपी (cognitive behavioral therapy) (CBT) आपकी मदद कर सकता है। सीबीटी एक बातचीत की थेरेपी है जो आपको सोचने या व्यवहार के नए तरीके विकसित करने में मदद करती है ताकि आप विशिष्ट समस्याओं को अधिक प्रभावी ढंग से रोक सकें।

क्या करें अगर यह फिर से हो?

कुछ चीजें हैं जो आपको पैनिक अटैक का सामना करने में मदद कर सकती है यदि वे होते हैं और जब वे होते हैं। मदद और मार्गदर्शन के लिए, पैनिक अटैक से कैसे निपटें इसके बारे में इस लेख पर नज़र डालें।

क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।