COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
2nd January, 20203 min read

सोने के समय स्मार्टफोन के इस्तेमाल का आपकी नींद पर असल प्रभाव

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है।

स्मार्टफोन और मोबाइल दैनिक जीवन का एक बड़ा हिस्सा हैं। बहुत से लोग इसे दिन की शुरुआत से लेकर अंत तक इस्तेमाल करते हैं।

नेशनल स्लीप फाउंडेशन (national sleep foundation) के अनुसार 71% लोग अपने हाथ में, बिस्तर में या बगल की टेबल पर स्मार्टफोन रखकर सोते हैं। यह उन्हें दुनिया से जोड़े रखने में मदद करता है। लेकिन जुड़ाव की इस भावना के लिए आपको अपनी नींद के रूप में कीमत चुकानी पड़ती है।

स्मार्टफोन नींद की समस्या का कारण क्यों बनते हैं? (Why do smartphones cause sleep problem)

यहां मुख्य तीन कारण दिए गए हैं कि सोने के समय या उसके आसपास स्क्रीन उपकरण जैसे लैपटॉप, स्मार्टफोन और टैबलेट देखना क्यों आपकी नींद खराब कर सकता है।

1. स्मार्टफोन आपके दिमाग को सोचने के लिए मजबूर करता है कि ये दिन का समय है।

इलेक्ट्रॉनिक स्क्रीन से नीला प्रकाश निकलता है, एक प्रकार का प्रकाश जो सूर्य से प्राकृतिक रूप से निकलता है। नीला प्रकाश आपके दिमाग को बताता है कि ये दिन का समय है जो आराम के हार्मोन मेलाटोनिन (melatonin) को कम करता है जबकि यह दिन के दौरान ठीक होता है। रात के समय में फोन देखना आपके दिमाग को ये यक़ीन दिलाता है कि ये दिन का समय है। जो फोन को स्विच ऑफ करना और सोना मुश्किल बनाता है।

2. जब आपके दिमाग को आराम करना चाहिए तब स्मार्टफोन उसे उत्तेजित करता है

यदि आप सोने से पहले कोई कार्य करने के लिए और दूसरों से बात करने के लिए अपने फ़ोन या लैपटॉप का इस्तेमाल करते हैं तो यह आपको आराम के बजाय तनावग्रस्त और सक्रिय बना सकता है। जब आपका दिमाग चलता है तो उस समय सोना या सोए रहना मुश्किल हो सकता है।

3. स्मार्टफोन आपका ध्यान खींच सकते हैं

अपने स्मार्टफ़ोन को अपने बेडरूम में रखना विचलित करने वाला हो सकता है, भले ही वह आपके बिस्तर के बगल वाली टेबल पर पड़ा हो। बीप, फ्लैश की चमक और टेक्स्ट या सूचना कम्पन ये सभी आपको सोने से रोक सकते हैं। और यदि ये आपको रात के बीच में जगाते हैं तो आपको वापस सोने में संघर्ष करना पड़ सकता है।

तो इलेक्ट्रॉनिक उपकरण से खराब हुई नींद के चक्र को आप कैसे तोड़ सकते हैं?

आप स्मार्टफोन को अपनी नींद खराब करने से कैसे रोक सकते हैं?

अपने शरीर को आराम के लिए तैयार करना अच्छी नींद की कुंजी है। यह निम्न चीज़ें कर आप ऐसे कर सकते हैं:

  • सोने जाने से एक घण्टे पहले अपने इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को बन्द कर दें
  • अपने इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों पर नीले प्रकाश को बेअसर करने वाले सॉफ्टवेयर को इंस्टॉल करें
  • अपने फोन को नाइट मोड पर रखें

नीली रोशनी को पृथक करने का दावा करने वाले चश्में भी उपलब्ध हैं, लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि ये नीले प्रकाश को सीमित करने में कितने असरदार हैं।

क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।