1 min read

जीवाणु संक्रमण के कारण की पहचान करना

मेडिकली रिव्यूड

Gram Stain एक प्रकार का टेस्ट होता है, जिसका उपयोग बैक्टीरिया संक्रमण के कारणों की पहचान करने के लिए किया जाता है।

इसमें सूक्ष्म जीवों की उपस्थिति की जांच के लिए प्रभावित इलाके से एक नमूना लेकर, उसका लैब टेस्ट किया जाना शामिल है।

कभी-कभी कल्चर जांच से भी, ग्रैम स्टैन टेस्ट किया जाता है। असल में कल्चर, कोशिकाओं की आबादी है, आमतौर पर बैक्टीरिया, जो तरल या ठोस पदार्थ में पैदा होते हैं।

इस टेस्ट के परिणाम से इस बात का पता लगाया जा सकता है कि बैक्टीरिया किस का प्रकार है और इसके लिए किस उपयुक्त एंटीबायोटिक के साथ उपचार शुरू किया जा सकता है। हालांकि कुछ मामलों में संक्रमण के सटीक कारणों की पुष्टि के लिए कुछ अन्य टेस्ट की भी जरूरत होती है ।

सामग्री का स्त्रोतNHS लोगोnhs.uk
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

आगे क्या पढ़ें
टीपीएमटी(TPMT) टेस्ट
किसी व्यक्ति का टीपीएमटी(TPMT) टेस्ट उस समय करवाया जाता है, जब इस बात की जांच करनी हो कि क्या उसे थियोफ्यूरिन(thiopurine) नामक दवा लेने के बाद गंभीर द...
संपूर्ण प्रोटीन टेस्ट(Total protein test)
आपके खून में प्रोटीन की मात्रा को मापने के लिए एक सम्पूर्ण प्रोटीन टेस्ट किया जाता है ।
टोटल आयरन बाइंडिंग कैपेसिटी टेस्ट (TIBC)
हमारे शरीर में मौजूद आयरन की मात्रा को मापने के लिए जो टेस्ट किया जाता है उसे टोटल आयरन बाइंडिंग कैपेसिटी टेस्ट(टीआईबीसी) या ट्रांसफिरिन टेस्ट कहा जात...