COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
11 min read

वार्फरिन (warfarin) - Healthily

वार्फरिन (warfarin), एक प्रमुख ओरल एंटीकोगुलेंट (Oral Anticoagulant) है। ओरल का अर्थ है कि इसे मुंह के जरिए लिया जाता है। एंटीकोगुलेंट (Anticoagulant) एक ऐसी दवाई होती है जो खून का थक्का जमने से रोकती है।

क्लॉटिंग (Clotting(thickening)) एक जटिल प्रक्रिया है, जिसमें कई तत्व शामिल होते हैं, जो थक्का जमाने के कारक कहे जाते हैं।

थक्का जमाने के कारक लिवर द्वारा निर्मित होते हैं और रक्तस्त्राव को नियंत्रित करने में मदद करते हैं। वे उन कोशिकाओं के साथ काम करते हैं जो रक्त के थक्कों की प्रक्रिया (प्लेटलेट्स) को शुरू करते हैं ताकि रक्त के थक्के सही से बन सके।

थक्के के कुछ कारकों का उत्पादन करने के लिए, लिवर को ‘विटामिन के (vitamin K)’ की अच्छी आपूर्ति की ज़रूरत होती है।

वार्फरिन उन एन्जाइम्स (enzymes) में से एक को अवरुद्ध कर देता है जो थक्का जमाने के कारकों का उत्पादन करने के लिए विटामिन के (Vitamin K), का इस्तेमाल करता है। ये क्लॉटिंग की प्रक्रिया को बाधित करता है और इससे खून को जमने में ज्यादा समय लगता है।

आगे हम निम्नलिखित विषयों के बारे में जानेंगे:

  • वार्फरिन (warfarin) कब दी जाती है?
  • वार्फरिन (warfarin) कैसे लिया जाता है?
  • वार्फरिन (warfarin) के दुष्प्रभाव
  • प्रतिक्रियाएँ(Interactions)
  • अन्य उपयोगी जानकारी

वार्फरिन कब दी जाती है? (When warfarin is prescribed)

एंटीकोगुलेंट दवाईयां (Anticoagulant medicines) जैसे कि वार्फरिन, उन लोगों को दी जाती है जिन्हें ब्लड क्लॉट की वजह से हुई कोई स्थिति हो, जैसे:

  • आघात (stroke)
  • दिल का दौरा (heart attack)
  • डीप वेन थ्रोम्बोसीस (deep vein thromobosis) - शरीर में किसी गहरी नस के भीतर खून का थक्का जमना, आमतौर पर ये पैर में होता है
  • पल्मोनरी एम्बोलिज्म (pulmonary embolism)- फेफड़ों में खून का थक्का जमना

वार्फरिन उन लोगों को भी दी जा सकती है, जिनमें हानिकारक रक्त के थक्कों के जमने का ज़्यादा खतरा हो, जैसे कि उन लोगों को जिनमें:

● एक वैकल्पिक या स्थानापन्न (replacement) या यांत्रिक (कृत्रिम, prosthetic) हृदय वाल्व लगा हो

  • अनियमित हृदय गति हो, जो एट्रियल फाइब्रिलेशन (atrial fibrillation) के नाम से जाना जाता है
  • रक्त का थक्का जमने वाला विकार हो, जैसे कि थ्राम्बोफिलिया (thrombophilia)
  • सर्जरी के बाद खून का थक्का जमने का अधिक खतरा हो

वार्फरिन लेना (Taking warfarin)

ये बहुत ज़रूरी है कि आप वार्फरिन (warfarin) वैसे ही लें जैसे आपको बताया गया है। आपके लिए जो खुराक निर्धारित की गई है, उसे तब तक ना बढ़ाएं जब तक डॉक्टर आपको ऐसा करने की सलाह ना दें।

वार्फरिन (warfarin) आमतौर पर दिन में एक बार, शाम के वक्त ली जाती है। ये ज़रूरी है कि आप रोज़ खुराक एक ही समय पर खाने से पहले, खाने के दौरान या खाने के बाद लें।

वार्फरिन देने का उद्देश्य खून के जमने की प्रवृत्ति को पूरी तरह से रोकना नहीं, बल्कि कम करना होता है। इसका मतलब वार्फरिन की जो खुराक आप ले रहे हैं, उसकी सावधानीपूर्वक निगरानी की जानी चाहिए और अगर ज़रूरत हो तो उसमें बदलाव किया जाना चाहिए।

आपकी दवा की खुराक सही है या नहीं, ये जाँचने के लिए आपको अपने डॉक्टर या लोकल एंटीकोगुलैंट (Anticoagulant) क्लीनिक के पास नियमित रक्त की जांच करानी होगी।

इंटरनैशनल नॉर्मलाइज्ड रेश्यो (international normalized ratio) (INR) आपके रक्त को थक्का जमने में कितना वक्त लगता है, इसे मापता है। जितना ज्यादा वक्त आपके खून का थक्का जमने में लगता है, उतना ही अधिक आपका INR होता है। आपका INR आपके वार्फरिन warfarin) की खुराक को निर्धारित करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

हालांकि अब तीन नए एंटीकोगुलैंट (Anticoagulants) हैं जिन्हें नियमित निगरानी की ज़रूरत नहीं होती - रिवरोक्सेबन (rivaroxaban), एपिक्सैबन (apixaban) और डाबीगाट्रन (dabigatran) - अधिकतर जिन लोगों को एंटीकोगुलैंट (Anticoagulant) की ज़रूरत होती है उन्हें वार्फरिन (warfarin) ही दी जाती है।

जब आप वार्फरिन (warfarin) लेना शुरू कर देते हैं, आपको एंटीकोगुलैंट (Anticoagulants) के बारे में एक पीले रंग की बुकलेट दी जा सकती है, जो आपको ट्रीटमेंट के बारे में समझाती है।

आपको कितने वक्त तक वार्फरिन (warfarin) लेने की ज़रूरत होगी, ये उस स्थिति पर निर्भर करेगा जिसके लिए आपको इसे लेना निर्धारित किया गया था। ये आप अपने डॉक्टर से पूछ सकते हैं।

छूटी हुई खुराक (Missed doses)

अगर आप सामान्यतः वार्फरिन (warfarin) सुबह के समय लेते हैं और इसे समय पर लेना भूल गए हैं तो जितनी जल्दी आपको याद आ जाए, इसे ले लीजिए और फिर इसे सामान्य रूप से लेते रहें।

हालांकि, अगर आपकी अगली खुराक का समय हो गया है, तो छूटी हुई खुराक की भरपाई करने के लिए दोगुनी खुराक ना ले, जब तक आपके डॉक्टर ने आपको विशेष रूप से इसकी सलाह ना दी हो।

अगर आप वार्फरिन की शाम की खुराक लेना भूल गए हैं लेकिन आपको उसी दिन आधी रात से पहले ये याद आ जाता है तो अपनी छूटी हुई डोज़ ले लीजिए।

अगर आधी रात निकल गई हो तो छूटी हुई डोज़ को रहने दें और अगले दिन समय पर अगली खुराक लें।

अगर आप ये समझ ना पा रहे हो कि वार्फरिन की छूटी हुई खुराक के बारे में क्या करें तो अपने डॉक्टर या लोकल एंटीकोगुलैंट क्लीनिक से पूछे।

वार्फरिन किसे नहीं लेनी चाहिए? (Who shouldn't take warfarin)

इन लोगों को वार्फरिन (warfarin) नहीं लेनी चाहिए:

  • गर्भवती महिलाएं - ये बच्चे के विकास पर असर डाल सकती हैं।
  • जिन लोगों को अनियंत्रित हाई ब्लड प्रेशर (high blood pressure)(severe hypertension)(सीवियर हाइपरटेंशन) हो
  • वो लोग जिन्हें अंदरूनी रक्त स्त्राव का अधिक खतरा हो - उदाहरण के तौर पर वो लोग जिन्हें पेट का अल्सर हो (stomach ulcer)
  • वो लोग जिन्हें रक्तस्त्राव का विकार हो - जैसे कि haemophilia (हीमोफीलिया)

वार्फरिन के दुष्प्रभाव (Side effects of warfarin)

वार्फरिन से जुड़ा मुख्य दुष्प्रभाव रक्त स्त्राव है, क्योकि ये खून के थक्का जमने की क्षमता को कम कर देता है।

वार्फरिन का इलाज शुरू करने के पहले कुछ हफ्तों में और जब आप स्वस्थ ना हो तब, आपको रक्तस्त्राव का बहुत अधिक खतरा होता है।

इसलिए आपको तुरंत मेडिकल देखभाल की ज़रूरत है अगर आपको:

एंटीकोगुलैंट दवाई लेते समय कोई ऐसा काम करने से बचें, जिसमें आपके शरीर में कोई कट (cut) लगने की संभावना हो, ताकि अत्यधिक ब्लीडिंग के खतरे को रोका जा सके।

उदाहरण के तौर पर आपको:

  • शेविंग और अपने दांतों को ब्रश करते समय ज्यादा ध्यान रखना चाहिए।
  • सिलाई करते समय, गार्डनिंग करते समय या खेलते समय सुरक्षात्मक कपड़े पहने
  • कीड़े के काटने या डंक से बचने के लिए कीट निवारक का इस्तेमाल करें

अगर आप वार्फरिन (warfarin) ले रहे हैं तो आपको इन स्थितियों में तुरंत डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए:

  • आप गिर जाएँ या एक्सीडेंट हो जाए
  • सिर में बड़ा झटका या चोट लगे
  • ब्लीडिंग नहीं रूक पा रही हो
  • ब्लीडिंग के संकेत हों जैसे कि छिल जाना

त्वचा पर चकत्ते होना या बालों का झड़ना भी वार्फरिन (warfarin) के आम दुष्प्रभावों में से है।

वार्फरिन (warfarin) लेते हुए अगर आप लगातार किसी भी दुष्प्रभाव को महसूस कर रहे हों, तो अपनी देखभाल कर रहे डॉक्टर या स्वास्थ्य विशेषज्ञ से सम्पर्क करें।

वार्फरिन के साथ प्रतिक्रिया (Interactions with warfarin)

दवाईयां (Medicines)

वार्फरिन किसी भी दवा के साथ परस्पर क्रिया कर सकती है। दवा के साथ आने वाले पर्चे जिसमें रोगी के लिए जानकारी लिखी होती है, उसमें ये जानकारी होनी चाहिए कि वो दवा वार्फरिन (warfarin) के साथ लेना सुरक्षित है या नहीं।

अगर आप इसे लेकर किसी तरह की उलझन में हैं तो अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से पूछे।

वार्फरिन लेते समय निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें:

  • तब तक एस्प्रिन (aspirin) या कोई ऐसा इलाज ना लें जिसमें एस्प्रिन (aspirin) हो, जब तक इसे किसी डॉक्टर ने आपको ना दिया हो क्योंकि इससे रक्तस्त्राव हो सकता है
  • तब तक इबोप्रोफन (ibuprofen) ना ले जब तक डॉक्टर आपको इसकी सलाह ना दें आप पैरासिटामोल (Paracetamol) ले सकते हैं, हालांकि इसे भी निश्चित खुराक से ज्यादा नहीं लेना चाहिए
  • वार्फरिन के साथ हर्बल दवाइयां और सप्लीमेंट्स भी परस्पर क्रिया कर सकते हैं। इसलिए डॉक्टर, फार्मासिस्ट या लोकल एंटीकोगुलेंट क्लिनिक के स्टाफ से जांच के बिना आपको इन्हें भी नहीं लेना चाहिए

खाना और पीना (Food and drink)

जिन खाद्य पदार्थों में ‘विटामिन के (Vitamin K)’ की मात्रा ज्यादा हो, समेत कुछ खाद्य और पेय पदार्थ अगर ज्यादा मात्रा में लिए जाए तो वो वार्फरिन(warfarin) के प्रभाव पर असर डाल सकते हैं।

जिन खाद्य पदार्थों में विटामिन के (Vitamin K) की मात्रा अधिक होती हैं, वे हैं:

  • हरी पत्तेदार सब्जियां जैसे ब्रॉकली (broccoli) और पालक (spinach)
  • वेजिटेबल ऑयल (vegetable oils)
  • अनाज के दाने (cereal grains)

मीट और डेयरी प्रोडक्ट्स में भी विटामिन के (Vitamin K) की कम मात्रा पाई जाती है।

जब आपके लिए वार्फरिन की पहली खुराक निश्चित की जाती है तो इससे फर्क नहीं पड़ता कि आप कितना विटामिन के ले रहे हैं क्योंकि ये खुराक आपके ब्लड क्लॉटिंग स्तर के आधार पर होगी

हालांकि अगर आप अपनी डाइट में विशेष बदलाव करते हैं जैसे कि विटामिन K की मात्रा वाले खाने को बढ़ा देना या फिर उन खाने की चीज़ों को कम कर देना जिनमें विटामिन K है तो ये वार्फरिन के काम करने के तरीके पर प्रभाव डाल सकती है।

वार्फरिन लेते वक्त अपनी डाइट में कोई भी विशेष बदलाव करने से पहले जो डॉक्टर आपकी देखभाल कर रहे हैं उन्हें ज़रूर बताएँ। वो आपको इस बारे में भी अधिक जानकारी दे पाएंगे कि खाने की किन चीज़ों को कम करने या बंद करने की ज़रूरत है।

एल्कोहल (Alcohol)

वार्फरिन (warfarin) लेते समय शराब पीना या अनियंत्रित मदिरापान खतरनाक होता है। ये ड्रग के प्रभाव को बढ़ा सकता है जिससे ब्लीडिंग का जोखिम बढ़ सकता है।

शराब पीने के नए दिशानिर्देशों में कहा गया है कि नियमित रूप से सप्ताह में 14 यूनिट से अधिक शराब पीना (पुरुषों और महिलाओं दोनों को) स्वास्थ्य के लिए नुक़सानदायक हो सकता है।

14 यूनिट, औसत ताकत वाली बियर की 6 पाइंट्स या कम स्ट्रांग वाइन के दस छोटे ग्लास के बराबर होता है।

एल्कोहल की यूनिट के बारे में और पढ़े।

ज्यादा पीने वाले या वो लोग जिन्हें लिवर की बीमारी है उन्हें वार्फरिन (warfarin) लेते समय शराब नहीं पीनी चाहिए।

अन्य उपयोगी जानकारी (Other useful information)

सर्जरी और दांत में काम कराना (Surgery and dental work)

किसी ऑपरेशन या दांत से जुड़े किसी ट्रीटमेंट से पहले, रक्तस्राव के खतरे की वजह से आपकी वार्फरिन (warfarin) की खुराक कम की जा सकती है या रोकी जा सकती है।

अपने सर्जन या डेन्टिस्ट को बताए कि आप वार्फरिन (warfarin) ले रहे हैं। अगर आपको ऑपरेशन की ज़रूरत है तो आपको आपकी देखभाल कर रहे लोग जैसे कि एंटीकोगुलैंट (Anticoagulant) नर्स को भी ये बात बतानी चाहिए ताकि वो ज़रूरी प्रबंध कर सकें।

टीकाकरण (Having vaccinations)

वार्फरिन लेते समय आप टीकाकरण करवा सकते हैं।

अगर वैक्सीन सामान्य रूप से आपकी मांसपेशी में दी जाती है तो ये सुनिश्चित कर लें कि आपकी INR टेस्टिंग वर्तमान हो और उसके रिजल्ट सही रेंज के अंदर हो तो आप सामान्य तरीके से मांसपेशी में इंजेक्शन ले सकते हैं। इसे इंट्रामस्क्यूलर इंजेक्शऩ (IM) कहा जाता है।

वैकल्पिक रूप से, आपकी त्वचा के नीचे वसा की परत में भी इंजेक्शन दिया जा सकता है, इसे अंतस्त्वचा इंजेक्शन (subcutaneous injection) के नाम से जाना जाता है। चोट को कम करने के लिए जहां इंजेक्शन लगा है, वहां टीकाकरण के बाद 10 मिनट तक ज़ोर से दबाया जा सकता है।

खेलते समय (Playing sports)

वार्फरिन लेते हुए आप किसी खेल का आनंद ले सकते हैं लेकिन रक्तस्त्राव के जोखिम के कारण:

  • ऐसे खेल जिनसे सिर में चोट लग सकती है, जैसे कि फुटबॉल, रग्बी, क्रिकेट और हॉकी, अगर प्रतिस्पर्धी रूप में खेला जाए तो इनसे बचना चाहिए
  • मार्शल आर्ट्स और किक बॉक्सिंग को पूरी तरह से अवॉइड करना चाहिए

आप नॉन-कॉन्टैक्ट खेलों जैसे कि दौड़ना, एथलेटिक्स, साइक्लिंग और रैकेट में पहले की तरह ही भाग ले सकते हैं। हालांकि, इस बात को सुनिश्चित करें कि आप सुरक्षात्मक कपड़े जैसे साइकिल हैलमेट पहनें।

छुट्टी पर जाना (Going on holiday)

अगर आप देश में या विदेश में कहीं छुट्टी पर जा रहे हैं तो अपने डॉक्टर या एंटीकोगुलैंट नर्स (Anticoagulant nurse) को बताएं और जाने से पहले अपने आईएनआर (INR) की जांच करवा लें।

अगर आप एक महीने से अधिक समय के लिए कहीं बाहर जा रहे हैं तो आपको अपने आईएनआर (INR) टेस्ट करवाने की ज़रूरत होगी। इस बात का पूरा ख्याल रखे कि आपके पास वार्फरिन (warfarin) की इतनी गोलियां हो जो आपकी पूरी ट्रिप के दौरान चल सके।

बॉडी पियर्सिंग (body piercings)

जब आप वार्फरिन (warfarin) ले रहे हो, उस समय बॉडी पियर्सिंग करवाने की सलाह नहीं दी जाती है; क्योंकि इससे रक्तस्त्राव और संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है।

NHS के मूल कॉन्टेंट का अनुवादHealthily लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।