COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
26th July, 20204 min read

कब्ज़ से निजात पाने के प्राकृतिक तरीके (natural ways to relieve constipation)

Medical Reviewer: Healthily's medical team
Author: Alex Bussey
मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है। यह Alex Bussey द्वारा लिखा गया है और Healthily's medical team ने इसकी मेडिकल समीक्षा की है।

अगर आपको कब्ज़ (constipation) है तो आप अच्छी तरह जानते होंगे कि ये असहज अवस्था हो सकती है।

कब्ज़ से पीड़ित व्यक्ति अक्सर मल त्याग करना मुश्किल पाते हैं, शौचालय जाने में खिंचाव महसूस करते हैं और हफ्ते में 3 से कम बार मल त्याग करते हैं।

हालांकि कभी-कभी कब्ज़ लम्बे समय के लिए रह सकता है, कुछ चीज़ें हैं जो आप बिना लैक्सेटिव या सप्लीमेंट के इस्तेमाल के अपनी स्थिति को आसान बनाने के लिए कर सकते हैं।

कब्ज़ में खुद किए जाने वाले उपाय

कब्ज़ का इलाज अपने आहार और जीवनशैली में छोटे परिवर्तन करके किया जा सकता है

प्रत्येक दिन 30 मिनट तक व्यायाम करें

अगर आप अपना दिन डेस्क के सामने बैठकर काम करते हुए बिताते हैं तो खड़े होना और आसपास हिलना डुलना कब्ज़ के लक्षणों से आराम पहुँचाने में सहायक हो सकता है।

कैनेडियन सोसाइटी ऑफ इंटेस्टाइनल रिसर्च (Canadian society of intestinal research) के अनुसार व्यायाम आपके आंत की मांसपेशियों को उत्तेजित करने में सहायता करता है। ये खाने को बाउल (bowel) तक जाने के लिए प्रोत्साहित करता है।

जब भी आपको आवश्यकता हो शौचालय जाएं

कुछ लोग सार्वजनिक स्थानों पर शौचालय का उपयोग करने में असहज महसूस करते हैं। शौचालय का उपयोग करने के आग्रह को अनदेखा करना सामान्य है क्योंकि आप अपने दोस्तों के साथ काम पर या बाहर व्यस्त हैं।

लेकिन जब भी आपको टॉयलेट लगे जाना जरूरी होता है।

अक्सर ज़रूरत पड़ने पर शौचालय नहीं जाने से कब्ज बदतर हो सकता है क्यूँकि:

  • आपके कोलोन में मल को अधिक समय तक रखने से - जितना लंबे समय तक यह रहता है, उतना अधिक पानी खोता है, और अधिक कठोर हो जाता है।
  • अपने शरीर के उन संकेतों को अनदेखा करने के लिए प्रशिक्षण देना जो आपको बताते हैं कि यह कब आपको मल त्याग की आवश्यकता है

छोटे स्टूल के सहारे अपने पैरों को आराम दें (rest your feet on a low stool)

जब आप शौचालय जाने का प्रयास कर रहे हों तो अपने पैरों को एक निचले स्टूल, बड़ी सी किताब या इसी प्रकार की किसी ठोस वस्तु पर सहारा देने से मदद मिलती है।

ऐसा इसलिए क्योंकि अपने घुटनों के साथ आगे को झुककर बैठना और रीढ़ की हड्डी को सीधा रखना मल त्याग करने में मदद कर सकता है।

कुछ अध्ययन यह भी बताते हैं कि जब आप शौचालय जाते हैं तब स्क्वाटिंग करना आपके कब्ज़ से आराम में सहायक हो सकता है। लेकिन यह अध्ययन छोटे हैं और अधिक शोध की ज़रूरत है।

अधिक फाइबर खाएं (eat more fibre)

अधिक फाइबर खाना कब्ज़ के इलाज या उसे रोकने में सहायक हो सकता है। लेकिन अपने आहार में फाइबर जोड़ना मुश्किल हो सकता है, यदि आप बहुत फल और सब्जियां नहीं खाते हैं।

नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डायबिटीज एंड डाइजेस्टिव एंड किडनी डिज़ीज़ अपने आहार में धीरे धीरे फाइबर जैसे बीन्स, मटर, मसूर, सेब, गाजर और ब्रॉकली जोड़ने का सुझाव देते हैं।

आप हाई-फाइबर नाश्ता सीरियल्स, जैसे कि ब्रैन फ्लेक्स या एक अनाज, जिसमें कटा हुआ साबुत अनाज होता है भी ले सकते हैं। इनमें से कुछ अनाज प्रति 100 ग्राम पर 24g तक फाइबर प्रदान करते हैं। अनाज का एक कटोरा आमतौर पर 30 ग्राम के आसपास होता है, जिसका अर्थ है कि ये अनाज हर हिस्से पर 7 ग्राम तक फाइबर दे सकते हैं।

आपको हर दिन कम से कम 30 ग्राम फाइबर खाने का लक्ष्य रखना चाहिए।

नियमित समय पर खाएं और शौचालय जाएं

आपका बावेल आपके शरीर के अंदरूनी घड़ी के मार्गदर्शन पर चलता है। आप दिनचर्या का पालन करके नियमित बावेल मूवमेंट पा सकते हैं। इससे दूर जाने से आपको कब्ज़ होने की संभावना अधिक होती है।

यह सुनिश्चित करने की कोशिश करें कि आप खाना खाएं और प्रत्येक दिन एक ही समय पर शौचालय जाएं।

कुछ विशेषज्ञ सलाह देते हैं कि आप नाश्ते के 15 से 45 मिनट बाद शौचालय जाने की कोशिश करें, क्योंकि खाना आपके कॉलन को मल को बाहर निकलने के लिए बढ़ावा देता है।

लेकिन आपको एक ऐसा समय चुनना चाहिए जो आपके लिए ठीक हो और उसे हर दिन करने की पूरी कोशिश करें।

क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।