1 min read

संयुक्त गोली(Combined Pill)

मेडिकली रिव्यूड

खाने वाली संयुक्त गर्भनिरोधक गोली को आमतौर पर गोली(पिल) ही बोला जाता है। इसमें फ़ीमेल हार्मोन्स ओस्ट्रोजेन(oestrogen) और प्रोजेस्टेरोन(progesterone) का कृत्रिम संस्करण निहित होता है ये हार्मोन महिलाएं अपने अंडाशय में प्राकृतिक रूप से उत्पन्न करती हैं

अगर किसी पुरुष का शुक्राणु महिला के किसी अंडाणु तक पहुंच जाता है वो गर्भधारण कर लेती है। गर्भनिरोधक अंडाणु के उत्पादन को रोककर या अंडाणु और शुक्राणु को दूर रखकर गर्भधारण करने से रोकते हैं। गर्भनिरोध का एक तरीका संयुक्त गोली है।

गोली के हार्मोन आपके अंडाशय से अंडाणु को जारी होने ( अंडोत्सर्ग) से रोकते हैं। ये शुक्राणु का अंडाणु तक पहुंचना मुश्किल कर देते हैं या अंडाणु को गर्भ की लाइनिंग में खुद को स्थापित होने से रोक देते हैं। आमतौर पर गोली गर्भधारण को रोकने के लिए ली जाती है लेकिन दर्दभरे मासिक धर्म, भारी मासिक धर्म, प्री-मेंस्ट्रुअल सिंड्रोम (पीएमएस) और एंडोमेट्रियोसिस रोग के उपचार में भी इस्तेमाल की जा सकती है।

एक नजर में – संयुक्त गोली

  • जब सही तरीके से ली जाए तो गर्भ रोकने में यह 99 फीसदी से भी ज्यादा कारगर होती है। इसका अर्थ यह हुआ कि एक साल में संयुक्त गोली के रूप में गर्भनिरोधक का इस्तेमाल करने वाली 100 में एक से भी कम महिला गर्भवती हो सकती है।
  • आपको 21 दिन तक हर रोज गोली लेनी होगी और उसके बाद 7 दिन तक उसे रोकना होगा और इस सप्ताह के दौरान आपको मासिक धर्म जैसा रक्तस्राव हो सकता है। सात दिन के बाद आप फिर से गोली लेना शुरू कर सकती हैं।
  • आपको यह गोली हर रोज एक ही समय पर लेनी होगी। अगर आप ऐसा नहीं करेंगी या आप किसी दिन गोली नहीं खाएंगी या उल्टी कर देंगी या गंभीर रूप वाले दस्त लगे होंगे तो आप गर्भवती हो सकती हैं।
  • अगर आपको भारी मासिक धर्म हो रहा हो या दर्दभरा मासिक दर्म हो रहा हो तो आप संयुक्त गोली ले सकती हैं।
  • इसके हल्के दुष्प्रभावों में मूड का उतार-चढ़ाव, स्तन की कोमलता और सिरदर्द शामिल हैं।
  • इस बात का कोई प्रमाण नहीं है कि इसके सेवन से महिलाओं का वजन बढ़ जाता है।
  • इसके गंभीर दुष्प्रभावों का काफी कम जोखिम होता है जैसे खून के थक्के बनना और सर्विकल कैंसर।
  • संयुक्त गोली 35 साल से ज्यादा उम्र वाली उन महिलाओं के लिए उपयुक्त नहीं है जो धूम्रपान करती हैं या जिन महिलाओं में कुछ अन्य रोग होते हैं।
  • गोली किसी तरह के यौन संचारित संक्रमण (STI) से सुरक्षा नहीं देती है इसलिए इसके साथ कंडोम का प्रयोग करने से आपको एसटीआई से सुरक्षा मिल सकती है।

संयुक्त गोली कैसे काम करती है?

यह कैसे गर्भावस्था को रोकती है?

गोली अंडाशय को हर महीने अंडाणु जारी(अंडोत्सर्ग) करने से रोकती है। साथ ही-

  • गर्भ की ग्रीवा में म्यूकस मोटा हो जाता है इसलिए शुक्राणु के लिए गर्भ में घुसकर अंडाणु तक पहुँचना मुश्किल हो जाता है।
  • गर्भ की लाइनिंग पतली हो जाती है जिससे फ़र्टीलाईज़ हुए अंडे के गर्भ में स्थापित होने और उसमें बढ़ने का अवसर कम हो जाता है।

हालांकि गोलियों के कई ब्रांड मौजूद हैं फिर भी तीन मुख्य प्रकार हैं:

मोनोफेसिक 21 डे पिल्स(Monophasic 21-day pills)

यह सबसे आम किस्म है। हर गोली में हार्मोन की समान मात्रा होती है। 21 दिन तक हर रोज एक गोली लेनी होती है और उसके अगले 7 दिन तक कोई गोली नहीं लेनी होती। माइक्रोजिनोन( Microgynon), ब्रेविनोर(Brevinor) और सिलेस्ट(Cilest) इस प्रकार की गोली के उदाहरण हैं।

फेसिक 21-डे पिल(Phasic 21-day pills)

फेसिक पिल के पैके में विभिन्न रंग की अलग-अलग रंग की गोलियों के दो या तीन सेक्शन होते हैं। हरेक सेक्शन में हार्मोन्स की अलग मात्रा होती है। 21 दिन तक हर रोज एक गोली लेनी होती है और उसके अगले 7 दिन तक कोई गोली नहीं लेनी होती। फेसिक पिल्स को सही क्रम में लेना होता है। बिनोवुम(Binovum) और लोगिनोन(Logynon) इस प्रकार की गोलियों के प्रकार हैं।

एवरी डे (ईडी) पिल्स

आप गर्भनिरोधक यहां से प्राप्त कर सकती हैं-

  • ज्यादातर डॉक्टरों के क्लीनिक से
  • सामुदायिक गर्भनिरोध क्लीनिक से
  • स्थानीय चिकित्सा केंद्रो से
  • सेक्सुअल हेल्थ क्लीनिक से
  • कुछ स्वयंसेवी संस्थाओं से

एक पैक में 21 सक्रिय गोलियां और सात असक्रिय (डमी) गोलियां होती हैं। दोनों प्रकार की गोलियां अलग दिखती हैं। गोलियों के पैक के बीच कोई अंतराल दिए बिना 28 दिन तक हर रोज एक गोली लेनी होती है। हर रोज गोली को सही तरीके से लिया जाना होता है। माइक्रोजिनोन ईडी और लोजीनोन ईडी इस तरह की गोलियों के उदाहरण हैं।

पैकेट पर लिखे निर्देशों का पालन करें। गोली कैसे लेनी है इसको लेकर आपके मन में कोई सवाल हो तो अपने डॉक्टर, नर्स या फार्मासिस्ट से बात करें। यह जरूरी है कि गोलियों को निर्देश के अनुसार लें क्योंकि गोली लेना छूटना या दूसरी दवाओं के साथ ही उन्हें लेने से उसका प्रभाव कम हो सकता है।

21-डे पिल्स कैसे लें

  • सप्ताह के सही दिन के साथ अंकित पैकेट से पहली गोली लें या पहले रंग की पहली गोली लें (फेसिक पिल्स).
  • जब तक गोली का पैकेट खत्म ने हो जाए हर रोज सही समान समय पर एक गोली लेते रहें।
  • सात दिन के लिए गोली लेना बंद करें ( इन सात दिनों में आपको रक्तस्राव हो सकता है)
  • आठवें दिन गोलियों का अगला पैकेट लेना शुरू कर दें चाहे आपको ब्लीडिंग हो रही है या नहीं। यह सप्ताह का वही दिन होना चाहिए जब आपने पहली गोली ली थी।

एवरी डे पिल्स कैसे लें

  • पैकेट के जिस सेक्शन पर स्टार्ट लिखा हो वहां से पहली गोली लें। यह एक सक्रिय गोली होगी।
  • हर रोज एक गोली लेते रहें, सही क्रम में लेना जरूरी है और हो सके तो हर रोज उस समय पर गोली का सेवन करते रहें जब तक पैक ( 28 दिन) खत्म न हो जाए।
  • असक्रिय गोली के सेवन के दौरान आपको रक्तस्राव हो सकता है।
  • पहला पैक खत्म होने के बाद अगला पैक लेना शुरू कर दें चाहे आपको रक्तस्राव हो रहा हो या न हो रहा है।

संयुक्त गोली की शुरुआत

ज्यादातर महिलाएं अपने मासिक चक्र में किसी भी समय गोली लेना शुरू कर सकती हैं। इसके लिए विशेष निर्देश हैं अगर आपको अभी हाल में बच्चा हुआ है, गर्भपात या बच्चा गिरने की समस्या हुई है। गोली लेने के पहले दिनों के दौरान आपको अतिरिक्त गर्भनिरोध माध्यमों का प्रयोग करना होगा-यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपका मासिक चक्र कब है और कब गोली लेना शुरू कर रही हैं।

अगर आप अपने मासिक धर्म के पहले दिन संयुक्त गोली लेना शुरू कर रही हैं (आपके मासिक चक्र का पहला दिन) तो आप गर्भधारण करने से सीधे बच सकती हैं। आपको अतिरिक्त गर्भनिरोधक की जरूरत नहीं होगी।

अगर आप अपने मासिक धर्म के पांचवें दिन या उससे पहले गोली लेना शुरू करती हैं तो आप गर्भधारण करने से बची रहती हैं अगर आपका मासिक चक्र छोटा (आपका मासिक चक्र हर 23वें दिन या पहले हो) हो। अगर आपका मासिक चक्र छोटा हो तो आपको अतिरिक्त गर्भनिरोधक जैसे कंडोम का इस्तेमाल सात दिन तक गोली लेने तक करना होगा।

अगर आप अपने मासिक चक्र के किसी अन्य दिन पर गोली लेना शुरू करती हैं तो आप गर्भधारण करने से सीधे नहीं बच सकती और आपको सात दिन तक गोली लेने तक आपको अतिरिक्त गर्भनिरोधक का प्रयोग करना होगा।

एक के बाद एक पिल्स पैक लेना

मोनोफेसिक कंबाइंड पिल्स (सभी गोलियां समान रंग की होती है और उनमें हार्मोन का स्तर भी समान होता है), में सामान्य रूप से एक पैक खत्म होने के बाद दूसरा पैक शुरू करना ठीक रहता है- उदाहरण के लिए अगर आप किसी अवकाश पर जाने के लिए अपना मासिक धर्म टालना चाहती हैं।

बहरहाल, अगर डॉक्टर या नर्स की सलाह जब तक न हो तब तक दो से ज्यादा पैक लेने से बचें। वह इसलिए क्योंकि इसमें रुक रुक कर ब्लीडिंग हो सकती है ऐसा होने की वजह गर्भ की लाइनिंग का पतला होना होता है। कुछ महिलाओं को गोलियों के पैक लेने के बाद शरीर फूला हुआ महसूस हो सकता है।

अगर गोली लेना भूल जाएं तो क्या करें

अगर आप गोली या गोलियां लेना भूल जाते हैं या कोई पैक देर से शुरू करते हैं तो गर्भधारण रोकने में ये गोली कम प्रभावी हो सकती है। गोली या गोलियां लेना छूट जाए तो गर्भवती होने के अवसर इन बातों पर निर्भर करते हैं-

  • गोलियां कब छूटीं
  • कितनी गोलियां लेना छूटीं

गोली में देरी तब होती है जब आप उसे अपने नियमित समय पर लेना भूल जाती हैं। जब आप पिछली गोली के सेवन से 24 घंटे से ज्यादा समय के बाद गोली लेना भूल जाती हैं तो उसे गोली छूट जाना कहते हैं। आपके पैक में कहीं पर एक गोली का छूट जाना या नया पैक एक दिन बाद शुरू करना कोई बड़ी समस्या नहीं है क्योंकि आप तब भी गर्भधारण करने की समस्या से सुरक्षित रहेंगी (इसे गर्भनिरोधक सुरक्षा होना कहा जाता है)।

बहरहाल, दो या ज्यादा गोलियों का सेवन छूटना या नया पैक दो या ज्यादा दिन बाद शुरू करना (48 घंटे से ज्यादा विलंब) आपके सुरक्षा कवर को प्रभावित कर सकता है। खासकर अगर आप दो या ज्यादा गोलियों का सेवन भूलने के बाद सात दिन का गोली मुक्त अंतराल लंबा कर देती हैं, ऐसे में आपका अंडाशय अंडाणु जारी कर सकता है और इसमें गर्भधारण करने का जोखिम हो सकता है। वह इसलिए क्योंकि सात दिन के अंतराल में गोली से आपके अंडाशय पर किसी तरह का प्रभाव नहीं पड़ता।

अगर आप गोली लेना भूल जाती हैं तो निम्न सलाह का पालन करें। अगर आपको पता नहीं है कि आपको क्या करना है तो गोली लेना जारी रखें और गर्भनिरोध का अन्य माध्यम जैसे कंडोम का प्रयोग करें और जितना जल्दी हो सके अपने डॉक्टर से सलाह लें।

अगर आपने पैक में कहीं भी एक गोली लेने में चूक कर दी है तो:

  • जो गोली छूट गई है उसे खा लें, चाहे इसका मतलब एक दिन में दो गोली लेना ही क्यों न हो
  • बाकी बचे पैक को सामान्य रूप से लेते रहें
  • आपको कंडोम जैसे अतिरिक्त गर्भनिरोधक का प्रयोग करने की जरूरत नहीं होगी
  • अपना सात दिन गोली मुक्त ब्रेक सामान्य रूप से लें

अगर आपसे पैक में कहीं भी दो या ज्यादा गोलियों का सेवन करना छूट गया है तो (आप 48 घंटे से ज्यादा विलंब से अपनी गोली ले रही हैं):

  • जो गोली छूट गई है उसे तुरंत ले लें, चाहे इसका मतलब एक दिन में दो गोली लेना ही क्यों न हो
  • पहले छूट गई गोली को छोड़ दें
  • बाकी बचे पैक को सामान्य रूप से लेना जारी रखें और अगले सात दिन तक गर्भनिरोध का अतिरिक्त साधन प्रयोग करते रहें
  • आपको आपात गर्भनिरोधक की जरूरत पड़ सकती है
  • आपको गोलियों का अगला पैक बिना किसी ब्रेक लिए शुरू करना होगा (दो या ज्यादा गोलियों के छूटने के बाद अगला पैक कैसे शुरू करें, देखें)

अगर पिछले सात दिन में आपने असुरक्षित सेक्स किया है या पैक के पहले हफ्ते में दो या उससे ज्यादा गोलियों का सेवन छूट गया है (आप 48 घंटे से ज्यादा विलंब से अपनी गोली ले रही हैं) तो आपको आपात गर्भनिरोधक की जरूरत पड़ सकती है।

अपने गर्भ निरोध क्लीनिक, डॉक्टर या फार्मासिस्ट से इसके बारे में सलाह लें।

दो या ज्यादा गोलियों का सेवन छूट जाने के बाद अगला पैक शुरू करना

यदि पिछली छूट गई गोली के बाद पैक में सात या ज्यादा गोलियां बच गई हों तो:

  • पैक को खत्म करें
  • सामान्य सात दिन का अंतराल लें

यदि पिछली छूट गई गोली के बाद पैक में सात से कम गोलियां बची हों तो:

  • पैक को खत्म करें और नया अगले दिन लेना शुरू करें, इसमें किसी तरह का अंतराल नहीं होना चाहिए

उल्टी और दस्त

अगर आप संयुक्त गोली लेने के दो घंटे के अंदर उल्टी कर देती हैं तो यह आपके रक्त प्रवाह में पूरी तरह से आत्मसात नहीं हुई होगी। तुरंत दूसरी गोली लें और अगले दिन सामान्य समय पर अगली गोली लें।

अगर फिर भी आप बीमार महसूस करते हैं तो बीमारी रहने के दौरान और ठीक होने के दो दिन बाद तक गर्भनिरोधक का दूसरा माध्यम इस्तेमाल करती रहें।

काफी गंभीर दस्त (24 घंटे में छह से आठ बार पानीदार दस्त) का अर्थ भी यही है कि गोली सही तरीके से काम नहीं कर रही। सामान्य रूप से अपनी गोली लेना जारी रखें लेकिन अतिरिक्त गर्भनिरोधक जैसे कंडोम का प्रयोग तब तक करें जब तक दस्त है और इसके ठीक हो जाने के दो दिन बाद तक इसका प्रयोग जारी रखें।

अगर आपकी बीमारी या दस्त निरंतर बने रहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या गर्भनिरोधक नर्स से बात करें।

संयुक्त गोली कौन इस्तेमाल कर सकता है

अगर कोई चिकित्सकीय कारण नहीं है कि आप इसका प्रयोग नहीं कर सकती और आप धूम्रपान भी नहीं करतीं तो आप रजोनिवृत्ति तक गोली का सेवन कर सकती हैं। बहरहाल, गोली सभी महिलाओं के लिए उपयुक्त नहीं होती। यह पता करने के लिए कि गोली आपके लिए सही है या नहीं अपने डॉक्टर, नर्स या फार्मासिस्ट से बात करें।

आप गोली का सेवन करें अगर आप:

  • गर्भवती हैं
  • धूम्रपान करती हैं और 35 या ज्यादा उम्र की हैं
  • एक साल से कम समय पहले ही धूम्रपान छोड़ा है और 35 वर्ष या ज्यादा उम्र की हैं
  • वजन काफी ज्यादा है
  • कुछ ख़ास दवाएँ ले रही हैं (इसके बारे में अपने डॉक्टर से पूछें)

आप गोली का सेवन न करें अगर आपको ये समस्या है (या पहले रही हो):

  • थ्रोम्बोसिस (thrombosis-खून का थक्का बनना)
  • दिल में विकार या हर्दय रोग, जिसमें उच्च रक्तचाप शामिल है
  • गंभीर माइग्रेन( चेतावनी के लक्षण)
  • स्तन कैंसर
  • गॉलब्लैडर या लिवर का रोग
  • जटिलताओं के साथ मधुमेह या पिछले 20 साल से मधुमेह रोग हो

बच्चा होने के बाद

अगर आपको तुरंत बच्चा हुआ हो और आप स्तनपान नहीं करवा रहीं तो आप जन्म के 21वें दिन से गोली लेना शुरू कर सकती हैं। आप सीधे-सीधे गर्भधारण करने से सुरक्षित हो जाएंगी। अगर आप जन्म देने के 21 दिन के बाद से गोली लेना शुरू करेंगी तो आपको अगले सात दिन तक अतिरिक्त गर्भनिरोधक उपाय (जैसे कंडोम) लेने होंगे।

अगर आपका बच्चा छह माह से कम उम्र का है और आप स्तनपान करवा रही हैं तो गोली लेने से आपके दूध की मात्रा कम हो सकती है। यह सलाह दी जाती है कि जब तक आप स्तनपान करवा रही हैं तब तक गर्भनिरोध के अलग माध्यम का प्रयोग करें।

गर्भपात या गर्भ गिरने के बाद

अगर आपका गर्भ गिर गया है या गर्भपात करवाया है तो आप इसके बाद पांचवें दिन तक गोली लेना शुरू कर सकती हैं इससे आप सीधे एकदम से गर्भवती होने से बच जाएंगी। अगर आप गर्भपात या बच्चा गिरने के पांच दिन बाद गोली लेना शुरू करती हैं तो सात दिन तक गोली लेने तक आपको अतिरिक्त गर्भनिरोध उपाय करने होंगे।

संयुक्त गोली के लाभ और नुकसान

गोली के कुछ लाभों में शामिल हैं:

  • इससे सेक्स में किसी तरह की बाधा नहीं आती
  • इससे आमतौर पर आपका रक्तस्राव नियमित, हल्का और कम दर्द वाला होता है
  • इससे अंडाशय, गर्भ और कोलोन कैंसर का जोखिम कम हो जाता है
  • इससे पीएमएस के लक्षण कम हो सकते हैं
  • कभी कभी इससे एक्ने की समस्या कम हो जाती है
  • इससे पेल्विक इंफ्लेमेट्री रोग से सुरक्षा मिलती है
  • यह फाइब्रॉयड्स, ओवेरियन सिस्ट और नॉन-कैंसरस स्तन रोग के जोखिम भी कम करता है

गोली के कुछ नुकसानों में शामिल हैं:

  • पहले इसके कुछ अस्थायी दुष्प्रभाव हो सकते हैं जैसे सिरदर्द, मितली, स्तन की कोमलता और मूड में उतार-चढ़ाव, अगर ये कुछ महीनों में नहीं जाते हैं तो आपको बदलकर दूसरी गोली लेने से मदद मिल सकती है
  • इससे आपका रक्तचाप बढ़ सकता है
  • यह आपको यौन संचारित संक्रमणों से नहीं बचा सकती
  • गोली का इस्तेमाल करने के पहले कुछ महीनों में रुक-रुक कर खून आना या दाग लगना आम समस्या है
  • यह कुछ गंभीर प्रकार की सेहत से जुड़ी परेशानियों के बढ़े हुए जोखिम से संबंधित है जैसे थ्रोम्बोसिस (खून का थक्का) और स्तन कैंसर

संयुक्त गोली अन्य दवाओं के साथ

कुछ दवाएँ संयुक्त गोली के साथ कारगर नहीं होतीं और सही तरीके से काम नहीं करतीं। सही तरीके से काम न करने के कुछ कारण यहां लिखे गए हैं लेकिन यह पूरी सूची नहीं है। अगर आप यह जाँचना चाहते हैं कि आपकी दवा संयुक्त गोली के साथ लेने के लिए सुरक्षित है तो आप:

  • अपने डॉक्टर, नर्स या फार्मासिस्ट से पूछें
  • आपकी दवा के साथ मिलने वाली रोगी सूचना पर्चे को सावधानी से पढ़ें

एंटीबायोटिक्स

एंटीबायोटिक्स रिफाम्पिसिन और रिफाबुटिन ( rifampicin and rifabutin,जो ट्यूब्रोक्लोसिस और मैनिंजाइटिस सहित कई रोगों के उपचार में प्रयोग की जा सकती है) से संयुक्त गोली की प्रभावशीलता कम हो सकती है। अन्य एंटीबायोटिक्स में ऐसा प्रभाव नहीं होता।

अगर आपको रिफाम्पिसिन और रिफाबुटिन लेने के लिए कहा गया है तो आपको एंटीबायोटिक लेते समय अतिरिक्त गर्भनिरोधक (जैसे कंडोम) की जरूरत होगी। सलाह के लिए अपने डॉक्टर या नर्स से बात करें।

एपिलेप्सी तथा एचआईवी की दवाएं और सेंट जॉन्स वॉर्ट

संयुक्त गोली एंजाइम इंड्यूसर्स(enzyme inducers) नामक दवा के साथ परस्पर प्रभावित होकर काम कर सकती हैं। यह आपके लिवर द्वारा प्रोजेस्टोजेन के ब्रेकडाउन की गति को बढ़ा सकती है जिससे गोली की प्रभावशीलता कम हो सकती है।

एंजाइम इंड्यूसर्स के उदाहरण हैं:

  • एपिलेप्सी ड्रग्स कारबामैजेपाइन, ऑक्सकारबाजेपाइन, फिनिटिन, फेनोबारबिटल, प्रिमाइडन और टोपिरामेट(epilepsy drugs carbamazepine, oxcarbazepine, phenytoin, phenobarbital, primidone and topiramate)
  • सेंट जॉन्स वॉर्ट (एक हर्बल उपचार)
  • एंटीरेट्रोवायरल दवा जो एचआईवी के उपचार में प्रयोग होती है ( शोध बताते हैं कि इन दवाओं और प्रोजेस्टोजेन-ऑनली पिल के बीच परस्पर प्रभाव से दोनों की सुरक्षा और प्रभावशीलता पर असर पड़ सकता है)।

आपके डॉक्टर या नर्स इन दवाओं के साथ गर्भनिरोध के लिए एक वैकल्पिक या अतिरिक्त तरीका अपनाने की सलाह दे सकते हैं।

संयुक्त गोली के दुष्प्रभाव

संयुक्त गर्भनिरोधक गोली के इस्तेमाल से कुछ जोखिम जुड़े हुए हैं। बहरहाल, ये जोखिम छोटे हैं और ज्यादातर महिलाओं में गोली के लाभ इसके जोखिम से ज्यादा होते हैं।

खून के थक्के(Blood clots)

गोली में मौजूद ओस्ट्रोजेन से आपके खून में ज्यादा तेजी से थक्के जमने शुरू हो जाते हैं। अगर खून का थक्का बन जाता है तो इससे डीप वेन थ्रोम्बोसिस (पैर में खून का थक्का बनना), पुल्मोनरी एम्बोलस (फेफड़े में खून का थक्का बनना), स्ट्रोक या हार्ट अटैक की समस्या हो सकती है। खून का थक्का बनने का जोखिम काफी छोटा होता है लेकिन आपका डॉक्टर गोली लेने की सलाह देने से पहले इस बात की जांच करेगा कि क्या आपको इनमें से किसी तरह की समस्या की संभावना तो नहीं है।

अगर आपको नीचे दिए गए जोखिमों में से कोई एक है तो आप गोली को सावधानी के साथ ले सकती हैं, लेकिन इनमें से दो या ज्यादा जोखिम के कारण मौजूद हैं तो इसे न लें। इनमें शामिल हैं-

  • उम्र 35 वर्ष या ज्यादा है
  • अगर धूम्रपान करती हैं या पिछले साल ही घूम्रपान करना छोड़ा है
  • वजन ज्यादा है (35 या ज्यादा के बीएमआई वाली महिलाओं में आमतौर पर गोली के इस्तेमाल का जोखिम इसके फायदों से ज्यादा हो जाता है)
  • माइग्रेन हो (अगर आपको गंभीर या नियमित माइग्रेन के दौरे पड़ते हों तो आप गोली का सेवन न करें, खासकर अगर आपको दौरे से पहले झोंका या चेतावनी संकेत आता है)
  • उच्च रक्तचाप की समस्या हो
  • खून का थक्का हो या पहले स्ट्रोक आया हो
  • कोई ऐसा नजदीकी रिश्तेदार हो जिसे 45 वर्ष से कम उम्र में खून का थक्का बनने की समस्या हुई हो
  • लंबे समय तक चलने-फिरने में दिक्कत रही हो, उदाहरण के लिए व्हील चेयर पर हों या पैर में प्लास्टर लगा हो

कैंसर

स्तन कैंसर और गोली के बीच संबंधों पर शोध जारी हैं। शोध बताते हैं कि सभी प्रकार के हार्मोन वाले गर्भनिरोधकों का प्रयोग करने वाली महिलाओं में उन महिलाओं की तुलना में स्तन कैंसर होने की संभावना थोड़ी ज्यादा होती है जो इनका इस्तेमाल नहीं करती हैं। बहरहाल, गोली का सेवन बंद करने के 10 साल बाद स्तन कैंसर का जोखिम सामान्य स्तर पर चला जाता है।

सामग्री का स्त्रोतNHS लोगोnhs.uk
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

आगे क्या पढ़ें
मर्दों की गर्भनिरोधक गोली
अगर पुरुषों के गर्भनिरोधकों की बाजार में मौजूद महिला गर्भनिरोधकों के विकल्पों की श्रेणी से तुलना करें तो बीते 50 सालों में पुरुषों के गर्भनिरोधकों मे...
आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियां या मॉर्निंग आफ्टर पिल(Morning-after pill)
आपातकालीन गर्भनिरोधक गोलियां , जिन्हें मॉर्निंग आफ्टर पिल (morning-after pill) या पोस्ट कोइटल पिल (post-coital pill) के नाम से भी जाना जाता हैं। इनका ...
आपातकालीन गर्भनिरोधक (मॉर्निंग आफ़्टर पिल, IUD)
असुरक्षित यौन संबंध बनाने या गर्भनिरोधक तरीकों के विफल होने की स्थिति में एक महिला गर्भधारण को रोकने के लिए आपातकालीन गर्भनिरोधक का उपयोग कर सकती है।