COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
19th February, 20203 min read

क्या एंटीबायोटिक्स से कोरोनावायरस का इलाज हो सकता है?

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है।

जैसे-जैसे दुनिया में कोरोना वायरस फैल रहा है, वैसे-वैसे गलत जानकारी भी इसके साथ फैल रही है।

इसी मामले में एक मिथक है कि एंटीबायोटिक्स, वायरस के कारण फेफड़ों और वायु मार्ग में होने वाले संक्रमण का इलाज कर सकती है।

वे ऐसा नहीं करती हैं।

इस लेख में, प्रोफेसर डा. मॉरीन बाकेर, Your.MD के मुख्‍य चिकित्‍सा अधिकारी और यूके के रॉयल कॉलेज ऑफ जनरल प्रैक्टिशनर्स के पूर्व अध्यक्ष इस बारे में व्याख्या करती हैं कि एंटीबायोटिक, कोरोना वायरस बीमारी, कोविड-19 के खिलाफ लड़ने में प्रभावी क्यों नहीं है।

एंटीबायोटिक मिथक (The antibiotic myth)

कई लोगों ने निमोनिया (pneumonia के बारे में सुना ही होगा। यह फेफड़ों में होने वाला संक्रमण है जो अक्सर बैक्‍टीरियल संक्रमण के कारण होता है।

जब किसी व्यक्ति में बैक्टीरिया निमोनिया होता है, तो डॉक्टर आमतौर पर संक्रमण के इलाज के लिए एंटीबायोटिक (antibiotics) दवाओं का उपयोग करते हैं क्योंकि एंटीबायोटिक्स बैक्टीरिया पर हमला करते हैं और उन्हें मारते हैं।

हालांकि कोविड-19 कभी-कभी निमोनिया का कारण बन सकता है, इससे होने वाले निमोनिया के प्रकार का कारण बैक्टीरिया नहीं होता है - यह वायरस के कारण होता है, एक प्रकार का रोगाणु जिसमें बैक्टीरिया से अलग संरचना होती है।

इसका अर्थ यह है कि एंटीबायोटिक जो बैक्टीरिया को मारने के लिए बना होता है, साधारण तौर पर वायरस के खिलाफ काम नहीं करता है।

एंटीवायरल दवाएं वह हैं जिनका उपयोग कुछ वायरस से लड़ने के लिए किया जा सकता है, जैसे फ्लू। हालांकि, वैज्ञानिकों ने अभी तक एंटीवायरल दवाओं का विकास नहीं किया है जो कोरोनावायरस को मार सकती हैं जो कोविड-19 का कारण होते हैं।

नए कोरोना वायरस का इलाज प्रभावी रूप से कैसे करें

इसका अर्थ यह नहीं है कि कोविड-19 के कारण होने वाले निमोनिया का उपचार नहीं किया जा सकता है - इसका उपचार किया जा सकता है।

डॉक्टर, बीमार व्यक्ति को सपोर्ट देने के लिए ऑक्सीजन और अन्य दवाओं को सप्लाई कर सकते हैं और इससे उनके लक्षणों में सुधार होता है - इस प्रकार के उपचार को सपोर्टिव केयर कहते हैं।

कुछ मामलों में, डॉक्टर आपको कोविड-19 से ग्रसित होने पर एंटीबायोटिक भी दे सकते हैं, लेकिन ऐसा सिर्फ तभी होता है जब एक जीवाणु संक्रमण अंतर्निहित वायरल बीमारी के तहत विकसित होता है।

यह इस प्रकार का उपचार संयोजन है जो नए कोरोनोवायरस के कारण होने वाले निमोनिया वाले अधिकांश लोगों को स्वस्थ करने में मदद करता है।

सौभाग्य से, कोविड-19 से प्रभावित अधिकांश लोगों में निमोनिया का विकास नहीं होता है। उन्हें हल्की बीमारी लगती है जिसमें कुछ दिनों के लिए बुखार और मांसपेशियों में दर्द होता है।

क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।