COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
4 min read

अत्यधिक प्यास लगना (Excessive thirst)

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है।

हर समय बिना किसी कारण के प्यासा महसूस करना सामान्य नहीं है। इसके कारण का आपके डॉक्टर द्वारा पता लगाया जाना चाहिए।

सामान्य रूप से प्यासा महसूस करना दिमाग द्वारा चेतावनी होती है कि आप डिहाइड्रेटेड (dehydrated) हैं क्योंकि आप उस मात्रा में तरल नहीं पी रहे हैं जितनी आपके शरीर को ज़रूरत है। आप पेय पीने के बाद जल्द ही अपनी प्यास बुझा सकते हैं और शरीर में पानी की कमी को पूरा कर सकते हैं।

अगर प्यास बहुत ज़्यादा है तो यह डायबिटीज (diabetes) या किसी अन्य अंदरूनी बीमारी का संकेत हो सकता है।

डॉक्टर असमान्य प्यास को पोलिडिप्सिया (polydipsia) नाम से बुलाते हैं ।

विचार करने वाली बातें (Points to consider)

यह सोचना लाभदायक है कि आपने हाल ही में क्या खाया और पीया है। सामान्य से ज़्यादा नमकीन और मसालेदार खाना खाना अचानक आपकी प्यास बढ़ा सकता है।

शरीर से बहुत ज़्यादा मात्रा में पानी खत्म होने के कारण भी प्यास लग सकती है। यह इसके बाद हो सकता है:

  • अत्यधिक व्यायाम से जहां पसीने से पानी कम हो जाता है
  • दस्त और उल्टी

मुँह का सूखना या अत्यधिक प्यास लगना कभी-कभी कुछ तरह की दवाओं का दुष्प्रभाव हो सकता है जैसे एंटीडिप्रेसेंट (antidepressants), एंटीहिस्टामाइन या ड्यूरेटिक (diuretics)। ये दवाएं लार ग्रन्थि (salivary gland) को प्रभावित करती हैं और उनके द्वारा बनने वाले सलाइवा (saliva) की मात्रा को कम करती हैं।

अगर एक विशेष दवा आपके मुंह सूखने के कारण बन रही है तो दूसरी कोई दवा लेना या खुराक को कम करना संभव हो सकता है। इसके बारे में अपने डॉक्टर से बात करें।

महिलाओं में प्यास लगना गर्भावस्था (pregnancy) का लक्षण हो सकता है यह हार्मोनल परिवर्तन के कारण होता है जो गर्भावस्था के दौरान होता है।

डॉक्टर को कब दिखाएं (When to see your doctor)

आपको अपने डॉक्टर को दिखाना चाहिए अगर:

  • आप बिना किसी कारण के हर समय प्यासे हों
  • आपको हर समय प्यास महसूस हो और आपको अन्य लक्षण भी हो जैसे बहुत ज़्यादा थकान या बहुत ज़्यादा पेशाब जाना

डॉक्टर आपको डायबिटीज (diabetes) है कि नहीं यह देखने के लिए सम्भवतः आपके ब्लड ग्लूकोज़ की जांच कर सकते हैं।

डायबिटीज के संकेत (Diabetes clues)

प्यासे होने के साथ साथ डायबिटीज (diabetes) वाले लोग बहुत थकान महसूस करते हैं और उन्हें रात में बहुत ज़्यादा टॉयलेट जाने की ज़रूरत पड़ती है।

अगर आपको डायबिटीज (diabetes) है तो आपका शरीर ग्लूकोज़ को ऊर्जा में बदलने में समर्थ नहीं होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि या तो आपका शरीर ग्लूकोज़ को पचाने के लिए पर्याप्त इन्सुलिन हार्मोन पैदा नहीं कर रहा है या जो इन्सुलिन पैदा हो रहा है वह ठीक से काम नहीं कर रहा।

टाईप 1 डायबिटीज और टाईप 2 डायबिटीज के बारे में और पढ़ें

प्यास लगने के अन्य कारण (Other causes of thirst)

मुँह सूखने या बहुत प्यास लगने के अन्य बहुत से संभावित कारण हैं:

  • बहुत ज़्यादा खून बहना
  • सिकल सेल एनीमिया (sickle cell anaemia) - एक वंशानुगत खून की बीमारी जो मुख्य रूप से अफ्रीकी लोगों को प्रभावित करती है
  • डायबिटिक केटोएसिडोसिस (diabetic ketoacidosis) - डायबिटीज की एक खतरनाक जटिलता को शरीर में इंसुलिन की कमी के कारण होती है
  • श्रोगेन सिंड्रोम (Sjogren's syndrome) - जहां शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली ग्रंथियों पर हमला करती है जो द्रव को स्रावित करती हैं, जैसे कि आँसूँ और लार ग्रंथियां (saliva glands)
  • सैकोजेनिक पोलिडिप्सिया (psychogenic polydipsia) - जहां किसी व्यक्ति को मानसिक स्वास्थ्य की अवस्था जैसे स्किज़ोफ़्रेनिया होता है जो अत्यधिक मात्रा में पानी पीता है जो किडनी द्वारा नहीं निकल पाता

कोई भी स्थिति जिससे डिहाइड्रेशन होता है वो प्यास का कारण बन सकती है।

गर्म मौसम और व्यायाम (Hot weather and exercise)

गर्म मौसम के दौरान और व्यायाम या अन्य प्रकार के ज़ोरदार शारीरिक गतिविधि करते समय पर्याप्त मात्रा में पानी या अन्य पेय (गैर-अल्कोहलिक) पीना बहुत महत्वपूर्ण है

याद रखें कि डिहाइड्रेटेड (dehydrated) होने से बचने के लिए आपको गर्म परिस्थितियों में व्यायाम करते समय अतिरिक्त तरल पदार्थ लेने की आवश्यकता होती है।

NHS के मूल कॉन्टेंट का अनुवादHealthily लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।