COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
4 min read

वयस्कों को उल्टी होना (vomiting in adults)

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है।

वयस्कों को मिचली (nausea) या उल्टी (vomiting) होना आमतौर पर कोई गंभीर संकेत नहीं है। ज़्यादातर मामलों में आपको विशेष इलाज की ज़रूरत नहीं पड़ती है और आप ठीक होने तक घर पर अपना ख्याल रख सकते हैं।

वयस्कों में उल्टी का सबसे सामान्य कारण आंत का संक्रमण गैस्ट्रोएन्टराइटिस (gastroenteritis) है। जो आमतौर पर एक या दो दिन रहता है।

हालांकि उल्टी (vomiting) कभी-कभी ज़्यादा गंभीर समस्या का कारण बन सकती है और आपातकालीन सहायता की ज़रूरत पड़ सकती है।

बच्चों और शिशुओं में उल्टी होने के बारे में अलग से जानकारी पढ़ें।

मेडिकल सलाह कब लें? (When to get medical advice?)

डॉक्टर के पास जाने से बचें क्योंकि अगर आपको संक्रमण के कारण उल्टी (vomiting) हो रही है तो यह बहुत आसानी से दूसरों में भी फैल सकता है।

अगर आप बीमार महसूस कर रहे हैं या अपनी उल्टी को लेकर चिंतित हैं तो अपने डॉक्टर से सम्पर्क करें।

आपको मेडिकल सलाह लेनी चाहिए अगर

  • अगर आप लगातार 48 घण्टे से ज़्यादा उल्टी कर रहे हैं और यह ठीक नहीं हो रहा है
  • आप किसी भी तरह का तरल पदार्थ नीचे रखने में असमर्थ हैं
  • अगर आपमें गम्भीर डिहाइड्रेशन (dehydration) के संकेत हैं जैसे कि चक्कर आना (dizziness) और पेशाब का कम होना या नहीं होना
  • आपकी उल्टी हरी है इसका मतलब है आप में पित्त (bile) एकत्रित हुआ है जिसका मतलब है कि आपके आंत (bowel) में रुकावट है। नीचे देखें
  • आपके बीमार होने के बाद आपका बहुत वज़न घटा है।
  • आप जल्दी-जल्दी उल्टी के दौरे का अनुभव कर रहे हैं।

आपातकालीन सहायता कब लें? (When to get medical emergency help)

एम्बुलेंस को फोन करें या अपने नजदीकी अस्पताल के इमरजेंसी रूम में जाएं अगर आपको ये लक्षण हैं:

  • अचानक गंभीर पेट दर्द - यह अपेंडिसाइटिस (appendicitis) का लक्षण हो सकता है।
  • सीने में गम्भीर दर्द (chest pain)
  • उल्टी में खून आना या जो कॉफी के दाने के जैसा लगे
  • गर्दन में अकड़न और तेज़ बुखार (fever)
  • अचानक गंभीर सिरदर्द जो आपको पहले हुए किसी सिरदर्द जैसा ना लगे
  • डायबिटीज (diabetes) और लगातार उल्टी हो रही हो । विशेष रूप से जब आपको इंसुलिन (insulin) लेने की ज़रूरत हो।
  • आप तब भी आपातकालीन मदद ले सकते हैं अगर आपको लगता है आपने कुछ विषैला पदार्थ निगल लिया है।

घर पर अपनी देखरेख करना (looking after yourself at home)

सबसे महत्वपूर्ण काम कर सकते हैं कि पानी की छोटी-छोटी घूंट पीते रहें जिससे आप डिहाइड्रेटेड (dehydrated) नहीं होंगे।

एक मीठा पेय जैसे कि फल का रस खोए हुए शुगर को बदलने में मदद कर सकता है। हालांकि आपको मीठे पेय से बचना चाहिए अगर वह आपको बीमार बनाते हैं। नमकीन स्नैक्स जैसे कि क्रिस्प खोए हुए नमक को बदलने में मदद कर सकता है।

आप पा सकते हैं कि अदरक मिचली (nausea) और उल्टी (vomiting) से आराम में मदद करता है। यह सप्लीमेंट के रूप में उपलब्ध होता है या अदरक वाले बिस्कुट और अदरक वाली चाय में मिल सकता है। अदरक के सप्लीमेंट इस्तेमाल करने से पहले अपने फार्मिसिस्ट या डॉक्टर से जांच ज़रूर करवाएं।

वयस्कों में उल्टी के सामान्य कारण (Common causes of vomiting in adults)

वयस्कों में मिचली (nausea) और उल्टी (vomiting) के सबसे सामान्य कारणों में ये शामिल हैं

  • गैस्ट्रोएन्टराइटिस (gastroenteritis): अगर आपको डायरिया (diarrhoea) है तो यह सबसे सामान्य कारण हो सकता है। गैस्ट्रोएन्टराइटिस के इलाज के बारे में पढ़ें।
  • गर्भावस्था (pregnancy): गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था (pregnancy) के शुरुआती चरण में अक्सर मिचली (nausea) या उल्टी (vomiting) होती है। मॉर्निंग सिकनेस के साथ उन चीज़ों के बारे में पढ़ें जिससे आप अपने लक्षणों को कम करने में मदद कर सकते हैं।
  • माइग्रेन (migraine): बहुत तेज़ सिरदर्द जो एक समय में कुछ घण्टे से लेकर दिनों तक रह सकता है। माइग्रेन के इलाज के बारे में और पढ़ें।
  • लैबिरिंथाइटिस (labyrinthitis): जो चक्कर आने का कारण बनता है। (vertigo)
  • मोशन सिकनेस (motion sickness): मिचली (nausea) और उल्टी (vomiting) जो यात्रा से जुड़ी हुई हो।

वयस्कों में उल्टी (vomiting) कई अन्य कारणों से भी हो सकती है जिसमें ये शामिल हैं:

NHS के मूल कॉन्टेंट का अनुवादHealthily लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।