COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
6 min read

ड्रग्स का आपके दिमाग़ पर असर

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है।

एसिड और मैजिक मशरूम (acid and magic mushrooms)

एनाबॉलिक स्टेरॉइड (anabolic steroids)

कैनबीज़ (cannabis)

कोकेन (cocaine)

एक्सटसी (ecstasy)

हेरोइन (heroin)

केटामाइन (ketamine)

साल्वेंट (solvents)

स्पीड एंड क्रिस्टल मेथ (speed and crystal meth)

ट्रैंक्विलाइजर (tranquillisers)

एसिड और मैजिक मशरूम (acid (lsd) and magic mushrooms)

कम समय के लिए : एसिड और मैजिक मशरूम भ्रान्तिजनक होते हैं। लोगों को दुनिया अलग उदासीन तरीके से देखने, सुनने और अनुभव करवाते हैं। रंग तेज़ और आवाज़ बिगड़ी हुई लग सकती है।

इसे इस्तेमाल करने वाला भय और पैरानोया (paranoia) से पीड़ित हो सकता है।

एसिड का असर 12 घण्टे या उससे ज़्यादा रहता है। अगर यह एक खराब ट्रिप है तो ये बहुत भयानक हो सकती है।

लम्बे समय के लिए : कुछ लोग जो एलएसडी (LSD) और मैजिक मशरूम (magic mushroom) का इस्तेमाल करते हैं उन्हें बीती हुई चीज़े याद आ सकती हैं। दोनों मौजूदा मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं को बदतर बना सकते हैं।

एनाबॉलिक स्टेरॉइड (anabolic steroids)

कम समय के लिए : एनाबॉलिक स्टेरॉइड (anabolic steroids) मांसपेशियों को पंप करता है, लेकिन आपको पागल, चिड़चिड़ा, गुस्सैल या यहां तक ​​कि हिंसक बना सकता है (जिसे "रूड रेज" के रूप में जाना जाता है)।

लम्बे समय के लिए : लोग मनोवैज्ञानिक रूप से एनाबॉलिक स्टेरॉयड्स (anabolic steroids) पर निर्भर हो जाते हैं। और यकीन कर लेते हैं कि वे इनके बिना अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकते हैं।

कैनबीज़ (मेरुआना, वीड, डोप, स्कंक) cannabis (marijuana, weed, dope, skunk)

कम समय के लिए : लोग आराम और नशे के लिए कैनबीज़ (cannabis) लेते हैं। लेकिन ये चीज़ों को याद रखना मुश्किल बना सकता है। यह चिंता के दौरे (anxiety attack) या पैरानोया (paranoia) की भावनाओं का कारण भी बन सकता है।

लम्बे समय के लिए : कैनबीज़ दीर्घकालिक मानसिक समस्याओं का कारण बन सकता है जिसमें साइकोसिस (psychosis) शामिल है।

कैनबीज़ उपयोगकर्ता जिन्हें मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं का पारिवारिक इतिहास है और जो अपनी किशोरावस्था में इसका उपयोग करना शुरू करते हैं वो विशेष रूप से खतरे में हैं।

लगभग 10% नियमित रूप से कैनबीज़ (cannabis) इस्तेमाल करने वाले इसके आदी हो जाते हैं।

कैनबीज़ के तथ्यों को देखें।

कोकेन और क्रैक कोकेन (cocaine and crack cocaine)

कम समय के लिए : कोकेन (cocaine) तीन प्रकार में आता है

  • पाउडर
  • फ्रिबेस (जहां पाउडर को पीने के लिए तैयार करते हैं)
  • क्रैक (कोकेन के पत्थर जिसे पीते हैं)

कोकेन एक प्रकार का उत्तेजक होता है जो आपको नशे में, आत्मविश्वास और ऊर्जा से भरा हुआ अनुभव करवाता है। लेकिन यह चिंता (anxiety), पैनिक (panic) और पैरानोया (paranoia) की भावना में बदल जाती है।

नियमित रूप से कोकेन इस्तेमाल करने वाले आप थका हुआ और उदास (depressed) महसूस कर सकते हैं।

लम्बे समय के लिए : कोकेन एक नशीला पदार्थ है। इसे छोड़ना मानसिक रूप से परेशानी भरा और शारीरिक रूप से मुश्किल हो सकता है।

लंबे समय तक उपयोग मौजूदा मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं को बदतर बना सकता है और अवसाद (depression), चिंता (anxiety) और पैरानोया (paranoia) का कारण बन सकता है।

एक्स्टसी (ई) /ecstasy (e)

कम समय के लिए : एक्स्टसी (ecstasy) , भ्रान्तिजनक प्रभावों का एक उत्तेजक है जो आपको आराम, नशे और प्यार में रात भर नृत्य करने के जैसा महसूस कराता है।

लेकिन जो लोग पहले से ही चिंतित हैं या जो अधिक खुराक लेते हैं वे पैरानोया (paranoia) या पैनिक अटैक (panic attack) का अनुभव कर सकते हैं।

लम्बे समय के लिए : नियमित इस्तेमाल ऊर्जा की कमी, याददाश्त का जाना जैसे लक्षण पैदा कर सकता है और चिंता और अवसाद की ओर ले जा सकता है।

हेरोइन (स्मैक, डायमॉर्फिन) heroin (smack, diamorphine)

कम समय के लिए : हेरोइन (heroine) और अन्य ऑपियेट्स शरीर को धीमा करते हैं और शारीरिक और भावनात्मक दोनों तरह के दर्द को रोकते हैं।

लोगों को लगता है कि उन्हें समान प्रभाव पाने के लिए या यहां तक ​​कि "सामान्य" महसूस करने के लिए भी अधिक से अधिक हेरोइन (heroin) लेने की जरूरत है। इसके बहुत अधिक सेवन से कोमा या मृत्यु भी हो सकती है।

लम्बे समय के लिए : हेरोइन मनोवैज्ञानिक और शारीरिक रूप से अत्यधिक नशे की लत है। हेरोइन को छोड़ना अप्रिय होता है, और उसे बंद करना और दूर रहना बहुत मुश्किल हो सकता है।

लंबे समय से हेरोइन पीने वाले अपनी जीवन शैली के कारण उदास हो सकते हैं।

केटामाइन (के) (ketamine) (k)

कम समय के लिए : केटामाइन (ketamine) एक एनेस्थेटिक (anaesthetic) है जो लोगों को रिलैक्स और उत्साहपूर्ण महसूस करा सकता है, लेकिन इसके प्रभाव अप्रत्याशित हो सकते हैं।

आपको इस बात की जानकारी नहीं होगी कि इसे लेने के बाद आप क्या कर रहे हैं, इसलिए आप खतरा मोल ले सकते हैं, उदाहरण के लिए, आपकी दुर्घटना हो सकती है।

लम्बे समय के लिए : दीर्घकालिक प्रभाव में पुरानी याद का आना, आपकी याददाश्त का जाना और ध्यान केंद्रित नहीं कर पाना शामिल हो सकता है।

नियमित उपयोग अवसाद (depression) और कभी-कभी, मनोवैज्ञानिक लक्षण जैसे मतिभ्रम (hallucinations) का कारण बन सकता है।

केटामाइन (ketamine) मौजूदा मानसिक स्वास्थ्य समस्याओं को और बढ़ा सकता है।

साल्वेंट (गैस, ग्लू और एरोसोल) Solvent (gases, glues and aerosols)

कम समय के लिए : सॉल्वैंट्स आपको नशे में और अव्यवस्थित करते हैं। वे गुस्सा , मूड स्विंग और मतिभ्रम का कारण बन सकते हैं।

लम्बे समय के लिए : सॉल्वैंट्स का भारी उपयोग आपके मस्तिष्क को नुकसान पहुंचा सकता है, विशेष रूप से वो हिस्सा जो आपके चलने फिरने को नियंत्रित करता है।

स्पीड और क्रिस्टल मेथ (एम्फ़ैटेमिन और मेथमफेटामाइन ) (speed and crystal meth) (amphetamine and methamphetamine)

कम समय के लिए : स्पीड आपको ऊर्जावान और आत्मविश्वास से भरा अनुभव करा सकती है लेकिन यह चिंता (anxiety), पैरानोया (paranoia) और गुस्से (aggression) का कारण भी बन सकती है।

"वापसी" आपको सुस्त और आलसी बना सकती है, और आपको ध्यान केंद्रित करने और सीखने में समस्या हो सकती है।

क्रिस्टल मेथ (Crystal meth) का असर भी स्पीड के समान है लेकिन अधिक अतिरंजित और लंबे समय तक चलने वाला है। इसमें वापसी और बुरी हो सकती है।

लम्बे समय के लिए : गति के भारी उपयोग से चिंता (anxiety), अवसाद (depression), चिड़चिड़ापन (irritability), गुस्सा (aggression) और पैरानोया (paranoia) हो सकता है। यह मानसिक लक्षण भी पैदा कर सकता है, जैसे मतिभ्रम (hallucinations)।

क्रिस्टल मेथ (Crystal meth) के नियमित उपयोग से मस्तिष्क क्षति हो सकती है, लेकिन अगर आप लंबे समय तक दवा का उपयोग नहीं करते हैं तो यह उलट सकता है।

ट्रैंक्विलाइज़र (tranquillisers) बेंज़ोडायज़ेपींस (benzodiazepines)

कम समय के लिए : डायजेपाम जैसे ट्रैंक्विलाइज़र (tranquillisers) भी सेडटिव दवाएं होती हैं। वे चिंता और अनिद्रा के इलाज में उपयोग किए जाते हैं।

ट्रैंक्विलाइज़र (tranquillisers) की अधिक खुराक आपकी याददाश्त को प्रभावित कर सकती है और आपको नीरस बना सकती है।

लम्बे समय के लिए : आपका शरीर जल्दी से बेंज़ोडायज़ेपींस (benzodiazepines)

का आदी जाता है और जल्द ही समान प्रभाव प्राप्त करने के लिए इसकी और अधिक ज़रूरत होती है। आप कुछ ही हफ्तों में इसके आदी हो सकते हैं। इसे छोड़ना मुश्किल हो सकता है और आपको भयभीत, चिंतित और उदास महसूस करा सकती है।

अधिक खुराक से अचानक वापसी बहुत खतरनाक हो सकती है और दौरे (fits) का कारण बन सकती है।

NHS के मूल कॉन्टेंट का अनुवादHealthily लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।