COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
6th June, 20219 min read

म्यूकोर्मिकोसिस (ब्लैक फ़ंगस): लक्षण, कारण और उपचार

Medical Reviewer:Dr Ann Nainan
Author:Dr Adiele Hoffman
मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है। यह Dr Adiele Hoffman द्वारा लिखा गया है और Dr Ann Nainan ने इसकी मेडिकल समीक्षा की है।

म्यूकोर्मिकोसिस, या 'ब्लैक फंगस' क्या है?

म्यूकोर्मिकोसिस - जिसे अक्सर 'ब्लैक फंगस' या 'ब्लैक मोल्ड' कहा जाता है - एक दुर्लभ और गंभीर फंगल संक्रमण है जो आपकी त्वचा, फेफड़े, हृदय, मस्तिष्क और रक्त सहित आपके पूरे शरीर को संक्रमित कर सकता है।

यह तब होता है जब एक प्रकार का फ़ंगस - आमतौर पर म्यूकोरेल्स नामक फ़ंगस - आपके शरीर में प्रवेश करता है, उदाहरण के लिए, जब आप सांस के माध्यम से उसे अंदर लेते हैं या खाते हैं।

हम हर दिन कई फ़ंगल स्पॉर्ज़ (फ़ंगस का एक रूप जो लंबे समय तक जीवित रहने में सक्षम है) के संपर्क में आते हैं क्योंकि वे हवा और मिट्टी सहित हमारे पर्यावरण में रहते हैं। वे आमतौर पर किसी भी समस्या का कारण नहीं बनते हैं, लेकिन, यदि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर है या आपको कोई अंतर्निहित चिकित्सा स्थिति है, तो वे ब्लैक फ़ंगस जैसी बीमारी का कारण बन सकते हैं।

म्यूकोर्मिकोसिस हमेशा से एक बीमारी के रूप में रहा है, लेकिन यह 2021 में मीडिया की सुर्खियों में आया जब महामारी के दौरान भारत में अस्पताल में भर्ती COVID-19 रोगियों में इसके मामले बढ़ गए।

म्यूकोर्मिकोसिस के लक्षण

म्यूकोर्मिकोसिस के 6 विभिन्न प्रकार हैं, और आपके लक्षण इस बात पर निर्भर करेंगे कि आपके शरीर में संक्रमण कहाँ है।

राइनो-ऑर्बिटो-सेरेब्रल म्यूकोर्मिकोसिस

यह सबसे आम प्रकार है और यह तब होता है जब फ़ंगस आपके चेहरे, आंखों, साइनस (आपके गाल की हड्डी और माथे के पीछे की जगह) और मस्तिष्क को संक्रमित करता है।

आपको जो लक्षण हो सकते हैं उनमें शामिल हैं:

  • आपके चेहरे के एक तरफ सूजन या लाली
  • सरदर्द
  • बंद नाक या आपके चेहरे पर दबाव
  • आपकी नाक पर और आपके मुंह के अंदर काले निशान या घाव
  • आपकी नाक और मुंह से काला तरल निकलना
  • बुखार
  • धुंधली या दोहरी दृष्टि
  • आँखों को हिलाने में परेशानी

पल्मोनरी म्यूकोर्मिकोसिस

यह तब होता है जब आप फंगस को अपने फेफड़ों में सांस के माध्यम से अंदर लेते हैं। आपके लक्षण जल्दी खराब हो सकते हैं और इसमें शामिल हो सकते हैं:

  • बुखार
  • खांसी
  • खूनी खाँसी
  • छाती में दर्द
  • सांस लेने में कठिनाई

यह आपके हृदय में या आपके रक्त के माध्यम से अन्य अंगों में भी फैल सकता है।

त्वचीय म्यूकोर्मिकोसिस (Cutaneous mucormycosis)

यह प्रकार आपकी त्वचा को संक्रमित करता है। यह त्वचा पर चकत्ते और अन्य लक्षण पैदा कर सकता है, जैसे:

  • फफोले
  • घाव (अल्सर)
  • आपकी त्वचा पर काले निशान
  • त्वचा का दर्द
  • त्वचा का लाल होना
  • आपकी त्वचा गर्म होना और लाल दिखना
  • आपकी त्वचा में सूजन

अन्य प्रकार के म्यूकोर्मिकोसिस के विपरीत, त्वचीय म्यूकोर्मिकोसिस आमतौर पर शरीर के अन्य भागों में नहीं फैलता है।

गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल म्यूकोर्मिकोसिस

जब आप फंगल स्पॉर्ज़ खाते हैं और वे आपके आंत को संक्रमित करते हैं, तो इसे गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल म्यूकोर्मिकोसिस के रूप में जाना जाता है - लेकिन यह एक दुर्लभ प्रकार है।

इसके लक्षणों में शामिल हो सकते हैं:

  • पेट दर्द
  • उबकाई (मतली) या उल्टी
  • खून की उल्टी
  • आपके मल में खून

रेनल (गुर्दे) म्यूकोर्मिकोसिस

रेनल म्यूकोर्मिकोसिस आम नहीं है - यह तब होता है जब फ़ंगस आपके गुर्दे को संक्रमित करता है। इसके लक्षणों में शामिल हैं:

  • एक तरफ या दोनों तरफ पीठ दर्द
  • बुखार

डिसेमिनेटेड म्यूकोर्मिकोसिस

डिसेमिनेटेड म्यूकोर्मिकोसिस तब होता है जब फंगस रक्त के माध्यम से आपके शरीर के अन्य भागों में फैल जाता है। यह आमतौर पर केवल तभी होता है जब आप मधुमेह या रक्त कैंसर जैसी किसी अन्य चिकित्सा स्थिति से वास्तव में बीमार होते हैं, इसलिए यह जानना कठिन हो सकता है कि कौन से लक्षण म्यूकोर्मिकोसिस से हैं और कौन से आपकी अंतर्निहित स्थिति से हैं।

डिसेमिनेटेड म्यूकोर्मिकोसिस जीवन के लिए खतरा हो सकता है। यदि यह आपके मस्तिष्क में है, तो आप बहुत भ्रमित हो सकते हैं या कोमा में पड़ सकते हैं, जो कि बेहोशी की स्थिति है जहाँ आपको जगाया नहीं जा सकता है।

म्यूकोर्मिकोसिस होने पर डॉक्टर को कब दिखाएं

म्यूकोर्मिकोसिस एक दुर्लभ बीमारी है और ऐसी कई स्थितियां हैं जो अधिक सामान्य हैं जो समान लक्षण पैदा कर सकती हैं। इनमें से कुछ अन्य की तुलना में अधिक गंभीर हैं, इसलिए यदि आपको ऊपर सूचीबद्ध लक्षणों में से कोई भी लक्षण दिखाई दें तो जल्द से जल्द डॉक्टर से मिलें।

अस्पताल या आपातकालीन विभाग में तुरंत जाएँ यदि आपको निम्न लखन महसूस हों:

  • अचानक बहुत बुरा सिरदर्द हो
  • अधिक सिरदर्द और बुखार है, गर्दन में अकड़न है, उल्टी हो रही है या तेज रोशनी पसंद नहीं है
  • अपनी बाहों या पैरों को हिलाने में परेशानी होती है क्योंकि वे कमजोर महसूस होते हैं, या आपके चेहरे के एक तरफ झुकाव है।
  • भ्रमित महसूस हो रहा हो
  • सुस्ती महसूस हो
  • खून की उल्टी हो
  • मल में बहुत खून हो
  • बहुत गहरा या काला मल हो
  • पेट में बहुत दर्द हो रहा हो
  • बुखार हो, आपके पेशाब में खून हो और एक तरफ पीठ दर्द हो
  • सांस लेने में कठिनाई महसूस हो
  • खांसी में ख़ून आए
  • सीने में दर्द हो
  • आपकी आंख के आसपास सूजन या लालिमा हो जो फैल रही हो
  • अचानक धुंधली या दोहरी दृष्टि हो
  • आप बहुत अस्वस्थ महसूस करते हों, हृदय गति तेज हो, बुखार या सेप्सिस के अन्य लक्षण हों
  • आपकी नाक या मुंह से काला द्रव निकल रहा हो

म्यूकोर्मिकोसिस का क्या कारण है?

ऐसी कुछ स्थितियां हैं जो म्यूकोर्मिकोसिस का कारण बनने वाले फ़ंगस से संक्रमित होने के आपके जोखिम को बढ़ाती हैं। यह तब हो सकता है जब आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली बहुत कम हो और यदि आप बहुत बूढ़े या बहुत छोटे हैं तो यह अधिक सामान्य है। आपको जोखिम में डालने वाली स्थितियों में शामिल हैं:

  • मधुमेह
  • स्टेरॉयड लेना
  • रक्त कैंसर
  • रक्त या अंग प्रत्यारोपण
  • इंजेक्शन लगाने वाली दवाएं
  • एचआईवी और एड्स
  • बर्न्स
  • कुपोषण
  • आपके शरीर में बहुत अधिक आयरन होना और बहुत अधिक आयरन के लिए उपचार किया जाना
  • गुर्दे से संबंधित समस्याएं
  • कुछ अन्य दवाएं, जैसे एंटीबायोटिक्स और वोरिकोनाज़ोल नामक एक एंटिफंगल दवा

यह संक्रामक नहीं है, जिसका अर्थ है कि आप इसे किसी अन्य व्यक्ति से प्राप्त नहीं कर सकते हैं या इसे किसी अन्य व्यक्ति में नहीं फैला सकते हैं।

यह अक्सर नहीं होता है, लेकिन अगर दूषित ड्रेसिंग का उपयोग किया जाता है, या सैन्य चोट या बम विस्फोट से दर्दनाक घाव में फंगस घाव को संक्रमित कर सकता है। प्रकोप प्राकृतिक आपदाओं जैसे बवंडर या ज्वालामुखी विस्फोट के बाद भी हो सकता है।

COVID-19 और म्यूकोर्मिकोसिस के बीच क्या संबंध है?

2020 के अंत में महामारी की ऊंचाई के दौरान भारत में अस्पताल में भर्ती COVID-19 रोगियों में म्यूकोर्मिकोसिस के मामले सबसे पहले सामने आए थे। स्टेरॉयड का उपयोग गंभीर COVID-19 के उपचार के रूप में किया जाता है, इसलिए इस दवा के कारण ये संक्रमण हो सकता है। COVID-19 और म्यूकोर्मिकोसिस दोनों से संक्रमित लोगों में से अधिकांश को मधुमेह भी था।

फिलहाल, COVID-19 और म्यूकोर्मिकोसिस के बीच की कड़ी को पूरी तरह से समझा नहीं गया है।

म्यूकोर्मिकोसिस का निदान कैसे किया जाता है?

डॉक्टर आपसे आपके लक्षणों के बारे में बात करेंगे और शारीरिक परीक्षण करेगा। अगर उन्हें लगता है कि आपको म्यूकोर्मिकोसिस है, तो वे आमतौर पर कुछ परीक्षण करेंगे, जैसे:

  • बायोप्सी
  • आपकी नाक से आपके कफ या तरल पदार्थ का एक नमूना लेना - वे एक माइक्रोस्कोप के नीचे फ़ंगस को खोजने की कोशिश कर सकते हैं या इसे प्रयोगशाला में विकसित करने का प्रयास कर सकते हैं
  • रक्त परीक्षण
  • मूत्र परीक्षण
  • आपके फेफड़ों, साइनस या शरीर के अन्य अंगों का एक्स-रे, सीटी या एमआरआई स्कैन, यह इस बात पर निर्भर करता है कि आपका संक्रमण कहां है
  • एंडोस्कोपी - यदि आपको गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल म्यूकोर्मिकोसिस है
  • नाक की एंडोस्कोपी - एक प्रक्रिया जो नाक और साइनस की जाँच करती है

म्यूकोर्मिकोसिस का उपचार

उपचार अक्सर सबसे अच्छा काम करता है जब इसे जल्द से जल्द शुरू किया जाता है। इसमें शामिल हो सकते हैं:

  • किसी भी मृत ऊतक को काटने के लिए सर्जरी
  • एंटिफंगल दवा या तो शिरा (IV) या मुंह से दी जाती है, जैसे एम्फोटेरिसिन बी या पॉसकोनाज़ोल
  • अन्य दवाएं, जैसे आपके शरीर में आयरन को कम करने के लिए दवा, या हाइपरबेरिक (उच्च दबाव) ऑक्सीजन - इन्हें उपचार के रूप में आजमाया जा सकता है, लेकिन यह पता लगाने के लिए और अधिक शोध की आवश्यकता है कि क्या वे वास्तव में काम करते हैं

यदि आपको कोई अंतर्निहित चिकित्सा समस्या है, तो डॉक्टर आमतौर पर इसका इलाज करने का प्रयास करेंगे। वे किसी भी दवा को रोक या कम भी कर सकते हैं जो इसे और खराब कर सकती है।

क्या आप म्यूकोर्मिकोसिस को रोक सकते हैं?

फंगल बीजाणु हमारे पर्यावरण में हर जगह होते हैं, इसलिए उन्हें सांस लेने या खाने से बचना मुश्किल है, उदाहरण के लिए, वे भी जो ब्लैक फ़ंगस का कारण बनते हैं।

यदि आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर है, तो आप अपने पर्यावरण से खुद को बचाकर इसे प्राप्त करने की संभावनाओं को कम करने के कुछ तरीके आजमा सकते हैं, लेकिन वे आपको म्यूकोर्मिकोसिस होने से रोकने की गारंटी नहीं देते हैं। उनमे शामिल है:

  • किसी भी त्वचा के घावों को साबुन और पानी से अच्छी तरह साफ करना, खासकर यदि आप मिट्टी या धूल के संपर्क में हैं
  • ऐसी किसी भी चीज़ से परहेज करना जिस से आप मिट्टी या धूल के संपर्क में आते हैं, जैसे कि बागवानी, या मिट्टी के सम्पर्क आने पर दस्ताने पहनना और अपनी त्वचा के अन्य हिस्सों को ढंकना।
  • बहुत सारी धूल से दूर रहना, उदाहरण के लिए, निर्माण स्थलों में। यदि आप धूल भरे क्षेत्रों से दूर नहीं रह सकते , तो आपकी सहायता के लिए आप एक फेस मास्क पहन सकते हैं, जिसे रेस्पिरेटर कहा जाता है।
  • प्राकृतिक आपदाओं के बाद बाढ़ के पानी या बाढ़ वाली इमारतों के पास नहीं जाना

यदि आपको यह रोग होने का उच्च जोखिम है - उदाहरण के लिए यदि आपका अंग प्रत्यारोपण हुआ है - डॉक्टर आपको म्यूकोर्मिकोसिस को रोकने के लिए एंटिफंगल दवा दे सकते हैं।

आपको म्यूकोर्मिकोसिस होने से बचाव के लिए कोई टीका अभी तक विकसित नहीं किया गया है।

NHS के मूल कॉन्टेंट का अनुवादHealthily लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।