COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
5 min read

कृत्रिम गर्भाधान (Artificial insemination)

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है।

अंतर्गर्भाशयी गर्भाधान (IUI) प्रजनन शक्ति के इलाज़ का तरीका है जिसमें शुक्राणु (sperm ) सीधे महिला के गर्भ में डाले जाते हैं ।

अंतर्गर्भाशयी गर्भाधान (IUI) के पहले प्रजनन शक्ति का परीक्षण

IUI करने के पहले, आपके और आपके साथी की प्रजनन शक्ति का मूल्यांकन किया जायेगा यह पता लगाने के लिए की आपको गर्भधारण में क्या समस्या है और क्या आईयूआई आपके लिए उचित हैं।

प्रजनन शक्ति के रोग निदान के लिए और पढ़ें।

आईयूआई के लिए महिला के फैलोपियन ट्यूब/ गर्भाशय ट्यूब/ डिंबवाही नलिका (fallopian tubes) (गर्भ को अंडाशय से जोड़ने वाली ट्यूब) स्वस्थ और खुली होनी चाहिये।

आपको और आपके साथी को आईयूआई की सलाह नहीं दी जाएगी यदि आपको :

  • बिना कोई ख़ास कारण के बांझपन है
  • शुक्राणु (sperm) की संख्या या गुणवत्ता में कमी है
  • हल्की एंडोमेट्रियोसिस (mild endometriosis) है

ऐसा इसलिए है क्योंकि यह सुझाव देने के लिए कुछ सबूत हैं कि, यह प्राकृतिक परिस्थितियों की तुलना में इन परिस्थितियों में आपके गर्भवती होने की संभावनाओं को नहीं बढ़ाएगा।

अंतर्गर्भाशयी गर्भाधान (IUI) का समय निर्धारित करना

आपको आईयूआई एक प्राकृतिक चक्र (unstimulated) में या उत्तेजित (stimulated ) चक्र में दी जा सकती है

सफलता की सम्भावना को बढ़ाने के लिए, आईयूआई का चक्र डिंबोत्सर्जन (ovulation) के तुरंत बाद किया जाना चाहिए।

किसी महिला का डिंबोत्सर्जन मासिक धर्म चक्र के बाद 12 से 16 दिनों के बीच होता है, यदि आपका मासिक धर्म चक्र नियमित है तो, यह अलग हो सकता है यदि आपका मासिक धर्म चक्र अनियमित है। आपको एक ओव्यलैशन प्रीडिक्शन किट (OPK) दी जा सकती है आपकी डिंबोत्सर्जन डेट पता करने के लिए। OPK डिवाइस डिंबोत्सर्जन के समय छोड़े गये मूत्र या लार/ थूक (saliva) में होर्मोंस का पता लगा लेता है।

अन्यथा, खून के परीक्षण से आपके डिंबोत्सर्जन के समय का पता लगाया जा सकता है

उत्तेजित किया गया (Stimulated ) IUI

कभी कभी आईयूआई के पहले डिंबोत्सर्जन करवाने के लिए प्रजनन दवाओं का इस्तेमाल किया जाता है। इसमें योनि का अल्ट्रासाउंड स्कैन किया जाता है, आपके अंडे के विकास के बारे में पता करने के लिये।

जैसे ही कोई अंडा परिपक्व होता है, आपको एक हॉर्मोन इंजेक्शन लगाया जाएगा, इस अंडे को छोड़ने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए ।

अंतर्गर्भाशयी गर्भाधान (IUI) के लिए साथी के शुक्राणुओं का इस्तेमाल

यदि कोई जोड़ा आपने खद के शुक्राणु का इस्तेमाल करना चाहता है तो पुरुष को हस्तमैथुन करके एक नमूना कप (specimen cup) में शुक्राणु (sperm )का सैम्पल प्रजनन क्लिनिक में देना होगा । यह आमतौर पर उसी दिन होगा जिस दिन आईयूआई इलाज़ होना है ।

शुक्राणु का नमूना साफ़ किया जाएगा और स्वस्थ शुक्राणु के एक केंद्रित नमूने का उत्पादन करने के लिए फ़िल्टर किया जाएगा

महिला की योनि को खुला रखने के लिए उसमें स्पेककुलुम/वीक्षणयंत्र नामक उपकरण डाला जाता है। एक पतली, लचीली ट्यूब जिसे कैथेटर कहा जाता है, फिर योनि के अंदर डाल कर गर्भाशय तक ले जाया जाता है। इसके बाद स्पर्म के नमूने को कथेटर के माध्यम से गर्भाशय तक भेजा जाता है ।

यह प्रक्रिया दर्दरहित होती है, हालांकि कुछ महिलाओं को थोड़ी देर के लिए हल्की ऐंठन का अनुभव होता है।

इस प्रक्रिया में 10 मिनट से ज्यादा समय नहीं लगता। कुछ देर आराम करने के बाद आप घर जा सकती हैं

आईयूआई में दाता शुक्राणु (donor sperm) का इस्तेमाल

आईयूआई के लिए किसी दानकर्त्ता के फ्रोज़न स्पर्म/ जमे हुए शुक्राणु (Frozen sperm) का इस्तेमाल भी किया जा सकता है। इससे फर्क नहीं पड़ता की आप बिना साथी के अकेली महिला हों , साथी के साथ साझेदारी में हों , समलैंगिक हों या नॉर्मल (gay or straight)।

आमतौर पर सभी लाइसेंस प्राप्त प्रजनन क्लिनिक्स के लिए यह आवश्यक है की डोनर स्पर्म (donor sperm) को संक्रमण और आनुवंशिक रोगों के लिए स्क्रीन (screen) करें/ जांचे।

कुछ संक्रमणों का पता लगाने में समय लगता है , तो स्पर्म को 6 महीनों के लिए फ्रीज़ किया जाता है जिससे संक्रमण , जैसे की एचआईवी , का पता लगाया जा सके।

शुक्राणु किसी ऐसे व्यक्ति से हो जिसे आप जानते हैं या एक पंजीकृत, लाइसेंस प्राप्त शुक्राणु बैंक (licensed sperm bank ) से, वे फ्रीज़ किये जाते हैं। दाता स्पर्म का इस्तेमाल करना एक मुश्किल फैसला हो सकता है, और आगे बढ़ने से पहले आपको परामर्श प्रदान किया जाना चाहिये ।

स्पर्म दाता के बारे में और पढ़ें।

अंतर्गर्भाशयी गर्भाधान (IUI) में आपकी सफलता की उम्मीद

यह बहुत सारी अलग अलग बातों पर निर्भर करता है , जिनमें शामिल हैं:

  • बांझपन का कारण
  • महिला की उम्र
  • पुरुष के शुक्राणु की संख्या और शुक्राणु की गुणवत्ता (ताजा शुक्राणु के उपयोग से गर्भाधान की दर जमे हुए शुक्राणु (frozen sperm) से गर्भाधान की तुलना में अधिक होती है )
  • क्या ओवुलेशन को प्रोत्साहित करने के लिए प्रजनन दवाओं का उपयोग किया गया है या नहीं (इससे आपकी सफलता की उम्मीद बढ़ जाती है)

बहुत सारे अलग अलग कारक शामिल होते हैं, इसलिये आपको अपनी सफलता की दर बढ़ाने के लिए आपकी फर्टिलिटी टीम से बात करना अच्छा रहेगा ।

क्या इसमें कोई जोखिम होता है?

कुछ महिलाओं को पीरीअड के दर्द (period pains ) जैसी मामूली ऐंठन होती है, लेकिन इसके अलावा आईयूआई में जोखिम बहुत कम हैं ।

यदि आप ओव्यूलेशन को उत्तेजित करने के लिये प्रजनन क्षमता की दवा लेती हैं, तो डिम्बग्रंथि हाइपरस्टिम्यूलेशन सिंड्रोम (ovarian hyperstimulation syndrome) नामक समस्या होने का मामूली खतरा हो सकता है (/condition/ivf/risks )। यह भी हो सकता है की आपको एक से अधिक बच्चा हो, जिससे आपको अतिरिक्त जोखिम हो सकता है (आपको और आपके शिशुओं के लिए)।

NHS के मूल कॉन्टेंट का अनुवादHealthily लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।