COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
7 min read

लीकी गट सिंड्रोम (leaky gut syndrome)

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है।

लीकी गट सिंड्रोम कुछ स्वास्थ्य प्रदाताओं द्वारा प्रस्तावित एक अवस्था है, जो ये दावा करते हैं कि ये कुछ बड़ी दीर्घकालिक अवस्था की वजह भी बनता है जिसमें क्रोनिक फटीग सिंड्रोम (chronic fatigue syndrome) और मल्टीपल स्क्लेरोसिस (multiple sclerosis) शामिल है।

लीकी गट सिंड्रोम (leaky gut syndrome) के समर्थकों का दावा है कि किसी रिसाव करने वाली आंत द्वारा खून के प्रवाह में अवशोषित रोगाणु, विषैले पदार्थों या अन्य बड़े अणुओं के खिलाफ इम्यून सिस्टम द्वारा प्रतिक्रिया करने के फलस्वरूप कई लक्षण और बीमारियाँ पैदा होती हैं।

इस सिद्धान्त का समर्थन करने वाले बहुत कम सबूत हैं और लीकी गट सिंड्रोम (leaky gut syndrome) के इलाज में न्यूट्रिशनल सप्लीमेंट और ग्लूटेन रहित आहार का बहुत सी अवस्थाओं पर लाभदायक प्रभाव पड़ता है, इसके कोई सबूत नहीं हैं।

जब कि यह सच है कि कुछ कारक आंत (bowel) में कुछ सुराख बनाते हैं, लेकिन इससे सम्भवतः आंत के कुछ हिस्सों में हल्की अस्थायी सूजन से ज्यादा कोई असर नहीं पड़ता है।

इस पेज में:

  • यह बताया गया है कि हम बाउल लाइनिंग (bowel lining) के बारे में क्या जानते हैं साथ ही साथ यह भी कि कैसे इसमें सुराख होता है और इसका क्या असर पड़ता है साथ ही ऐसे कुछ मामले जहां इलाज की ज़रूरत पड़ती है।
  • यह भी बताया गया है कि हमें लीकी गट सिंड्रोम (leaky gut syndrome) को लेकर क्यों संदेह में होना चाहिए।
  • अस्पष्ट लक्षणों से परेशान किसी व्यक्ति के लिए सलाह और विश्वसनीय जानकारी दी गई है जो मददगार हो सकती है।

बाउल लाइनिंग: हम क्या जानते हैं (The bowel lining: what we know?)

आंत की अंदरूनी सतह कोशिकाओं की एकल परत के द्वारा बनती है जो म्यूकोसल बैरियर (mucosal barrier) बनाते हैं। यह बैरियर आंत और बाकी के शरीर के अंदर होता है।

यह बैरियर पोषक तत्वों के अवशोषण में असरदार होता है और बहुत से बड़े अणुओं (molecules) और रोगाणुओं (germs) को आंत (bowel) से खून के प्रवाह में जाने से रोकते हैं, और बाउल लाइनिंग (bowel lining) को संभावित रूप से परेशान करते हैं।

शराब और कुछ दर्दनिवारकों के प्रभाव (Effect of alcohol and certain painkillers)

शराब, एस्पिरिन (aspirin), कम खुराक वाली एन्टी प्लेटलेट एस्पिरिन (anti platelets aspirin low dose) और नॉन-स्टेरॉइडल एन्टी-इंफ्लेमेटरी ड्रग (non-steroidal anti-inflammatory drug) जैसे कि इबोप्रॉफेन (ibuprofen) बाउल लाइनिंग (bowel lining) को परेशान करने के लिए जाने जाते हैं। वे कोशिकाओं के बीच के सील को नुकसान पहुँचाते हैं और पानी में घुलने वाले पदार्थों को खाली जगह से खून के अंदर आने की अनुमति देते हैं।

गैस्ट्रोएंट्रोलोजिस्ट (gastroenterologists) जो आंत की बीमारियों का विशेषज्ञ होता है। वह सामान्य रूप से सहमत होता है कि ये उत्तेजक आंत के कुछ हिस्सों में हल्की सूजन से ज़्यादा किसी चीज़ का कारण नहीं बनते हैं। और परिणाम स्वरूप बाउल लाइनिंग (bowel lining) ज़्यादा छेददार हो जाता है। बहुत ज़्यादा खराबी होने पर सूजन बाउल लाइनिंग (bowel lining) में अल्सर (ulcers) का कारण बन सकती है।

नियमित रूप से बहुत शराब पीने वाले या रोज़ एस्पिरिन (aspirin) या इबोप्रॉफेन (ibuprofen) लेने वाले अधिकतर लोगों को कोई भी फैलने वाले लक्षण या स्वास्थ्य अवस्था नहीं होती है, जैसा लीकी गट सिंड्रोम (leaky gut syndrome) के समर्थकों का मानना है- यदि यह सिद्धांत सही होता तो स्वास्थ्य समस्याएं भी होती।

आंत की कुछ बीमारियों और इलाजों के प्रभाव (Effect of certain bowel diseases and treatments)

निम्न बीमारियाँ और इलाज भी बाउल लाइनिंग (bowel lining) की सील को नुकसान पहुँचाने के लिये जाने जाते हैं।

सामान्य रूप से केवल इन परिस्थितियों में लीकी बाउल के लिए इलाज ज़रूरी होता है। उदाहरण के लिए वे लोग जिन्हें क्रोन बीमारी (crohn's disease) है उन्हें दवाओं से आंत की सूजन कम करने में लाभ मिलता है और द्रव्य आहार से भी लाभ मिल सकता है। (क्रोन बीमारी के इलाज के बारे में और पढ़ें।)

लीकी गट सिंड्रोम को लेकर संदेह में क्यों होना चाहिए?

असिद्ध सिद्धांत (unproven theory)

लीकी गट सिंड्रोम (leaky gut syndrome) के प्रतिपादक - बहुत से न्यूट्रिशनिस्ट (nutritionist) और पूरक व वैकल्पिक दवाओं के प्रैक्टिशनर मानते हैं कि बाउल लाइनिंग (bowel lining) बहुत से कारकों के परिणाम स्वरूप रिसाव और परेशान करने वाला हो सकता है। जिसमें आंत में यीस्ट (yeast) और बैक्टीरिया (bacteria) का ज़्यादा बढ़ना , खराब आहार और एंटीबायोटिक (antibiotics) का अत्यधिक इस्तेमाल शामिल है।

वे मानते हैं कि पेट की रिसती हुई सतह से हजम नहीं हुए खाने के कण, बैक्टीरियल टोक्सिन (bacterial toxins) और रोगाणु (germ) खून के प्रवाह में शामिल होकर इम्यून सिस्टम (immune system) को प्रभावित करते हैं जो शरीर में लगातार सूजन का कारण बनते हैं। यह, वे कहते हैं, स्वास्थ्य समस्याओं और रोगों की एक व्यापक श्रेणी से जुड़ा हुआ है, जिसमें शामिल हैं:

  • खाने से एलर्जी (food allergies)
  • माइग्रेन (migraine)
  • थकान और क्रोनिक फटीग सिंड्रोम (chronic fatigue syndrome)
  • अस्थमा (asthma)
  • ऑटोइम्यून बीमारी (autoimmune disease) जहां शरीर का इम्यून सिस्टम (immune system) खुद के टिशू पर हमला करता है। जैसे कि लुपस, मल्टीपल स्क्लेरोसिस, रूमेटाइड अर्थराइटिस
  • त्वचा की बीमारी जैसे कि स्कलेरोडर्मा
  • ऑटिज़्म

उपरोक्त सिद्धांत अस्पष्ट है और वर्तमान में काफी हद तक अप्रमाणित है।

इलाज (Treatments)

कुछ वैज्ञानिक और संदेहवादी विश्वास करते हैं कि वो लोग जो लीकी गट सिंड्रोम (leaky gut syndrome) को बढ़ावा देते हैं या तो वे बहके हुए हैं और सिद्धांतों को बहुत ज़्यादा पढ़ते हैं या तो जानबूझकर लोगों को गुमराह करते हैं ताकि वो उस इलाज से पैसे बना सकें जिसे वो बेच रहे हों।

बहुत से उत्पाद ऑनलाइन बिकते हैं जिसमें डाइट बुक, न्यूट्रिशनल सप्लीमेंट जिसमें प्रोबायोटिक (probiotic) होता है, ग्लूटेन रहित खाना और अन्य विशेष आहार जैसे कि लो शुगर (low sugar) या एंटीफंगल आहार (antifungal diet) शामिल है। इनमें ये सिद्ध नहीं हुआ है कि यह बहुत सी अवस्थाओं में लाभदायक है जिसका ये दावा करते हैं।

कुछ वेबसाइट ऑटिज़्म (autism) के लिए कई प्रकार के पोषण सम्बंधी इलाज (nutritional treatment) को बढ़ावा देते हैं। 2006 की समीक्षा में ऑटिज़्म (autism) के साथ लोगों के आहार में हेरफेर के संभावित प्रभाव का पता लगाया, जिससे यह निष्कर्ष निकला कि आहार सम्बंधी इलाज बोझिल थे और असरदार साबित नहीं हुए।

सामान्य रूप से आहार से खाने को हटाना अच्छा उपाय नहीं है जब तक यह बहुत ज़्यादा आवश्यक ना हो। उदाहरण के लिए अगर आपको सीलियक बीमारी (coeliac disease) है। क्योंकि यह पोषण संबंधी कमियों को बढ़ा सकता है।

सलाह और आगे की जानकारी (Advice and further information)

अगर आपको ऐसे लक्षण हैं जिनका पता नहीं चल रहा है तो हमारे पेज मेडिकली अनएक्सप्लेण्ड लक्षण को पढ़ने से मदद मिल सकती है। इस तरह के रहस्यमयी लक्षण आश्चर्यजनक रूप से सामान्य होते हैं।

अगर आपमें किसी विशेष स्वास्थ्य अवस्था का पता लगा है। तो आप इसे हमारे इलाज और अवस्था के A-Z सूचकांक पर देख सकते हैं। जहां आपको इसके इलाज के बारे में विश्वसनीय, साक्ष्य आधारित जानकारी मिलेगी।

आमतौर पर समग्र और 'प्राकृतिक स्वास्थ्य' वेबसाइटों को संदेह के साथ देखना बुद्धिमानी है- यह मत समझिए कि जो जानकारी वे देते हैं वह सही है या वैज्ञानिक तथ्य या सबूत पर आधारित है।

[इलाज में साक्ष्य की भूमिका के बारे में और जब हम कहते हैं इलाज काम करता है तो इसका क्या मतलब होता है] इस बारे में और पढ़ें।

NHS के मूल कॉन्टेंट का अनुवादHealthily लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।