आंखों और मांसपेशियों का फड़कना (Twitching Eyes and Muscles)

3 min read

फड़कना (Twitches) एक आम क्रिया है और इसे गंभीर बीमारी के तौर पर बहुत कम ही देखा जाता है। वे अपने आप ही ठीक हो जाते हैं। लेकिन फड़कने का यह सिलसिला दो हफ्ते से अधिक चलता है, तो डॉक्टर को दिखाएं।

फड़कने (twitching) के कारण क्या हैं?

ज्यादातर लोगों में समय समय पर ऐसा होता है। अकसर यह इन वजहों से होती हैः

  • तनाव (stress) और चिंता (
    anxiety
    )
  • सामान्य या अत्यधिक थकान
  • कैफीन (caffeine) या शराब (alcohol) का सेवन करना
  • कुछ दवाएं - पैकेट या लिफाफे पर दुष्प्रभाव की जांच करें

वे शरीर के किसी भी हिस्से को प्रभावित कर सकते हैं। आंखों या पैरों में फड़कन विशेष रूप से आम हैं।

आपको एक ही क्षेत्र में झुनझुनी (tingling) या ऐंठन (cramps) भी हो सकती है।

आप फड़कने को कैसे रोक सकते हैं?

फड़कना कभी भी शुरू हो सकता है और बंद हो सकता है। लेकिन आमतौर पर कुछ दिनों या हफ्तों में यह बंद हो जाता है। आमतौर पर इसका कोई इलाज (treatment) नहीं है।

ये कुछ चीजें आपके लिए मददगार साबित हो सकती हैं:

क्या करें

  • ज्यादा आराम करें (get plenty of rest)
  • रिलैक्स करने के तरीके खोजने की कोशिश करें
  • ऐंठन (cramps) से प्रभावित मांसपेशियों को खींचे (stretch) और मालिश करें
  • इसको लेकर चिंतित न हो। फड़कना आमतौर पर हानिकारक नहीं होता। लेकिन इसको लेकर चिंता करना इसे बदतर बना सकता है।

क्या न करें

  • कैफीन (caffeine) वाले पदार्थ जैसे चाय (tea) और कॉफी (coffee) का अधिक सेवन
  • शराब का अधिक सेवन
  • डॉक्टर की सलाह (medical advice) लिये बिना डॉक्टर द्वारा दी गई दवा लेना बंद न करें - भले ही आपको यह क्यों न लगे कि यह आपके फड़कने का कारण बन सकती हैं

डॉक्टर से संपर्क करें अगर:

  • अगर दो सप्ताह से अधिक समय तक ऐसा हो
  • एक से अधिक स्थानों में फड़कन (twitch) हो रही हो
  • प्रभावित क्षेत्र में कमजोरी महसूस हो रही हो
  • आपको लगता है कि डॉक्टर द्वारा दी गई दवा से ऐसा हो रहा हो

डॉक्टर से मिलने पर क्या होता है

डॉक्टर निम्न कर सकते हैं:

  • फड़कने के कारणों की जांच, जैसे तनाव (stress) या जो दवा आप ले रहे हैं
  • अगर कुछ हफ्तों में फड़कन बंद नहीं हुई, तो आपको वापस आने के लिए कहेंगे
  • वह आपको परीक्षण के लिए एक न्यूरोलॉजिस्ट (neurologist) के पास जाने की सलाह देंगे, जो फड़कन के कारणों की जांच करेंगे

स्थितियां जो फड़कने का कारण बन सकती हैं

ज्यादातर फड़कन किसी चिकित्सा स्थिति के कारण नहीं होती है।

लेकिन बंद नहीं होने वाली या बार बार होने वाली फड़कन (twitch) जो कुछ अन्य लक्षणों के साथ हो, वो कुछ इस प्रकार की स्थितियां हो सकती हैं:

  • बिनाइन फसिक्यलेशन सिन्ड्रोम (benign fasciculation syndrome) - लंबे समय तक चलने वाली फड़कन (twitches) और ऐंठन (cramps) अतिसक्रिय नसों (overactive nerves) के कारण भी हो सकती हैं
  • डिस्टोनिया (
    dystonia
    ) - असामान्य परिस्थितियों का एक समूह जो मांसपेशियों में ऐंठन (muscle spasms) का कारण बनता है
  • मोटर न्यूरॉन बीमारी (
    motor neurone disease
    ) - एक असाधारण स्थिति जो कमजोरी का कारण बनती है और समय के साथ खराब हो जाती है

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।