4th November, 20206 min read

दिवाली: प्रकाश के इस पर्व पर स्वस्थ कैसे रहें

दिवाली: प्रकाश के इस पर्व पर स्वस्थ कैसे रहें
मेडिकली रिव्यूड

प्रकाश का त्योहार दीपावली, दावतों और आतिशबाजी से भरपूर होता होता है।

आम तौर पर दिवाली के दिन हम कई प्रकार के व्यंजन बनाते हैं और इसमें बहुत सारी मिठाइयाँ शामिल होती हैं, इसलिए यह आसानी से सम्भव है कि हम ज़रूरत से ज़्यादा खा लें और इसका असर हमारे वज़न पर पड़ जाए।

वजन ज़्यादा होने से आपको हृदय रोग, स्ट्रोक और टाइप 2 डायबिटीज का खतरा बढ़ सकता है, और बहुत अधिक मीठा और वसायुक्त भोजन खाने से ये स्थिति और खराब हो सकती है।

और यदि आप दक्षिण एशियाई मूल के हैं, तो आपको पहले से ही इन स्थितियों के होने का ज़्यादा ख़तरा है।

लेकिन सेहतमंद तरीक़े से दिवाली मनाने का मतलब यह नहीं है कि आपको खाने पीने से बिलकुल ही परहेज़ करना होगा। दावतों का आनंद लेने के साथ साथ स्वस्थ रहने के कुछ तरीके यहां बताए गए हैं।

आपको क्या खाना है इसकी तैयारी पहले से करें

हर बार खाना खाने से पहले, आप कितना खाएंगे, इसकी योजना बनाने से आपको अपने खाने की मात्रा को सीमित करने में मदद मिल सकती है। समोसे, कचौरियाँ और तले हुए नमकीन जैसे खाद्य पदार्थ मेज पर काम मात्रा में रखें क्योंकि ये इनमें अधिक मात्रा में वसा और कैलोरी होती है।

इसके बजाय, उच्च फाइबर वाले खाद्य पदार्थ चुनें जिसमें दाल, भूरे चावल, छोले और सब्जियां शामिल हैं, जिससे आपको लंबे समय तक भूख नहीं लगेगी मदद।

लेकिन याद रखें कि फाइबर पानी को अवशोषित करता है, इसलिए अपने पाचन में मदद करने और कब्ज को रोकने के लिए बहुत सारे तरल पदार्थ(liquid) लें।

यदि आप मधुमेह(diabetes) के रोगी हैं, तो ये खाद्य पदार्थ आपके रक्त शर्करा को पूरे दिन स्थिर रखने में आपकी मदद कर सकते हैं। लेकिन अधिक खाने से बचने के लिए अपने खाने की मात्रा पर ध्यान देना ना भूलें।

यदि आप स्वयं भोजन तैयार कर रहे हैं, तो घी के बजाय वनस्पति तेल के साथ खाना पकाने की कोशिश करें और अपने भोजन को स्वस्थ बनाने के लिए नमक के बजाय अतिरिक्त मसाले डालें। नमक के अतिरिक्त, स्वास्थ्य सम्बंधित जोखिमों के बिना अदरक, जीरा और धनिया जैसे जड़ी-बूटियों और मसालों का उपयोग करने से आपके भोजन का स्वाद बेहतर हो सकता है।

दिवाली के दिन मिठाइयों की थाली

अपने लिए दिवाली की मिठाइयां ख़ुद बनाएं

लड्डू, हलवा और बर्फी जैसी मिठाइयाँ दिवाली में अक्सर खाई जाती हैं, लेकिन उनमें उच्च मात्रा में चीनी और कैलोरी हो सकती हैं।

यदि आप इन्हें स्वयं बनाते हैं(इन्हें खरीदने के बजाय) तो आप अपने व्यंजनों में चीनी की मात्रा कम करके व्यंजन को सेहतमंद तरीक़े से भी बना सकते हैं।

यदि आप मधुमेह के रोगी हैं, तो आप चीनी के बजाय कम कैलोरी वाले विकल्प का उपयोग करके चीनी की मात्रा को और भी कम कर सकते हैं।

यदि आप शराब पीते हैं तो उसकी मात्रा का ध्यान रखें

खाने के साथ-साथ, आपको दीवाली समारोह के दौरान शराब की मात्रा पर भी ध्यान देने की ज़रूरत है।

शराब में कैलोरी अधिक होती है। लैगर के एक पिंट में लगभग 240 कैलोरी हो सकती हैं, जो एक सामान्य आकार के चॉकलेट बार के बराबर है। तो इसे भी सीमित करने की ज़रूरत है।

यदि आप शराब पीने का का फैसला करते हैं, तो डीहायड्रेशन से बचने के लिए प्रत्येक पेय के बीच एक गिलास पानी पीने की कोशिश करें।

एक महिला प्रशिक्षक फुटपाथ पर चलते हुए

शारीरिक रूप से सक्रिय रहें

सक्रिय रहने की कोशिश करें, खासकर यदि आप सामान्य से अधिक खा रहे हैं। डांस जैसे एक्सरसाइज आपको अतिरिक्त कैलोरी बर्न करने में मदद कर सकते हैं और यदि आप डायबिटिक हैं, तो यह आपके ब्लड शुगर लेवल को मैनेज करने में भी मदद कर सकता है।

कार्डियो एक्सरसाइज - जिससे दिल की धड़कता तेज़ होती है - जैसे डांसिंग भी आपके मूड को अच्छा कर सकती है। नियमित रूप से व्यायाम करने से आपको अपने वजन को नियंत्रित करने और रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में भी मदद मिल सकती है।

स्थानीय सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन ज़रूर करें। इसका मतलब है सकता है कि इस दिवाली आप सिर्फ़ अपने परिवार और दोस्तों के साथ छोटी पार्टियों में शामिल हों या अपने घर पर ही रहें।

दिवाली के दिन से पहले अपने स्थानीय दिशानिर्देशों के बारे में पता कर लें।

आतिशबाजी से सावधान रहें

पटाखे दिवाली समारोह का एक बड़ा हिस्सा हैं, लेकिन वे खतरनाक हो सकते हैं और जलने का एक प्रमुख कारण बन सकते हैं।

पटाखे हवा में प्रदूषण का कारण भी बनते हैं जो सांस लेने पर आपके फेफड़ों को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

जलने से कैसे बचें

यदि आप स्वयं आतिशबाजी और पटाखे जला रहे हों, तो ये तरीक़े आपको उनका सुरक्षित उपयोग करने में मदद करेंगे:

  • आतिशबाजी का उपयोग करने से पहले निर्देशों को पढ़ें
  • एक समय में केवल 1 ही पटाखा चलाएँ
  • दूर रह कर पटाखे चलाएँ
  • एक जले हुए फायरवर्क को दुबारा ना जलाएँ
  • आतिशबाजी के आसपास धूम्रपान न करें
  • अपनी जेब में पटाखे न रखें
  • सुरक्षित दूरी से या घर के अंदर से आतिशबाजी देखें

दिवाली के त्योहारों के दौरान हाथ में पटाखे लिया व्यक्

यदि आप जल गए हैं तो आप क्या कर सकते हैं

यदि आप या आपके साथ का कोई व्यक्ति जल गया है, तो घाव को ठंडा या गुनगुने पानी से साफ़ करना करें और चोट से लगे किसी भी कपड़े को हटा दें, अगर कपड़ा उस त्वचा से चिपक गया हो तो छोड़ दें।

कंबल के साथ व्यक्ति को गर्म रखें और घाव को क्लिंग फिल्म के साथ कवर करें।

कुछ मामलों में जल्द डॉक्टर के पास जाने की आवश्यकता हो सकती है, इसलिए यदि आपको लगता है कि यह गंभीर हो सकता है, तो की हॉस्पिटल के आपातकालीन विभाग में जाएं।

वायु प्रदूषण से कैसे सुरक्षित रहें

पटाखों से निकालने वाला धुआँ प्रदूषण फैलता है और उसमें सल्फर डाइऑक्साइड और नाइट्रोजन ऑक्साइड जैसे रसायन होते हैं जो विस्फोट होने पर आपके फेफड़ों में समस्या उत्पन्न कर सकती है। जब कई पटाखे एक साथ चलाए जाएँ तो वे स्थानीय वायु प्रदूषण का स्तर भी बढ़ा सकते हैं।

अस्थमा या क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिजीज जैसी फेफड़ों की समस्या से ग्रस्त लोगों के लक्षण बोनफायर और आतिशबाजी से बढ़ सकते हैं।

आप धुएं से दूरी बनाकर और यदि संभव हो तो घर के अंदर से आतिशबाजी देखकर अस्थमा अटैक के जोखिम को कम कर सकते हैं। सामान्य तरीक़े से अपनी दवाई लें और सुनिश्चित करें कि अन्य लोगों को पता हो कि आपके लक्षण बदतर होने पर आपकी कैसे मदद करें।

प्रमुख बिंदु

  • योजना बनाएं कि आप ओवरईटिंग से बचने के लिए कितना खाना तैयार करेंगे और कितनी मात्रा में खाएंगे
  • सेहतमंद रेसिपी का प्रयोग करते हए अपना भोजन ख़ुद बनाएँ
  • सक्रिय रहें, खासकर यदि आप सामान्य से अधिक खा रहे हों
  • आतिशबाजी का उपयोग करते समय ध्यान रखें और जलने की स्थिति में तुरंत मदद माँगें
  • फेफड़ों की समस्या होने पर वायु प्रदूषण से बचने का प्रयास करें
Your.MD द्वारा लिखा गया कॉंटेंटYOURMD लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

आगे क्या पढ़ें
दिवाली: खुद को प्रदूषण से कैसे बचाएं
पटाखे और आतिशबाजी दिवाली के त्योहार का एक बड़ा हिस्सा हैं, लेकिन वो प्रदूषित धुआँ उत्पन्न करते हैं, जो हानिकारक हो सकता है। यहां बताया गया है कि खुद क...