COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
7th April, 20215 min read

विशेषज्ञ की सलाह: गर्भावस्था के दौरान अपने बच्चे के मस्तिष्क के विकास के लिए क्या खाएँ

Medical Reviewer: Dr Ann Nainan
Author: Dr Swati Maheshwari
मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है। यह Dr Swati Maheshwari द्वारा लिखा गया है और Dr Ann Nainan ने इसकी मेडिकल समीक्षा की है।

यह सुनिश्चित करने के लिए कि आप अपने बच्चे को शुरू से ही मस्तिष्क के सही विकास के लिए आवश्यक तत्व प्रदान कर पा रही हैं - आपके मन में आपको क्या खाना चाहिए या क्या नहीं इसको लेकर सवाल उत्पन्न हो सकते हैं। हम अपने विशेषज्ञ अतिथि डॉ स्वाति माहेश्वरी से एक बच्चे के विकास में पहले 1,000 दिनों के महत्व को लेकर सवाल पूछे हैं - और इस दौरान पोषण की क्या भूमिका रहती है इसके बारे में भी।

एक डॉक्टर के तौर पर, मैं अक्सर एक बच्चे के विकास के संबंध में 'पहले 1,000 दिनों ’ के महत्व और यह समय कैसे एक बच्चे में आने वाले वर्षों में विकास और सीखने की प्रक्रिया को प्रभावित कर सकता है, के बारे में बात करती हूं।

यदि आप गर्भवती हैं, तो यह पूरी तरह से सामान्य है कि आप एक स्वस्थ वज़न के बच्चे को जन्म देना चाहेंगी - लेकिन 'दो लोगों के लिए खाने' से वजन बढ़ सकता है जो हो सकता है कि स्वस्थ नहीं हो। अच्छी खबर यह है कि गर्भावस्था के दौरान पोषक तत्वों के सही अनुपात के सेवन के माध्यम से वजन बढ़ाना सुरक्षित और पुष्टिकारक हो सकता है - दोनों आपके और आपके विकासशील बच्चे के मस्तिष्क के लिए।

यहाँ जानें अपने बच्चे को जीवन में सर्वश्रेष्ठ शुरुआत देने के लिए यहां आपको गर्भावस्था के दौरान क्या खाने की आवश्यकता है।

पहले 1,000 दिन क्या हैं और ये महत्वपूर्ण क्यों हैं?

जीवन के पहले 1,000 दिन बच्चे के जीवन में गर्भाधान से लेकर उनके दूसरे जन्मदिन तक का समय होता है।

यह समय अवधि एक बच्चे के शारीरिक स्वास्थ्य और विकास के साथ-साथ मस्तिष्क के विकास के लिए मजबूत नींव बनाने का एक अनूठा अवसर प्रदान करती है।

पहले 1,000 दिनों का इस बात पर एक दीर्घकालिक प्रभाव हो सकता है कि एक बच्चा अपने पूरे जीवन में कैसे विकसित होता है।

पहले 1,000 दिनों और मस्तिष्क स्वास्थ्य के बीच की कड़ी

एक बच्चे के पैदा होने के बाद ही उनके स्वास्थ्य को लेकर चिंता करना एक आम धारणा है, लेकिन एक बच्चे का स्वास्थ्य और विकास गर्भाधान से शुरू होता है।

बच्चे जीवन में प्रारंभिक शिक्षण कौशल और व्यक्तिगत क्षमता विकसित करते हैं। उनके छोटे दिमाग, और अनगिनत न्यूरॉन्स जो हर मिनट विकसित हो रहे हैं, को शुरू से ही श्रेष्ठ पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है।

मानव मस्तिष्क में लगभग 86 बिलियन न्यूरॉन्स और एक क्वाड्रिलियन सिनैप्स होते हैं। जीवन के पहले वर्षों के दौरान, न्यूरॉन्स 700 से 1,000 प्रति सेकंड की आश्चर्यजनक दर से नए कनेक्शन बनाते हैं।

यह गर्भ के दौरान और शुरुआत के वर्षों में शिशु के दिमाग को अधिक ऊर्जा अवशोषित करने वाला बनाता है। यह भोजन से शरीर द्वारा अवशोषित ऊर्जा के 50% और 75% के बीच की मात्रा की खपत करता है।

पोषण शिशु के मस्तिष्क के विकास को कैसे प्रभावित करता है?

गर्भवती होने से पहले ही शुरू के 1,000 दिनों के दौरान पोषण के बारे में सोचना शुरू करना महत्वपूर्ण है।

सुनिश्चित करें कि आप एक स्वस्थ गर्भावस्था के लिए और मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी के जन्म दोषों को रोकने में मदद करने के लिए पर्याप्त फोलिक एसिड प्राप्त कर रही हैं। पालक, गोभी, भिंडी, गाजर, बीन्स, मटर, संतरे और मछली जैसे खाद्य पदार्थ इसके अच्छे स्रोत हैं।

एक बार जब आप गर्भवती हो जाती हैं, तो आपके शरीर को आपके बच्चे के मस्तिष्क को ठीक से विकसित करने में मदद करने के लिए सूक्ष्म पोषक तत्वों के सही संतुलन की आवश्यकता होती है। इनमें प्रोटीन, ज़िंक, आइरन, कोलीन, फोलेट, आयोडीन, विटामिन ए, डी, बी6 और बी12 और लंबी-श्रृंखला की पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड शामिल हैं।

इस महत्वपूर्ण अवधि के दौरान पर्याप्त पोषक तत्व नहीं मिलने से आपके बच्चे के मस्तिष्क के विकास पर आजीवन प्रभाव पड़ सकता है, भले ही आप पहले 1,000 दिनों के बाद अच्छे पोषण का ख़याल रखें।

गर्भवती होने पर क्या खाएं

एक दिन में 3 बार भोजन करने का लक्ष्य रखें, 2 से 3 छोटे आहारों को भी शामिल करें, जिनमें चीनी और नमक की कम मात्रा हो। इन्हें शामिल करना सुनिश्चित करें:

  • अनाज और बाजरा - साबुत अनाज, गेहूं, चावल, रागी, बाजरा और ज्वार (मैदा या रिफाइंड आटे से बचने की कोशिश करें)
  • सब्जियाँ - हरी पत्तेदार सब्जियाँ, आलू, बीट या गाजर जैसी स्टार्च वाली सब्जियाँ और अन्य प्रकार की सब्जियाँ, जैसे ओकरा, टमाटर, बीन्स या बैंगन (चमकीले रंग आमतौर पर उच्च पोषण का संकेत देते हैं)
  • फल - एक दिन में 2
  • दूध और डेयरी उत्पाद - दूध, दही या पनीर
  • प्रोटीन - दालें, अंडे, मांस, मछली
  • वसा और तेल - विशेष रूप से ओमेगा-3 और ओमेगा-6 फैटी एसिड (फ़्लैक्स्सीड ओमेगा-3 फैटी एसिड में उच्च होते हैं)
  • प्राकृतिक चीनी - प्रत्येक 5g के 4 भाग (केक, बिस्कुट और पेस्ट्री जैसी चीजों को सीमित करके ट्रान्स वसा से बचें)
  • पानी - अच्छी तरह से हाइड्रेटेड रहने के लिए दिन में 10 से 12 गिलास पानी पिएं

गर्भवती होने पर क्या न खाएं

गर्भवती होने पर जितना संभव हो इन खाद्य पदार्थों से बचने की कोशिश करें:

  • चाय, कॉफी और अन्य कैफीन युक्त पेय
  • अधपका मीट, मछली या अंडे और अनपश्चुराइज़्ड डेयरी - इनमें गर्भपात से सम्बंधित एक प्रकार का बैक्टीरिया हो सकता हैं

प्रमुख बिंदु

  • जीवन के पहले 1,000 दिन बच्चे के जीवन में गर्भाधान से लेकर उनके दूसरे जन्मदिन तक का समय होता है
  • बच्चे के मस्तिष्क के विकास के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण समय है
  • गर्भावस्था से पहले और दौरान सही पोषक तत्व प्राप्त करना शिशु के मस्तिष्क के स्वस्थ विकास को प्रभावित कर सकता है
  • गर्भावस्था के दौरान वजन बढ़ना आपके और आपके बच्चे के लिए सुरक्षित और स्वस्थ हो सकता है
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।