COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
26th July, 202120 min read

सेक्स के प्रति अरुचि के मेडिकल कारण क्या हैं? (What are the medical causes of low libido?)

Medical Reviewer:Dr Adiele Hoffman
Author:Alex Bussey
मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है। यह Alex Bussey द्वारा लिखा गया है और Dr Adiele Hoffman ने इसकी मेडिकल समीक्षा की है।

सेक्स के प्रति इच्छा का कम होना चुनौतीपूर्ण हो सकता है विशेष रूप से अगर यह अचानक होता है या बिना कमी के लम्बे समय तक चलता रहता है।
लोगों ने अक्सर पाया है कि उनके सेक्स के प्रति रुचि या कामेच्छा(sex drive) में कमी व्यक्तिगत सम्बंध पर दबाव का कारण है, आत्म सम्मान को नष्ट कर देता है और स्वस्थ और खुशहाल रहने की समझ को कम करता है और उन्हें दुःखी और अधूरा छोड़ देता है।
सेक्स के प्रति अरुचि आश्चर्यजनक रूप से सामान्य समस्या है। ये एक सवेंदनशील प्रकृति की समस्या है, अर्थात ज़्यादातर मामले असूचित रह जाते हैं लेकिन सेक्सुअल एटीट्यूड एंड बिहेवियर के वैश्विक अध्ययन ने दिखाया है कि सेक्स के प्रति अरुचि की समस्या वयस्क पुरुषों में एक से 20% और महिलाओं में 26 से 43% के बीच को प्रभावित करती है।
बहुत से लोग मानते हैं कि सेक्स के प्रति रुचि सामान्य रूप से उम्र बढ़ने के कारण कम होती है और यह सच है कि बूढ़ा होना शरीर के अंदर हार्मोन के स्तर को बदल सकता है और आपके सेक्स के प्रति इक्छा में प्राकृतिक गिरावट का कारण बन सकता है।
लेकिन आपकी सेक्स के प्रति रुचि किसी भी समय बदल सकती है। सेक्स के प्रति अरुचि विभिन्न प्रकार के अलग-अलग कारणों से सम्बंधित है। जिसमें मनोवैज्ञानिक और मेडिकल समस्याएं शामिल हैं जो आपको किसी भी उम्र में प्रभावित कर सकती हैं।
रिश्ते की समस्याएं, आत्म सम्मान का कम होना और काम से सम्बंधित तनाव इन सब का आपके सेक्स के प्रति रुचि पर गहरा प्रभाव पड़ सकता है जैसे धूम्रपान, शराब का अत्यधिक सेवन या कम समय में अधिक वज़न बढ़ना ।
सेक्स के प्रति अरुचि कुछ अंदरूनी मेडिकल कारणों से भी हो सकती है। जिसमें डायबिटीज (diabetes), कैंसर (cancer), लिवर का सिरोसिस (cirrhosis of the liver), हृदय रोग (heart disease), तनाव (depression) और हार्मोनल असंतुलन (hormonal imbalance) शामिल हैं।
गर्भनिरोधक गोलियां (birth control pills), एंटीडिप्रेसेंट (antidepressants) और अन्य दवाएं आपके सेक्स के प्रति रुचि में कमी ला सकती हैं। यहां साक्ष्य मिले हैं कि एंटीहाइपरटेन्सिव दवाएं जैसे कि स्पिरॉनोलेक्टोन (spironolactone), अमिलोराइड (amiloride), ट्रिआमटेरेन (triamterene) भी आपके सेक्स के प्रति रुचि (libido) को कम कर सकते हैं।
इस लेख में, हम आपको सेक्स के प्रति अरुचि के मुख्य मेडिकल कारणों के बारे में बताएंगे, जिससे आपकी सेक्स के प्रति रुचि में बदलाव आया हो, यह समझने में मदद करने के लिए कुछ सामान्य और असामान्य कारणों की खोज की जा सकती हैं।
अगर आप किसी मौजूदा अंदरूनी मेडिकल समस्या को खारिज करने का प्रयास कर रहे हों,
आप सेल्फ केयर सलाह से मदद प्राप्त कर सकते हैं जो आपके सेक्स के प्रति अरुचि का सामना करने में सहायता कर सकते हैं।

चिंता कब करनी चाहिए (When to worry)

सभी लोगों का लिबीडो भिन्न होता है। कुछ लोगों को सामान्यतः औरों से अधिक सेक्स की ज़रूरत होती है और यहां सेक्स के प्रति रुचि का कोई एक मापदंड नहीं है। थोड़े समय के लिए सेक्स में दिलचस्पी कम होना सामान्य है विशेष रूप से जब आप तनाव में हो, अत्यधिक काम किया हो या चिंतित हों।
आपको हमेशा अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए यदि:
आप अचानक अपने सेक्स के प्रति रुचि में गिरावट पाते हैं

आपकी सेक्स के प्रति रुचि लम्बे समय के लिए सामान्य से कम रही है

सेक्स के प्रति अरुचि का आपके रिश्ते पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है

सेक्स के प्रति रुचि की कमी आपके आत्म सम्मान को कम करती है या आपकी सामान्य जिंदगी पर असर डालती है

सेक्स के प्रति अरुचि कई मामलों में मनोवैज्ञानिक समस्या जैसे तनाव,आत्म-सम्मान में कमी या पार्टनर के बीच अंतरंगता की कमी के कारण हो सकती है। लेकिन लिबिडो की कमी कुछ गम्भीर मेडिकल समस्याओं का कारण बन सकता है। कम लिबिडो के मनोवैज्ञानिक कारणों की जांच शुरू करने से पहले इन मुद्दों पर निर्णय लेना ज़रूरी है।

कामेच्छा कम होने के सामान्य मेडिकल कारण क्या हैं?

रजोनिवृत्ति (menopause)

रजोनिवृत्ति उम्र बढ़ने की प्रक्रिया का एक स्वाभाविक हिस्सा है जो तब होता है जब एक महिला के अंडाशय अंडे का उत्पादन बंद कर देते हैं। रजोनिवृत्ति आपके शरीर में एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरोन जैसे हार्मोन के संतुलन को बदल देती है और अक्सर हॉट फ्लश (गर्मी महसूस होना), थकान या चिंता जैसे लक्षणों से जुड़ी होती है।

रजोनिवृत्ति यौन इच्छा में कमी के साथ सम्बंधित है, और अध्ययन से पता चलता है कि रजोनिवृत्ति से गुजरने के दौरान 40% महिलाएं तक में सेक्स के प्रति अरुचि महसूस होती है। वर्तमान में, डॉक्टर यह सुनिश्चित नहीं कर सकते हैं कि क्या कामेच्छा का यह नुकसान शरीर में एस्ट्रोजेन और अन्य हार्मोनों के उतार-चढ़ाव से सीधे जुड़ा हुआ है, या यह थकान या चिंता जैसे लक्षणों का एक दुष्प्रभाव है।

रजोनिवृत्ति के कारण योनि शुष्क और संवेदनशील हो सकती है, जिससे संभोग कम सुखद हो सकता है और यौन गतिविधि में संलग्न होने की आपकी इच्छा कम हो सकती है।

यदि आपको लगता है कि आप रजोनिवृत्ति के लक्षणों का अनुभव कर रही हैं, और यह महसूस कर सकते हैं कि यह कम कामेच्छा में योगदान दे सकता है, तो आप हमेशा अधिक जानकारी के लिए एक डॉक्टर को देख सकते हैं। आप [रजोनिवृत्ति का सामना कैसे करें] (coping with the menopause) पर सुझाव प्राप्त कर सकती हैं।

कम टेस्टोस्टेरोन

टेस्टोस्टेरोन एक हार्मोन है जो पुरुषों और महिलाओं दोनों में यौन उत्तेजना से क़रीब से जुड़ा हुआ है। कई गहन अध्ययनों से पता चला है कि टेस्टोस्टेरोन का निम्न स्तर कम सेक्स ड्राइव या कम कामेच्छा से काफ़ी ज़्यादा सम्बंधित है, खासकर 40-79 आयु वर्ग के पुरुषों में।

आपके टेस्टोस्टेरोन का स्तर धीरे-धीरे आपकी उम्र के अनुसार कम हो जाता है, जो यह समझा सकता है कि अधिक उम्र में कम कामेच्छा अधिक सामान्य क्यूँ प्रतीत होती है। हालांकि, टेस्टोस्टेरोन का स्तर हाइपोगोनैडिज़्म जैसी स्थितियों के परिणामस्वरूप भी गिर सकता है, जहां अंडकोष या अंडाशय सही ढंग से काम करना बंद कर देते हैं।

हाइपोगोनैडिज़्म (Hypogonadism) एक अंतर्निहित चिकित्सा स्थिति से संबंधित हो सकता है जैसे क्लाइनफेल्टर सिंड्रोम (Klinefelter's syndrome) या टर्नर सिंड्रोम (Turner syndrome)। हाइपोगोनैडिज्म भी गांठ या ऑटोइम्यून स्थिति जैसे एडिसन रोग (Addison’s disease) जैसी स्थितियों के परिणामस्वरूप भी विकसित हो सकता है।

आपका टेस्टोस्टेरोन का स्तर वजन बढ़ना, अंडकोष में चोट, संक्रमण और कुछ कैंसर उपचारों से प्रभावित हो सकता है। कम टेस्टोस्टेरोन का टेस्टोस्टेरोन रिप्लेसमेंट थेरेपी से इलाज किया जा सकता है, और आप कुछ लक्षणों को नियंत्रित करने में सक्षम हो सकते हैं - कम कामेच्छा भी उनमें शामिल है - अपने आहार या जीवन शैली में परिवर्तन करके। अपने डॉक्टर से मिलें यदि आप कम टेस्टोस्टेरोन के स्तर को लेकर चिंतित हैं।

हार्मोनल गर्भनिरोधक

संयुक्त गोली, पैच, या गर्भनिरोधक प्रत्यारोपण जैसे हार्मोनल गर्भनिरोधक आपके शरीर में हार्मोन के सामान्य संतुलन को बदल देते हैं।

क्योंकि एस्ट्रोजन जैसे हार्मोन यौन क्रिया को विनियमित करने के लिए जिम्मेदार होते हैं, कुछ महिलाओं को महसूस हो सकता है कि हार्मोनल गर्भ निरोधकों का उपयोग उनके सेक्स ड्राइव को कम कर देता है। एक अध्ययन में, जिसमें 1,938 अमेरिकी महिलाओं को शामिल किया गया था, पाया गया कि प्रतिभागियों में से पांच में एक ने (23.9%) में कामेच्छा के कुछ कमी का अनुभव किया, जब उन्होंने हार्मोनल गर्भनिरोधक लेना शुरू कर दिया, हालांकि अन्य अध्ययन जो प्रत्यारोपण और हार्मोनल नियंत्रण के अन्य तरीक़ों पर केंद्रित थे, इशारा करते हैं कि 5-15% अधिक यथार्थवादी आंकड़ा हो सकता है।

यदि आप एक हार्मोनल गर्भनिरोधक ले रही हैं और आपको अपनी कामेच्छा में बदलाव दिखाई देता है, तो आपको अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए। वे आपको गर्भनिरोधक के एक अलग विकल्प को अपनाने की सलाह दे सकते हैं या परिवर्तन से निपटने की सलाह दे सकते हैं। आप विभिन्न प्रकार के गर्भनिरोधकों (different types of contraception) के बारे में और पढ़ सकते हैं।

प्रिस्क्रिप्शन दवाएं

कुछ दवाओं के सेवन से सेक्स में कम अरुचि पैदा हो सकती है। इसमें उच्च रक्तचाप का इलाज करने के लिए उपयोग की जाने वाली कुछ दवाएं शामिल हैं - मेथिल्डोपा, क्लोनिडिन और स्पिरोनोलैक्टोन (methyldopa, clonidine and spironolactone) सहित - सिलेक्टिव सेरोटोनिन अप्टेक अवरोधक (selective serotonin uptake inhibitors (SSRIs)एसएसआरआई) अवसाद और कुछ एंटीसाइकोटिक दवाओं के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है।

इन दवाओं में से कुछ जननांगों में रक्त के प्रवाह को बदल सकते हैं, जिससे एक इरेक्शन या तनाव को बनाए रखना मुश्किल हो जाता है, और सेक्स में आपकी रुचि कम हो सकती है। अन्य दवाएँ सीधे आपके मस्तिष्क के रसायन को बदल सकते हैं, जो आपके सिस्टम में टेस्टोस्टेरोन के स्तर को कम करता है और सेक्स ड्राइव में कमी लाता है।

अच्छी खबर यह है कि डॉक्टर आपकी दवा को बंद कर सकते हैं और कुछ ऐसा दे सकते हैं जो आपकी कामेच्छा को प्रभावित न करे। वे दवाएं लिख सकते हैं जो जननांगों में कम रक्त प्रवाह का मुकाबला करने के लिए डिज़ाइन की जाती हैं और कुछ दुष्प्रभावों को कम करती हैं।

मधुमेह प्रकार 2 (Type 2 diabetes)

कम कामेच्छा और कम यौन गतिविधियाँ टाइप 2 मधुमेह (type 2 diabetes) के दो आम दुष्प्रभाव हैं। 110 मधुमेह से ग्रस्त महिलाओं में यौन सक्रियता की जांच करने वाले एक ईरानी अध्ययन में पाया गया कि 53% प्रतिभागियों ने कम सेक्स ड्राइव का अनुभव किया।

इराक में रहने वाले मधुमेह से ग्रस्त पुरुषों में यौन क्रिया की जांच करने वाले एक समान अध्ययन में टाइप 2 मधुमेह और पुरुष यौन रोग के बीच एक महत्वपूर्ण संबंध पाया गया।

टाइप 2 मधुमेह रक्त वाहिकाओं को नुकसान पहुंचाता है, जो जननांगों में रक्त के प्रवाह को कम कर सकता है और संभोग को मुश्किल या दर्दनाक बना सकता है। टाइप 2 डायबिटीज आपके शरीर में हार्मोन के संतुलन को भी प्रभावित करता है, जो मस्तिष्क में टेस्टोस्टेरोन के निर्माण को दबाकर कामोत्तेजना को कम कर सकता है या आपकी कामेच्छा को कम कर सकता है।

अपने मधुमेह का प्रबंधन करना सीखना उचित यौन गतिविधियों को फिर से सामान्य कर सकता है। इसका मतलब हो सकता है कि अपने आहार और जीवन शैली को समायोजित करना, या सल्फोनीलुरिया जैसी दवा लेना। डॉक्टर एक दवा दे सकते हैं जो सीधे यौन सम्बंधी समस्याओं को सुधारने में मदद करती है, खासकर अगर आपकी कम कामेच्छा [स्तंभन दोष](erectile dysfunction) इसके लिए ज़िम्मेदार है।

अवसाद और चिंता

अवसाद, चिंता और अन्य मानसिक स्वास्थ्य संबंधी विकार कम कामेच्छा से काफ़ी हद तक जुड़े हुए हैं। इंडियन जर्नल ऑफ साइकियाट्री में हाल ही में प्रकाशित एक अध्ययन में पाया गया कि लगभग 62% अवसादग्रस्त पुरुष यौन रोग के किसी न किसी प्रकार से जूझते हैं, और कई समान अध्ययनों की गहन समीक्षा बताती है कि अवसाद, चिंता और अन्य मानसिक विकार कामेच्छा में कमी से जुड़े हैं।

इस जुड़ाव के सटीक कारणों को ठीक से नहीं समझा गया है, लेकिन अवसाद और चिंता गंभीर मेडिकल स्थितियां हैं जो आपके जीवन के हर पहलू को प्रभावित कर सकती हैं। अवसाद से पीड़ित लोग अक्सर पाते हैं कि वे सुस्त, थके हुए या निराश महसूस करते हैं, जिससे सेक्स में उनकी रुचि कम हो जाती है। अवसाद से पीड़ित लोग उन लोगों के साथ संवाद करने में कठिनाइयों का अनुभव करते हैं जिनसे वे प्यार करते हैं, वो अंतरंगता के अवसरों को कम कर सकते हैं और उन्हें अपने साथी से दूर ले जा सकते हैं।

कुछ अवसाद की दवाएं कामेच्छा को भी प्रभावित कर सकती हैं।

यदि आपको लगता है कि आप एक गंभीर मानसिक स्वास्थ्य समस्या से पीड़ित हो सकते हैं, तो जितनी जल्दी हो सके एक डॉक्टर को दिखाएँ। [अवसाद का सामना करने] (tackling depression) के बारे में और पढ़ें।

हृदय रोग और अन्य दीर्घकालिक बीमारियां

हृदय रोग, गठिया, या कैंसर जैसी दीर्घकालिक बीमारियां आपके शरीर पर बहुत अधिक दबाव डाल सकती हैं, आपकी ऊर्जा के स्तर को कम कर सकती हैं और आप खराब या थकावट महसूस कर सकते हैं। अमेरिकन एसोसिएशन ऑफ सेक्सुएलिटी एजुकेटर्स, काउंसलर और थेरेपिस्ट (AASECT) के अनुसार, पुरानी बीमारी के कारण उच्च स्तर की थकान अक्सर सेक्स में आपकी रुचि पर हानिकारक प्रभाव डालती है, और अक्सर कम कामेच्छा से जुड़ी होती है।

कुछ दीर्घकालिक बीमारियाँ आपकी नसों या रक्त वाहिकाओं के काम करने के तरीके में हस्तक्षेप कर सकती हैं, और दर्द का कारण बन सकती हैं जो संभोग को मुश्किल या अवांछनीय बनाती हैं। कुछ दवाओं सहित - कुछ कैंसर उपचार, और हृदय रोग के लिए निर्धारित दवाएं - कामेच्छा भी कम कर सकती हैं।

यदि आप एक पुरानी बीमारी से पीड़ित हैं और अपने कामेच्छा में गिरावट का नोटिस करते हैं, तो अपने डॉक्टर से मिलें। वे आपको वैकल्पिक दवाओं का पता लगाने में मदद करने में सक्षम हो सकते हैं, या आपको एक परामर्श सेवा से जोड़ सकते हैं जो आपको इस कठिन समय में मदद कर सकती हैं।

आप किसी पुरानी बीमारी से निपटने के कुछ सुझाव प्राप्त कर सकते हैं।

अन्य प्रकार के यौन रोग

यदि आप यौन रोग के किसी अन्य प्रकार से पीड़ित हैं, तो सेक्स मुश्किल या तनावपूर्ण हो सकता है। समय के साथ, यह आपकी सेक्स की इच्छा को कम कर सकता है और सेक्स को अप्रभावी बना सकता है, जो आपके लिबीडो पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। इरेक्टाइल डिसफंक्शन, शीघ्रपतन, योनि का सूखापन और सेक्स के दौरान दर्द सभी आपकी सेक्स ड्राइव को कम कर सकते हैं।

यदि आप यौन रोग के किसी अन्य प्रकार से पीड़ित हैं और पाते हैं कि परिणामस्वरूप आपकी कामेच्छा कम हो गई है, तो अपने डॉक्टर से बात करें। वो आपको अंतर्निहित कारण का इलाज करने में मदद कर सकते हैं, यौन रोग होने की स्थिति में समर्थन और सलाह प्रदान कर सकते हैं, और आपकी स्थिति का मुकाबला करने के लिए रणनीति सुझा सकते हैं।

कम कामेच्छा (low libido) के कम सामान्य मेडिकल कारण क्या हैं?

अब्स्ट्रक्टिव स्लीप एपनिया (Obstructive sleep apnea)

ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया एक स्लीप डिसऑर्डर (नींद सम्बंधित समस्या) है जिसमें व्यक्ति नींद के दौरान अक्सर सांस लेना बंद कर देता है, आमतौर पर गले में मांसपेशियों के रिलैक्स करने के परिणामस्वरूप, और ऊपरी वायुमार्ग अवरुद्ध हो जाते हैं।

क्योंकि ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया बाधापूर्ण नींद का कारण बनता है, इसकी वजह से अक्सर दिन में नींद आने की समस्या और थकान होती है। ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया आपके शरीर के प्राकृतिक हार्मोन चक्रों को भी बाधित कर सकता है, जो आपके सेक्स ड्राइव पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है।

स्लीप एपनिया को आमतौर पर एक कॉंटीनुवस पॉज़िटिव वायुमार्ग दबाव उपकरण (या सीपीएपी मास्क) (continuous positive airway pressure device (or CPAP mask) के साथ नियंत्रित किया जाता है, जो एक श्वसन तंत्र जो वायुमार्ग में वायु के एक स्थिर प्रवाह को नींद के दौरान खुला रखने में मदद करता है। यदि आपको लगता है कि आप ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया से पीड़ित हो सकते हैं, तो अपने डॉक्टर से मिलें।

हाइपोथायरायडिज्म और अन्य हार्मोनल असंतुलन (Hypothyroidism and other hormonal imbalances)

जैसा कि यौन इच्छा कुछ हार्मोन की उपस्थिति से जुड़ी होती है, एक हार्मोनल असंतुलन जैसे हाइपोथायरायडिज्म कभी-कभी कम कामेच्छा का कारण बन सकता है।
हाइपोथायरायडिज्म एक कम सामान्य स्थिति है जो तब होती है जब आपकी थायरॉयड ग्रंथि कुछ हार्मोन का उत्पादन बंद कर देती है। एक अंडरएक्टिव थायरॉइड के सामान्य लक्षण थकान, वजन बढ़ना और उदास महसूस करना है, लेकिन अध्ययन बताते हैं कि कम सेक्स ड्राइव एक अपेक्षाकृत सामान्य लक्षण है।

एक अध्ययन - 2019 में आयोजित किया गया - बताता है कि हाइपोथायरायडिज्म से ग्रस्त 59 से 63% पुरुषों में किसी न किसी प्रकार की यौन शिथिलता होती है। महिलाओं में ये सम्भावना कम है, लेकिन उसी अध्ययन में पाया गया कि हाइपोथायरायडिज्म के साथ 22 से 46% महिलाओं में यौन रोग के कुछ प्रकार देखने को मिले।

थायराइड जो हार्मोन नहीं बना रहा है उसे बदलने के लिए हार्मोन की गोलियां लेने से एक अंडरएक्टिव थायराइड का आसानी से इलाज किया जा सकता है। यदि आपको लगता है कि आप हाइपोथायरायडिज्म या किसी अन्य हार्मोन विकार से पीड़ित हो सकते हैं, तो आपको अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए। वे आपके लक्षणों का निदान करने में आपकी सहायता करने में सक्षम होंगे।

अध्ययन बताते हैं कि सही दवा के साथ एक हार्मोन विकार का इलाज करने से आपकी कामेच्छा पर सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है, लेकिन एक हार्मोनल विकार से पीड़ित लोगों को थेरेपी से भी फ़ायदा हो सकता है, खासकर यदि आप कम कामेच्छा के प्रभाव का सामना करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

कामेच्छा में कमी का इलाज कैसे किया जाता है?

कामेच्छा में कमी के लिए उपचार कारण के अनुसार भिन्न होते हैं। यदि आपकी कामेच्छा चिंता, अवसाद या किसी अन्य के परिणामस्वरूप - समान रूप से गंभीर - मानसिक स्वास्थ्य मुद्दा है, तो आपका डॉक्टर के पर्चे पर मिलने वाली दवा, परामर्श या चिकित्सा के संयोजन के साथ अंतर्निहित स्थिति का इलाज करने में सक्षम हो सकता है।

यदि आपकी कम कामेच्छा हृदय रोग या मधुमेह जैसी किसी अन्य प्रणालीगत बीमारी का नतीजा है, तो आपका डॉक्टर किसी भी बीमारी या बीमारी का इलाज करके या अतिरिक्त उपचार प्रदान करके आपके लक्षणों को कम कर सकता है जो आपकी सेक्स ड्राइव को बढ़ा सकता है। यदि आपको लगता है कि आपकी कामेच्छा एक गंभीर चिकित्सा स्थिति के परिणामस्वरूप गिर गई है, तो आपको हमेशा चिकित्सा पर ध्यान देना चाहिए।

टेस्टोस्टेरोन उपचार उन पुरुषों के लिए उपलब्ध हैं जो हाइपोगोनैडिज़्म से पीड़ित हैं। रजोनिवृत्ति से गुजरने वाली महिलाएं हार्मोन रिप्लेसमेंट थेरेपी (एचआरटी) का उपयोग करने में सक्षम हो सकती हैं जो कम कामेच्छा को संबोधित करेगी।

यदि आपको लगता है कि आप हार्मोनल असंतुलन से पीड़ित हो सकते हैं, तो अपने डॉक्टर के साथ अपने विकल्पों का पता लगाएं। वे इस बारे में सूचित निर्णय लेने में सक्षम होंगे कि क्या हार्मोनल रिप्लेसमेंट थेरेपी आपके लिए सही हैं।

ओ-शॉट, क्लिटोरल थेरेपी या फ़्लिबेनसरीन

हाल के वर्षों में, दवा कंपनियों ने कई नए उपचारों का विपणन शुरू कर दिया है जो यौन इच्छा को बढ़ाने और कम सेक्स ड्राइव के समाधान का दावा करते हैं। इसमें इंजेक्शन, विशेष चिकित्सा उपकरण, और फ्लेबिनसेरिन जैसी दवाएं शामिल हैं, जिन्हें अक्सर कम कामेच्छा के इलाज के रूप में विपणन किया जाता है।

ये उपचार नए हैं, इसलिए हमारे पास निम्न सेक्स ड्राइव के उपचार में उनकी प्रभावशीलता को निर्धारित करने के लिए आवश्यक डेटा नहीं है। इनमें से कुछ उपचारों में हानिकारक दुष्प्रभाव हो सकते हैं, इसलिए इस तरह के विकल्पों की खोज शुरू करने से पहले हमेशा अपने चिकित्सक से जाँच करें।

क्रोनिक दर्द के कारण कम कामेच्छा का उपचार डॉक्टर द्वारा दिए गए दर्द निवारक, [संज्ञानात्मक व्यवहार थेरेपी] (cognitive behavioural therapy (CBT)) या परामर्श के साथ किया जा सकता है, और गर्भावस्था या सर्जिकल दर्द के बाद हुई सेक्स में अरुचि में भी ये काम आते है।

लो लिबिडो जो मिथाइलडोपा जैसी दवा के कारण होता है, इलाज के दृष्टि से कठिन हो सकता है, लेकिन आपको अभी भी अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए। वे आपको एक अलग दवा दे सकते सकते हैं या आपको एक डॉक्टर के पास भेज सकते हैं।

नोट: डॉक्टर के पर्चे की दवा लेना बंद करने से पहले आपको हमेशा अपने डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। यदि आप उन्हें पूरी तरह से लेना बंद कर देते हैं तो कुछ पर्चे वाली दवाओं के दुष्प्रभाव हो सकते हैं और आप अपने स्वास्थ्य को खतरे में डाल सकते हैं।

सेक्स के प्रति अरुचि का समाधान करने के लिए आप क्या कर सकते हैं?

कुछ चीजें हैं जो आप ख़ुद कम कामेच्छा का समाधान करने के लिए कर सकते हैं। इसमे शामिल है:

एक स्वस्थ आहार का पालन

एक स्वस्थ, संतुलित आहार और स्वस्थ जीवनशैली रखें:

  • जंक फूड या ज़्यादा चीनी वाले खाद्य पदार्थों पर कटौती करना
  • अधिक फल और सब्जियां खाना
  • अधिक साबुत अनाज वाले खाद्य पदार्थ जैसे ब्राउन पास्ता या ब्राउन राइस खाना
  • प्रति सप्ताह कम से कम 150 मिनट तक व्यायाम करना
  • अधिक पानी पीना
  • सुनिश्चित करें कि आप स्नैक के प्रलोभन को कम करने के लिए नियमित भोजन खा रहे हैं

यह विचार कि कुछ खाद्य पदार्थ खाने से आपकी कामेच्छा बढ़ सकती है और/या आपके शरीर में टेस्टोस्टेरोन का स्तर बढ़ जाता है, लेकिन यह बताने के लिए कोई सबूत नहीं है कि कुछ खाद्य पदार्थ खाने से आपकी कामेच्छा को बढ़ाया जा सकता है।

आपसी सम्बन्धों के लिए परामर्श लेना (Relationship counseling)

कारण के बावजूद, कम कामेच्छा आपके रिश्ते पर एक दबाव डाल सकती है और आपके और आपके साथी के बीच संघर्ष पैदा कर सकती है। इस संघर्ष के कारण होने वाला अतिरिक्त दबाव आपकी कामेच्छा को कम कर सकता है, इसलिए अपने साथी से बात करना और उसकी सेक्स ड्राइव के बारे में खुली चर्चा में शामिल होना महत्वपूर्ण है।

यदि आप अपने साथी से बात करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं, तो जोड़ों या सेक्स थेरेपी के लिए परामर्श उपयोगी हो सकता है। ये सेवाएं आपको सुरक्षित और आरामदायक वातावरण में किसी भी कठिनाइयों के बारे में बात करने की अनुमति देंगी।

रिलेशनशिप काउंसलिंग से आपको कम कामेच्छा के कारण होने वाले कुछ मुद्दों का मुकाबला करने में मदद मिल सकती है, और आपको अंतर्निहित कारणों से निपटने में मदद मिल सकती है, खासकर अगर आपकी कम कामेच्छा एक मनोवैज्ञानिक समस्या से जुड़ी हो। आपका डॉक्टर आपको परामर्श सेवा के साथ संपर्क करने में सक्षम होना चाहिए।

तनाव और चिंता को कम करना

सेक्स के प्रति रुचि का कम होना तनावपूर्ण हो सकता है, और आप पा सकते हैं कि इसकी वजह से आप चिंतित, अशांत या उदास महसूस करते हैं। दुर्भाग्य से तनाव, अवसाद और चिंता सेक्स में आपकी रुचि को और कम कर सकते हैं। आपकी सेक्स ड्राइव में कमी के बारे में चिंता करने से समस्या और भी बदतर हो सकती है।

थेरेपी आपको अपने सेक्स ड्राइव के बारे में नकारात्मक विचारों को संबोधित करने के लिए प्रोत्साहित कर सकती है, और आपको आत्मसम्मान के साथ किसी भी समस्या से निपटने में मदद कर सकती है। थेरेपी अवसाद और चिंता जैसे कम कामेच्छा के माध्यमिक कारणों से निपटने में भी मदद कर सकती है।

आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं और उन्हें एक चिकित्सा सेवा के लिए संदर्भित करने के लिए कह सकते हैं, या आप [संज्ञानात्मक व्यवहार थेरेपी](cognitive behavioural therapy (CBT)) लेने का प्रयास कर सकते हैं। सीबीटी आपको नकारात्मक सोच पैटर्न को रोकने में मदद करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जिससे आप परिस्थितियों के बारे में महसूस करने के तरीके को बदल सकते हैं और जिस तरह से आपका शरीर उन परिदृश्यों पर प्रतिक्रिया करता है जिन्हें आप तनावपूर्ण या प्रबंधन करने में मुश्किल पाते हैं।

सीबीटी को विभिन्न तरीकों से वितरित किया जा सकता है। इसे एक समूह में, या एक स्वयं-सहायता पुस्तक के माध्यम से किया जा सकता है। आप अपने घर की गोपनीयता से एक ऑनलाइन सेवा का उपयोग कर सकते हैं।

निष्कर्ष

कम कामेच्छा एक आम समस्या है, और यह विभिन्न स्थितियों द्वारा ट्रिगर हो सकता है। वर्क स्ट्रेस जैसी जीवनशैली के मुद्दे एक भूमिका निभा सकते हैं, लेकिन कई चिकित्सा कारण भी हैं, और इन ट्रिगर्स को जितनी जल्दी हो सके उन्मूलित करना महत्वपूर्ण है।

डायबिटीज, लिवर सिरोसिस जैसी पुरानी स्थितियां, कुछ डॉक्टरी पर्चे की दवाएं, अवसाद, हार्मोनल असंतुलन और यौन रोग सभी आपकी सेक्स ड्राइव को प्रभावित कर सकते हैं, जबकि अन्य गंभीर चिकित्सा स्थितियां - जैसे अवसाद - भी कम कामेच्छा से जुड़ी हैं। यदि आपको लगता है कि आप इन स्थितियों में से एक से पीड़ित हो सकते हैं, तो अपने डॉक्टर के साथ अपॉइंटमेंट बुक करें ताकि वे आपकी स्थिति का निदान कर सकें और उचित उपचार बता सकें।

ऐसी कुछ चीजें भी हो सकती हैं, जिन्हें आप ख़ुद कम कामेच्छा को ठीक करने के लिए कर सकते हैं, जिसमें आपके आहार और जीवन शैली में परिवर्तन करना, या चिकित्सा सेवाओं तक पहुंच शामिल है। लेकिन आपको हमेशा पहले डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए।

क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।