COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
23 min read

अपच (Indigestion)

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है।

अपच (बदहजमी) क्या होती है?

अपच (बदहजमी) क्या होती है?

अपच (Indigestion), जिसे डिस्पेप्सिया (dyspepsia) के नाम से भी जाना जाता है, आपके सीने या पेट में दर्द या परेशानी का कारण होता है। यह आमतौर पर खाने या पीने के तुरंत बाद होती है।

आपको अन्य लक्षण भी हो सकते हैं, जैसे:

● पेट भरा या फूला हुआ महसूस करना

सीने में जलन

● उबकाई आना

● डकार

अपच एक आम समस्या है जो कई लोगों को प्रभावित करती है, लेकिन ज्यादातर मामलों में यह हल्की होती है और कभी-कभी ही होती है।

अपच के लक्षणों के बारे में और पढ़ें।

ये क्यों होती है

अपच आपके पेट के एसिड के पाचन तंत्र के संवेदनशील और सुरक्षात्मक परत के संपर्क में आने के कारण होती है। पेट का एसिड परत को तोड़ता है, जिससे जलन और सूजन और पीड़ा होती है। यही अपच के लक्षणों का कारण बनता है।

ज्यादातर मामलों में अपच खाने से संबंधित होती है, हालांकि यह धूम्रपान से, शराब पीने से, गर्भावस्था की वजह से या कुछ दवाओं को लेने जैसे अन्य कारकों के कारण हो सकती है।

अपच के कारणों के बारे में और पढ़ें।

अपच का घर पे इलाज करना

आप अपने आहार और जीवन शैली में बदलाव से या ऐन्टैसिड (antacids) जैसी विभिन्न दवाओं के साथ अपनी अपच का इलाज करने में सक्षम हो सकते हैं।

अपच के उपचार के बारे में और पढ़ें।

गर्भावस्था में अपच को कम करने के तरीके पढ़ें।

यदि एक अंतर्निहित स्वास्थ्य स्थिति अपच का कारण है, तो एंडोस्कोपी (endoscopy) जैसी आगे की जांच की आवश्यकता हो सकती है (नीचे देखें)।

डॉक्टर से कब संपर्क करना चाहिए

अधिकांश लोगों को अपनी अपच के लिए चिकित्सा सलाह लेने की आवश्यकता नहीं होगी। हालांकि, यदि आपको बार-बार अपच हो रही है और आप में नीचे लिखे लक्षण हैं तो आपके लिए अपने चिकित्सक को मिलना महत्वपूर्ण है :

● यदि आप 55 वर्ष या अधिक आयु के हैं

● यदि आपका बेवजह बहुत सा वजन कम हो गया है

● यदि आपको निगलने में कठिनाई बढ़ रही है (डिस्पैगिया) (dysphagia)

● यदि आपको लगातार उल्टी हो रही है

● यदि आपको आयरन की कमी से एनीमिया है

● यदि आपके पेट में एक गांठ है

● यदि आपकी उल्टी में खून आता है या आपके मल में खून आता है

ऐसा इसलिए है क्योंकि आपके लक्षण उस अंतर्निहित स्वास्थ्य स्थिति का संकेत हो सकते हैं जो पाचन तंत्र को प्रभावित करता है, जैसे कि गैस्ट्रो-ओसोफेगल रिफ्लक्स रोग (जीओआरडी)। gastro-oesophageal reflux disease (GORD).

ऐसी स्तिथि में तो आपको एंडोस्कोपी (endoscopy) करवाने की आवश्यकता हो सकती है। एंडोस्कोपी (endoscopy) एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें एंडोस्कोप (एक पतली, लचीली ट्यूब जिसमें एक सिरे पर प्रकाश और कैमरा होता है) का उपयोग करके शरीर के अंदर की जांच की जाती है।

गंभीर अपच आपके पाचन तंत्र के कुछ हिस्सों में लंबी अवधि की समस्याएं पैदा कर सकती है, जैसे कि भोजन नली में सूजन या आपके पेट से मार्ग।

गंभीर अपच की संभावित जटिलताओं के बारे में और पढ़ें।

अपच के लक्षण (Symptoms of indigestion)

अपच यानि डिसपेप्सिया (dyspepsia) का मुख्य लक्षण आपके पेट या सीने में दर्द या असुविधा का महसूस होना है।

यह आमतौर पर खाने या पीने के तुरंत बाद होती है, हालांकि कभी-कभी खाना खाने और अपच का अनुभव करने के बीच देरी हो सकती है।

अपच के लक्षणों को अक्सर ‘सीने में जलन’ के रूप में वर्णित किया जाता है, जो आपको आपके छाती की हड्डी के पीछे जलन वाले दर्द के रूप में महसूस हो सकता है। सीने में जलन एसिड के कारण होती है जो आपके पेट से आपके भोजननली (oesophagus) में जाता है।

यदि आपको अपच है, तो आपके ये लक्षण भी हो सकते हैं जैसे:

● असुविधाजनक रूप से पेट भरा भरा या भारी लगना

● डकार

● भोजन पेट से मुँह में वापिस आना

● सूजन

● मतली

● उल्टी

आपको डॉक्टर से कब मिलना चाहिए

कुछ मामलों में, अपच के लक्षण अधिक गंभीर अंतर्निहित स्वास्थ्य समस्या का संकेत दे सकते हैं, जैसे कि पेट का कैंसर। अगर आपको बार-बार अपच हो रही है और आप में ये लक्षण हैं तो तुरंत डॉक्टर की मदद लीजिए :

● यदि आप 55 वर्ष या अधिक आयु के हैं

● यदि आपका बहुत सा वजन बेवजह कम हो गया है

● यदि आपको निगलने में कठिनाई बढ़ रही है

● यदि आपको लगातार उल्टी हो रही है

● यदि आपको आयरन की कमी से एनीमिया है

● यदि आपके पेट में एक गांठ है

● यदि आपकी उल्टी में खून आता है या आपके मल में खून आता है

अपच के कारण (Indigestion causes)

अपच यानि डिसपेप्सिया (dyspepsia) तब होता है जब आपके पेट के एसिड से आपके पेट, भोजननली (गुलेट) और आपके आँत के उपरी भाग में जलन पैदा होती है।aaxxx

ज्यादातर मामलों में, अपच के लिए कोई अंतर्निहित चिकित्सकीय कारण नहीं होता। यह आमतौर पर एसिड रिफ्लक्स नामक एक प्रक्रिया के कारण होता है, इसमें पेट से ऐसिड निकल कर भोजनाली में प्रेवश करता हैं।

हालांकि, अपच अन्य तरीकों से भी हो सकती है, और यह कभी-कभी एक अंतर्निहित चिकित्सकीय स्थिति का लक्षण हो सकती है, खासकर यदि आपको बार-बार ऐसा अनुभव होता है। कुछ संभावित कारणों को नीचे समझाया गया है

दवाएं

कुछ प्रकार की दवाएं लेने पर आपको अपच हो सकती है। कुछ दवाएं, जैसे नाइट्रेट्स ( जो आपकी रक्त वाहिकाओं को चौड़ा करने के लिए ली जाती हैं) से ओस्टोफेजियल स्फिंक्टर (oesophageal sphincter ) (आपकी भोजननली और आपके पेट के बीच की मांसपेशी की रिंग) शिथिल पड़ जाता है, इस से ऐसिड आप की भोजनाली में प्रवेश करता है।

अन्य दवाएं, जैसे कि नान स्टेरोईडल एंटी इन्फ़्लैमटॉरी ड्रग्स (NSAIDs), आपके पाचन तंत्र को प्रभावित कर सकती हैं और अपच का कारण बन सकती हैं।

अगर आपको पेट की समस्याएं जैसे कि पेप्टिक अल्सर हैं या अतीत में ये समस्याएं हुईं हैं तो NSAIDs जैसे कि एस्पिरिन और इबुप्रोफेन न लें। 16 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को एस्पिरिन नहीं लेनी चाहिए।

जब तक आपको अपने डॉक्टर या किसी अन्य योग्य स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर द्वारा ऐसा करने के लिए नहीं कहा जाता है, जो आपकी देखभाल के लिए जिम्मेदार है, तब तक निर्धारित दवा लेना बंद न करें।

मोटापा

यदि आपका वजन बहुत अधिक है, तो आपके पेट के अंदर बढ़ते दबाव के कारण आपको अपच महसूस होने की अधिक संभावना है। यह एक बड़े भोजन के बाद आपकी भोजननली को खुलने के लिए मजबूर कर सकता है, जिससे एसिड रिफ्लक्स हो सकता है।

हायटस हर्निया

हर्निया एक ऐसे स्तिथि है जहां शरीर का एक आंतरिक हिस्सा मांसपेशियों में कमजोरी या आसपास के ऊतक की दीवार के माध्यम से बाहर निकल आता है।

हाईटस हर्निया तब होता है जब आपके पेट का एक हिस्सा डायाफ्राम (फेफड़ों के नीचे मांसपेशी की पतली परत) में निकल आता है, जिससे भोज़नाली की मांसपेशी (Oesophageal spinchter) के बंद होने में रुकावट होती है। इससे पेट का एसिड वापिस भोजननली में जाता है, जिससे सीने में जलन होती है|

हेलिकोबैक्टर पाइलोरी संक्रमण (Helicobacter pylori infection)

यदि आपको हेलिकोबैक्टर पाइलोरी (एच पाइलोरी) बैक्टीरिया से संक्रमण है, तो आपको बार बार अपच हो सकती है। एच पाइलोरी संक्रमण आम हैं, और ये संभव है कि आप संक्रमित हों और आपको इसका पता ही न लगे क्योंकि संक्रमण का आमतौर पर कोई भी लक्षण नहीं होता है।

हालांकि, कुछ मामलों में एच पाइलोरी संक्रमण आपके पेट के अस्तर को नुकसान पहुंचा सकता है और आपके पेट में एसिड की मात्रा बढ़ा सकता है। यदि आपको एच पाइलोरी संक्रमण है, तो आपके पेट की ग्रहणी (आपकी छोटी आंत के ऊपर) को अतिरिक्त अम्ल से परेशानी भी संभव है।

गैस्ट्रो-ओओसोफेगल रिफ्लक्स रोग (GORD)

गैस्ट्रो-ओशोफेगल रिफ्लक्स रोग (Gastro-oesophageal reflux disease) (GORD)

एक आम स्थिति है और बार बार होने वाली अपच के मुख्य कारणों में से एक है। यह एसिड रिफ्लक्स के कारण होता है। यह तब होता है जब भोज़नाली की मांसपेशी (Oesophageal spinchter) पेट के एसिड को आपके अन्नप्रणाली में वापस जाने से रोकने में विफल रहती है।

पेट के एसिड से बार-बार होने वाली जलन से आपके अन्नप्रणाली के संवेदनशील अस्तर क्षतिग्रस्त होने पर एसिड रिफ्लक्स GORD बन जाता है।

पेप्टिक अल्सर

पेप्टिक अल्सर एक खुला घाव है जो आपके पेट (गैस्ट्रिक अल्सर) या छोटी आंत ( ग्रहणी अल्सर) की अंदरूनी परत पर विकसित होता है। यदि आपको पेप्टिक अल्सर है, तो आपको एक लक्षण के रूप में अपच हो सकता है।

पेप्टिक अल्सर तब बनता है जब पेट का एसिड आपके पेट या ग्रहणी की दीवार में अस्तर को नुकसान पहुंचाता है। ज्यादातर पेप्टिक अल्सर के मामलों में, एच पाइलोरी संक्रमण (ऊपर देखें) के परिणामस्वरूप अस्तर क्षतिग्रस्त हो जाता है।

पेट का कैन्सर

बहुत कम मामलों में, बार बार अपच होना पेट के कैंसर का लक्षण हो सकता है।

आपके पेट में कैंसर की कोशिकाएं सुरक्षात्मक अस्तर को तोड़ देती हैं, जिससे एसिड आपके पेट की दीवार के संपर्क में आ जाता है।

अपच का निदान (Diagnosing indigestion)

ज्यादातर लोगों में, अपच (dyspepsia) हल्की और कभी कभार होती है और उनको स्वास्थ्यकर्मी से उपचार की आवश्यकता नहीं होती है।

हालांकि, अगर आपको नियमित रूप से अपच होती है या यदि यह आपको गंभीर दर्द या बेचैनी करती है, तो अपने चिकित्सक से मिलें

आपका डॉक्टर आपके अपच के लक्षणों के साथ कुछ अन्य सवाल भी पूछेगा:

● आपका कोई अन्य लक्षण हैं जो एक अंतर्निहित स्वास्थ्य स्थिति का संकेत हो सकता है

● आप जो भी दवा ले रहे हैं (कुछ दवाओं के कारण अपच हो सकती है)

● आपकी जीवन शैली (कुछ जीवनशैली के कारक, जैसे धूम्रपान या शराब पीना, अपच का कारण बन सकते हैं)

यह दर्दनाक है या नहीं यह पक्का करने के लिए आपका डॉक्टर आपके पेट के विभिन्न क्षेत्रों पर धीरे से दबा सकता है।

आपके अपच के लक्षणों के प्रकार के आधार पर, आपका डॉक्टर आपकी स्थिति की आगे जांच करना चाह सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि अपच कभी-कभी एक अंतर्निहित स्थिति या स्वास्थ्य समस्या का लक्षण हो सकता है, जैसे कि हेलिकोबैक्टर पाइलोरी (एच पाइलोरी) जीवाणु संक्रमण।

आपको इसके बाद कुछ और जाँच को करवाने की जरुरत हो सकती है, उनका विवरण नीचे दिया गया है

आगे की जांच

एंडोस्कोपी (Endoscopy)

एंडोस्कोपी (Endoscopy) करवाने के लिए आपको अस्पताल भेजा जा सकता है।

एंडोस्कोपी एक एंडोस्कोप का उपयोग करके आपके शरीर के अंदर की जांच करने की एक प्रक्रिया है – इसमें आपकी छोटी उंगली की चौड़ाई जितनी एक पतली, लचीली ट्यूब होती है जिसके एक छोर पर प्रकाश और एक कैमरा होता है। कैमरे का उपयोग आपके शरीर के अंदर की छवियों को टीवी मॉनिटर पर देखने करने के लिए किया जाता है।

अपच का निदान करने के लिए एंडोस्कोपी (Endoscopy) की अक्सर आवश्यकता नहीं होती है, लेकिन आपका डॉक्टर इसे करवाने सुझाव दे सकता है, अगर :

● उन्हें आपके पेट के अंदर और अधिक विस्तार से जांच करने की आवश्यकता हो

● आपने अपच का इलाज करवाया हो जो प्रभावी न रहा हो

● आपमें अपच के कोई गंभीर लक्षण हों

डायग्नोस्टिक एंडोस्कोपी करवाने के बारे में और पढ़ें।

अपच के लिए कुछ दवाएं लेने से कुछ ऐसी समस्याएं छिप सकती हैं जो अन्यथा एंडोस्कोपी के दौरान दिखाई दे सकती हैं। इसलिए, आपकी एंडोस्कोपी से कम से कम दो सप्ताह पहले, आपको अपच की दवाएँ जैसे की प्रोटॉन पंप इनहिबिटर (पीपीआई) और एच 2-रिसेप्टर antagonists (इन उपचारों के बारे में और पढ़ें) लेना बंद करना होगा।

आपका डॉक्टर अन्य दवाओं को बदलने की भी सलाह दे सकते हैं जो आपके अपच का कारण हो सकती हैं। हालांकि, दवा लेना केवल तब ही बंद करें जब आपको अपने डॉक्टर या आपकी देखभाल के लिए जिम्मेदार किसी अन्य स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर द्वारा ऐसी सलाह दी जाती है।

एच पाइलोरी संक्रमण का निदान करना

यदि आपके डॉक्टर को लगता है कि आपके लक्षण एच पाइलोरी बैक्टीरिया के संक्रमण के कारण हो सकते हैं, तो आपको कई परीक्षण करवाने की आवश्यकता हो सकती है, जैसे:

● यूरिया सांस परीक्षण: आपको एक विशेष पेय दिया जाएगा जिसमें एक रसायन होता है जिसे बैक्टीरिया द्वारा पचाया जा सकता है, और तब आपकी सांस का एच पाइलोरी के लिए परीक्षण किया जाएगा

● स्टूल एंटीजन टेस्ट: एच पाइलोरी बैक्टीरिया के लिए मल (faeces) का नमूना परीक्षण किया जाएगा

● रक्त परीक्षण: एच पाइलोरी बैक्टीरिया के एंटीबॉडी के लिए एक रक्त के नमूने का परीक्षण किया जाएगा (एंटीबॉडी संक्रमण से लड़ने के लिए शरीर द्वारा उत्पादित प्रोटीन हैं)

एंटीबायोटिक्स और पीपीआई यूरिया सांस परीक्षण या मल प्रतिजन परीक्षण के परिणामों को प्रभावित कर सकते हैं। इसलिए, इन परीक्षणों में आपको पीपीआई का उपयोग करने के दो हफ्ते बाद तक और आपके द्वारा आखिरी बार एक एंटीबायोटिक का उपयोग करने के चार हफ्ते बाद तक देरी करने की आवश्यकता हो सकती है|

अन्य स्थितियों का निदान

यदि आपके डॉक्टर को यह लगता है कि आपके अपच के लक्षण किसी अन्य अंतर्निहित चिकित्सा स्थिति के कारण हो सकते हैं, तो आपको इस भ्रम को दूर करने के लिए कुछ और परीक्षणों की आवश्यकता हो सकती है।

उदाहरण के लिए, पेट में दर्द और असुविधा आपके पित्त नलिकाओं को प्रभावित करने वाली स्थितियों के कारण भी हो सकती है। आपकी पित्त नलिकाएं नलियों की एक श्रृंखला होती हैं जो पित्त (पाचन तंत्र द्वारा वसा को तोड़ने के लिए प्रयुक्त तरल पदार्थ) को लिवर से पित्ताशय की थैली (एक थैली जो पित्त रखती है) और आंत्र में ले जाती हैं। यदि आपके डॉक्टर को ऐसा लगता है कि आपकी ऐसी स्थिति हो सकती है, तो वे आपको लिवर फंक्शन टेस्ट करवाने का सुझाव दे सकता है, जो एक प्रकार का ब्लड टेस्ट है जिसका उपयोग यह आकलन करने के लिए किया जाता है कि आपका लिवर कितनी अच्छी तरह काम कर रहा है।

आपको पेट का अल्ट्रासाउंड भी करवाना पड़ सकता है। अल्ट्रासाउंड स्कैन आपके शरीर के अंदर की एक छवि बनाने के लिए उच्च आवृत्ति वाली ध्वनि तरंगों का उपयोग करता है।

अपच का ईलाज (Indigestion treatment)

अपच (dyspepsia) का उपचार इस बात पर निर्भर करता है कि इसका कारण क्या है और आपके लक्षण कितने गंभीर हैं।

यदि आपमें एक अंतर्निहित स्वास्थ्य स्थिति पाई जाती है, तो आप गैस्ट्रो-ओओसोफेगल रिफ्लक्स रोग (GORD) के इलाज (treating gastro-oesophageal reflux disease) और पेप्टिक अल्सर के इलाज के बारे में हमारी जानकारी देखें।

आहार और जीवनशैली में बदलाव

यदि आपको कभी-कभी हल्के दर्द और बेचैनी के साथ अपच होती है, तो आपको उपचार के लिए अपने चिकित्सक से मिलने की जरूरत नहीं है। अपने आहार और जीवन शैली में कुछ साधारण से बदलाव करके अपने लक्षणों को कम करना संभव हो सकता है, जिनका विवरण नीचे दिया गया है:

स्वस्थ वजन

अधिक वजन होने के कारण आपके पेट पर अधिक दबाव पड़ता है, जिससे पेट के एसिड के लिए आपकी भोजननली (गुलेट) में वापस जाना आसान हो जाता है। इसे एसिड रिफ्लक्स के रूप में जाना जाता है, और यह अपच के सबसे सामान्य कारणों में से एक है।

यदि आप अधिक वजन या मोटापे से ग्रस्त हैं, तो नियमित व्यायाम के माध्यम से और स्वस्थ, संतुलित आहार खाने से सुरक्षित रूप से और धीरे धीरे वजन कम करना महत्वपूर्ण है।

धूम्रपान बंद कीजिए

यदि आप धूम्रपान करते हैं, तो सिगरेट के धुएँ के जो रसायन आप अपने अन्दर ले जाते हैं, वह आपके अपच में योगदान कर सकते है। ये रसायन मांसपेशियों की उस रिंग को आराम देने का कारण बन सकते हैं जो आपकी भोजननली (गुलेट) को आपके पेट से अलग करती है। यह पेट के एसिड को आपकी भोजननली में अधिक आसानी से वापस लीक होने (एसिड रिफ्लक्स) की अनुमति देता है।

आहार और शराब

ऐसे किसी भी विशेष भोजन या पेय पर ध्यान दें जो आपके अपच को और बदतर बनाता है और यदि संभव हो तो इन से बचें। इसका मतलब यह हो सकता है:

● कम मसालेदार और कम वसायुक्त भोजन करना

● ऐसे पेय पदार्थों में कटौती करना जिनमें कैफीन होता है, जैसे चाय, कॉफी और कोला

● शराब छोड़ना या कम करना

सोने के समय

यदि आप रात में अपच के लक्षणों का अनुभव करते हैं, तो सोने से तीन से चार घंटे पहले खाने से बचें।

पूरे भरे पेट के साथ सोने जाने का मतलब है कि जब आप लेटते हैं तो इस बात का अधिक जोखिम है कि आपके पेट का एसिड आपकी भोजननली में आ जायेगा।

जब आप सोने जाते हैं, तो अपने सिर और कंधों को ऊपर उठाने के लिए कुछ तकियों का उपयोग करें, या गद्दों के नीचे कुछ डालकर अपने बिस्तर के सिरे को कुछ इंच ऊपर उठाएं। इस से जब आप सो रहे होते हैं तो थोड़ा ढलान पेट के एसिड को आपकी भोजननली में जाने से रोकने में मदद करती है।

वर्तमान दवा को बदलना

यदि आपके डॉक्टर को लगता है कि आपकी वर्तमान दवा आपके अपच की वजह बन रही है तो वह उसमें बदलाव करने की सलाह दे सकते हैं।

जब तक ऐसा करना सुरक्षित हो, तब तक आपको कुछ दवाएं लेना बंद कर देने की आवश्यकता हो सकती है, जैसे एस्पिरिन या इबुप्रोफेन। जहां संभव हो, आपका डॉक्टर एक वैकल्पिक दवा लिखेंगे जो अपच का कारण नहीं बनेगी। हालांकि, पहले अपने डॉक्टर से सलाह किए बिना कोई भी दवा लेना बंद मत कीजिए।

अपच से तत्काल राहत

यदि आपको ऐसा अपच है जिसमें तत्काल राहत की जरूरत है, तो आपका डॉक्टर आपको इसके इलाज के सर्वोत्तम तरीके के बारे में सलाह दे सकते हैं। डॉक्टर आपकी वर्तमान दवा की समीक्षा के साथ ही जीवनशैली में परिवर्तन के साथ साथ इनकी सिफारिश कर सकते है:

● एंटासिड दवाएं

● अल्गीनेट्स (alginates)

इनका वर्णन नीचे अधिक विवरण में किया गया है।

एंटासिड

एंटासिड (Antacids) एक प्रकार की दवा है जो अपच के हल्के से मध्यम लक्षणों में तत्काल राहत प्रदान कर सकती है। ये आपके पेट में एसिड को बेअसर करके (इसे कम अम्लीय बनाकर) काम करते हैं, जिससे यह आपके पाचन तंत्र की परत को परेशान नहीं करता है।

एंटासिड (Antacids) टैबलेट और तरल रूप में उपलब्ध हैं। आप उन्हें बिना किसी पर्चे के अधिकांश फार्मेसियों से काउंटर पर खरीद सकते हैं।

एंटासिड का प्रभाव एक समय में केवल कुछ घंटों तक रहता है, इसलिए आपको एक से अधिक खुराक लेने की आवश्यकता हो सकती है। हमेशा पैकेट पर दिए गए निर्देशों का पालन करें ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि आप बहुत अधिक न लें।

जब आप अपच के लक्षणों की उम्मीद कर रहे हों या जब वे होने लगे, तो एंटासिड लेना सबसे अच्छा है, जैसे:

● भोजन के बाद

● सोते समय

ऐसा इसलिए है क्योंकि एंटासिड इन समयों पर आपके पेट में ज्यादा देर तक रहते हैं और इनके पास काम करने के लिए अधिक समय होता है। उदाहरण के लिए, यदि आप खाना खाते समय एक एंटासिड लेते हैं, तो यह तीन घंटे तक काम कर सकता है। इसकी तुलना में, यदि आप खाली पेट पर एंटासिड लेते हैं, तो यह केवल 20 से 60 मिनट तक काम कर सकता है।

एंटासिड के बारे में और पढ़ें, जिसमें अन्य दवाओं दुष्प्रभावों के साथ संभावित प्रभाव और इसके दुष्प्रभाव शामिल है।

अल्गीनेट्स (Alginates)

कुछ एंटासिड्स में एक अन्य दवा भी होती है जिसे अल्गीनेट्स कहा जाता है। यह एसिड रिफ्लक्स के कारण होने वाली अपच से राहत दिलाने में मदद करता है।

एसिड रिफ्लक्स तब होता है जब पेट का एसिड आपकी भोजननली में वापस लीक हो जाता है और इसके अस्तर को परेशान करता है। अल्गीनेट्स एक झाग वाला बैरियर बनाता है जो आपके पेट की सामग्री की सतह पर तैरता है, यह एसिड को आपके पेट में बनाए रखता है और भोजननली से दूर रखता है।

यदि आप एसिड रिफ्लक्स के लक्षणों का अनुभव करते हैं या यदि आपको गैस्ट्रोओसोफेगल रिफ्लक्स रोग (जीओआरडी) (GOGORD) है तो आपका डॉक्टर सुझाव दे सकता है कि आप एक ऐसा एंटासिड लें जिसमें एक अल्गीनेट्स हो।

अल्गीनेट्स युक्त एंटासिड खाने के बाद लें, क्योंकि इससे दवा आपके पेट में अधिक समय तक रहती है। यदि आप खाली पेट पर एल्गनेट लेते हैं, तो वे प्रभावी होने से पहले ही आपके पेट से बहुत जल्दी निकल जायेंगे।

लगातार होने वाली अपच का इलाज

यदि आपको अपच लगातार या बार बार होती है, तो आपके लक्षणों को नियंत्रित करने के लिए एंटासिड और अल्गीनेट्स से उसका उपचार पर्याप्त प्रभावी नहीं हो सकता है। आपका डॉक्टर एक अलग प्रकार की दवा लिख सकता है, जिसे आपके लक्षणों को नियंत्रित करने के लिए सबसे कम संभव खुराक पर निर्धारित किया जाएगा। संभावित दवाओं में शामिल हैं:

● प्रोटॉन पंप अवरोधक

● एच 2-रिसेप्टर antagonists

● प्रोकाईनेटिक्स (prokinetics)

इनका वर्णन नीचे किया गया है। आपका डॉक्टर आपका हेलिकोबैक्टर पाइलोरी (एच पाइलोरी) बैक्टीरिया (अपच - निदान देखें) के लिए परीक्षण कर सकते हैं और यदि आवश्यक हो तो इसके लिए उपचार लिख सकते हैं।

प्रोटॉन पंप अवरोधक (पीपीआई)

PPI आपके पेट में बनने वाले एसिड को रोकता है।

दवा को गोलियों के रूप में लिया जाता है और आम तौर पर यह केवल एक डॉक्टर की पर्ची के साथ उपलब्ध होता है। यदि आपकी आयु 18 वर्ष से अधिक है, तो आप फार्मेसियों में काउंटर पर कुछ प्रकार के पीपीआई खरीद सकते हैं, लेकिन इनका उपयोग केवल अल्पकालिक उपचार के लिए किया जाना चाहिए। यदि आपको लगातार अपच होती है, तो अपने डॉक्टर से मिलें।

पीपीआई कुछ दवाओं के प्रभाव को बढ़ा सकते हैं। यदि आपको पीपीआई सुझाई गयी है तो आपकी प्रगति की निगरानी की जाएगी यदि आप अन्य दवाएं भी ले रहे हैं जैसे:

● वारफारिन (warfarin), एक दवा जो रक्त के थक्के बनने को रोकती है

● मिर्गी का इलाज करने वाली एक दवा फ़िनाइटोइन (phenytoin)

यदि आपका डॉक्टर आपको एंडोस्कोपी (एक प्रक्रिया जिससे एक सर्जन आपके पेट के अंदर देख सकते हैं) के लिए रेफर करता है, तो आपको इस प्रक्रिया से कम से कम 14 दिन पहले पीपीआई लेना बंद करना होगा। ऐसा इसलिए है क्योंकि PPIs कुछ ऐसी समस्याओं को छिपा सकता है जो अन्यथा एंडोस्कोपी के दौरान देखी जा सकती हैं।

कुछ मामलों में, पीपीआई दुष्प्रभाव पैदा कर सकता है। हालांकि, वे आम तौर पर हल्के और प्रतिवर्ती होते हैं। इन दुष्प्रभावों में शामिल हो सकते हैं:

● सिर दर्द

● दस्त

● कब्ज

● मतली (बीमार महसूस करना)

● उल्टी

● पेट फूलना (हवा)

● पेट दर्द

● चक्कर आना

● त्वचा पर चकत्ते पड़ना

एच 2-रिसेप्टर विरोधी

यदि एंटासिड, अल्गीनेट्स और पीपीआई आपके अपच को नियंत्रित करने में प्रभावी नहीं हैं तो एच 2-रिसेप्टर विरोधी एक अन्य प्रकार की दवा है जो आपके डॉक्टर आपको सुझा सकते हैं। चार एच 2-रिसेप्टर विरोधी हैं:

● सिमेटिडाइन(cimetidine)

● फेमोटिडीन (famotidine)

● निजाटिडीन (nizatidine)

● रैनिटिडीन (ranitidine)

ये दवाएं आपके पेट में अम्लता के स्तर को कम करके काम करती हैं। इन दवाओं के बारे में अधिक जानकारी के लिए उपरोक्त लिंक पर क्लिक करें।

आपका डॉक्टर इन चार एच 2-रिसेप्टर विरोधी दवाओं में से किसी एक को लिख सकता है, हालांकि फेमोटिडीन और रैनिटिडीन फार्मेसियों में काउंटर पर खरीदने के लिए उपलब्ध हैं। एच 2-रिसेप्टर विरोधी दवा को या तो टैबलेट या तरल रूप में लिया जाता है।

PPIs के साथ, आपको एंडोस्कोपी होने से कम से कम 14 दिन पहले H2-रिसेप्टर विरोधी दवा बंद करनी होगी। ऐसा इसलिए है क्योंकि वे कुछ ऐसी समस्याओं को छिपा सकते हैं जिन्हें एंडोस्कोपी के दौरान अन्यथा देखा जा सकता है।

प्रोकाईनेटिक (Prokinetics)

यदि आप एंटासिड, एल्गिनेट्स और पीपीआई लेने के बाद भी अपच के लक्षणों का सामना कर रहे हैं, तो आपका डॉक्टर आपको एक दवा सुझा सकता है, जिसे प्रोकाईनेटिक के रूप में जाना जाता है।

दो प्रकार के प्रोकाईनेटिक उपलब्ध हैं:

● डोमपेरिडोन (Domperidone)

● मेटोक्लोप्रामाईड (Metoclopramide)

इन दवाओं के बारे में अधिक जानकारी के लिए उपरोक्त लिंक पर क्लिक करें।

डोमपेरिडोन और मेटोक्लोप्रामाईड भोजन को आपके पेट और आपकी छोटी आंत (duodenum) के पहले भाग से अधिक तेज़ी से गुजरने में मदद करते हैं, इसलिए अपच होने की संभावना कम होती है।

आपको अपने डॉक्टर द्वारा डोमपेरिडोन सुझाई जा सकती है, हालांकि यह 16 या उससे अधिक उम्र के लोगों के लिए फार्मेसियों में काउंटर पर भी उपलब्ध है।

मेटोक्लोप्रामाईड केवल आपके डॉक्टर के पर्चे पर उपलब्ध है। दोनों दवाएं टैबलेट या तरल रूप में ली जा सकती हैं।

यदि आपको डोमपीरिडोन सुझाई जाती है, तो आपको भोजन से 15 से 30 मिनट पहले इसे लेना पड़ेगा ताकि आपके अपच शुरू होने के लक्षणों से पहले इस दवा के पास काम करने का समय हो।

हेलिकोबैक्टर पाइलोरी (एच पाइलोरी) संक्रमण (Helicobacter pylori (H pylori) infection)

यदि आपके अपच के लक्षण एच पाइलोरी बैक्टीरिया के संक्रमण के कारण हों, तो आपको अपने पेट से संक्रमण को साफ करने के लिए उपचार की जरूरत होगी। यह आपके अपच को दूर करने में मदद करेगा क्योंकि एच पाइलोरी बैक्टीरिया अब आपके पेट में एसिड की मात्रा को नहीं बढ़ाएगा।

एच पाइलोरी संक्रमण का इलाज आमतौर पर ट्रिपल थेरेपी (तीन अलग-अलग दवाओं के साथ उपचार) का उपयोग करके किया जाता है। आपका डॉक्टर उपचार के एक कोर्स को लिखेगा, जिसमें होंगी :

● दो अलग-अलग एंटीबायोटिक (बैक्टीरिया के कारण होने वाले संक्रमण का इलाज करने वाली दवाएं)

● एक पीपीआई

आपको इन दवाओं को सात दिनों के लिए दिन में दो बार लेना पड़ेगा। ट्रिपल थेरेपी प्रभावी है यह सुनिश्चित करने के लिए आपको खुराक के निर्देशों का बारीकी से पालन करना चाहिए।

85% मामलों में, ट्रिपल थेरेपी का एक कोर्स एच पाइलोरी संक्रमण को साफ करने में प्रभावी होता है। हालांकि, यदि यह पहली बार संक्रमण को साफ नहीं करता है तो आपको उपचार के एक से अधिक कोर्स करने की आवश्यकता हो सकती है ।

अपच की जटिलताएं (Indigestion complications)

ज्यादातर मामलों में, अपच (dyspepsia) हल्का होता है और केवल कभी-कभी होता है। हालांकि, गंभीर अपच जटिलताओं का कारण बन सकता है, जिनमें से कुछ नीचे उल्लिखित हैं।

भोजननली की सिकुडन

अपच अक्सर एसिड रिफ्लक्स के कारण होती है, जो तब होती है जब पेट का एसिड आपकी भोजननली (गुल्लेट) में वापस लीक हो जाता है और इसके परत में जलन पैदा करता है। यदि यह जलन समय के साथ बढ़ती है, तो यह आपकी भोजननली क्षतिग्रस्त हो सकती है। अंततः आपकी भोजननली संकीर्ण और संकुचित हो सकती है (जिसे भोजननली की सिकुडन के रूप में जाना जाता है)।

यदि आपको भोजननली की सिकुडन की समस्या है, तो आपमें इस तरह के लक्षण हो सकते हैं:

● निगलने में कठिनाई (डिस्फेजिया) (dysphagia)

● भोजन जो आपके गले में फंस जाता है

● सीने में दर्द

भोजननली की सिकुडन का इलाज आपकी भोजननली को चौड़ा करने के लिए सर्जरी का उपयोग करते हुए किया जाता है।

पायलोरिक स्टेनोसिस (Pyloric stenosis)

भोजननली की सिकुडन की तरह, पाइलोरिक स्टेनोसिस (pyloric stenosis) पेट के एसिड से आपके पाचन तंत्र के अस्तर की लम्बे समय तक जलन के कारण होता है।

पाइलोरिक स्टेनोसिस (pyloric stenosis) तब होता है जब आपके पेट और आपकी छोटी आंत (जिसे पाइलोरस के रूप में जाना जाता है) के बीच का मार्ग छोटा और संकुचित हो जाता है। यह उल्टी का कारण बनता है और आपके द्वारा खाए गए किसी भी भोजन को ठीक से पचने से रोकता है।

ज्यादातर मामलों में, पाइलोरस को उसकी उचित चौड़ाई में वापस करने के लिए शल्य चिकित्सा का उपयोग करके पाइलोरिक स्टेनोसिस का इलाज किया जाता है

बैरेट्स इसोफेगस (Barrett’s oesophagus)

बार बार होने वाले एसिड रिफ्लक्स आपकी भोजननली के परत की कोशिकाओं में परिवर्तन का कारण बन सकते हैं। यह एक ऐसी स्थिति है जिसे बैरेट्स इसोफेगस के रूप में जाना जाता है।

बैरेट्स इसोफेगस की वजह से आमतौर पर एसिड रिफ्लक्स से जुड़े लक्षणों के अलावा अन्य कोई भी ध्यान देने योग्य लक्षण नहीं होता है। हालांकि, इस बात का छोटा सा जोखिम है कि बैरेट्स इसोफेगस से प्रभावित कोशिकाएं कैंसर कारक बन सकती हैं और एसोफैगस कैंसर को ट्रिगर कर सकती हैं।

NHS के मूल कॉन्टेंट का अनुवादHealthily लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।