COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
20 min read

हेपेटाइटिस बी

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है।

हेपेटाइटिस बी

हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) एक ऐसा वायरस है जो लिवर को संक्रमित कर सकता है।

इसके निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं:

  • बीमार-सा महसूस होना
  • बीमार पड़ना
  • भूख नहीं लगना
  • फ्लू के समान लक्षण, जैसे थकान, सामान्य और तेज दर्द, सिरदर्द
  • त्वचा और आँखों का पीला पड़ना (पीलिया {jaundice})

हालाँकि, कई लोगों को पता नहीं चलता है कि वे वायरस से संक्रमित हैं, क्योंकि हो सकता है कि लक्षण तुरंत न दिखाई दें या दिखाई ही न दें।

हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) के लक्षणों के बारे में और पढ़ें।

वायरस की चपेट में आने के बाद लक्षण विकसित होने में 40 से 160 दिनों का समय लगता है।

हेपेटाइटिस बी कैसे फैलता है? (How does hepatitis B spread)

हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) खून और वीर्य तथा वेजाइनल फ्लूड जैसे बॉडी फ्लूड के ज़रिए फैल सकता है, इसलिए यह इन गतिविधयों के दौरान हो सकता है:

  • असुरक्षित यौन संबंधों के दौरान, जैसे एनल सेक्स (anal sex) और ओरल सेक्स (oral sex)
  • हेरोइन जैसे मादक पदार्थों को इंजेक्ट करने के लिए उपयोग की गई सुई साझा करने पर

गर्भावस्था में हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B in pregnancy)

एक माँ से भी उसके नवजात बच्चे को हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) संक्रमण हो सकता है, लेकिन यदि बच्चे को जन्म के तुरंत बाद टीका लगाया जाता है (नीचे देखें), तो संक्रमण को रोका जा सकता है।

जिन लोगों को हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) से संक्रमित होने का सबसे ज़्यादा खतरा है, उनमें ये शामिल हैं:

  • मादक पदार्थ इंजेक्ट करने वाले लोग
  • अक्सर सेक्सुअल पार्टनर बदलने वाले लोग

हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) संक्रमण के कारणों और जोख़िम के कारकों के बारे में और पढ़ें।

इसका पता कैसे चलता है? (How is it diagnosed?)

हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) का पता ब्लड टेस्ट के ज़रिए लगाया जाता है, जो हेपेटाइटिस बी सरफेस एंटीजन (Hepatitis B surface antigen) (हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B ) वायरस का बाहरी सरफेस, जिसके कारण आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली प्रतिक्रिया देती है) को पॉजिटिव प्रतिक्रिया देता है। पॉजिटिव परिणाम का यह मतलब है कि आपका शरीर हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) वायरस से लड़ने के लिए एंटीबॉडी बना रहा है।

आपके डॉक्टर लिवर फंक्शन टेस्ट का अनुरोध भी कर सकते हैं। यह एक ब्लड टेस्ट होता है जो आपके खून में कुछ एंजाइम और प्रोटीन का मूल्यांकन करता है, जिससे आपके लिवर के ख़राब होने के संकेत मिलते हैं। यदि आपका लिवर हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) वायरस से संक्रमित है तो यह अक्सर ही बढ़ा हुआ स्तर दिखाएगा।

संक्रमण के चरण (Stages of infection)

अधिकतर मामलों में हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) वायरस शरीर में लगभग एक से तीन महीनों तक ही रहेगा। इसे एक्यूट हेपेटाइटिस बी (acute Hepatitis B) कहते हैं।

वयस्कों में लगभग 20 में से 1 मामले में वायरस छः महीने या उससे अधिक समय के लिए रहेगा,

आमतौर पर इसके कोई नज़र में आने वाले लक्षण नहीं होंगे। इसे क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (chronic Hepatitis B) कहते हैं।

क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (chronic Hepatitis B) ख़ासतौर से नवजातों और बड़े बच्चों में आम है: जन्म लेते ही संक्रमित होने वाले 10 से 9 बच्चे और बचपन में संक्रमित होने वाले 5 में से 1 बच्चे में लंबे समय का संक्रमण विकसित होगा।

क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (chronic Hepatitis B) के मरीज भी अन्य लोगों में वायरस फैला सकते हैं, भले ही उनमें कोई लक्षण दिखाई नहीं दे रहे हो।

क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (chronic Hepatitis B) के 20% मरीजों का लिवर आगे चलकर विकृत (सिरोसिस {cirrhosis}) हो जाता है, इसे विकसित होने में 20 साल तक लग सकते हैं और सिरोसिस से पीड़ित 10 में से लगभग 1 व्यक्ति को लिवर कैंसर (liver cancer) होगा।

हेपेटाइटिस बी (chronic Hepatitis B) से संबंधित जटिलताओं के बारे में और पढ़ें।

इसका इलाज कैसे होता है? (How is it treated?)

एक्यूट हेपेटाइटिस बी (acute Hepatitis B) के लिए अभी कोई विशेष इलाज नहीं है, इसमें केवल लक्षणों से राहत देने के लिए दर्दनिवारकों का उपयोग किया जाता है।

क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (chronic Hepatitis B) का इलाज इस बात पर निर्भर करता है कि आपका लिवर कितनी बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। इसका इलाज वायरस के प्रसार को धीमा करने और लिवर को ख़राब होने से बचाने के लिए तैयार की गई दवाओं का उपयोग करके किया जा सकता है।

हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) के इलाज के बारे में और पढ़ें।

क्या इसे रोका जा सकता है? (Can it be prevented?)

एक टीका है जिसे हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) को रोकने में 95% तक प्रभावी माना जाता है। टीकाकरण का सुझाव आमतौर पर अधिक-जोख़िम वाले लोगों के समूहों को दिया जाता है, जैसे:

  • मादक पदार्थ इंजेक्ट करने वाले लोग या ऐसे लोग जिनके सेक्सुअल पार्टनर मादक पदार्थों को इंजेक्ट करता है
  • अक्सर अपने सेक्सुअल पार्टनर बदलने वाले लोग
  • हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) के अत्यधिक प्रसार वाले देश में यात्रा करने वाले या उस देश के लोग

गर्भवती महिलाओं की भी हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) के लिए स्क्रीनिंग की जाती है और यदि उन्हें संक्रमण है तो उनके बच्चे को जन्म के तुरंत बाद टीका लगाया जा सकता है ताकि वो संक्रमण से बच जाए।

कौन प्रभावित होता है? (Who is affected)

हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) मुख्य रूप से मादक पदार्थों का सेवन करने वाले लोगों, पुरुषों के साथ यौन संबंध बनाने वाले पुरुषों और कुछ जातीय समुदायों (जैसे दक्षिण एशियाई, अफ़्रीकन और चीनी लोग) जैसे कुछ समूहों तक सीमित है।

इसके विपरीत हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) दुनिया के अन्य हिस्सों में आम है, ख़ासतौर से पूर्वी एशिया और उप-सहारा अफ़्रीका। विश्व स्वास्थ्य संगठन का अनुमान है कि हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) के कारण दुनियाभर में एक साल में 600,000 मौते होती हैं।

संभावना (Outlook)

हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) से संक्रमित होने वाले अधिकतर लोग वायरस से लड़ने और कुछ ही महीनों में पूरी तरह ठीक होने में समर्थ होते हैं। संक्रमण के साथ जीना ख़राब लग सकता है लेकिन इससे आमतौर पर लंबे समय तक बने रहने वाला नुकसान नहीं होता है।

लेकिन कुछ लोगों को लिवर में सिरोसिस (cirrhosis) और कुछ मामलों में लिवर कैंसर हो सकता है, यह संभावना बुरी है।

इसलिए, यदि आप हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) की चपेट में आने वाले उच्च-जोख़िम वाले समूहों से हैं तो टीका लगवाना महत्वपूर्ण है।

हेपेटाइटिस बी के लक्षण (Hepatitis B symptoms)

अधिकतर लोग वायरस से लड़ते समय बिना किसी लक्षण के स्वस्थ रहते हैं। कुछ लोगों को पता भी नहीं चलेगा कि वे संक्रमित हुए हैं।

हालाँकि, जब तक वायरस उनके शरीर से पूरी तरह निकल नहीं जाता है, तब तक वे अन्य लोगों में इसे फैला सकते हैं।

यदि उन्हें कोई लक्षण हैं तो वे वायरस की चपेट में आने के औसत 60-90 दिनों के बीच विकसित होंगे।

आम लक्षण (Common symptoms)

हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) के लक्षणों में ये शमिल हैं:

  • फ्लू के समान लक्षण, जैसे थकान, सामान्य और तेज दर्द, सिरदर्द और 38C (100.4F) या उससे अधिक तापमान
  • भूख नहीं लगना और वजन घटना
  • बीमार-सा महसूस होना
  • बीमार पड़ना
  • डायरिया (diarrhoea)
  • आपके ऊपरी दाएँ हिस्से में दर्द
  • त्वचा और आँखों का पीला पड़ना (पीलिया {jaundice})

लक्षण आमतौर पर एक-से-तीन महीनों में चले जाएँगे।

क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (chronic Hepatitis B)

यदि आप छः महीने से अधिक समय से हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) से संक्रमित हैं तो इसे क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (chronic Hepatitis B) कहा जाएगा।

इसमें आमतौर पर काफ़ी हल्के लक्षण दिखाई देते हैं और वे आकर चले जाते हैं। कई मामलों में क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (chronic Hepatitis B) से पीड़ित लोगों को नज़र में आने वाले लक्षण अनुभव नहीं होंगे।

क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (chronic Hepatitis B) के लक्षणों में ये शामिल हैं:

  • पूरे समय थकान रहना (थकावट)
  • भूख नहीं लगना
  • बीमार महसूस होना
  • पेट दर्द
  • मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द
  • खुजलीदार त्वचा

डॉक्टर की सलाह कब लेनी चाहिए (When to seek medical advice)

यदि आपको ऐसे असामान्य लक्षण हैं जो कुछ दिनों से अधिक समय तक रहते हैं तो हमेशा डॉक्टर का अपॉइंटमेंट लें।

तुरंत डॉक्टर को कब दिखाएँ (When to seek immediate medical advice)

यदि आपको संदेह है कि आप हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) की चपेट में आ गए हैं तो तुरंत डॉक्टर की सलाह लें। इलाज से संक्रमण को रोकना मुमकिन है, लेकिन यह सबसे अधिक प्रभावी तभी होगा जब यह वायरस की चपेट में आने के 48 घंटों के भीतर किया जाए (हालाँकि कभी-कभी यह चपेट में आने के एक हफ़्ते तक प्रभावी हो सकता है)।

जितनी जल्दी हो सके अपने डॉक्टर को फ़ोन करें।

हेपेटाइटिस बी के कारण (Hepatitis B causes)

यदि आप वायरस से प्रतिरक्षा (प्रतिरोध) नहीं कर पाते हैं और आप किसी संक्रमित व्यक्ति के खून या बॉडी फ्लूड के संपर्क में आते हैं तो आप हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) से संक्रमित हो सकते हैं।

हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) से संक्रमित कई लोगों नहीं पता होता है कि वे संक्रमित हैं।

माना जाता है कि पर्यटकों को हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) का ख़तरा कम होता है। हालाँकि, कुछ गतिविधियों से यह ख़तरा बढ़ जाएगा, जैसे असुरक्षित यौन संबंध या किसी विकाशील देश में किसी बीमारी का या दाँतों का इलाज करवाना (नीचे देखें)। इसलिए, पर्यटकों को किसी ऐसे देश में जाने से पहले हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) का टीका लगवाने की सलाह दी जाती है जहाँ यह समस्या हो।

संक्रमित खून के संपर्क में आना (Exposure to infected blood)

आपको हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) होने का ख़तरा है, यदि

  • आप मादक पदार्थों को इंजेक्ट करते हैं और दूसरों द्वारा इस्तेमाल की गई सुई और अन्य चीज़ों जैसे चम्मच तथा फ़िल्टर का उपयोग करते हैं या आप मादक पदार्थों को इंजेक्ट करने वाले किसी व्यक्ति के साथ यौन संबंध बनाते हैं
  • आपको खुला घाव, कट या खरोंच है और आप हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) के मरीज के खून के संपर्क में आते हैं
  • आप ऐसे किसी देश में बीमारी या दाँतों का इलाज करवाते हैं, जहाँ उपकरणों को ठीक तरीके से स्टेरलाइज़ नहीं किया जाता है
  • आप खून के नजदीकी संपर्क वाला काम करते हैं (जैसे, स्वास्थ्यकर्मी और लेबोरेटरी के तकनीशियनों को गलती से सुई चुभने से चोट लगने का ख़तरा ज़्यादा होता है)
  • आपको किसी ऐसे देश में खून चढ़ाया गया हो जहाँ खून की हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) के लिए जाँच नहीं की जाती है
  • आपने किसी असुरक्षित, बिना लाइसेंस वाली जगह पर टैटू बनवाया हो या बॉडी पियर्सिंग करवाई हो (बॉडी पियर्सिंग के ख़तरों के बारे में और पढ़ें)
  • आप ऐसे टूथब्रश, रेजर और टॉवेल शेयर करते हैं, जो संक्रमित खून से दूषित हो

संक्रमित बॉडी फ्लूड के संपर्क में आना (Exposure to infected body fluids)

यदि आपने किसी संक्रमित व्यक्ति के साथ बिना कंडोम के यौन संबंध बनाया है तो आपको हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) होने का ख़तरा है।

आमतौर पर, यदि आप सेक्सुअल रूप से सक्रिय हैं और कई अलग-अलग पार्टनर के साथ असुरक्षित यौन संबंध बनाते हैं तो आपका ख़तरा बढ़ जाता है; इसमें असुरक्षित एनल और ओरल सेक्स शामिल हैं।

यौनकर्मियों (वेश्या) (महिला और पुरुष दोनों) को भी हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) होने का ज़्यादा ख़तरा होता है।

भौगोलिक ख़तरे

यदि आप (या आपके सेक्सुअल पार्टनर) दुनिया के ऐसे हिस्से में पले-बढ़े हैं, रहते हैं या काम करते हैं, जहाँ हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) अपेक्षाकृत आम है तो भी आपको ज़्यादा ख़तरा है।

शब्दकोष (Glossary)

खून शरीर में ऑक्सीजन की आपूर्ति करता है और कार्बन डाइऑक्साइड को बाहर निकालता है। इसे दिल द्वारा पूरे शरीर में भेजा जाता है।

रक्तदान ऐसे लोगों की मदद करने के लिए स्वेच्छा से अपना खून दान करना होता है, जिन्हें सर्जरी के बाद या इसके दौरान अतिरिक्त खून की ज़रुरत हो। खून नसों से लिया जाता है।

खून चढ़ाने के दौरान किसी व्यक्ति को ऐसी ट्यूब का उपयोग करके खून दिया जाता है, जो सीधा उनकी बांह की नसों में जाती है।

प्रतिरक्षा प्रणाली शरीर की सुरक्षा प्रणाली है, जो बीमारियों, बैक्टीरिया और वायरस से शरीर की सुरक्षा करने में मदद करती है।

इम्युनोग्लोबुलिन (Immunoglobulins) (एंटीबॉडी) शरीर में मौजूद ऐसे प्रोटीन होते हैं जो संक्रमण से लड़ते हैं।

छींकना मतलब नाक और मुंह से अनैच्छिक रूप से हवा और बैक्टीरिया निकलना होता है।

हेपेटाइटिस बी का पता कैसे लगाया जाता है (How Hepatitis B is diagnosed)

हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) का पता ब्लड टेस्ट के ज़रिए लगाया जाता है, जो हेपेटाइटिस बी सरफेस एंटीजन (Hepatitis B surface antigen) (हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) वायरस का बाहरी सरफेस, जिसके कारण आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली प्रतिक्रिया देती है) को पॉजिटिव प्रतिक्रिया देता है। पॉजिटिव परिणाम का यह मतलब है कि आपका शरीर हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) वायरस से लड़ने के लिए एंटीबॉडी बना रहा है।

आपके डॉक्टर लिवर फंक्शन टेस्ट का अनुरोध भी कर सकते हैं। यह एक ब्लड टेस्ट होता है जो आपके खून में कुछ एंजाइम और प्रोटीन का मूल्यांकन करता है, जिससे आपके लिवर के ख़राब होने के संकेत मिलते हैं। यदि आपका लिवर हेपेटाइटिस बी (Hepatitis B) वायरस से संक्रमित है तो यह अक्सर ही बढ़ा हुआ स्तर दिखाएगा।

हेपेटाइटिस बी का उपचार (Treating hepatitis B)

यदि आपमें हेपेटाइटिस बी (hepatitis B) पाया जाता है, तो संभावना है कि आपका डॉक्टर आपको एक विशेषज्ञ, आमतौर पर एक हेपेटोलॉजिस्ट (hepatologist) (एक लीवर विशेषज्ञ) के पास भेजेगा।

ज्यादातर लोग कुछ महीनों के भीतर लक्षणों से मुक्त हो जाते हैं और पूरी तरह से ठीक हो जाते हैं, उनमें कभी भी क्रॉनिक (लंबे समय तक रहने वाला) हेपेटाइटिस (hepatitis) विकसित नहीं होता।

आमतौर पर तीव्र (थोड़े समय तक रहने वाला) हेपेटाइटिस बी (hepatitis B) के लिए कोई विशिष्ट उपचार नहीं है। जब तक कि आपके लक्षण विशेष रूप से गंभीर नहीं होते, आप उन्हें घर पर ही संभालने में सक्षम होंगे।

आप इबुप्रोफेन (ibuprofen) और पैरासिटामोल (paracetamol) जैसे ओवर-द-काउंटर दर्द निवारक ले सकते हैं और दर्द अधिक गंभीर होने पर कोडीन (codeine) लेने की सलाह दी जा सकती है। मतली (बीमार महसूस करना) को अक्सर मेटोक्लोप्रमाइड (metoclopramide) नामक दवा से नियंत्रित किया जा सकता है।

यदि आपमें हेपेटाइटिस बी (hepatitis B) संक्रमण पाया जाता है, तो आपको नियमित ब्लड टेस्ट और शारीरिक जांच करवाने की सलाह दी जाएगी।

एक बार जब आपके लक्षण बेहतर हो जाते हैं, तो आपको यह जांचने के लिए और परीक्षण की आवश्यकता होगी कि आप वायरस से मुक्त हैं और क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (hepatitis B) विकसित नहीं हुआ है।

क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (Chronic hepatitis B)

यदि आपको क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (Chronic hepatitis B) है, तो ज्यादातर समय आप लक्षण-मुक्त रहेंगे।

हालांकि, आपको लीवर की क्षति को रोकने के लिए, संभवतः कई वर्षों तक दवा लेने की आवश्यकता हो सकती है। आपको अपने लीवर की स्थिति का आकलन करने के लिए नियमित परीक्षणों की आवश्यकता हो सकती है। इसमें ब्लड टेस्ट, अल्ट्रासाउंड और संभवतः लीवर की बायोप्सी शामिल हो सकती है। यह इस बात का आकलन करने के लिए है कि क्या वायरस वर्तमान में लीवर को नुकसान पहुंचा रहा है और कितना नुकसान हो चुका है।

दवाई (Medication)

क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (chronic hepatitis B) के लिए मुख्य उपचार एंटीवायरल दवा है, जो हेपेटाइटिस बी (hepatitis B) वायरस को लीवर की क्षति करने से रोकने में मदद करती है।

अधिकांश रोगियों को उपचार की आवश्यकता नहीं होती है, क्योंकि भले ही वायरस शरीर में मौजूद होता है, यह हमेशा लीवर को नुकसान नहीं पहुंचाता है। कुछ रोगियों में, उनकी प्रतिरक्षा प्रणाली बिना किसी नुकसान के वायरस को दबा देती है। हालांकि अगर लीवर के खराब होने का सबूत है तो उपचार की आवश्यकता होती है।

अब बहुत प्रभावी दवाएं उपलब्ध हैं जो कई वर्षों तक वायरस को दबा सकती हैं और इससे लीवर को होने वाले नुकसान को धीमा किया जा सकता है, जिससे शरीर इसकी मरम्मत कर सकता है। हालांकि, इस उपचार से वायरस को स्थायी रूप से खत्म कर पाना असामान्य है।

यह बहुत महत्वपूर्ण है कि आप अपना उपचार निर्धारित किए गए अनुसार करें, भले ही आपको अच्छा महसूस हो रहा हो या दुष्प्रभाव परेशान कर रहे हों, क्योंकि जल्दी उपचार बंद करने से दवा प्रतिरोध हो सकता है और इससे लीवर खराब भी हो सकता है। इन दवाओं को बंद करने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर से बात करें।

एंटीवायरल के दो मुख्य प्रकार नीचे वर्णित हैं। आपको इन्हें मिलाकर लेने की भी आवश्यकता हो सकती है।

न्यूक्लियोसाइड एनालॉग्स (Nucleoside analogs)

न्यूक्लियोसाइड एनालॉग्स (Nucleoside analogs) एक प्रकार की एंटीवायरल दवा हैं जो वायरस के आनुवंशिक कोड को स्वस्थ कोशिकाओं में कॉपी होने से रोकती हैं।

इस देश में दो सबसे अधिक इस्तेमाल किए जाने वाले न्यूक्लियोसाइड एनालॉग्स (Nucleoside analogs) को टेनोफोविर (tenofovir) और एंटेकावीर (entecavir) कहा जाता है।

उनका यह फायदा है कि गंभीर दुष्प्रभाव दुर्लभ हैं।

टेनोफोविर (Tenofovir)

टेनोफोविर (Tenofovir) टैबलेट के रूप में उपलब्ध है जिसे आमतौर पर भोजन के साथ लिया जाना चाहिए।

टेनोफोविर (Tenofovir) के दुष्प्रभावों में शामिल हैं:

दस्त

● बीमार महसूस करना

● बीमार होना

● त्वचा पर चकत्ते

● कमजोरी महसूस करना

चक्कर आना

● दुर्लभ मामलों में, किडनी की समस्याएं

इंटेकविर (Entecavir)

इंटेकविर (Entecavir) तरल रूप में उपलब्ध है। दवा एक विशेष माप चम्मच के साथ आएगी जिसका उपयोग आप अपनी खुराक को मापने के लिए कर सकते हैं।

इंटेकविर (Entecavir) के दुष्प्रभावों में शामिल हैं:

● बीमार होना

● बीमार महसूस करना

अनिद्रा

● चक्कर आना

यदि आप चक्कर महसूस करते हैं, तो ड्राइविंग करने या उपकरण या मशीनरी का उपयोग करने से बचें।

लैक्टिक एसिडोसिस और न्यूक्लियोसाइड एनालॉग्स (Lactic acidosis and nucleoside analogs)

एक दुर्लभ लेकिन गंभीर दुष्प्रभाव जो सभी प्रकार के न्यूक्लियोसाइड एनालॉग्स (nucleoside analogs) के साथ हो सकता है, दवा आपके रक्त में लैक्टिक एसिड को इकठ्ठा कर सकती है। इसे लैक्टिक एसिडोसिस के रूप में जाना जाता है और अगर इसे अनुपचारित छोड़ दिया जाता है तो यह संभावित रूप से गंभीर है।

लैक्टिक एसिडोसिस (lactic acidosis) के प्रारंभिक चेतावनी के संकेत और लक्षणों में शामिल हैं:

● बहुत कमजोर या थका हुआ महसूस करना

● मांसपेशियों में असामान्य दर्द होना

● साँस लेने में कठिनाई

● पेट दर्द होने के साथ-साथ बीमार महसूस होना या बीमार होना

● आमतौर पर ठंड महसूस करना, विशेष रूप से आपकी बाहों और पैरों में

● चक्कर आना या हल्का-हल्का महसूस होना

● तेज या अनियमित धड़कन होना

यदि आपको इनमें से कोई भी चेतावनी संकेत और लक्षण अनुभव होते हैं, तो सलाह के लिए अपनी देखभाल के प्रभारी डॉक्टर से संपर्क करें।

पेग्युलेटेड इंटरफेरॉन एल्फा (Pegulated Interferon alfa)

पेग्युलेटेड इंटरफेरॉन एल्फा (Pegulated Interferon alfa) का उपयोग हेपेटाइटिस बी (hepatitis B) के उपचार में किया जा सकता है जहां वायरस के उच्च स्तर होते हैं। यह हेपेटाइटिस बी (hepatitis B) वायरस पर हमला करने के लिए प्रतिरक्षा प्रणाली (संक्रमण के खिलाफ शरीर की रक्षा) को उत्तेजित करता है।

दवा आमतौर पर चार-से-छः महीने तक सप्ताह में एक बार इंजेक्शन द्वारा दी जाती है।

पेग्युलेटेड इंटरफेरॉन एल्फा (Pegulated Interferon alfa) लेने के बाद शुरुआत में, फ्लू जैसे लक्षणों जैसे उच्च तापमान और मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द का अनुभव करना आम है। पैरासिटामोल (paracetamol) लेने से अक्सर इन दुष्प्रभावों को दूर करने में मदद मिल सकती है और वे समय के साथ बेहतर हो जाने चाहिए।

हालांकि, कुछ लोगों में पेग्युलेटेड इंटरफेरॉन एल्फा (Pegulated Interferon alfa) लगातार और अप्रिय दुष्प्रभावों की एक विस्तृत श्रृंखला पैदा कर सकता है। इसका मतलब है कि उपचार को बंद करने की आवश्यकता है और एक वैकल्पिक एंटीवायरल का उपयोग करने की आवश्यकता होगी।

यदि आप इंटरफेरॉन अल्फ़ा (interferon alfa) के किसी भी असहज दुष्प्रभाव को महसूस करना शुरू करते हैं, तो अपने डॉक्टर को बताएं।

यदि आपको क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (chronic hepatitis B) है, तो आपके लीवर की स्थिति की नियमित रूप से ब्लड टेस्ट के माध्यम से निगरानी की आवश्यकता यह देखने के लिए होगी कि आप पर उपचार का कितना अच्छा प्रभाव हो रहा है।

अन्य परीक्षणों में अल्ट्रासाउंड स्कैन करवाना शामिल हो सकता है - जिसका उपयोग आपके लीवर की सतह पर किसी भी असामान्यताओं की जांच करने के लिए किया जाता है।

इन अन्य परीक्षणों की आवृत्ति आपके ब्लड टेस्ट के परिणामों पर निर्भर हो सकती है।

हेपेटाइटिस बी के प्रसार को रोकना (Preventing the spread of hepatitis B)

हालाँकि ऊपर उल्लिखित दवाइयां क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (chronic hepatitis B) के प्रसार को धीमा कर सकती हैं और उम्मीद है कि सिरोसिस (cirrhosis) जैसी जटिलताओं को रोक सकती हैं, वे संक्रमण को ठीक नहीं कर सकती हैं। इसका मतलब है कि आप अभी भी अन्य लोगों को हेपेटाइटिस बी (hepatitis B) से संक्रमित कर सकते हैं।

आपको किसी के साथ असुरक्षित यौन संबंध, ओरल सेक्स और एनल सेक्स से बचना चाहिए, जब तक कि आप सुनिश्चित न हों कि उन्होंने हेपेटाइटिस बी (hepatitis B) का उपचार लिया है।

यदि आप एक इंजेक्शन दवा उपयोगकर्ता हैं, तो अन्य दवा उपयोगकर्ताओं के साथ अपनी सुइयों को साझा न करें।

आपको संक्रमण के प्रसार से बचने के लिए कुछ सावधानियां बरतनी चाहिए, जैसे कि टूथब्रश या रेजर को अन्य लोगों के साथ साझा न करना।

हेपेटाइटिस बी की जटिलताएँ (Complications of hepatitis B)

उपचार के बिना, क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (chronic hepatitis B) संक्रमण वाले लगभग एक तिहाई लोगों में लीवर की एक बीमारी विकसित हो जाती है, जो बहुत गंभीर हो सकती है।

यह अनुमान लगाया गया है कि अनुपचारित क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (chronic hepatitis B) वाले 15% -25% लोग लीवर की बीमारी से मर जाते हैं।

सिरोसिस (Cirrhosis)

लीवर का सिकुड़ना (सिरोसिस) क्रोनिक हेपेटाइटिस सी (chronic hepatitis C) वाले पांच में से लगभग एक व्यक्ति को प्रभावित करता है, अक्सर ऐसा संक्रमण के पहले अनुबंध के कई साल बाद होता है।

जब तक कि लीवर को व्यापक नुकसान न हो जाये, सिरोसिस से आमतौर पर कोई भी ध्यान देने योग्य लक्षण नहीं दिखता है। यह निम्नलिखित लक्षणों को ट्रिगर कर सकता है जैसे:

● थकान और कमजोरी

● भूख कम लगना

● वजन कम होना

● बीमार महसूस करना

● बहुत खुजली वाली त्वचा

● लीवर के आसपास कोमलता या दर्द

यदि आपमें सिरोसिस विकसित हो जाता है तो इसे बदतर होने से रोकने के लिए आपको शराब पीना बंद करना पड़ेगा, क्योंकि इसका लीवर पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है।

हालाँकि कई तरह के उपचार हैं जो कभी-कभी सिरोसिस के कुछ लक्षणों से राहत दे सकते हैं, पूर्ण इलाज की एकमात्र उम्मीद लीवर प्रत्यारोपण (liver transplant) है।

सिरोसिस के उपचार के बारे में और पढ़ें।

लीवर का कैंसर (Liver cancer)

क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (chronic hepatitis B) के कारण होने वाले सिरोसिस वाले 10 में से लगभग 1 व्यक्ति में लीवर का कैंसर विकसित होगा।

लीवर कैंसर के लक्षणों में शामिल हैं:

● अस्पष्टीकृत वजन घटना

● बीमार होना

● बीमार महसूस करना

पीलिया

लीवर कैंसर के उपचार के बारे में और पढ़ें।

अचानक बढने वाला हेपेटाइटिस बी (Fulminant hepatitis B)

तीव्र हेपेटाइटिस बी (acute hepatitis B) की एक असामान्य और गंभीर जटिलता को फुलमिनेंट हेपेटाइटिस बी (fulminant hepatitis B) के रूप में जाना जाता है, जहां प्रतिरक्षा प्रणाली लीवर पर हमला करती है और इसकी व्यापक क्षति करती है। क्रोनिक हेपेटाइटिस बी (chronic hepatitis B) वाले 100 वयस्कों में से लगभग 1 में फुलमिनेंट हेपेटाइटिस बी (fulminant hepatitis B) होता है (यह बच्चों में बहुत दुर्लभ है)।

यह इन लक्षणों को जन्म दे सकता है जैसे:

● मानसिक भ्रम

● तरल पदार्थ के निर्माण के कारण पेट में सूजन

● पीलिया (jaundice)

यह जटिलता एक चिकित्सा आपातकाल है और 10 में से 7 लोग इससे मर जाते हैं।

क्रॉनिक (chronic) का आमतौर पर मतलब होता है ऐसी स्थिति जो लंबे समय तक बनी रहे या वापस आती रहे। लीवर शरीर में सबसे बड़ा अंग है। इसका मुख्य काम पित्त का स्राव करना (पाचन में मदद करना) , रक्त को detoxify करना और भोजन को ऊर्जा में बदलना है।

NHS के मूल कॉन्टेंट का अनुवादHealthily लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।