18 min read

कूल्हे का टूटना (Broken hip)

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है।

Feeling unwell?

Try our Smart Symptom Checker, which is trusted by millions.

कूल्हे का फ्रैक्चर क्या है? (What is a hip fracture?)

कूल्हे का फ्रैक्चर, कूल्हे के जोड़ के पास जांघ की हड्डी (फीमर) के ऊपरी हिस्से के टूटने के कारण होता है।

आमतौर पर डॉक्टर इसे प्रॉक्सिमल फीमोरल फ्रैक्चर कहते हैं।

कूल्हे में फ्रैक्चर के निम्न लक्षण होते हैं:

  • पैर को उठाने, हिलाने या घुमाने (मोड़ने) में कठिनाई
  • पैर पर खड़े होने या वजन रखने में परेशानी, हालांकि कुछ मामलों में यह संभव हो सकता है
  • पैर छोटा होना, या फ्रैक्चर की तरफ पैर अधिक निकल जाना

यदि आपको लगता है कि आपके कूल्हे टूट गए हैं, तो जल्द से जल्द अस्पताल जाएं। इसके लिए एम्बुलेंस के लिए 999 कॉल करें। जब तक एम्बुलेंस न आए, तब तक हिलने की कोशिश न करें और खुद को गर्म रखें।

आमतौर पर गिरने के कारण ही कूल्हे टूटते हैं। ऑस्टियोपोरोसिस के कारण हड्डियां कमजोर होने पर कूल्हे में फ्रैक्चर हो सकता है।

कूल्हे टूटने के कारण और ](https://www.livehealthily.com/balance-posture/falls)[हिप फ्रैक्चर को रोकने के बारे में और पढ़ें।

कूल्हे के टूटने का इलाज (Treating a hip fracture)

कूल्हे टूटने का इलाज आमतौर पर सर्जरी से किया जाता है। सभी मामलों में से लगभग आधे मामलों में आंशिक या पूर्ण रूप से हिप रिप्लेसमेंट (कृत्रिम रूप से कूल्हे को जोड़ों को बदलने के लिए शल्य प्रक्रिया) की आवश्यकता होती है। जबकि आधे मामलों में प्लेट और स्क्रू या छड़ से फ्रैक्चर को ठीक करने के लिए सर्जरी की आवश्यकता होती है।

कूल्हे टूटने के इलाज के बारे में और जानें।

सर्जरी के बाद स्वास्थ्य लाभ (Recovering from surgery)

सर्जरी के बाद मरीज को उबरने के लिए फिजियोथेरेपी जैसे पुनर्वास कार्यक्रम में शामिल होने से काफी मदद मिलती है। इसमें व्यावसायिक चिकित्सक और फिजियोथेरेपिस्ट जैसे विभिन्न डॉक्टरों को शामिल किया जाता है।

पूरी तरह से उबरने के लिए पुनर्वास महत्वपूर्ण है। आर्थोपेडिक समस्याओं से पीड़ित वृद्ध लोगों के लिए समर्पित पुनर्वास इकाइयाँ उपलब्ध हैं। जिन्हें जेरियाट्रिक आर्थोपेडिक रीहैबिलेशन यूनिट (GORU) कहा जाता है।

कूल्हे टूटने से उबरने के बारे में और पढ़ें।

उचित पुनर्वास कार्यक्रम से सर्जरी के बाद वृद्ध लोगों को अपने पैरों पर दोबारा खड़े होने में मदद मिलती है। इसके बावजूद कूल्हे टूटने के बाद कुछ वृद्ध लोगों को निम्न परेशानियां हो सकती हैं:

  • सामान्य तरीके से चलने या हिलने डुलने में परेशानी
  • अपने घरों में स्वतंत्र रूप से रहने में कठिनाई

कूल्हा टूटने की जटिलताओं के बारे में और पढ़ें।

कूल्हा टूटना कितना आम है? (How common are hip fractures?)

वृद्ध लोगों में कूल्हा टूटना बहुत आम हैं। यह आमतौर पर लगभग 80 वर्ष की उम्र के वृद्धों में अधिक होता है। पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में यह समस्या चार गुना अधिक आम हैं।

कूल्हा टूटने के लक्षण (Symptoms of a hip fracture)

यदि आपके कूल्हे टूट गए हैं, तो:

  • कूल्हे में दर्द होगा
  • पैर को उठाने, हिलाने या घुमाने (मोड़ने) में कठिनाई होगी

आमतौर पर अपने पैर पर खड़े होने या वजन उठाने में कठिनाई होगी, लेकिन कभी-कभी यह संभव है। यदि गिरने के बाद लगातार दर्द बना रहता है, तो इसे अनदेखा न करें।

यदि आपके कूल्हे टूट गए हैं, तो आपको जल्द से जल्द इलाज के लिए अस्पताल जाना होगा। एम्बुलेंस के लिए कॉल करें और इंतजार करते समय खुद को गर्म रखने की कोशिश करें।

कूल्हा टूटने के अन्य लक्षणों में शामिल हैं:

  • कूल्हे के चारों ओर चोट और सूजन
  • चोट लगे हिस्से के तरह पैर छोटा होना
  • जख्मी हिस्से की तरफ पैर का ज्यादा बाहर की ओर निकलना

यदि आप गिर गए हैं (If you have fallen)

गिरने के बाद आप कंपकंपी या सदमा महसूस कर सकते हैं, लेकिन घबराएं नहीं। किसी की मदद लेने की कोशिश करें:

  • मदद के लिए गुहार लगाएं
  • दीवार या फर्श पीटें (यदि आपके नीचे के फ्लोर पर कोई है)
  • सहायता कॉल बटन का उपयोग करे (यदि आपके पास एक है)

जब कोई आता है, तो उन्हें एम्बुलेंस के लिए कॉल करने के लिए कहें। यदि आप अकेले हैं, तो किसी तरह टेलीफ़ोन के पास जाएं और एम्बुलेंस का नंबर डायल करें।

गिरने के बाद क्या करना चाहिए, इसके बारे में और पढ़ें।

यदि आप गिर गए हैं, तो आपको सिर में चोट सहित अन्य जगहों पर भी चोटें लग सकती हैं। यदि आपको तुरंत मदद नहीं मिलती है, तो आप निम्न समस्याओं का अनुभव कर सकते हैं:

  • हाइपोथर्मिया, एक ऐसी स्थिति जिसमें आपके शरीर का तापमान ठंडे वातावरण में होने के कारण 35C (95F) से नीचे चला जाता है
  • निर्जलीकरण, आपके शरीर की सामान्य पानी की मात्रा कम हो जाती है क्योंकि आप खाने या पीने में सक्षम नहीं होते हैं

कूल्हे टूटने के कारण (Hip fracture causes)

वृद्ध लोगों में आमतौर पर घर में गिरने के कारण अक्सर कूल्हे टूट जाते हैं।

65 वर्ष या उससे अधिक उम्र के 10 में से तीन लोगों को वर्ष में कम से कम एक बार कूल्हे फ्रैक्चर होने की संभावना होती है। 80 या उससे अधिक उम्र के सभी या आधे लोगों का एक वर्ष में कम से कम एक बार गिरने से कूल्हे टूट जाते हैं।

अधिक उम्र के लोग अक्सर गिर जाते हैं। क्योंकि उनमें अन्य स्वास्थ्य समस्याएं होने की अधिक संभावना होती है। जिससे उनके गिरने का जोखिम बढ़ जाता है, जैसे:

  • मांसपेशियों में कमज़ोरी
  • संतुलन बनाने में समस्याएं
  • निम्न रक्तचाप (हाइपोटेंशन), ​​जिसके कारण चक्कर और बेहोशी की समस्या हो सकती है
  • कम हिलना डुलना (युवा व्यक्ति की तरह आसानी से गति करने में सक्षम न होना)
  • डिमेंशिया
  • दृष्टि कमजोर होना

ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis)

ऑस्टियोपोरोसिस जैसी समस्या के कारण हड्डियां कमजोर होने पर कूल्हे में फ्रैक्चर हो सकता है।

लगभग 35 वर्ष की आयु से धीरे-धीरे अस्थि घनत्व (हड्डी कितनी ठोस है) कम होने लगता है। यह उम्र बढ़ने का एक सामान्य हिस्सा है, लेकिन कुछ लोगों में यह ऑस्टियोपोरोसिस का कारण बन सकता है।

स्वस्थ हड्डियां बहुत घनी होती हैं, और हड्डियों के अंदर के स्थान छोटे होते हैं। ऑस्टियोपोरोसिस से प्रभावित हड्डी में, रिक्त स्थान बड़ा होता है। यह हड्डियों को बनाता है:

  • कमजोर
  • कम लोचदार (लचीला)
  • अधिक टूटने की संभावना

ऑस्टियोपोरोसिस के बारे में और पढ़ें।

युवा लोगों में हिप फ्रैक्चर (Hip fractures in younger people)

युवा लोगों में हिप फ्रैक्चर आमतौर पर गंभीर दुर्घटना के कारण सबसे अधिक होता है, जैसे ऊंचाई से गिरना या कार दुर्घटना।

कूल्हे टूटने का निदान (Diagnosing a hip fracture)

आमतौर पर गिरने के कारण ही कूल्हे टूटते हैं। इसका निदान अस्पताल में किया जाता है। किसी के गिरने या फिर खुद घायल होने के बाद तुरंत एम्बुलेंस को कॉल करना चाहिए।

अस्पताल में जाँच (Assessment in hospital)

कूल्हे फ्रैक्चर होने के बाद अस्पताल जाने पर इलाज करने वाले डॉक्टर आपकी पूरी स्थिति का आकलन करेंगे। इस दौरान वे निम्न सवाल कर सकते हैं:

  • आप कैसे गिरे हैं और क्या आप पहली बार कहीं गिरे हैं
  • हृदय से जुड़ी समस्याओं सहित अन्य समस्याओं के बारे में सवाल
  • क्या आप कोई दवा ले रहे हैं
  • आपको कितना दर्द हो रहा है
  • आपकी मानसिक स्थिति का आकलन, जैसे कि यदि आप अपना सिर मारते हैं तो भ्रमित या बेहोश हो जाते हैं
  • आपका तापमान लिया जाएगा
  • यह ध्यान रखें कि इस दौरान आपको डिहाइड्रेशन न हो (जब शरीर की सामान्य पानी की मात्रा कम हो जाती है)

मूल्यांकन के आधार पर आपको निम्न उपचार दिया जा सकता है:

  • दर्द की दवा
  • कूल्हे के पास लोकल एनेस्थेटिक इंजेक्शन
  • इंट्रावेनस फ्लुइड (बांह में सुई के जरिए फ्लुइड देना)

उपचार करने वाले डॉक्टर यह भी सुनिश्चित करेंगे कि आप गर्म और आरामदायक हैं। जब संभव हो, तो आपको आपातकालीन विभाग से एक वार्ड जैसे कि आर्थोपेडिक वार्ड में ले जाया जा सकता है।

इमेजिंग परीक्षण (Imaging tests)

कूल्हा टूटने की पुष्टि करने के लिए इमेजिंग टेस्ट किया जाता है। इसके माध्यम से कूल्हे में हड्डियों का चित्र लिया जाता है। इनमें से कुछ टेस्ट नीचे दिए गए हैं।

एक्स-रे एक प्रकार का विकिरण (ऊर्जा की तरंगें) हैं जो शरीर के अंदर का चित्र लेने के लिए उपयोग किया जाता है। एक्स-रे हड्डियों में समस्याओं जैसे कि फ्रैक्चर का पता लगाने का एक बहुत प्रभावी तरीका है। यह संभवतः पहला इमेजिंग परीक्षण है।

सही तरीके से निदान न हो पाने पर मैग्नेटिक रेजोनेंस इमेजिंग (MRI) स्कैन का उपयोग किया जा सकता है। एमआरआई स्कैन में शरीर के अंदर की एक विस्तृत छवि बनाने के लिए मजबूत चुंबकीय क्षेत्र और रेडियो तरंगों का उपयोग किया जाता है। कूल्हे के छोटे हिस्से में फ्रैक्चर की पुष्टि करने के लिए एमआरआई स्कैन बहुत प्रभावी है।

यदि आप एमआरआई स्कैन कराने में सक्षम नहीं हैं, या यह सुविधा जल्दी उपलब्ध नहीं है तो निदान के लिए कम्प्यूटराइज्ड टोमोग्राफी (सीटी) स्कैन का उपयोग किया जा सकता है।

हिप फ्रैक्चर का इलाज (Hip fracture treatment)

कूल्हा टूटने का इलाज आमतौर पर अस्पताल में सर्जरी के जरिए किया जाता है।

सर्जरी के प्रकार (Types of surgery)

अधिकांश लोगों को फ्रैक्चर को ठीक करने या कूल्हे के सभी या हिस्से को बदलने के लिए सर्जरी की आवश्यकता होगी। इसके लिए कई अलग-अलग ऑपरेशन किए जाते हैं, जिन्हें नीचे और अधिक विस्तार से समझाया गया है।

सर्जरी का प्रकार निम्न बातों पर निर्भर करेगा:

  • फ्रैक्चर का प्रकार (फीमर में फ्रैक्चर)
  • आपकी उम्र
  • हिप फ्रैक्चर से पहले आप शारीरिक रूप से कितने गतिशील थे
  • कूल्हे के फ्रैक्चर से पहले आपकी मानसिक क्षमता, उदाहरण के लिए यदि आपको मनोभ्रंश है (मस्तिष्क और इसकी क्षमताओं में लगातार कमी)
  • हड्डी और जोड़ों की समस्याएं, जैसे कि यदि आपको गठिया है (एक ऐसी स्थिति जिसमें जोड़ों और हड्डियों में दर्द और सूजन हो जाता है)

इंटर्नल फिक्सेशन (Internal fixation)

इंटर्नल फिक्सेशन का अर्थ है कि हड्डी को जोड़ने के लिए उपकरणों का उपयोग करते हुए टूटी हुई हड्डी को ठीक करना, जिसमें शामिल हैं:

  • पिन
  • स्क्रू
  • छड़
  • प्लेटें

इस प्रकार के ऑपरेशन का उपयोग 65 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के लिए किया जाता है, जिनके कूल्हे के जोड़ के अंदर फ्रैक्चर (इंट्राकैप्सुलर) और हिप ज्वाइंट के सॉकेट के बाहर फ्रैक्चर (एक्स्ट्राकैप्सुलर) होता है।

अगर इंटरकैप्सुलर फ्रैक्चर के लिए इंटर्नल फिक्सेशन का उपयोग किया जाता है, तो आप ठीक हो रहे हैं या नहीं, यह जांचने के लिए एक्स-रे कराने के लिए आपको कई महीनों तक अपॉइंटमेंट्स लेना पड़ सकता है।

ठीक होने में समस्याएं आने पर कभी-कभी आगे की सर्जरी की जरूरत पड़ सकती हैं। इसलिए बुजुर्ग लोगों में हेमिऑथ्रोप्लास्टी नामक एक ऑपरेशन किया जाता है।

हेमिआर्थ्रोप्लास्टी (Hemiarthoplasty)

हेमिआर्थ्रोप्लास्टी का अर्थ है, फीमोरल हेड को प्रोस्थेसिस से बदलना। फीमोरल हेड फीमर (ऊपरी जांघ की हड्डी) के ऊपरी हिस्से का एक गोल भाग होता है जो हिप सॉकेट में बैठता है।

पूर्ण हिप रिप्लेसमेंट (Complete hip replacement)

पूर्ण हिप रिप्लेसमेंट (आर्थ्रोप्लास्टी) एक ऑपरेशन है जिसमें कूल्हे में प्राकृतिक सॉकेट और प्रोस्थेसिस के साथ फीमोरल हेड दोनों को बदल दिया जाता है। यह हेमिआर्थ्रोप्लास्टी की तुलना में अधिक बड़ा ऑपरेशन है और अधिकांश रोगियों के लिए आवश्यक नहीं है।

कंपलीट हिप रिप्लेसमेंट के बारे में सोचा जा सकता है यदि आप:

  • पहले से ही जोड़ों को प्रभावित करने वाली बीमारी जैसे गठिया से परेशान हैं
  • बहुत सक्रिय हैं
  • उचित जीवन प्रत्याशा है

हिप रिप्लेसमेंट के बारे में और पढ़ें।

प्री-ऑपरेटिव मूल्यांकन (Pre-operative assessment)

आमतौर पर आपके अस्पताल में आने के 36 घंटे के भीतर सर्जरी की जाती है, बशर्ते आप स्थिर स्थिति में हों। आपके समग्र स्वास्थ्य की जांच करने और सर्जरी के लिए तैयार होने के बारे में सुनिश्चित करने के लिए पहले से एक प्री-ऑपरेटिव मूल्यांकन किया जाएगा।

मूल्यांकन के दौरान आपके वर्तमान में चल रही दवाओं के बारे में पूछा जाएगा। साथ ही आवश्यक परीक्षण और जांच किया जाएगा।

इसके अलावा यह निर्धारित करने के लिए आपका एनेस्थेटिक मूल्यांकन भी किया जाएगा कि आपको किस प्रकार की एनेस्थेशिया दी जाए। एनेस्थेशिया के विभिन्न प्रकारों में शामिल हैं:

  • रीढ़ की हड्डी या एपिड्यूरल एनेस्थीसिया का उपयोग शरीर के निचले आधे हिस्से में नसों को सुन्न करने के लिए किया जाता है ताकि आप इस क्षेत्र में कुछ भी महसूस न कर सकें
  • जनरल एनेस्थेटिक आपको बेहोश कर देती है और आपके मस्तिष्क को आपकी नसों से किसी भी संकेत को पहचानने से रोकती है, इसलिए आप कुछ भी महसूस नहीं कर सकते हैं

सर्जरी से पहले (Before surgery)

कूल्हा टूटने से बहुत दर्द हो सकता है। निदान और उपचार के दौरान दर्द को दूर करने के लिए दवा दी जाती है। शुरूआत में आमतौर पर कूल्हे के पास (बांह में सुई के माध्यम से) लोकल एनेस्थेटिक का इंजेक्शन दिया जाता है।

ऑपरेशन से पहले आपको एंटीबायोटिक्स (बैक्टीरिया के कारण संक्रमण का इलाज करने वाली दवाएं) दी जा सकती हैं। यह सर्जरी के बाद आपके घाव के संक्रमित होने के जोखिम को कम करने के लिए दिया जाता है।

सर्जरी से नस में रक्त का थक्का बनने का खतरा रहता है। इस वजह से जोखिम को कम करने के लिए यह कदम उठाया जा सकता है। इसमें हेपैरिन (रक्त का थक्के जमने की क्षमता को कम करने वाला एंटीकॉगुलेंट) जैसे इंजेक्शन शामिल होते हैं।

अस्पताल में रहने के दौरान वेनस थ्रोम्बोएम्बोलिज़्म के लिए आपकी निगरानी की जाएगी। डिस्चार्ज होने के बाद भी आपको दवा की आवश्यकता हो सकती है।

ऑपरेशन (Your operation)

आप किस प्रकार की सर्जरी कराते हैं, इसकके आधार पर (ऊपर देखें), ऑपरेशन लगभग दो घंटे तक चलता है।

सर्जरी स्वास्थ्य देखभाल पेशेवरों की एक टीम द्वारा की जाएगी, जिसमें एक आर्थोपेडिक सर्जन (स्केलेटन समस्याओं का विशेषज्ञ है) शामिल होता है। यदि आपके ऑपरेशन से जुड़े कोई सवाल हैं, तो आप अपने सर्जन या टीम के किसी अन्य सदस्य से पूछ सकते हैं।

ऑपरेशन के बाद आपको पुनर्वास कार्यक्रम शुरू करना पड़ता है। यह आपके सर्जरी वार्ड से अलग एक अन्य वार्ड में होता है।

हिप फ्रैक्चर सर्जरी से उबरने के बारे में और पढ़ें।

सर्जरी के अन्य विकल्प (Alternative to surgery)

सर्जरी के लिए मौजूद विकल्प को कजर्वेटिव ट्रीटमेंट कहा जाता है। इसमें लंबे समय तक बेड रेस्ट की जरूरत होती। अक्सर इसका उपयोग नहीं किया जाता है, क्योंकि:

  • लोग लंबे समय तक अस्वस्थ बने रह सकते हैं
  • अस्पताल में लंबे समय तक रहना पड़ है
  • ठीक होनेे में काफी समय लगता है

हालांकि, यदि सर्जरी संभव नहीं है तो कंजर्वेटिव ट्रीटमेंट की आवश्यकता पड़ सकती है। जैसे कि कोई व्यक्ति सर्जरी से निपटने के लिए बहुत नाजुक है।

हिप फ्रैक्चर से होने वाली समस्याएं (Complications of a hip fracture)

कूल्हे टूटने के बाद कुछ लोग धीमी गति से उबरते हैं या पूरी तरह से ठीक नहीं हो पाते हैं। सर्जरी से कई जटिलताएं भी उत्पन्न हो सकती हैं।

धीमी गति से उबरना (Slow recovery)

हिप फ्रैक्चर के बाद हर कोई पूरी तरह से ठीक नहीं हो पाता है। हिप फ्रैक्चर से पहले आप कितने स्वस्थ थे, यह इस पर निर्भर हो सकता है। कुछ लोग:

  • पहले की तरह चल फिर नहीं पाते हैं
  • घर पर नहीं रह पाएंगे

हिप फ्रैक्चर से पीड़ित हर 10 में लगभग तीन लोग एक साल के अंदर मर जाते हैं। इनमें से लगभग एक तिहाई मौतें सीधे फ्रैक्चर से संबंधित हैं।

सर्जरी से जटिलताएं (Complications from surgery)

सभी प्रकार की सर्जरी से कुछ जोखिम जुड़े होते हैं। हिप ऑपरेशन के बाद उत्पन्न होने वाली जटिलताओं में शामिल हैं:

  • संक्रमण - सर्जरी और स्टीराइल तकनीकों के समय एंटीबायोटिक दवाओं का उपयोग करके जोखिम को कम किया जाता है। संक्रमण लगभग 1-3% मामलों में होता है और आगे उपचार और सर्जरी की आवश्यकता पड़ सकती है
  • रक्त का थक्का बनना - गतिशीलता कम होने के कारण ये पैर की गहरी नसों (डीप वेन थ्रॉम्बोसिस) में बन सकते हैं, लेकिन विशेष स्टॉकिंग, व्यायाम और दवा का उपयोग करके इसे रोका जा सकता है
  • प्रेशर अल्सर (बेडसोर या प्रेशर सोर) -यह त्वचा के एक क्षेत्र पर हो सकता है जो कुर्सी या बिस्तर पर लंबे समय तक रहने के कारण लगातार दबाव के कारण होता है।

आपके सर्जन आपके साथ इन और ऐसे किसी भी अन्य जोखिम पर चर्चा कर सकते हैं।

हिप फ्रैक्चर से बचाव (Preventing a hip fracture)

ऑस्टियोपोरोसिस (कमजोर और नाजुक हड्डियों) का इलाज कराकर गिरने से बचा जा सकता है और इससे काफी हद तक हिप फ्रैक्चर को रोका जा सकता है।

गिरने से बचना

65 वर्ष से अधिक आयु के लोगों में गिरने का खतरा बढ़ जाता है। आप गिरने के अपने जोखिम को कम कर सकते हैं:

  • चलने के लिए बैसाखी का इस्तेमाल करें
  • अपने घर में गिरने के खतरों से बचें और सुरक्षित तरीके से रहें
  • अपने संतुलन को बेहतर बनाने के लिए व्यायाम का उपयोग करना

गिरने से बचने और गिरने के जोखिम को कम करने की सलाह के बारे में और पढ़ें।

ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis)

यदि आपको ऑस्टियोपोरोसिस है, तो अपनी उपचार योजना का पालन करें। यदि आप अपनी हड्डियों के स्वास्थ्य में सुधार कर सकते हैं, तो आपको फ्रैक्चर का खतरा कम हो सकता है।

ऑस्टियोपोरोसिस का इलाज कैसे किया जाता है, इसके बारे में और पढ़ें।

हिप प्रोटेक्टर (Hip protectors)

हिप प्रोटेक्टर गिरने से रोकने में मदद करते हैं। बुजुर्गों में हिप फ्रैक्चर को रोकने के लिए इसका उपयोग किया जा सकता है।

इस डिवाइस में पैडिंग या प्लास्टिक शील्ड का उपयोग किया जाता, जो विशेष रूप से डिज़ाइन किए गए अंडरवियर से जुड़े होते हैं। पैडेड मैटेरियल गिरने से रोकने में मदद करते हैं, जबकि प्लास्टिक के उपकरणों का उपयोग कूल्हे के कमजोर क्षेत्रों से प्रभाव को हटाने के लिए किया जाता है। अधिक आधुनिक हिप प्रोटेक्टर में एक अलग प्रकार की सामग्री का उपयोग किया जाता है, जिसका उद्देश्य इन दोनों फायदों को शामिल करना है।

आमतौर पर लोग हिप प्रोटेक्टर को पहनना बंद कर देते हैं या यह उन्हें असहज लगता है। आधुनिक हिप प्रोटेक्टर अधिक आरामदायक फिट और नई सुविधाओं से लैस हैं, जैसे कि पसीना कम करने के लिए वेंटिलेशन।

हालांकि, कम सक्रिया वृद्ध लोगों के लिए यह बहुत प्रभावी नहीं माना जाता है।

हिप फ्रैक्चर के कारणों और जोखिम वाले लोगों के बारे में और पढ़ें।

कूल्हे के फ्रैक्चर से उबरना (Recovery from a hip fracture)

कूल्हे के फ्रैक्चर के बाद आपको चोट या सर्जरी से उबरने में मदद के लिए पुनर्वास कार्यक्रम में शामिल किया जाएगा।

पुनर्वास के उद्देश्यों में शामिल हैं:

  • गतिशीलता (चलने फिरने की क्षमता) को बढ़ना, विशेष रूप से चलना
  • आपकी स्वतंत्रता को बढ़ाना ताकि आप स्वयं अपनी सफाई कर सकें और कपड़े पहन सकें और बिना किसी मदद के शौचालय का उपयोग कर सकें

बहु-विषयक टीम (Your multidisciplinary team)

पुनर्वास में आमतौर पर एक बहु-विषयक टीम (विभिन्न हेल्थकेयर पेशेवरों की एक साथ काम करने वाली टीम) शामिल होगी, जैसे:

  • फिजियोथेरेपिस्ट - स्वास्थ्य पेशेवर विशेषज्ञ होते हैं। वे मालिश जैसे शारीरिक तरीकों का उपयोग करके चोट से उबरने में मदद करते हैं। (फिजियोथेरेपी के बारे में और पढ़ें)
  • व्यावसायिक थेरेपिस्ट - ऐसे थेरेपिस्ट जो आपकी रोजमर्रा की समस्याओं को पहचानते हैं, जैसे कि अपने आप को तैयार करना या स्थानीय दुकानों में जाना। वे आपको व्यावहारिक समाधान निकालने में मदद करते हैं।
  • सामाजिक कार्यकर्ता - इसमें शामिल लोग सामाजिक सेवाएं प्रदान करते हैं। वे आपको व्यावहारिक मुद्दों पर सलाह दे सकते हैं, जैसे कि लाभ, आवास और देखभाल
  • आर्थोपेडिक सर्जन - ऐसा सर्जन जो रीढ़ और आसपास के जोड़ों से जुड़ी समस्याओं का विशेषज्ञ होता है
  • जेरियाट्रिशियन - एक डॉक्टर जो वृद्ध लोगों की स्वास्थ्य सेवा में विशेषज्ञ है (यदि आप बुजुर्ग व्यक्ति हैं)
  • नर्स - एक स्वास्थ्य देखभाल पेशेवर जो आपको डिस्चार्ज की योजना बनाती है और आपको और आपके परिवार को उपलब्ध देखभाल सेवाओं के बारे में सूचित करती है।

अस्पताल में पुनर्वास

यदि आप अच्छा महसूस कर रहे हैं, तो सर्जरी के 24 घंटे बाद पुनर्वास शुरू किया जा सकता है। अस्पताल में रहने के दौरान आपका पुनर्वास हो सकता है:

  • आर्थोपेडिक वार्ड -अस्थि पंजर से जुड़ी समस्याओं के लिए एक वार्ड
  • पुनर्वास वार्ड - पुनर्वास कार्यक्रमों से गुजरने वाले लोगों के लिए एक वार्ड
  • जेरियाट्रिक आर्थोपेडिक रिहैबिलिटेशन यूनिट (GORU) - विशेष रूप से आर्थोपेडिक समस्याओं से पीड़ित वृद्ध लोगों के लिए एक पुनर्वास इकाई

अस्पताल से छुट्टी मिलना (Being discharged)

आपको कितने समय तक अस्पताल में रहने की आवश्यकता है यह इस बात पर निर्भर करेगा कि आप कितने फिट हैं। यदि आप स्वस्थ हैं, तो आपको तीन से पांच दिनों में हिप रिप्लेसमेंट के बाद अस्पताल से छुट्टी दी जा सकती है।

छुट्टी देने से पहले एक व्यावसायिक थेरेपिस्ट यह मूल्यांकन करने के लिए आपके घर जा सकता है कि आपको किसी भी गतिशीलता एड्स की आवश्यकता होगी, जैसे कि हैंड रेल। इससे आप अपने आप खुद चल फिर सकते हैं। बेंत या बैसाखी से आपको चलने में सहायता भी प्रदान की जा सकती है।

छुट्टी देने से पहले आपके डॉक्टर और देखभालकर्ता भी आपकी सहायता करने के लिए योजना बना सकते हैं। छुट्टी दिए जाने के बाद आपको निम्न की आवश्यकता हो सकती है:

पुनर्वास नियुक्ति के लिए अस्पताल वापस आना

फॉलो अप अपॉइंटमेंट के लिए डॉक्टर से मिलना

आपकी देखभाल में शामिल स्वास्थ्य पेशेवरों से घर पर टेलीफोन से बात करना

अस्पताल से छुट्टी मिलने से पहले इसके बारे में आपसे चर्चा की जाएगी।

पुनर्वास कार्यक्रम (Your rehabilitation programme)

व्यक्तिगत पुनर्वास कार्यक्रम में निम्न चीजें शामिल हो सकती हैं:

  • वजन उठाने वाले व्यायाम, जिसमें आपके पैर आपके वजन को संभालते हैं, जैसे तेज चलना, फिटनेस कक्षाएं या टेनिस का खेल
  • वजन न उठाने वाले व्यायाम, जिसमें आपके पैर आपका वजन नहीं संभाल पाते हैं, जैसे कि तैराकी या साइकिल चलाना
  • ट्रेडमिल व्यायाम, जैसे कि एक ट्रेडमिल पर चलना (चलती कन्वेयर बेल्ट के साथ एक एक्सरसाइज उपकरण जिससे आप एक स्थान पर चल सकते हैं)
  • गहन शारीरिक प्रशिक्षण, जैसे व्यायाम प्रशिक्षक के साथ सप्ताह में तीन या अधिक बार व्यायाम करने के लिए मिलना
  • ताकत और संतुलन प्रशिक्षण, जैसे वजन उठाना, मांसपेशियों और जोड़ों को मजबूत बनाने के लिए, अपने संतुलन, स्थिरता और मुद्रा में सुधार करना

यह सुझाव देने के लिए वर्तमान में पर्याप्त सबूत नहीं हैं कि एक प्रकार का व्यायाम कार्यक्रम दूसरे की तुलना में बेहतर है। हालांकि, माना जाता है कि इस प्रकार के कार्यक्रम से गतिशीलता में सुधार होता। आपका व्यक्तिगत कार्यक्रम इस पर निर्भर करेगा:

  • आपके स्थानीय प्राथमिक देखभाल ट्रस्ट (पीसीटी) में क्या उपलब्ध है
  • आपके लिए कौन से व्यायाम सबसे उपयुक्त हैं
NHS के मूल कॉन्टेंट का अनुवादHealthily लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।