COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
13 min read

रोज़मर्रा की बीमारियों का इलाज घर पर कैसे करें (How to treat everyday ailments at home) - Healthily

ये वो 10 सबसे आम कम गंभीर बीमारियां हैं जिसके लिए लोग डॉक्टर के पास जाते हैं।

सीने में जलन और बंद नाक जैसी समस्याओं का घर पर इलाज करने का सबसे प्रभावी तरीका जानें और डॉक्टर के पास जाने से बचें।

याद रखें: आप अपने स्थानीय फार्मासिस्ट से भी स्वास्थ्य समस्याओं के बारे में सलाह ले सकते हैं और वे आपको ये भी बताएँगे कि डॉक्टर के पास जाने की जरूरत है या नहीं। इसके लिए किसी अप्वाइंटमेंट की भी जरूरत नहीं होती है। निम्नलिखित बीमारियों में आप फार्मासिस्ट की मदद ले सकते हैं:

  1. पीठ दर्द (Back pain)
  2. त्वचा में सूजन (Dermatitis)
  3. सीने में जलन और अपच (Heartburn and indigestion)
  4. बंद नाक (Nasal congestion (blocked nose))
  5. कब्ज़ (Constipation)
  6. माइग्रेन (Migraines)
  7. खांसी (Coughs)
  8. मुँहासे (Acne)
  9. मोच और खिंचाव (Sprains and strains)
  10. सिर दर्द (Headaches)
  11. कमर दर्द (Back pain)

पीठ और कमर दर्द की ज्यादातर समस्याएं मेडिकल स्टोर पर मिलने वाली दवाओं से ठीक हो जाती हैं। इसके अलावा सेल्फ केयर और कुछ अन्य तरीकों से भी इसे ठीक किया जा सकता है।

खुद की देखभाल से जुड़े सुझाव:

  • दर्द से राहत के लिए पैरासिटामोल (Paracetamol) या आईबुप्रोफेन (Ibuprofen) लें। यदि आप आईबुप्रोफेन (Ibuprofen) ले रहे हैं, तो ध्यान रखें कि इसे भोजन के साथ लें। किसी भी दवा को लेने से पहले उसके साथ दिए गए दिशा निर्देश को जरूर पढ़ें।
  • बड़ी फार्मेसियों पर हॉट या कोल्ड कम्प्रेशन पैक (ठंडी और गर्म सिकाई पैक) आसानी से उपलब्ध होते हैं। ये दर्द दूर करने में मदद करते हैं।
  • फ्रिज में रखे फ्रोजेन फूड या आइस क्यूब को एक तौलिये में लपेटकर भी आप अपना कोल्ड कंप्रेशन पैक बना सकते हैं।
  • सोते वक्त अपने घुटनों के नीचे एक छोटा कुशन रखें। अगर आप पीठ के बल लेटे हों तो अपने घुटनों को सहारा देने के लिए तकियों का उपयोग करें।
  • जितना संभव हो अपने रोजमर्रा के काम और शारीरिक गतिविधियां करते रहें।
  • सकारात्मक रहें: अध्ययनों से पता चलता है कि यदि आप सकारात्मक रहते हैं, तो आपके जल्दी ठीक होने की संभावना बढ़ जाती है।
  • सावधानीपूर्वक कोई सामान उठाएं।

अपनी बेहतर देखभाल करने के कम से कम दो हफ्ते के बाद भी आपका पीठ या कमर दर्द ठीक नहीं होता है, या कुछ अलग लक्षण नजर आते हैं और आपका पीठ दर्द गंभीर हो गया हो तो अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

पीठ दर्द के बारे में अधिक जानकारी के लिए पढ़ें।

  1. त्वचा में सूजन (Dermatitis)

डर्मेटाइटिस (त्वचा में सूजन) के कारण जलन या एलर्जी की समस्या हो सकती है।

खुद की देखभाल से जुड़े सुझाव:

  • खुजली न करें - खुजली करने से आपकी त्वचा को नुकसान पहुंच सकता है और बैक्टीरिया अंदर आने के कारण संक्रमण हो सकता है। अपने नाखूनों को छोटा रखें। नाखून से खुजली करने की बजाय आप अपने उंगली से उस हिस्से को सहला सकते हैं।
  • त्वचा पर एलर्जी और जलन पैदा करने वाले तत्वों से दूर रहें, ताकि आप अगली बार इनके संपर्क में न आ पाएं।
  • एमोलिएंट्स (emollients) नामक मॉश्चराइजिंग क्रीम (Moisturising cream) डर्मेटाइटिस (dermatitis) के लक्षणों को दूर करने में मदद करती है। यह सुपर मार्केट और फार्मेसी पर उपलब्ध होती है। डर्मेटाइटिस (dermatitis) के इलाज के लिए बिना गंध वाला इमोलिएंट (emollient) बेहतर होता है।
  • साबुन की जगह साबुन के अन्य विकल्प जैसे कि E45 या डिप्रोबेस (Diprobase) का प्रयोग करें।

यदि सेल्फ केयर तकनीक अपनाने के बाद भी चकत्ते दूर नहीं होते हैं, तो अपने फार्मासिस्ट से बात करें या अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

डर्मेटाइटिस (dermatitis) से निपटने से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए हमारे डर्मेटाइटिस (dermatitis) और एक्जिमा (eczema) पेज को देखें।

  1. सीने में जलन और अपच (Heartburn and indigestion)

पाचन से जुड़ी समस्याएं जैसे सीने में जलन, अपच और पेट फूलना बहुत आम है। आमतौर पर जीवनशैली में बदलाव कर और ओवर-द काउंटर दवाओं से इन्हें ठीक किया जा सकता है।

खुद की देखभाल से जुड़े सुझाव:

  • आपका फार्मासिस्ट पेट में एसिड को बेअसर करने के लिए एंटासिड (Antacid) दवाएं लेने या भोजन की नली (एसोफैगस) (oesophagus) को एसिड से बचाने के लिए एल्जिनेट्स (alginates) लेने की सलाह दे सकता है।
  • वजन घटाना - अधिक वजन होने के कारण भी सीने में जलन हो सकता है।
  • धूम्रपान या शराब से परहेज करें या सीमित मात्रा में सेवन करें।
  • रात में सोने से कम से कम तीन घंटे पहले भोजन करें।
  • अपने बेड को सिर की तरफ़ कुछ इंच ऊपर उठाएं, तकिए का प्रयोग करके अपने सिर को ऊपर उठाना अधिक प्रभावी नहीं होता है।
  • ऐसे खाद्य और पेय पदार्थों की सूची तैयार करें, जिनसे आपको गंभीर अपच होता है। फिर इनका सेवन करने से बचें।

हल्का पेट दर्द आमतौर पर दो से चार दिनों तक रहता है। यदि पेट दर्द और सूजन लगातार बना हो तो डॉक्टर के पास जाएं।

इस बारे में अधिक जानकारी के लिए सीने में जलन, अपच और पाचन से जुड़े सेक्शन देखें।

  1. बंद नाक (Blocked nose)

अधिकांश मामलों में जब शरीर संक्रमण से लड़ना शुरू कर देता है तो बंद नाक की समस्या कुछ दिनों में बिना इलाज के ही ठीक हो जाती है।

यदि आप सर्दी जुकाम के वायरस से संक्रमित हैं तो आपके डॉक्टर जो भी सलाह देंगे वो आपको एक फार्मासिस्ट भी दे सकता है। इस दौरान एंटीबायोटिक से मदद नहीं मिलती है।

खुद की देखभाल से जुड़े सुझाव:

  • मेडिकल स्टोर पर मिलने वाली डिकॉन्जेस्टेंट (decongestant) दवाएं नाक की रक्त वाहिकाओं में सूजन को कम करके बंद नाक की समस्या से राहत देने में मदद करती हैं। एक बार में पांच से सात दिनों से अधिक के लिए डिकॉन्जेस्टेंट का उपयोग न करें। लंबे समय तक इनका उपयोग करने से आपके लक्षण काफी गंभीर हो सकते हैं।
  • गर्म पानी से भाप लेना - गर्म पानी का भाप लेने से नाक में बनने वाला म्यूकस (mucus) ढीला हो जाता है। अगर आप चाहें तो पानी में मेंथोल क्रिस्टल (menthol crystals) या यूकेलिप्टस (eucalyptus) का तेल मिला सकते हैं।

यदि लक्षण लगातार बने रहते हैं तो फार्मासिस्ट से बात करें या डॉक्टर से संपर्क करें।

बंद नाक के इलाज के बारे में और पढ़ें।

  1. कब्ज़ (Constipation)

यदि आपको कब्ज़ (Constipation) है (मल त्याग करने में परेशानी), तो अपने आहार में बदलाव करने से इस समस्या से राहत मिलती है।

खुद की देखभाल से जुड़े सुझाव:

  • यदि कब्ज के कारण आपको दर्द हो रहा है तो पेरासिटामोल (Paracetamol) जैसे दर्द निवारक का सेवन करें।
  • अपने आहार में अधिक फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ जैसे कि फल, सब्जियां, साबुत पास्ता, साबुत रोटी, बीज, अखरोट और ओट्स शामिल करें। आप इनमें से कोई भी चीज चार हफ्तों तक ले सकते हैं। ये कब्ज (Constipation) दूर करने में प्रभावी होते हैं।
  • यदि आपको इरिटेबल बाउल सिंड्रोम (आईबीएस) (irritable bowel syndrome (IBS)) है और कब्ज (Constipation) हो जाता है, तो आपको अधिक मात्रा में घुलनशील फाइबर का सेवन करना चाहिए। ओट्स, जौ, केला, सेब, गाजर, आलू और अलसी घुलनशील फाइबर के स्रोत हैं।
  • पर्याप्त मात्रा में पानी पीजिए - पानी, पेय पदार्थ और अपने सेहत के बारे में पढ़ें।
  • नियमित एक्सरसाइज करने से कब्ज का जोखिम कम हो जाता है। यदि आहार और जीवनशैली में बदलाव करने से कोई राहत नहीं मिलता है तो मेडिकल स्टोर पर बिना डॉक्टर की पर्ची के मिलने वाले लैक्जेटिव (laxative) का इस्तेमाल करें। अपने फार्मासिस्ट से सलाह लें और पैकेट पर लिखे दिशानिर्देशों को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

अगर ओवर-द-काउंटर लैक्जेटिव (laxative) से कोई सुधार नहीं होता है तो डॉक्टर के पास जाएं।

कब्ज (Constipation) के इलाज से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए पढ़ें।

  1. माइग्रेन (Migraines)

माइग्रेन (Migraine) एक सिरदर्द है जो आपके दैनिक जीवन को बहुत अधिक प्रभावित कर सकता है।

खुद की देखभाल से जुड़े सुझाव:

  • अपने तनाव के स्तर पर नजर रखें। रिसर्च के अनुसार तनाव कम लेने से माइग्रेन (Migraine) का दौरा एक तिहाई कम हो जाता है। तनाव दूर करने के लिए आसान से ब्रीदिंग एक्सरसाइज (breathing exercise) करें।
  • माइग्रेन (Migraine) को बढ़ाने वाले भोजन और पेय पदार्थों जैसे कैफीन (caffeine) का सेवन न करें।
  • नियमित स्वस्थ भोजन और नाश्ते का सेवन करें और अपने ब्लड शुगर (Blood sugar) के स्तर को नियंत्रित रखें।
  • भारी और कठिन एक्सरसाइज करने से कुछ लोगों में माइग्रेन (Migraine) की समस्या बढ़ जाती है। लेकिन नियमित हल्का व्यायाम करके इससे बचा जा सकता है।
  • माइग्रेन के लिए एक डायरी बनाएं और इसमें अपने सिरदर्द, संभावित कारणों और सिरदर्द के लिए आप जो दवाएं ले रहे हैं, उसके बारे में लिखें। महिलाओं को अपने मासिक धर्म चक्र के बारे में लिखना चाहिए।
  • अपने फार्मासिस्ट से सलाह लें। वे आपको दर्दनिवारक दवाओं की सलाह देंगे। यदि माइग्रेन का दौरा पड़ने पर शुरुआत में ही दवाएं ली जाएं तो ये बहुत प्रभावी होती हैं।
  • माइग्रेन के लिए कुछ दवाओं को साथ में लिया जाता है; जिनमें दर्दनिवारक और एंटी-सिकनेस दवाएं शामिल हैं, इनको बिना पर्चे के भी खरीदा जा सकता है। हालांकि पहले फार्मासिस्ट की सलाह ले लेनी चाहिए।

यदि आपका माइग्रेन गंभीर है तो माइग्रेन के लिए विशेष रूप से बनी दवा की जरूरत पड़ सकती है। इसे केवल डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही खरीदा जा सकता है।

माइग्रेन के इलाज से जुड़ी अधिक जानकारी के बारे में पढ़ें।

  1. कफ (Coughs)

खांसी आमतौर पर सर्दी और फ्लू के वायरस के कारण होती है। जब आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली वायरस को नष्ट कर देती है, तो खांसी आमतौर पर बिना इलाज के ठीक हो जाती है।

वायरस के कारण होने वाली खांसी में एंटीबायोटिक (Antibiotics) काम नहीं करती है।

खुद की देखभाल से जुड़े सुझाव:

  • पर्याप्त मात्रा में तरल पदार्थ का सेवन करें- पानी सबसे बेहतर विकल्प है।
  • इस बात का कोई सबूत नहीं है कि फार्मेसी पर मिलने वाले कफ मिक्चर से खांसी ठीक हो जाती है। आप घर पर ही खांसी के लिए शहद, नींबू और गर्म पानी का मिश्रण तैयार कर सकते हैं।
  • कफ़ के लिए आने वाली कैंडी चूसें।
  • कुछ ओवर-द-काउंटर दवाएं सर्दी या फ्लू के लक्षणों जैसे कि बंद नाक, बुखार और सिरदर्द को दूर करने में मदद करती हैं। इसके बारे में अपने फार्मासिस्ट से सलाह लें।
  • यदि आप धूम्रपान करते हैं तो इससे परहेज करें। धूम्रपान रोकने से जुड़े टिप्स पढ़ें या अपनी फार्मेसी टीम से सलाह लें।

अगर वायरल संक्रमण के तीन हफ्ते बाद भी आपको खांसी आ रही है या खांसी लगातार बढ़ती जा रही है तो अपने डॉक्टर के पास जाएं।

खांसी के इलाज के बारे में और पढ़ें।

  1. मुंहासे (Acne)

मुंहासे (Acne) आमतौर पर चेहरे पर सबसे अधिक निकलते हैं। लेकिन ये पीठ, कंधे और कूल्हों पर भी दिखाई दे सकते हैं।

खुद की देखभाल से जुड़े सुझाव:

  • मुंहासे को दबाएं या फोड़ें नहीं क्योंकि इससे निशान पड़ सकते हैं।
  • फार्मेसी से कोई हल्का फेसवॉश खरीदकर गुनगुने पानी के साथ चेहरा धोएं। चेहरे को अधिक स्क्रब से बचाने के लिए दिन में दो बार से अधिक फेसवॉश का इस्तेमाल न करें।
  • हमेशा ऑयल-फ्री या वाटर बेस्ड मेकअप का इस्तेमाल करें। नॉन-कॉमेडोजेनिक (non-comedogenic) (ब्लैकहेड्स या व्हाइटहेड्स नहीं निकलते) या नॉन-एक्नेजेनिक (non-acnegenic) उत्पाद को चुनें।
  • इस बात का कोई प्रमाण नहीं है कि तले भूने खाद्य पदार्थ या चॉकलेट का सेवन करने से मुंहासे बढ़ते हैं।
  • इस बात का कोई सबूत नहीं है कि धूप मुंहासे को ठीक करने में मदद करती है।
  • हल्के मुंहासे बेंजोइल पेरॉक्साइड (benzoyl peroxide) जैसे जेल या क्रीम का इस्तेमाल करने से ठीक हो सकते हैं। अपने फार्मासिस्ट से इसके बारे में सलाह लें।

यदि ओवर-द-काउंटर इलाज से राहत नहीं मिलती है तो इलाज के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

मुंहासे के इलाज के बारे में अधिक जानकारी पढ़ें।

  1. मोच और खिंचाव (Sprains and strains)

मोच आमतौर पर तब आती है जब आपके जोड़ों, जैसे कलाई या टखने के स्नायुओं(लिगामेंट) में चोट लग गई हो। जबकि खिंचाव आमतौर पर आपकी पीठ या पैरों में मांसपेशियों के तंतुओं के फटने के कारण होता है।

ज्यादातर हल्के और मध्यम मोच और खिंचाव का इलाज प्राइस (PRICE) तकनीक का इस्तेमाल करके घर पर ही किया जा सकता है।

खुद की देखभाल से जुड़े सुझाव:

  • प्राइस (PRICE) का अर्थ है प्रोटेक्शन, रेस्ट, आइस, कंप्रेशन और एलिवेशन। प्राइस के बारे में अधिक जानकारी के लिए मोच और खिंचाव के इलाज के बारे में पढ़ें।
  • मोच या मांसपेशियों में खिंचाव के बाद पहले 72 घंटों के लिए आपको गर्मी (जैसे गर्म स्नान), शराब का सेवन, दौड़ना (या किसी अन्य प्रकार के व्यायाम) और मालिश से बचना चाहिए।
  • मोच के लिए: जब तक मोच गंभीर न हो, तब तक अपने मोच वाले जोड़ को धीरे-धीरे हिलाते रहने की कोशिश करें।
  • खिंचाव के लिए: कुछ दिनों के लिए प्रभावित मांसपेशियों का इस्तेमाल न करें।
  • यदि मोच या खिंचाव के कारण आपको दर्द होता है तो पेरासिटामोल (Paracetamol) का सेवन करें। यदि इससे राहत नहीं मिलती है तो अपने फार्मासिस्ट से बात करें। दर्द निवारक क्रीम और जेल (gel) भी ओवर- द- काउंटर उपलब्ध होते हैं।

अधिकांश मोच और खिंचाव लगभग तीन से चार दिनों के बाद बेहतर होने लगते हैं।

यदि आपका जोड़ सामान्य से अलग दिखता है, या इसे हिलाने-डुलाने में कठिनाई होती है, या आप सुन्नता या झुनझुनी महसूस करते करते हैं, तो तुरंत चिकित्सा सहायता लें।

मोच और खिंचाव के बारे में अधिक जानकारी के लिए यहां पढ़ें।

  1. सिरदर्द (Headaches)

ज्यादातर सिरदर्द गंभीर नहीं होते हैं और आमतौर पर दवाओं, रिलैक्सेशन टेक्निक और जीवनशैली में बदलाव से इनसे राहत मिल जाती है।

सेल्फ केयर टिप्स:

  • टेन्शन की तरह का सिरदर्द होने पर आमतौर पर पैरासिटामोल (Paracetamol) का सेवन करने पर काफी राहत मिलती है। सिरदर्द शुरू होने के तुरंत बाद इसकी पूरी खुराक लेना बेहतर है। जरूरत पड़ने पर पैरासिटामोल की दूसरी खुराक चार घंटे बाद ली जा सकती है। एक दिन में 500mg के आठ से अधिक पैरासिटामोल का टैबलेट नहीं लेना चाहिए।
  • एंटी इन्फ्लामेट्री दर्द निवारक (Anti-inflammatory painkillers) जैसे इबुप्रोफेन (ibuprofen) भी सिरदर्द से राहत दिलाने में मदद कर सकते हैं।
  • ध्यान रखें कि सप्ताह में दो या तीन बार से अधिक दर्द निवारक लेने से सिरदर्द हो सकता है। दर्द निवारक सिरदर्द के बारे में और पढ़ें।
  • नियमित व्यायाम और रिलैक्सेशन तनाव की वजह से होने वाले सिरदर्द को रोकने में मदद कर सकते हैं।

अधिकांश सिरदर्द कुछ घंटों में खत्म हो सकते हैं। यदि आपके सिर में दर्द होता है, तो आप अपने डॉक्टर से संपर्क करें। यदि आपको दूसरे लक्षण जैसे गर्दन में ऐंठन या प्रकाश के प्रति संवेदनशीलता महसूस हो रही हो तो तत्काल डॉक्टर के पास जाएं।

सिरदर्द के कारण और सिरदर्द के प्रकार के बारे में अधिक जानने के लिए यहां पढ़ें।

NHS के मूल कॉन्टेंट का अनुवादHealthily लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।