COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
6 min read

इकोकार्डियोग्राम (echocardiogram) - Healthily

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है।

इकोकार्डियोग्राम (echocardiogram) या इको (echo) एक प्रकार का स्कैन है जो हृदय और उसके पास की धमनियों (blood vessels) को देखने के लिए इस्तेमाल होता है।

यह एक तरह का अल्ट्रासाउंड स्कैन (ultrasound scan) है, जिसका मतलब है एक छोटे प्रोब के द्वारा हाई फ्रिकवेंसी साउंड वेव भेजी जाती है जो शरीर के विभिन्न हिस्सों से टकराकर एको का निर्माण करती है।

इन गूँजों या एको को प्रोब के द्वारा पकड़ा जाता है और चलने वाली इमेज में बदला जाता है जो स्कैन शुरू होने के समय मॉनिटर पर दिखती हैं।

इकोकार्डियोग्राम (echocardiogram) करने के लिए हृदय विशेषज्ञ (cardiologist) या कोई अन्य डॉक्टर जिन्हें लगे कि आपके हृदय के साथ समस्या है उनके द्वारा किया कहा सकता है जिसमें आपके डॉक्टर भी शामिल हैं।

जांच आमतौर पर अस्पताल या क्लिनिक में (cardiologist) के द्वारा या एक प्रशिक्षित विशेषज्ञ जिसे कार्डिएक फिजियोलॉजिस्ट (cardiac physiologist) कहते हैं उसके द्वारा की जाती है।

हालांकि इसका नाम एक जैसा है लेकिन इकोकार्डियोग्राम (echocardiogram) और इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम (electrocardiogram) एक जैसा नहीं होता है। इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम (electrocardiogram) में आपके हृदय की लय (heart's rhythm) और इलेक्ट्रिकल सक्रियता (electrical activity) की जांच की जाती है।

इकोकार्डियोग्राम का इस्तेमाल कब होता है (When an echocardiogram is used)

इकोकार्डियोग्राम हृदय और आसपास के धमनियों की संरचना और उनके माध्यम से खून कैसे बहता है इसकी जांच करके और हृदय के पंपिंग चेम्बर तक पहुँचकर हृदय की कुछ स्थितियों की जांच और देखरेख में मदद कर सकता है।

इकोकार्डियोग्राम निम्न स्थितियों का पता लगा सकता है:

  • दिल का दौरा पड़ने से हुआ नुकसान - जहां हृदय को होने वाली खून की सप्लाई अचानक बन्द हो जाती है
  • हार्ट फेलियर - जहां हृदय शरीर के चारों ओर ठीक दबाव पर पर्याप्त खून नहीं पम्प कर पाता है
  • जन्मजात हृदय रोग (congenital heart disease)- हृदय दोष जो हृदय के सामान्य कार्य को प्रभावित करता है
  • हृदय वाल्व (heart valves) के साथ होने वाली समस्याएं - वह समस्याएं जो वाल्व को प्रभावित करती हैं जो हृदय के अंदर खून के प्रवाह को नियंत्रित करता है
  • कार्डियोमायोपैथी (cardiomyopathy) - जहां हृदय की दीवार मोटी और बड़ी हो जाती है
  • एंडोकार्डाइटिस (endocarditis) - हृदय वाल्व में होने वाला संक्रमण

इकोकार्डियोग्राम आपके लिए सबसे अच्छा इलाज निश्चित करने में भी आपके डॉक्टर की मदद कर सकता है।

इकोकार्डियोग्राम कैसे होता है

इकोकार्डियोग्राम करने के कई अलग-अलग तरीके हैं लेकिन ज़्यादातर लोग ट्रांस्थोरासिक इकोकार्डियोग्राम (transthoracic echocardiogram) नामक प्रक्रिया का इस्तेमाल करते हैं।

आपको आमतौर पर जांच के लिए कुछ करने की ज़रूरत नहीं पड़ती है। जबतक आपका ट्रांसेसोफिजियल इकोकार्डियोग्राम (transthoracic echocardiogram) ना हो।

ट्रांस्थोरासिक इकोकार्डियोग्राम (transthoracic echocardiogram)

TTE के लिए आपको बेड पर लेटने से पहले ऊपर के कपड़े निकालने के लिए कहा जाएगा। आपको जांच के दौरान अस्पताल का गाउन दिया जा सकता है।

जब आप लेटे होते हैं कुछ छोटे चिपकने वाले सेंसर जिन्हें इलेक्ट्रोड्स कहते हैं आपके सीने से जोड़े जाएंगे। ये एक मशीन से जोड़े जाएंगे जो जांच के दौरान आपके हृदय की लय पर नज़र रखेगी।

अल्ट्रासाउंड जांच के लिए आपके सीने पर सीधे लुब्रिकेटिंग जेल लगाया जाएगा। आपको अपने बायीं ओर लेटने के लिए कहा जा सकता है और प्रोब को आपके सीने के सभी ओर घुमाया जाएगा।

यह प्रोब पास में रखी मशीन से एक तार से जुड़ा होता है जो बनने वाली इमेज को दिखाती और रिकॉर्ड करती है।

प्रोब के द्वारा बनने वाली साउंड वेव को आप सुन नहीं पाएंगे। लेकिन आप स्कैन के दौरान सरसराहट की आवाज़ सुन सकते हैं। यह सामान्य होता है और यह बस आपके हृदय के माध्यम से होने वाले खून के प्रभाव की आवाज़ होती है। जो प्रोब के द्वारा पकड़ी जाती है।

यह पूरी प्रक्रिया आमतौर पर 15 से 60 मिनट ले सकती है। और सामान्य रूप से आप कुछ देर बाद घर जा सकते हैं।

अन्य प्रकार के इकोकार्डियोग्राम (Other types of echocardiogram)

कई अन्य तरह के इकोकार्डियोग्राम (echocardiogram) होते हैं,जिसमें ये शामिल हैं:

  • ट्रांसएसोफेगल इकोकार्डियोग्राम (transoesophageal echocardiogram) (TOE) - जिसमें एक छोटा प्रोब गले से गलेट और पेट में डालते हैं। आपके गले को लोकल एनेस्थेटिक स्प्रे से सुन्न किया जाएगा और आपको सेडेटिव (sedative)दिया जाएगा । आपको जांच से पहले कई घण्टे तक खाने से परहेज़ की ज़रूरत पड़ सकती है।
  • स्ट्रेस इकोकार्डियोग्राम (stress echocardiogram) - इकोकार्डियोग्राम जो ट्रेडमिल या एक्सरसाइज बाइक पर व्यायाम की अवधि के दौरान या उसके बाद, या फिर किसी ऐसी दवा का इंजेक्शन दिए जाने के बाद, जो आपके हृदय के काम को कठिन बना देता है। उसके बाद किया जाता है।
  • कॉन्ट्रास्ट इकोकार्डियोग्राम (contrast echocardiogram) - जहां इकोकार्डियोग्राम शुरू करने से पहले एक हानिरहित पदार्थ जिसे कॉन्ट्रास्ट एजेंट कहते हैं आपके खून के प्रवाह में इंजेक्ट किया जाता है। यह पदार्थ स्कैन पर स्पष्ट रूप से दिखाई देता है और आपके दिल की बेहतर इमेज बनाने में मदद कर सकता है

आपका किस तरह का इकोकार्डियोग्राम होगा, यह जांच की गई हृदय की स्थिति और इमेज को कितना विस्तृत होने की ज़रूरत है इसपर निर्भर करता है।

उदाहरण के लिए, यदि आपकी हृदय की समस्या शारीरिक कार्यों से शुरू होती है तो स्ट्रेस इकोकार्डियोग्राम की सिफारिश की जा सकती है जबकि टीओई (TOE) द्वारा निर्मित अधिक विस्तृत इमेज हृदय की सर्जरी में मदद करने में अधिक उपयोगी हो सकते हैं।

परिणाम प्राप्त करना (Getting your results)

कुछ मामलों में स्कैन समाप्त होते ही उस व्यक्ति के लिए परिणाम की चर्चा संभव हो सकता है जो स्कैन करता है।

हालांकि, स्कैन से प्राप्त इमेज के परिणाम को उस डॉक्टर के पास भेजने से पहले जिसने जांच का अनुरोध क्या था इमेज के विश्लेषण की आवश्यकता पड़ सकती है। आपका डॉक्टर आपके अलगे अपॉइंटमेंट के दौरान आपके साथ परिणामों पर चर्चा कर सकता है।

क्या इसका कोई खतरा या दुष्प्रभाव है? (Are there any risks or side effects?)

एक स्टैंडर्ड इकोकार्डियोग्राम (standard echocardiogram) साधारण, दर्द रहित और सुरक्षित प्रक्रिया है। स्कैन से कोई दुष्प्रभाव नहीं होते हैं, हालांकि लुब्रिकेटिंग जेल ठंडा लग सकता है और जांच के बाद आपकी त्वचा से इलेक्ट्रोड हटाए जाने पर आपको कुछ छोटी असुविधा महसूस हो सकती है।

कुछ अन्य जाँच और स्कैन की तरह नहीं जैसे कि एक्स रे और कम्प्यूटराइज टोमोग्राफी स्कैन । इकोकार्डियोग्राम के दौरान रेडिएशन का इस्तेमाल नहीं होता है। हालांकि कम सामान्य तरह के इकोकार्डियोग्राम के साथ कुछ खतरे जुड़े हुए हैं।

आपको TOE प्रक्रिया असहज लग सकती है और कुछ घंटों के बाद आपका गला बैठ सकता है। आप परीक्षण के बाद 24 घंटे तक ड्राइव करने में सक्षम नहीं होंगे क्योंकि आप अभी भी सिडेटिव से सुस्त महसूस कर सकते हैं। इसकी भी थोड़ी संभावना है कि प्रोब आपके गले को नुकसान पहुँचा सकता है।

स्ट्रेस इकोकार्डियोग्राम (stress echocardiogram) के दौरान आप बीमार हो सकते हैं आपको चक्कर आ सकता है और आपको सीने में दर्द का अनुभव हो सकता है। अनियमित हृदय की धड़कन या दिल के दौरे के आने की भी थोड़ी संभावना होती है, लेकिन जांच के दौरान आपकी सावधानी से देखरेख की जाएगी और यदि कोई समस्या होती है तो इसे रोक दिया जाएगा।

कुछ लोगों को एक कंट्रास्ट इकोकार्डियोग्राम (contrast echocardiogram) के दौरान उपयोग किए जाने वाले कंट्रास्ट एजेंट से रियेक्शन होता है। यह अक्सर हल्के लक्षणों जैसे खुजली का कारण हो सकता है। लेकिन दुर्लभ मामलों में एक गंभीर एलर्जी प्रतिक्रिया भी हो सकती है।

NHS के मूल कॉन्टेंट का अनुवादHealthily लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।