14 min read

हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy)

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है।

हिस्टेरोस्कोपी क्या है? (What is a hysteroscopy?)

हिस्टेरोस्कोपी एक ऐसी प्रक्रिया है जिसका उपयोग गर्भ के अंदर की जांच के लिए किया जाता है। यह एक हिस्टेरोस्कोप (Hysteroscope) का उपयोग करके किया जाता है, जो एक संकीर्ण ट्यूब होती है, जिसके सिरे पर एक टेलीस्कोट होता है। गर्भ का क्लोज़-अप देने के लिए छवियों को कंप्यूटर पर भेजा जाता है।

इसका उपयोग क्यो किया जाता है? (Why it is used?)

हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) का उपयोग उन मामलों के निदान में मदद करने के लिए किया जा सकता है जहां एक महिला के लक्षण बताते हैं कि उनके गर्भ में कोई समस्या हो सकती है। लक्षणों में शामिल हो सकते हैं-

हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) का उपयोग गर्भ से असामान्य वृद्धि को हटाने के लिए भी किया जा सकता है, जैसे:

फाइब्रॉइड (fibroids) – नॉन-कैंसर वृद्धि जो गर्भ के अंदर विकसित हो सकती है और कभी-कभी दर्द और हैवी पीरियड्स जैसे लक्षण पैदा कर सकती है।

पॉलीप्स – छोटी ग्रोथ्स, जो गर्भ के अस्तर पर विकसित होते हैं और अनियमित और भारी महावारी का कारण बन सकते हैं।

अंतर्गर्भाशयी आसंजन (intrauterine adhesions) – जो स्कार टिश्यू का खंड होते हैं और पीरियड के ना होने और बांझपन का कारण बन सकते हैं।

आपको हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) की ज़रूरत क्यो पड़ सकती है, इस बारे में और पढ़ें।

हिस्टेरोस्कोपी के दौरान क्या होता है? (What happens during a hysteroscopy?)

हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) एक आम प्रक्रिया है जो आमतौर पर आउट-पेशेंट बेसेज़ पर की जाती है इसका मतलब आपको रात में हॉस्पिटल में नहीं रहना होता है।

आपकी हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) के कारण के आधार पर, ये लोकल एनेस्थैटिक (जहां एक छोटे से हिस्से को सुन्न करने के लिए दवाई का उपयोग किया जाता है) या सामान्य एनेस्थैटिक के प्रभाव में की जा सकती है।

सर्जन योनि की दीवारों को खोलने के लिए स्पेचुलम नामक एक उपकरण का उपयोग करेगा, उसी तरह जैसे इसका उपयोग स्मियर टेस्ट के दौरान किया जाता है। सर्जन उसके बाद सर्विक्स के ज़रिए, आपके गर्भाशय में हिस्टेरोस्कोप (Hysteroscope) डालेगा।

सर्जन गर्भ के अंदर बेहतर तरह से देख सके (ताकि वो सही से जांच सके) इसलिए अक्सर गैस या तरल पदार्थ का उपयोग कर गर्भ को फुलाया जाता है।

यदि बायोप्सी या उपचार, जैसे कि पॉलीप्स को हटाने की आवश्यकता होती है, तो अन्य उपकरणों को गर्भ में पारित लाया जाएगा।

इस बात पर निर्भर करते हुए कि क्या किए जाने की ज़रूरत है, हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) में आमतौर पर 10 से 30 मिनट के बीच का समय लगता है।

हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) कैसे की जाती है, इस बारे में और पढ़ें।

हिस्टेरोस्कोपी से रिकवर करना (Recovering from a hysteroscopy)

कुछ औरते हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) के बाद पीरियड के दर्द जैसी ऐंठन महसूस करेंगे, लेकिन ये आमतौर पर कुछ ही दिनों में ठीक हो जाती है।

ज्यादातर महिलाएं महसूस करती है कि वो सामान्य गतिविधियों जैसे कि काम पर, प्रक्रिया के अगले दिन लौट सकती हैं।

हिस्टेरोस्कोपी से रिकवर करने के बारे में और पढ़ें।

खतरे (Risks)

हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) बहुत ही सुरक्षित प्रक्रिया है और इसमें जटिलताओं का जोखिम बहुत कम है।

हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) की दो आम रिपोर्ट की गईं जटिलताएं हैं-

  • गर्भ या सर्विक्स को आकस्मिक क्षति (एक्सीडेंटल डैमेज) , जिसे ठीक करने के लिए आगे के उपचार की आवश्यकता हो सकती है- यह प्रत्येक 135 मामलों में लगभग 1 में होता है।
  • संक्रमण- जो लगभग 250 मामलों में से एक में होता है।

लगभग सभी मामलों में, हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) से होने वाले लाभ, संभावित जटिलताओं से कहीं अधिक हैं।

हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) करवाने के जोखिमों के बारे में और पढ़ें।

बाद में (Afterwards)

जिस दिन आपकी हिस्टेरोस्कोपी होती है आप उसी दिन घर जाने में समर्थ हो पाएंगे। अगर आपको एनेस्थैटिक दिया गया था तो इसका प्रभाव हटने तक आपको हॉस्पिटल में रूकने की ज़रूरत हो सकती है।

घर आने के बाद, आपको जितना हो सके उतना आराम करना चाहिए। कुछ महिलाओं में बाद मं पीरियड के दर्द जैसी ऐंठन होती है। आपको शोल्डर में भी दर्द हो सकता है जो आपके गर्भाशय को फैलाने के लिए भरे गए गैस या द्रव का प्रभाव होता है।दर्द या ऐंठन कुछ दिनों में दूर हो जानी चाहिए। आप इस वक्त में दर्द निवारक गोलियां ले सकते हैं।

अधिकांश महिलाओं को ऐसा लगता है कि वो हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) के अगले दिन सामान्य गतिविधियों जैसे कि काम पर लौट सकती है। आप कुछ दिन आराम करना चाह सकते हैं। आपको कितने समय की ज़रूरत होगी ये इस बात पर निर्भर करेगा कि आपने उसी समय कोई अतिरिक्त उपचार भी करवाया है (उदाहरण के लिए फ्राइब्राइड या पॉलीप्स)

हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) के समय पर ही अगर आपने कोई ट्रीटमेंट करवाया है को आप बाद में शायद कुछ ब्लीडिंग का अनुभव करेंगे। आपको लग सकता है कि इसके खत्म होने से पहले आपको सैनिटरी टॉवल पहनने की ज़रूरत है।

यहां तक ​​कि अगर आपने कोई ट्रीटमेंट नहीं करवाया है , तो आप योनि से कुछ रक्तस्राव और डिस्चार्ज होता हुआ पा सकते हैं। यह सामान्य है और कुछ दिनों में ठीक होना चाहिए, हालांकि यह कई हफ्तों तक रह सकता है।

संक्रमण के खतरे को कम करने के लिए, हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) करवाने के कम से कम एक हफ्ते बाद तक आपको टेम्पून का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

व्यायाम, सेक्स और गर्भनिरोधक पर अपने सर्जन की सलाह को फॉलो करें।

अपने परिणाम प्राप्त करना (Getting your results)

आपका सर्जन आपको हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) के परिणाम तुरंत दे सकता है यदि यह पॉलीप्स या फाइब्रॉइड जैसी स्थितियों का पता लगाने के लिए है। वे, इन्हें कंप्यूटर स्क्रीन पर देख सकेंगे।

अगर बायोप्सी की ज़रूरत होती है, तो परिणामों के मिलने में दो से छह हफ्तों के बीच का वक्त लग सकता है। ये परिणाम आपके घर के पते पर लैटर द्वारा या आपके डॉक्टर की सर्जरी के लिए भेजे जा सकते हैं। जांच करें कि अस्पताल छोड़ने से पहले आपको अपने परिणाम कैसे मिलेंगे।

हिस्टेरोस्कोपी के जोखिम (Risks of a hysteroscopy)

हिस्टेरोस्कोपी की सबसे व्यापक रूप से रिपोर्ट की गई जटिलताओं- आकस्मिक क्षति, संक्रमण और अत्यधिक रक्तस्राव – को नीचे समझाया गया है।

आकस्मिक नुक़सान पहुँचना (Accidental damage)

गर्भ या सर्विक्स को आकस्मिक क्षति, हिस्टेरोस्कोपी की सबसे आम जटिलता है, जो 135 मामलों में लगभग 1 में होती है।

सर्विक्स का एक सेक्शन, कभी-कभी फटा हो सकता है, या गर्भ का अस्तर कभी-कभी छिद्रित हो सकता है (इसमें एक छेद बनाया जाता है)।

मामूली क्षति जो अत्यधिक रक्तस्राव का कारण नहीं है, आमतौर पर चिंता का कारण नहीं है। लेकिन अगर एक अधिक महत्वपूर्ण इंजरी का संदेह है, तो आपको एक डायग्नोस्टिक लैप्रोस्कोपी के रूप में जानी जाने वाली प्रक्रिया की ज़रूरत हो सकती है। इसमें, नुकसान का आकलन करने के लिए आपके पेट में एक चीरा लगाकर एक छोटे कैमरे को आपके गर्भ में डाला जाता है।

दुर्लभ मामलों में (700 में से लगभग 1 केस में) क्षति को ठीक करने के लिए आगे सर्जरी की ज़रूरत होती है।

संक्रमण (Infection)

250 मामलों में से लगभग 1 मामले में सर्जरी के बाद गर्भ या सर्विक्स संक्रमित हो जाता है। इससे हो सकता है-

  • भारी रक्तस्त्राव
  • योनि स्राव जो बदबूदार या अप्रिय है।
  • बुखार(38°C/100.4°F से अधिक तापमान
  • पेट में ऐंठन

अधिकतर संक्रमणों को एंटीबायोटिक दवाइयों के छोटे कोर्स से सफलतापूर्वक ठीक किया जा सकता है।

भारी रक्तस्त्राव (Excessive bleeding)

सर्जरी के दौरान या सर्जरी के बाद 400 में से किसी एक केस में अधिक रक्तस्त्राव होता है। अगर कोई शिरा अकस्मात डैमेज हो गई हो तो ऐसा हो सकता है।

यदि सर्जरी के दौरान रक्तस्राव शुरू होता है, तो सर्जन गर्भ में द्रव या गैस की मात्रा बढ़ाकर रक्तस्राव को रोक सकता है। अक्सर दबाव में वृद्धि रक्तस्राव को रोकने में मदद करती है।

यदि सर्जरी के बाद रक्तस्राव जारी रहता है तो एक विकल्प गर्भ के अंदर द्रव से भरा एक छोटा गुब्बारा डालना है। बहुत कुछ गैस या तरल पदार्थ की तरह, गुब्बारे का दबाव रक्तस्राव को रोकने में मदद करता है। गुब्बारे को 24 घंटे बाद हटा दिया जाता है।

एक वैकल्पिक तरीका, वेसोप्रेसिन जैसी दवाईयों का इस्तेमाल करना है जो शिराओं को संकरा कर ब्लीडिंग को कम करने में मदद कर सकती है।

कभी-कभी प्लास्टिक या जेल के छोटे टुकड़ों के साथ बंद रक्त वाहिका को प्लग करना आवश्यक हो जाता है (इसे एम्बुलाइज़ेशन के रूप में जाना जाता है)।

दुर्लभ मामले जो इलाज पर किसी तरह से प्रतिक्रिया देने में फेल हो जाते हैं, गर्भाशय को हटाना ज़रूरी हो सकता है। हिस्टेरोस्कोपी (Hysterectomy)

हिस्टेरोस्कोपी प्रक्रिया

हिस्टेरोस्कोपी से पहले आपके कुछ टेस्ट करवाने के लिए कहा जा सकता है ताकि इस बात को सुनिश्चित किया जा सके आपके लिए सर्जरी करवाना सुरक्षित है।

इन परीक्षणों में रक्त परीक्षण, गर्भावस्था परीक्षण और आपके गर्भाशय ग्रीवा में संक्रमण या किसी भी असामान्यता की जांच के लिए एक सर्विकल स्मीयर परीक्षण (cervical smear test) शामिल हो सकता है।

GnRH एगोनिस्ट (GnRH agonists)

यदि असामान्य ऊतक विकास को हटाने के लिए आपकी हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) हो रही है, जैसे कि फाइब्रॉएड या पॉलीप्स, तो आपको सर्जरी होने से थोड़ी देर पहले GnRH एगोनिस्ट नामक दवा दी जा सकती है।

ये असमान्य उतक की ग्रोथ को सिकोड़ने में मदद करती है जिससे सफल सर्जरी के चांसेज़ बढ़ सकते हैं औऱ अत्याधिक रक्तस्त्राव का जोखिम कम करता है।

GnRH रजोनिवृत्ति (menopausal) जैसे साइड इफेक्ट्स जैसे हॉट फ्लशेज़ और अत्यधिक पसीना पैदा कर सकता है। जब आप दवा लेना बंद कर दें तो ये ठीक होने चाहिए।

एनैस्थैटिक को चुनना (Choice of anaesthetic)

लोकल एनेस्थैटिक (local anaesthetic) के साथ या उसके बिना हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) करना संभव है। यह आमतौर पर अस्पताल के आउट पेशेंट विभाग में किया जाएगा।

हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) से आपको चोट नहीं पहुंचनी चाहिए, क्योंकि यह स्मीयर टेस्ट (smear test) जैसी संवेदना देती है। हालांकि, अगर आपको कोई एनेस्थैटिक नहीं दिया जा रहा है, तो आप पहले से ही इबूप्रोफेन जैसे एक दर्द निवारक दवा लेने की इच्छा हो सकती हैं।

प्रक्रिया को एक डे केस ऑपरेशन के तौर पर सामान्य एनेस्थैटिक के प्रभाव में किया जा सकता है( जब आप सो रहे हो)। इसकी सलाब केवल तब दी जा सकती है जब आपका सर्जन लंबे चौड़े इलाज की उम्मीद कर रहा हो या आपके इसके लिए रिक्वेस्ट की हो।

प्रक्रिया (The procedure)

सर्जन धीरे से आपकी योनि में स्पेचुलम नामक एक उपकरण डाल देगा। इससे योनि की दीवारें खुली रहती हैं ये आपकी योनि की दीवारों को खुला रखता है जिससे आपके गर्भ में आसानी से प्रवेश हो सकता है।

अगला, योनि और गर्भाशय ग्रीवा को एक एंटीसेप्टिक सल्यूशन के साथ साफ किया जाता है। सर्जन तब सर्विक्स के माध्यम से आपके गर्भ में हिस्टेरोस्कोप (Hysteroscope) डालेगा।

जैसे कि गर्भ छोटा है, इसे बड़ा करने के लिए गैस या तरल पदार्थ अंदर पंप किया जा सकता है। यह सर्जन को गर्भ के अस्तर को और किसी असमान्यता को अधिक स्पष्ट रूप से देखने में मदद करता है। हिस्टेरोस्कोप (Hysteroscope) के अंत में स्थित कैमरा आपके गर्भ के अंदर से वीडियो स्क्रीन पर चित्र भेजता है।

हिस्टेरोस्कोप (Hysteroscope) जैसे ही सर्जिकल उपकरणों को ज़रूरत पड़ने पर आपके गर्भ में भी पास किया जा सकता है, अगर ज़रूरत हो तो, जहां वे असमान्य टिश्यू ग्रोथ को जलाने या काटने के लिए उपयोग किए जा सकते हैं। ऊतक कईं तरह की तकनीकों जैसे लेज़र्स, इलेक्ट्रिक करंट और विशेष रूप से डिजाइन किए गए ब्लेड से हटाए जा सकते हैं।

यदि आवश्यक हो तो आगे के परीक्षण (बायोप्सी) के लिए ऊतक का एक नमूना भी निकाला जा सकता है।

इस बात पर निर्भर करते हुए कि क्या किया जाना है, एक हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) में आमतौर पर 10 से 30 मिनट के बीच का वक्त लगता है।

इसका उपयोग क्यो किया जाता है? (Why it is used?)

हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) एक स्थिति का निदान करने में मदद (diagnostic hysteroscopy) (डायग्नोस्टिक हिस्टेरोस्कोपी) के लिए या किसी स्थिति का इलाज करने में (चिकित्सीय हिस्टेरोस्कोपी) उपयोग की जा सकती है।

डायग्नोस्टिक हिस्टेरोस्कोपी (Diagnostic hysteroscopy)

योनि से असमान्य रक्त स्त्राव (Abnormal vaginal bleeding)

डायग्नोस्टिक हिस्टेरोस्कोपी (diagnostic hysteroscopy) करवाने के सबसे आम कारणों में एक योनि से असामान्य रक्तस्त्राव की जांच करने में मदद करना है। योनि से असमान्य रक्त स्त्राव को इस तरह परिभाषित किया जा सकता है-

असामान्य रक्तस्राव कभी-कभी गर्भ में फाइब्रॉइड और पॉलीप्स (नीचे देखें) जैसी असामान्यताओं के कारण हो सकता है।

बांझपन और गर्भपात (Infertility and miscarriage)

हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) का उपयोग कभी-कभी बांझपन के मामलों का निदान करने में मदद के लिए किया जाता है (जहां नियमित रूप से असुरक्षित यौन संबंध रखने के बावजूद एक कपल गर्भ धारण करने में असमर्थ है)।

यह कभी-कभी बांझपन के अंतर्निहित कारणों की पहचान कर सकती है, जैसे कि गर्भाशय के घाव, फाइब्रॉइड या पॉलीप्स।

इसी तरह, हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) का उपयोग यह पहचानने की कोशिश में किया जा सकता है कि एक महिला को बार-बार (तीन या अधिक) गर्भपात क्यों हो रहा है।

थेरप्यूटिक हिस्टेरोस्कोपी (Therapeutic hysteroscopy)

हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) के दौरान किए गए कुछ मुख्य उपचार नीचे वर्णित हैं।

फाइब्राइड्स और पॉलीप्स (Fibroids and polyps)

फाइब्रॉइड्स और पॉलीप्स असामान्य, हालांकि नॉन-कैंसर, ऊतक की ग्रोथ होती है जो गर्भ के अंदर विकसित होते हैं।

फाइब्रॉइड मांसपेशियों के ऊतकों से बने होते हैं और, जबकि फाइब्रॉइड वाली हर महिला में लक्षण नहीं होते हैं, लगभग 1 से 3 में होता है।

पॉलीप्स अन्य प्रकार की असमान्य और नॉन-कैंसर ग्रोथ है जो गर्भाशय के अस्तर पर विकसित हो सकती है। ये साइज़ में कुछ मिलीमीटर्स से एक गोल्फ बॉल के साइज़ की हो सकती है।

दोनों फाइब्रॉइड और पॉलीप्स के कारण स्पष्ट नहीं हैं, लेकिन दोनों स्थितियों को हार्मोन के स्तर में परिवर्तन से जुड़ा हुआ माना जाता है।

असमान्य टिश्यू के इस तरह के प्रकारों को हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) के दौरान हटाया जा सकता है।

अंतर्गर्भाशयी आसंजन (Intrauterine adhesions)

अंतर्गर्भाशयी आसंजन (Intrauterine adhesions), स्कार टिश्यू के पैच हो सकते हैं जो गर्भ के अंदर विकसित हो सकती हैं। उनके कईं कारण हो सकते हैं जैसे कि-

घाव, सामान्य महिला प्रजनन साइकिल को गड़बड़ कर सकता है और पीरियड्स के ना होने और बांझपन का कारण बन सकता है।

हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) का उपयोग अंतर्गर्भाशयी आसंजनों का निदान करने और उन्हें जलाकर या उन्हें काटकर निकालने, दोनो के लिए किया जा सकता है।

‘Lost’ IUD

एक अंतर्गर्भाशयी डिवाइस (आईयूडी) (intrauterine device (IUD)), प्लास्टिक और कॉपर से बना एक छोटा, टी-आकार का गर्भनिरोधक उपकरण है जो गर्भ के अंदर फिट होता है। इसे कॉल या लूप कहा जाता था।

सर्विक्स के पास एक आईयूडी (IUD) गर्भ के नीचे फिट होना चाहिए।

कभी-कभी, आईयूडी अपनी जगह से हट सकता है और गर्भ के अंदर 'खो' सकता है। यदि ऐसा होता है, तो IUD को फिर से पाने और गर्भ से आईयूडी (IUD) को हटाने के लिए हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) का उपयोग किया जा सकता है।

मुलरियन विसंगतियां (Müllerian anomalies)

मुलरियन विसंगतियां (Müllerian anomalies) जन्म से होने वाला दोष है जो महिला प्रजनन सिस्टम को प्रभावित करता है और पीरियड ना होने और बांझपन की वजह बन सकता है।

मुलरियन विसंगतियां(Müllerian anomalies) के उदाहरणों में शामिल है-

  • सेप्टेट गर्भाशय - जहां गर्भ को ऊतक की एक दीवार से दो हिस्सों में विभाजित किया जाता है।
  • द्विशृंगी गर्भाशय (Bicornuate Uterus)- जिसमें गर्भाश्य दिल के आकार में विकसित होता है ना कि नाशपाती के आकार में जिसमें ज्यादातर गर्भाशय होते हैं।

जबकि हर प्रकार की मुलरियन विसंगतियों (Müllerian anomalies) की मरम्मत नहीं की जा सकती है, कईं हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) के दौरान ठीक की जा सकती हैं (और डायग्नोस की जा सकती है)

महिला नसबंदी (Female sterilisation)

हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscopy) का उपयोग आपकी नसबंदी करने में किया जा सकता है अगर आप अप बच्चे नहीं चाहते हैं।

हिस्टेरोस्कोपी (Hysteroscope) का उपयोग फैलोपियन ट्यूब्स के अंदर प्रत्यारोपण लगाने में किया जाता है (वो ट्यूब्स जो गर्भाशय में अंडे रिलीज़ करती हैं।) ये प्रत्यारोपण स्कार टिश्यू के एक बिल्ड-अप को ट्रिगर करते हैं जो अंत में ट्यूबों को अवरुद्ध करते हैं, नतलब अंडे अब रिलीज़ नहीं होते हैं।

नसबंदी का यह तरीका बहुत प्रभावी है। यह अनुमान लगाया जाता है कि प्रत्येक 1,000 महिलाएं जो इस प्रक्रिया से गुज़रती हैं, उसके बाद उनमें से केवल एक ही गर्भवती होगी।

हालांकि इस प्रक्रिया को उल्टा करना मुश्किल हो सकता है।

महिला नसबंदी के बारे में और पढ़ें।

NHS के मूल कॉन्टेंट का अनुवादHealthily लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।