1 min read

वीर्य में खून आना

मेडिकली रिव्यूड

स्खलन के समय वीर्य में खून आना एक असामान्य स्थिति है, मगर आपको चिंता करने की जरूरत नहीं है - ये सामान्य तौर पर अस्थाई समस्या होती है और बहुत ही कम मामलों में ये किसी गंभीर समस्या का कारण होती है।

आपके वीर्य में खून जैसे भूरे- लाल रंग के और हल्के गुलाबी रंग के धब्बे हो सकते हैं - मगर किसी भी स्थिति में, आपको अपने डॉक्टर से मिलकर पूरी जाँच करवानी चाहिए।

इससे पहले कि आप इसे पढ़ें, आपको स्पष्ट होना चाहिए कि जो खून निकला है वो निश्चित रूप से आपके वीर्य में ही है आपके मूत्र में नहीं। अगर यह खून आपके मूत्र में है तो यह अन्य प्रकार के कारणों को दर्शाता है। आपके मूत्र में खून के बारे में जानकारी हमारे दूसरे लेख में है।

बहुत से मामलों में वीर्य में खून आने का कोई स्पष्ट कारण नहीं होता। इन के मुख्य कारणों में जननांग पर लगी कोई चोट हो सकती है, जिसका पता नहीं चला हो, जैसे कि पैंट की ज़िप से सम्बंधित चोट।

वीर्य में खून आने के अन्य कारण नीचे दिये गये हैं, इसका प्रयोजन आपको किसी अंदरूनी समस्या के बारे में विचार प्रदान करने का है। लेकिन ऐसी स्थिति में आपको खुद इसका इलाज नहीं करना चाहिए । हमेशा आपको इसके योग्य उपचार के लिए अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए।

वीर्य में खून आने के कुछ सामान्य कारण

अगर आप ने हाल ही में पौरुष ग्रंथि की कोई सर्जरी या किसी चिकित्सा पद्धति जैसे कि एक्स्ट्राकॉरपोरियल शॉकवेव(extracorporeal shockwave) जैसा कोई उपचार करवाया है तो यह खून आने का कारण हो सकता है। ऐसी स्थिति में तीन या चार हफ्तों तक खून निकल जाना चाहिए लेकिन फिर भी आपको अपने डॉक्टर से इसका परीक्षण करवाना चाहिए।

अगर आपने शरीर के निचले हिस्से में किसी प्रकार की सर्जरी नहीं करवाई है तो नीचे दिए हुए कारणों में से कोई एक वजह हो सकती है:

पौरूष ग्रंथि में सूजन - Prostatitis (पौरुष ग्रंथि में कोई संक्रमण या जलन, जहां वीर्य बनता है) - आपको वीर्यपात या मूत्र विसर्जन के समय दर्द महसूस हो सकता है। आपके मूत्र में खून और अंडकोष के आसपास और लिंग के अग्रभाग पर बेचैनी महसूस हो सकती है। संभवत आपको इसके लिए एंटीबायोटिक का प्रयोग करना पड़ सकता है।

अंडकोष या वीर्य नलिका (एपिडीडिमो-ऑर्काइटिस -Epididymitis-orchitis) संक्रमण और मूत्र प्रणाली संक्रमण - आपको मूत्र विसर्जन के समय दर्द और बार-बार मूत्र विसर्जन की इच्छा हो सकती है। इसका इलाज एंटीबायोटिक द्वारा किया जाता है।

अंडकोष और पेरिनियम ( गुदा और अंडकोष के बीच का भाग) में चोट - पतलून की ज़िप चढ़ाने में हुई दुर्घटना या यौन संबंध के बाद यह चोट लगने की संभावना है।

वीर्य में खून के असामान्य कारण

वीर्य में खून के असामान्य कारणों में इन्हें सम्मिलित किया जा सकता है:

खून में थक्कों की बीमारी (ब्लड क्लाटिंग डिसॉर्डर)

पौरुष ग्रंथि और वीर्य संबंधी वायुकोश/सेमिनल वेसीकल में पथरी का बनना (पुरुष ग्रंथि के ठीक ऊपर की ग्रंथि)

पौरुष ग्रंथि का कैंसर, अंडकोष कैंसर और मूत्राशय कैंसर

अगर आपको इनमें से कोई स्थिति है तो आपको विशेषज्ञ से दिखाने की जरुरत हो सकती है।

यदि आप की उम्र 40 से कम है

अगर आपकी उम्र 40 से कम है और आपको महीने में एक बार खून आना जैसी घटना हो चुकी है तो कुछ गंभीर होने की संभावना कम है और आपको अस्पताल के लिए रेफ़र करने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी।

अगर आपके डॉक्टर को किसी संक्रमण का संदेह हुआ तो वह आपके वीर्य, मूत्र और खून के नमूने उपलब्ध कराने की मांग कर सकते है।

मुझे अस्पताल जाने की सलाह कब दी जा सकती है?

अगर आपकी उम्र 40 या उससे ऊपर है तो डॉक्टर को आपको आगे की जांच के लिए मूत्रतंत्र विशेषज्ञ (विशेषज्ञ जो मूत्रतंत्र से संबंधित परेशानियों का इलाज करता है) के पास भेजना चाहिए और तब भी:

  • अगर आपने एक से ज्यादा बार वीर्य में खून आने का अनुभव किया है
  • अगर आपको ये समस्या एक महीने से है
  • आपको और भी असामान्य दिक्कतें हैं
  • आप अपनी पुरुष ग्रंथि/प्रोस्टेट ग्रंथि का अल्ट्रासाउंड करा सकते हैं (जहां जाँच के लिए आपके टिश्यु के नमूने को लिया जाता है)।

गंभीर अंदरूनी कारण जैसे कि पुरुष ग्रंथि/प्रोस्टेट ग्रंथि में कैंसर जैसे मामले कम होते हैं मगर फिर भी इस स्थिति में इस की जांच होनी चाहिए।

सामग्री का स्त्रोतNHS लोगोnhs.uk
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

आगे क्या पढ़ें
मेरे लिंग में दर्द क्यों हो रहा है? (Why is my penis sore?)
हस्तमैथुन और एसटीआई दो ऐसे कारण हैं जो लिंग में दर्द का कारण बन सकते हैं। पता करें कि इसका और क्या कारण हो सकता है, और ये कब चिंता का विषय है।
अंडकोष की गांठ और सूजन
अंडकोष पुरुषों की प्रजनन प्रणाली का अंग हैं।
दर्दनाक इरेक्शन (priapism)
प्रियपिज्म(priapism) निरंतर और कभी-कभी दर्दनाक इरेक्शन होता है जो कई घंटों तक रह सकता है।