1 min read

मानसिक रोगों की चिकित्सा

मेडिकली रिव्यूड

साइकेट्री (Psychiatry) चिकित्‍सा क्षेत्र का हिस्सा है, जिसमें मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य से जुड़ी अवस्‍थाओं की पहचान, इलाज और बचाव किया जाता है। साइकेट्री में काम करने वाले डॉक्‍टर को मनोचिकित्सक (psychiatrist ) कहते हैं।

मानसिक स्‍वास्‍थ्य से जुड़े साइकोलॉजिस्‍ट और काउंसिलर जैसे दूसरे पेशेवरों के विपरीत मनोचिकित्सक का मेडिकल क्षेत्र में प्रशिक्षित डॉक्‍टर होना जरूरी है, जिसने मानसिक रोगों की चिकिस्ता के क्षेत्र में विशेषज्ञता हासिल की हो। अर्थात वह दवाएँ सुझाने के साथ-साथ इलाज के अन्‍य तरीकों के बारे में सलाह दे सकता है।

मनोचिकित्सक जिन मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य की अवस्‍थाओं की पहचान और इलाज कर सकते हैं, उनमें शामिल है :

  • घबराहट
  • डर
  • ऑब्‍सेसिव कम्‍पल्‍सिव डिसऑर्डर (OCD)
  • पोस्‍ट ट्रॉमेटिक स्‍ट्रेस डिसऑर्डर (PTSD)
  • पर्सनालिटी डिसऑर्डर
  • स्‍किट्सओफ्रीनिया और पैरानॉइआ(schizophrenia and paranoia)
  • अवसाद और बाइपोलर डिसऑर्डर (इसे पहले मेनिएक डिप्रेशन भी कहते थे)
  • खाने का विकार, जैसे एनोरेक्‍सिया और बुलिमियाanorexia and bulimia)
  • नींद का विकार, जैसे इनसोमनिया

मिलने का समय लेना

आपके डॉक्‍टर द्वारा रेफर करने के बाद आप मनोचिकित्सक से संपर्क कर सकते हैं।

डॉक्‍टर आपकी समस्‍या से संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ मनोचिकित्सक के पास आपको रेफर करेंगे। मिसाल के तौर पर यह हो सकता है:

  • बचपन और किशोरावस्था मनोरोग
  • सामान्‍य वयस्‍क मनोरोग
  • वृद्ध व्‍यक्‍तियों का मनोरोग
  • सीखने से जुड़ी असमर्थता
  • मनोचिकित्‍सा (बातचीत की थेरेपी)

अगर आप निजी तौर पर या मनोचिकित्सक से मिलना चाहते हैं तो आप मिलने का समय लेने के लिए सकाइट्रिक क्‍लीनिक में सीधे संपर्क कर सकते हैं। अन्‍यथा अपने डॉक्‍टर से रेफर करने के लिए कह सकते हैं।

आपका मिलने का समय

पहली मुलाकात में मनोचिकित्सक आपकी समस्‍या का शुरुआती आकलन करेगा। आपकी मानसिक और शारीरिक सेहत दोनों इसमें शामिल होंगे। इसमें हो सकते हैं :

  • आपके जीवन और विचारों से जुड़े सवाल पूछ सकते हैं
  • दूसरे स्रोतों से जानकारी लेना, जैसे आपके डॉक्‍टर, रिश्‍तेदार और समाजसेवी (अगर उनके संपर्क में हैं तो)
  • अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍य समस्याओं की आशंका को दरकिनार करने के लिए खून की जांच या स्‍कैन करना

आपकी स्‍थिति का आकलन करने के बाद मनोचिकित्सक आपको दवा का परामर्श दे सकता है या काउंसलिंग या कॉग्‍निटिव बिहेवियरल थेरेपी (सीबीटी) जैसे दूसरे इलाज का सुझाव दे सकता है।

मनोचिकित्सक के साथ आपकी मुलाकात की संख्‍या और हर मुलाकात की अवधि आपकी परिस्‍थितियों पर निर्भर करती है। मनोचिकित्सक आपके इलाज की व्‍यवस्‍था खुद कर सकते हैं या आपके क्षेत्र में काम करने वाली मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य सेवा समूह को रेफर कर सकते हैं।

हाल के वर्षों में मनोरोग चिकित्‍सा में काफी बदलाव आया है। मानसिक तौर पर अस्‍वस्‍थ लोगों के अस्‍पताल की जगह छोटी इकाइयों और क्‍लीनिक ने ले ली है। इनका मकसद लोगों को अपनी तकलीफ़ का समाधान करने में मदद करना है, ताकि वे सामान्‍य जिंदगी जी सकें।

सामग्री का स्त्रोतNHS लोगोnhs.uk
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

आगे क्या पढ़ें
सम्मोहन चिकित्सा
हिप्नोथेरेपी एक प्रकार की पूरक(complimentary) चिकित्सा है। इसमें चेतना की परिवर्तित अवस्था में सम्मोहन का उपयोग किया जाता है।