1 min read

मसूड़े के रोग से होने वाला ख़तरा(The health risks of gum disease)

मेडिकली रिव्यूड

आपके दांतो की सेहत आपके संपूर्ण स्वास्थ्य को प्रभावित करती है, जिसमें आपके शरीर के विभिन्न हिस्सों की स्वास्थ्य समस्यायें मसूड़ों के रोगों से जुड़ी होती हैं।इसलिए दातों को ब्रश करके, आप मसूड़े के रोगों(masoode ke rog) से बचने के साथ-साथ अपने संपूर्ण स्वास्थ्य को भी बेहतर बना सकते हैं।

क्या आप जानते हैं कि मसूड़ों के रोग केवल आपके दातों के लिए ही बुरा नहीं है, अपितु आपके शरीर के विभिन्न हिस्सों में होने वाली स्वास्थ्य समस्याओं से भी जुड़े होते हैं?

मसूड़ों के रोग आघात(stroke), मधुमेह(diabetes) और हृदय रोग सहित, अनेक अन्य स्वास्थ्य जटिलताओं के जोखिम को और बढ़ा देते हैं। मसूड़े के रोगों को गर्भावस्था और डिमेनशिया की अवस्था में होने वाली कुछ समस्याओं के साथ भी सम्बंधित पाया गया है।

ब्रिटिश डेंटल हेल्थ फाउंडेशन के मुख्य कार्यकारी डॉ निगेल कार्टर बताते हैं, “मौखिल स्वास्थ्य और संपूर्ण शारीरिक स्वास्थ्य के बीच संबंध के पुख्ता दस्तावेज़ हैं, जिनका मजबूत वैज्ञानिक साक्ष्यों द्वारा समर्थन भी किया गया है। इसके बावजूद भी छह में से केवल एक व्यक्ति ही इस बात को समझता है की मसूड़े के रोग वाले व्यक्ति को आघात और मधुमेह जैसी बीमारियों का अधिक जोखिम होता है। और हृदय रोग से इसके संबंध के बारे में, केवल 3 में से एक व्यक्ति ही जानकारी रखता है।”

मसूड़े का रोग के कारण होने वाले ख़तरे

मसूड़े का रोग, दातों को सहारा देने वाले ऊतकों(tisshues) में होने वाला एक संक्रमण होता है। ज़्यादातर यह जीवाणुओं(बैक्टीरीआ) के कारण दांतो पर जमा होने वाले प्लाक़ के कारण होता है। कुछ रोगी, जिनमें मसूड़े का रोग होने का अधिक खतरा होता है, उनका शरीर मसूड़ों के आसपास के जीवाणुओं के प्रति, ज़्यादा प्रतिक्रिया करता है, जिसके कारण मसूड़ों में अत्यधिक सूजन हो जाती। वहीं कुछ लोगों में सूजन पूरी तरह से ठीक नहीं हो पाती है। अत्यधिक सूजन के फलस्वरूप रक्त भी प्रभावित होता है, और ऐसा माना जाता है कि लंबे समय में इस कारण से, हृदय और मस्तिष्क की रक्त प्रवाहिकायें भी धीरे-धीरे क्षतिग्रस्त होती हैं।

क्या नुकसान होता है?

मसूड़ों के रोग अनेक स्वास्थ्य समस्याओं से सम्बंधित होते हैं, इसमें शामिल है:

  • हृदय रोग और हृदयाघात(heart attacks)
  • मधुमेह और उसका नियंत्रण
  • आघात
  • रूमेटाइड अर्थराइटिस(rheumatoid arthritis)

समस्याओं की रोकथाम

अच्छी ख़बर यह है कि मसूड़ों की अच्छी तरह देखभाल और दातों को ठीक तरह से ब्रश करके, आप मसूड़े के रोगों की रोकथाम और इलाज कर सकते हैं, और अपने संपूर्ण स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के साथ-साथ, हृदय रोग जैसी स्वास्थ्य समस्याओं के जोखिम को भी कम कर सकते हैं।

दांतो को दिन में दो बार, फ्लोराइड युक्त टूथपेस्ट से पूरे 2 मिनट तक ब्रश करने के साथ-साथ, फ्लॉस (floss) और इंटर्डेंटल ब्रश (interdental brush) की मदद से दांतो के बीच भी सफाई नियमित रूप से करें।

दांतों की सफाई और चेकअप के लिए नियमित रूप से अपने दांतो के डॉक्टर और डेंटल हाइजीनिस्ट के पास जाएं। यदि आप गर्भवती हैं तो दांतों और मसूड़ों की देखभाल करना विशेष रूप से आवश्यक है।

सामग्री का स्त्रोतNHS लोगोnhs.uk
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

आगे क्या पढ़ें
सूखे होंठ(Dry lips)
हमारे होंठ उस समय फटते या सूखते हैं, जब वो धूप, हवा, ठंड और शुष्क हवाओं के संपर्क में आते हैं।
मुँह के छालों से छुटकारा कैसे पाएँ? (How to get rid of a cold sore)
मुँह के छाले छोटे फफोले होते हैं जो आम तौर पर मुंह के आसपास दिखाई देते हैं। कारण और उपचार के बारे में यहां जानें।