COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
1st August, 20199 min read

मैग्नीशियम की कमी: कारण, लक्षण और रोकथाम

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है।

मैग्नीशियम एक आवश्यक पोषक तत्व है जो शरीर में 300 से अधिक एंजाइमेटिक रीऐक्शन के लिए आवश्यक है। मैग्नीशियम का उपयोग आपके तंत्रिका तंत्र को विनियमित करने, स्वस्थ हड्डियों के विकास को प्रोत्साहित करने और आपके रक्तचाप को सही स्तर पर बनाए रखने के लिए किया जाता है।

मैग्नीशियम को रक्त शर्करा के स्तर को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए जाना जाता है। यदि आपके शरीर को पर्याप्त मैग्नीशियम नहीं मिलता है, तो आप अपने आप को थका हुआ या कमजोर महसूस करते हैं और आपको मिचली का अहसास होता है। मैग्नीशियम के निम्न स्तर का मांसपेशियों में ऐंठन, दौरे या दिल की असामान्य ह्रदय गति के साथ भी संबंध होता है, और एक सुझाव है कि क्रोनिक मैग्नीशियम की कमी कई गंभीर स्वास्थ्य स्थितियों से जुड़ी हो सकती है, जिसमें टाइप दो का मधुमेह, ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis) और हृदय रोग ( cardiovascular disease) शामिल हैं।

दुर्भाग्य से, मैग्नीशियम की कमी के लक्षण ढूंढना काफी कठिन हो सकता है।

इस लेख में, आपको मैग्नीशियम की कमी के कारणों और लक्षणों के बारे में जानकारी मिलेगी, और उन लोगों के बारे में जानकारी मिलेगी जिनमें ऐसी स्थिति के विकास का सबसे अधिक खतरा है। आपको ऐसी जानकारी भी मिलेगी जो आपके मैग्नीशियम के सेवन को बढ़ाने में मदद करने के लिए तैयार की गई है।

मैग्नीशियम की कमी होना कितना आम है? (How common is magnesium deficiency?)

कई जनसंख्या-आधारित, अनुभागीय अध्ययनों के हालिया मेटा-विश्लेषण में पाया गया कि दी गई आबादी का लगभग 10-30% हिस्सा मैग्नीशियम की कमी से पीड़ित हो सकता है। यह भी माना गया है कि उच्च जोखिम वाले समूहों जैसे कि अस्पताल के रोगियों, बुजुर्गों और टाइप 2 मधुमेह (type 2 diabetes)से पीड़ित लोगों में मैग्नीशियम की कमी होना अधिक आम हो सकता है।

यदि आप चिंतित हैं कि आप मैग्नीशियम की कमी से पीड़ित हो सकते हैं, तो आपको अपने डॉक्टर से सीधे बात करनी चाहिए। वे स्थिति का निदान करने में आपकी सहायता कर सकते हैं, और आपको सलाह दे सकते हैं कि आप मैग्नीशियम का सेवन कैसे बढ़ा सकते हैं।

आप इस लेख के अंत में भी अपने मैग्नीशियम का सेवन बढ़ाने के बारे में जानकारी प्राप्त करेंगे।

मैग्नीशियम की कमी का क्या कारण है? (What causes magnesium deficiency?)

मैग्नीशियम की कमी के कुछ अधिक सामान्य कारणों में शामिल हैं:

गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याएँ(Gastrointestinal disorders)

मैग्नीशियम छोटी आंत में अवशोषित होता है लेकिन आपका शरीर आपके भोजन में मौजूद मैग्नीशियम का केवल 30-40% अवशोषित कर सकता है।

ऐसी परिस्थितियां जो आपकी छोटी आंत को नुकसान पहुंचाती हैं और आपके शरीर को आवश्यक खनिजों को अवशोषित करने की क्षमता को कम करती हैं, उनसे मैग्नीशियम की कमी हो सकती है। इसमें क्रोहन रोग (Crohn’s disease), सीलिएक रोग या लघु आंत्र सिंड्रोम जैसे खाना अवशोषित नहीं होने का विकार (malabsorption syndromes) शामिल हैं, साथ ही साथ steatorrhoea और अल्सरेटिव कोलाइटिस (ulcerative colitis) जैसी स्थिति भी शामिल हैं।

मैग्नीशियम की कमी क्रॉनिक दस्त से भी जुड़ी हुई है, जो आपके शरीर की आंत में मैग्नीशियम को अवशोषित करने की क्षमता को कम कर सकता है।

कुछ दवाएं (Certain medication)

कुछ दवाओं से भी मैग्नीशियम की कमी हो सकती है। इसमें मूत्रवर्धक, डिगोक्सिन, सिस्प्लैटिन की तरह कीमोथेरेपी दवाएं, कुछ एंटासिड और अमीनोग्लाइकोसाइड एंटीबायोटिक शामिल हैं।

इनमें से कुछ दवाएं आपके गुर्दे की मैग्नीशियम को अवशोषित करने की क्षमता में बाधा डालती हैं, जबकि अन्य दवाएं एल्यूमीनियम जैसी धातुओं की बहुत कम मात्रा शरीर में पहुंचा सकती हैं, जिन्हें शरीर में मैग्नीशियम के अवशोषन में बाधा पहुँचाने के लिए जाना जाता है।

ओम्प्राजोल जैसे प्रोटॉन पंप इनहिबिटर (पीपीआई) का लम्बे समय तक उपयोग भी मैग्नीशियम की कमी से जुड़ा हुआ है।

यदि आप चिंतित हैं कि आपकी दवा आपमें मैग्नीशियम की कमी कर सकती है, तो आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। वे आपके मैग्नीशियम के स्तर का परीक्षण कर सकते हैं, और यदि आवश्यक हो तो एक वैकल्पिक दवा लिख सकते हैं।

नोट: निर्धारित दवा लेना बंद करने से पहले आपको हमेशा एक स्वास्थ्यकर्मी से परामर्श करना चाहिए।

गुर्दे की बीमारियाँ (Kidney diseases)

आपके गुर्दे आपके मूत्र से मैग्नीशियम को पुनः प्राप्त करने के लिए जिम्मेदार हैं, और आपके शरीर के समग्र मैग्नीशियम के स्तर को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

आपकी गुर्दे को ठीक से काम करने से रोकने वाली कोई भी स्थिति मैग्नीशियम की कमी का कारण हो सकती है। इसमें ग्लोमेरुलोनेफ्राइटिस (glomerulonephritis), पायलोनेफ्राइटिस (pyelonephritis), हाइड्रोनफ्रोसिस (hydronephrosis), नेफ्रोस्क्लेरोसिस (nephrosclerosis) और रीनल ट्यूबलर एसिडोसिस (renal tubular acidosis) जैसी स्थितियां शामिल हैं।

उम्र (Age)

जैसे-जैसे हम बड़े होते हैं, हमारी छोटी आंतों में मैग्नीशियम को अवशोषित करने की क्षमता में प्राकृतिक रूप से कमी होती है। गुर्दे के माध्यम से मैग्नीशियम की हानि भी उम्र के साथ बढ़ जाती है, जिसका अर्थ है कि बुजुर्ग लोगों में मैग्नीशियम की कमी होने का खतरा अधिक होता है।

शराब पीने की पुरानी लत (Chronic alcoholism)

बहुत अधिक शराब पीने से मैग्नीशियम की कमी विकसित हो सकती है।
द न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित एक अध्ययन का अनुमान है कि शराब पीने की पुरानी लत
के विकार वाले तीन में से लगभग एक व्यक्ति में मैग्नीशियम की कमी होगी। ऐसा इसलिए है क्योंकि शराब पीने की पुरानी लत आपके गुर्दे को नुकसान पहुंचाती है, जो आपको मैग्नीशियम को ठीक से अवशोषित करने से रोक सकती है।

सॉफ्ट ड्रिंक का अत्यधिक उपभोग (Overconsumption of soft drinks)

द बीएमजे में प्रकाशित एक लेख के अनुसार, सॉफ्ट ड्रिंक की अधिकता से मैग्नीशियम की कमी विकसित होने की संभावना बढ़ सकती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि कई सॉफ्ट ड्रिंक्स में फॉस्फोरिक एसिड की मात्रा अधिक होती है।
स्वस्थ दांतों और हड्डियों को बनाए रखने के लिए कम मात्रा में फॉस्फेट की आवश्यकता होती है, लेकिन आपके रक्त में फॉस्फेट का उच्च स्तर आपके शरीर को मैग्नीशियम और अन्य खनिजों को अवशोषित करने से रोक सकता है।

कम मैग्नीशियम वाला आहार (A low magnesium diet)

मैग्नीशियम कई आम खाद्य पदार्थों में पाया जाता है, जिसमें पालक और अन्य पत्तेदार हरी सब्जियां, बादाम, मूंगफली, साबुत अनाज, और गढ़वाले अनाज शामिल हैं। फिर भी, यूके, संयुक्त राज्य अमेरिका और जर्मनी में किए गए अध्ययनों से पता चलता है कि लोगों के एक विशेष समूह को उनके द्वारा खाए जाने वाले भोजन से पर्याप्त मैग्नीशियम नहीं मिलता है।

एक ऐसा आहार जो पॉलिश किए हुए चावल, सफेद ब्रेड और प्रसंस्कृत पनीर जैसे भारी प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों को प्राथमिकता देता है, उसे मैग्नीशियम की कमी विकसित होने से जोड़ा गया है।
यदि आप चिंतित हैं कि आप पर्याप्त मैग्नीशियम युक्त खाद्य पदार्थ नहीं खा रहे हैं, तो कृपया अपने डॉक्टर से रक्त परीक्षण करवाएं।

मैग्नीशियम की कमी के लक्षण (Symptoms of magnesium deficiency)

मैग्नीशियम की थोड़ी सी कमी बिना किसी लक्षण के (asymptomatic) हो सकती है, जिसका अर्थ है कि आपको किसी भी ध्यान देने योग्य लक्षण का अनुभव नहीं हो सकता है।

मैग्नीशियम की कमी के शुरुआती लक्षणों में शामिल हो सकते हैं:
• भूख में कमी
• जी मिचलाना
• उल्टी
• थकान
• कमजोरी

चूँकि मैग्नीशियम आपके तंत्रिका तंत्र को विनियमित करने में एक आवश्यक भूमिका निभाता है, इसलिए मैग्नीशियम की कमी सुन्नता, झुनझुनी, मांसपेशियों में संकुचन और ऐंठन, और दौरे का कारण भी बन सकती है।

जैसे-जैसे मैग्नीशियम की कमी बढ़ती है, यह व्यक्तित्व परिवर्तन, दिल की असामान्य लय और कोरोनरी ऐंठन भी पैदा कर सकता है। दीर्घकालिक या लम्बे समय तक मैग्नीशियम की कमी उच्च रक्तचाप (hypertension) और हृदय रोग (cardiovascular disease), टाइप 2 मधुमेह (type 2 diabetes), ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis) और माइग्रेन (migraine) से भी जुड़ी है।

यदि आप चिंतित हैं कि आपमें मैग्नीशियम की कमी हो सकती है, तो आपको अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए। वे आपके मैग्नीशियम के स्तर का परीक्षण करने में सक्षम होंगे, और किसी भी लक्षण की जांच करेंगे।

अपने मैग्नीशियम का सेवन बढ़ाना (Increasing your magnesium intake)

यदि आप चिंतित हैं कि आप मैग्नीशियम की कमी से पीड़ित हो सकते हैं, तो आपको अपने डॉक्टर से सीधे मिलना चाहिए। वे उन दवाओं को निर्धारित करने में सक्षम होंगे जो आपके मैग्नीशियम स्तर को फिर से भरने में मदद करेंगी और किसी भी संबंधित स्वास्थ्य स्थितियों का इलाज करेंगे।

यदि आपको आपके डॉक्टर द्वारा मैग्नीशियम का सेवन बढ़ाने की सलाह दी गई है, तो आपको यह जानकर प्रसन्नता होगी कि मैग्नीशियम कई आम खाद्य पदार्थों में पाया जाता है, जिसमें पत्तेदार हरी सब्जियाँ जैसे पालक, फलियाँ, नट्स, बीज, और साबुत अनाज शामिल हैं। मैग्नीशियम कुछ खनिज अनाज और ब्रेड में भी पाया जा सकता है।

आपको मैग्नीशियम की कितनी मात्रा की आवश्यकता है, यह आपकी उम्र और लिंग के आधार पर भिन्न हो सकता है। एक नियम के रूप में, यदि आप एक पुरुष हैं, तो आपको लगभग 300mg और यदि आप एक महिला हैं तो आपको लगभग 270mg मैग्नीशियम खाने का लक्ष्य रखना चाहिए। कृपया बच्चों और बुजुर्गों के लिए अनुशंसित मैग्नीशियम सेवन के बारे में जानकारी के लिए इस सरकारी तथ्य पत्र को देखें।

Food mg per serving
Almonds, dry roasted, 1 ounce 80
Spinach, boiled, ½ cup 78
Cashews, dry roasted, 1 ounce 74
Peanuts, oil roasted, ¼ cup 63
Cereal, shredded wheat, 2 large biscuits 61
Soya milk, plain or vanilla, 1 cup 61
Black beans, cooked, ½ cup 60
Edamame, shelled, cooked, ½ cup 50
Peanut butter, smooth, 2 tablespoons 49
Bread, whole wheat, 2 slices 46
Avocado, cubed, 1 cup 44
Potato, baked with skin, 3.5 ounces 43
Rice, brown, cooked, ½ cup 42
Yogurt, plain, low fat, 8 ounces 42
Oatmeal, instant, 1 packet 36
Kidney beans, canned, ½ cup 35
Banana, 1 medium 32
Salmon, Atlantic, farmed, cooked, 3 ounces 26
Milk, 1 cup 24–27

नोट: प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ, जिसमें रेफ़ायंड (सफेद) आटा और पॉलिश (सफेद) वाले चावल शामिल हैं, जैसे खाद्य पदार्थों में पूरे अनाज या असंसाधित खाद्य पदार्थों की तुलना में कम मैग्नीशियम होता है।

आप अपने आहार में छोटे-छोटे बदलाव करके, और इनमें से कुछ खाद्य पदार्थों को शामिल करके अपनी जरुरत का मैग्नीशियम प्राप्त करने में सक्षम हो सकते हैं।

कुछ मैग्नीशियम के सप्लीमेंट उन अन्य दवाओं के साथ प्रतिक्रिया कर सकते हैं, जो आप ले रहे हैं| इसलिए हमेशा सप्लीमेंट लेने से पहले एक स्वास्थ्यकर्मी के साथ परामर्श करें।

क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।