6 min read

अपने किशोर वर्ग के बच्चों से सेक्स के बारे में बात करना

मेडिकली रिव्यूड

अधिकांश किशोर(टीनेजर्स) अपने परिजनों और देखभाल करने वालों से सेक्स और रिश्तों के बारे में बात करना पसंद करेंगे।ऐसा मुश्किल लगता है, लेकिन यहां कुछ तरीके हैं जिससे जान सकेंगे कि आखिर इस बारे में बातचीत कैसे शुरू की जाए।

जब कभी भी आप सेक्स और रिश्तों के विषयों को सामने लाते हैं, यह सुनें कि आपके किशोर क्या कहना चाहते हैं । इसके बाद आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं कि बात को कैसे आगे बढ़ाना है ।

उदाहरण के लिए, अगर वे कंडोम का जिक्र करते हैं, तो इस बात का पता लगा लें कि क्या उन्हें इस बात की जानकारी है कि इसका उपयोग करना क्यों जरूरी है। उन्हें ये कहां से लेना चाहिए और उनका उपयोग कैसे करना है।

ध्यान रखें कि अपने किशोर के साथ सेक्स और रिश्तों के बारे में बात करने से उनमें सेक्स करने की इच्छा पैदा नहीं होगी बल्कि जब वे ऐसा करेंगे तो उन्हें अपने यौन स्वास्थ्य की देखभाल करने में मदद मिलेगी।

आप उन्हें शांतिपूर्वक सुनें, भले ही वो जो कह रहे हैं उसे सुनकर आप आश्चर्यचकित होते हैं या आप सहमत नहीं हैं। आप अपने बच्चों को अपनी राय से अवगत कराएं, लेकिन उन्हें इस बात का आश्वासन दें कि वे खुद अपने फैसले ले सकते हैं और आपको इसका भरोसा है ।

बावजूद इसके अगर आप उनकी बात सुनकर अपना आपा खो देते हैं या उनकी आलोचना करते हैं, तो उन्हें ऐसा लग सकता है कि आने वाले समय में वे आपसे बात नहीं कर सकते।

अपने किशोरों से पूछें कि उनके दोस्त क्या सोचते हैं

अपने बच्चे से पूछें कि इस मुद्दे पर उसके दोस्त क्या सोचते हैं । यह एक तरीका हो सकता है अपने बच्चों के विचारों और डर के बारे में अप्रत्यक्ष रूप से बात करने का।

उदाहरण के तौर पर- यदि आप किसी गर्भवती महिला को देखती हैं, तो आप कह सकती हैं, जब मैं किशोर थी, तो हम गर्भवती होने से डरते थे। क्या उनकी सहेलियाँ कभी इस बारे में चिंता करती हैं?

आप बात कर सकते हैं कि सेक्स नहीं करना क्यों ठीक है। वहीं अगर युवा सेक्स करने की योजना बना रहे हैं, तो वे गर्भनिरोधक कहां से लेते हैं।

सेक्स के बारे कम और अक्सर बात करें

सेक्स के बारे में लंबी बात न करें। इसे एक खुला और जारी रहने वाला विषय बनाएं। जब भी यह विषय सामने आए, बहुत कम बातचीत करें। इसकी शुरुआत अपने बच्चे के किशोर होने से पहले ही कर दें।

अपने किशोर को यह बात बताएं कि वह अपने मन में आने वाली किसी भी बात पर आपसे बात कर सकते हैं।

इस विषय को चर्चा में लाने के लिए सबसे अच्छा तरीका है रोजाना के कामों के दौरान बात करना। जब आप टीवी देख रहे हों या धुलाई कर रहे हों। यह इसे एक घटना की तरह बना देता है ।

आप अपनी बात कहने के लिए एक कार्यक्रम की कहानी के माध्यम का उपयोग कर सकते हैं।

अपने बच्चे का जवाब सुनें। तब आप बात कर सकते हैं कि आखिर यौन संचारित संक्रमण और गर्भावस्था से बचाने के लिए कंडोम और गर्भनिरोधक का उपयोग करना क्यों जरूरी होता है। आप यह बात सुनिश्चित करें कि आपका बच्चा जानता है कि वह इन चीजों को कहां से पा सकता है। इस बात का ध्यान रखें कि इस दौरान बात करते हुए आप आलोचनावादी नजर न आएं।

जानें, कैसे सेक्स के बारे में अपने किशोर होते बच्चे से बात करें।

इस बात की जानकारी जुटाएं कि वह स्कूल में सेक्स के बारे में क्या जान रहे हैं।

अपने किशोर से इस बारे में पूछें कि वे स्कूल के पाठ्यक्रमों में सेक्स और रिश्तों के बारे में क्या सीख रहे हैं। उनसे पूछें कि वे इस बारे में क्या सोचते हैं।

पता करें कि क्या ऐसा कुछ है जो वे नहीं समझते हैं। अगर उनकी क्लास में कोई विषय उठा है तो क्या वे आपके साथ इस पर चर्चा करना चाहते हैं।

अपने किशोर की बातें सुनें कि वह सेक्स के बारे में क्या सोचता है

अपने किशोर से पूछें कि वे इन बातों के बारे में कैसा महसूस करते हैं, जैसे कि किसी ऐसे के साथ यौन संबंध बनाने का इंतजार करना, जिसकी वह परवाह करते हैं।

आप उनसे कह सकते हैं- सेक्स करने से पहले, क्या आपको लगता है कि यह तब तक इंतजार करने लायक है, जब तब आपको ऐसा कोई न मिल जाए, जिसकी आप परवाह करते हों या वो जो आपकी परवाह करता हो ।

आप इस चर्चा का इस्तेमाल, गर्भावस्था के दौरान के जोखिम पर बात करने के लिए भी कर सकते हैं, जब एक लड़का-लड़की सेक्स करते हैं और यौन संबंध बनाने से पहले कौन सा गर्भनिरोधक उन्हें लेना चाहिए, यह तय करते हैं।

आप इस बात पर भी चर्चा कर सकते हैं कि आपका बच्चा, गर्भनिरोधक के लिए किसे भरोसेमंद मानता है। इस दौरान यह सुनिश्चित करें कि आपका बच्चा इस बात को समझे कि कंडोम और गर्भनिरोधक का उपयोग करने के बारे में दोनों भागीदारों को सोचना चाहिए ।

सुनिश्चित करें कि आप सेक्स के बारे में तथ्यों को जानते हैं।

सेक्स एक बड़ा विषय है। इसमें शामिल है कि कैसे हमारा शरीर काम करता है। गर्भावस्था, रिश्ते और भावनाएं, गर्भनिरोधक के प्रकार और उन्हें कहां से प्राप्त करना है, एसटीआई (STIs), परीक्षण, उपचार और अधिक।

अगर आप आश्वस्त हैं कि आपको इन विषयों का पूरा ज्ञान है, तो आप अपने बच्चे के सवालों का जवाब आसानी से दे पाएंगे।

अगर आप कुछ नहीं जान रहे हैं, तो उनसे कहें कि वह पता करके बताएँगे। जानकारी पाने के बाद उनके साथ जानकारी साझा करें या उनके साथ मिलकर इसे देखें।

आपका किशोर समलैंगिक, लैसबियन या उभयलिंगी हो सकता है।

आपका बच्चा समलैंगिक, लैसबियन या उभयलिंगी हो सकता है। यदि ऐसा है तो उन्हें अभी भी जरूरत है सुरक्षित सेक्स संदेशों को जानने की। जिसमें जानकारी होती है कि STI और गर्भावस्था के खिलाफ खुद को कैसे सुरक्षित रखना है।

वे सेक्स और रिश्तों के बारे में चर्चा का इस्तेमाल एक अवसर के रूप में कर सकते हैं।(आपको अपने यौन संबंधी जानकारी बताने के लिए )।

भले ही आप किसी पुरुष या किसी महिला के साथ यौन संबंध बनाएं, आप एसटीआई से ग्रसित हो सकते हैं। ऐसे में जरूरी हो जाता है कि वे जानें कि आखिर कैसे खुद को इससे बचाया जा सकता है। इसके लिए उन महिलाओं के लिए यौन स्वास्थ्य देखें - जो महिलाओं के साथ संबंध रखती हैं और अधिक जानकारी के लिए पुरुषों के साथ यौन संबंध रखने वाले पुरुषों के लिए यौन स्वास्थ्य को देखें।

अगर आपका बच्चा समलैंगिक है, तो उन्हें अभी भी गर्भनिरोधक के बारे में जानने की जरूरत है। वो लोग जिनकी पहचान, समलैंगिक या लैसबियन के रूप में होती है, उनका भी विपरीत लिंग के लोगों के साथ यौन संपर्क हो सकता है । ऐसे में यह महत्वपूर्ण है कि वे गर्भनिरोधक के बारे में जानें और जानें कि कैसे बिना योजना की गर्भावस्था से बचा जाए।

सामग्री का स्त्रोतNHS लोगोnhs.uk
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।