3 min read

मेरी माहवारी अब तक क्यों नहीं शुरू हुई?

मेडिकली रिव्यूड

लड़कियों को आम तौर पर 10 से 16 साल की उम्र के बीच माहवारी शुरू होती है। ज्यादातर लड़कियां को 12 साल की उम्र के आसपास पहली बार माहवारी होती है।

लेकिन हर किसी का विकास दर अलग होता है, इसलिए माहवारी शुरू होने की कोई सही या गलत उम्र नहीं होती है।

आपकी माहवारी तब शुरू होगी जब जब आपका शरीर इसके लिए तैयार होगा । प्यूबर्टी के शुरुआती लक्षणों के लगभग दो साल बाद ऐसा होता है। लड़कियों में, प्युबर्टी के पहले लक्षण स्तनों का विकास और प्यूबिक हेयर का आना है।

डॉक्‍टर से कब मिलें

यदि आपको 16 साल की आयु तक माहवारी शुरू नहीं हुई है तो आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। डॉक्टर इस बात का परीक्षण कर सकते हैं कि आपकी आपकी प्यूबर्टी की अवस्था सामान्य है या नहीं।

यदि आप में 14 साल की उम्र तक प्यूबर्टी के कोई भी लक्षण दिखाई नहीं देते तो डॉक्टर से दिखाने पर विचार करना चाहिए। आपको "प्रतीक्षा करने और नज़र रखने" की सलाह दी जा सकती है। कई मामलों में माहवारी 18 साल की उम्र तक स्वाभाविक रूप से शुरू हो जाती है।

आपका डॉक्टर विभिन्न हार्मोन के स्तरों की जांच करने के लिए रक्त परीक्षण(ब्लड टेस्ट) कराने की सलाह दे सकता है।

आपको विशेषज्ञ (आम तौर पर स्त्री रोग विशेषज्ञ - महिलाओं के स्वास्थ्य में विशेषज्ञ) के पास भेजा जा सकता है। वे कारण जानने की कोशिश करेंगे और ज़रूरत पड़ने पर उपयुक्त उपचार के सुझाव देंगे।

माहवारी न शुरू होने के संभावित कारण

प्रत्याशित उम्र तक माहवारी शुरू नहीं होने का मेडिकल नाम प्राथमिक एमेनोरिया है।

माहवारी समय से शुरू न होने के संभावित कारणों में शामिल हैं :

  • विकास में सामान्य देरी - यह आनुवंशिक होता है, इसलिए यदि आपकी मां या बहन की माहवारी देर से शुरू हुई हो तो आपकी पहली माहवारी में भी देरी हो सकती है।
  • हार्मोनल असंतुलन
  • कम वज़न का होना 
  • अत्यधिक व्यायाम करना - इससे उन लड़कियों पर प्रभाव हो सकता है जो बहुत अधिक एथलेटिक्स, जिमनास्टिक या नृत्य करती हैं
  • भोजन विकार(ईटिंग डिसॉर्डर)
  • गंभीर तनाव
  • गर्भावस्था - आपकी पहली माहवारी आने से पहले आपका गर्भवती होना संभव है क्योंकि आपकी माहवारी शुरू होने से कुछ महीने पहले आपके अंडाशय से डिम्ब निकलना होना शुरू हो सकता है।
  • अंडाशय, गर्भाशय या योनि के साथ कोई समस्या

क्या माहवारी नहीं शुरू होने का कोई इलाज है?

यह समस्या के कारण पर निर्भर करता है। 

यदि इसका कारण हार्मोनल असंतुलन है तो हार्मोन थेरेपी करने की सलाह दी जा सकती है।

यदि इसके पीछे का कारण ईटिंग डिसॉर्डर है, तो इसके इलाज के लिए आपको थेरेपी के साथ साथ अपने खानपान से सम्बंधित  जानकारी दी जाएगी।अगर इसका कारण अत्यधिक व्यायाम है तो आपको कम व्‍यायाम करने की सलाह और यदि आप कम वजन की हैं तो आपको अधिक कैलोरीयुक्त भोजन लेने की सलाह दी जा सकती है। 

NHS के मूल कॉन्टेंट का अनुवादYOURMD लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

आगे क्या पढ़ें
मासिक चक्र में माहवारी और प्रजनन क्षमता(Periods and fertility in the menstrual cycle)
हर महिला के मासिक चक्र की अवधि अलग-अलग होती है लेकिन औसत रूप से हर 28 दिन पर मासिक धर्म होता है।
पीरियड्स की शुरुआत
ज्यादातर लड़कियों में पीरियड्स की शुरुआत तब होती हैं जब उनकी उम्र क़रीब 12 साल हो जाती है, लेकिन उनमें 8 साल की उम्र में भी पीरियड्स की शुरुआत हो सकती...
प्रागार्तव(पीएमएस)
महिलाओं द्वारा मासिक धर्म से पहले अनुभव किए जाने वाले लक्षणों के एक समूह को प्रागार्तव(पीएमएस) कहते हैं।