1 min read

40 हफ्तों से अधिक की गर्भावस्था

मेडिकली रिव्यूड

शिशु के जन्म की नियत तिथि निकल चुकी है?

गर्भावस्था सामान्यतः लगभग 40 हफ्तों तक रहती है - जो आपके पिछले(अंतिम) मासिक धर्म के पहले दिन से लगभग 280 दिन की होती है।

अधिकतर महिलाएं इस तिथि के एक सप्ताह पहले अथवा उसके बाद प्रसव मे चली जाती है, लेकिन कुछ महिलाएँ इस समय के पार चली जाती हैं।

मेम्ब्रैन स्वीप(Membrane sweep)

यदि आपका प्रसव आपके 40 हफ्तों की गर्भवती होने तक शुरू नहीं होता तथा यह आपकी पहली गर्भावस्था है, तो आपकी प्रसाविक (मिड्वाइफ) आपके 40वें तथा 41वें सप्ताह के अपॉइंटमेंट में आपको मेंब्रेन स्वीप प्रदान करेंगी।

यदि आपको पहले बच्चा हुआ है, तो आपके 41वें हफ्ते के अपॉइंटमेंट मे ही आपको यह दिया जाएगा।

मेम्ब्रेन स्वीप में योनि (आंतरिक) परीक्षण करना शामिल है जो सर्विक्स (आपके गर्भाशय की ग्रीवा/ गरदन) को हारमोंस उत्पादित करने के लिए उत्तेजित करता है जो प्राकृतिक प्रसव को सक्रिय कर सकते हैं।

आपको यह करवाने की आवश्यकता है या नही -इस विषय पर आप अपनी नर्स(मिड्वाइफ) से विचार विमर्श कर सकती हैं।

प्रसव इन्डक्शन के कारण

यदि इसके बाद आपका प्रसव अभी भी प्राकृतिक रूप में शुरू नहीं होता, तो आपकी नर्स या डॉक्टर आपके प्रसव को प्रेरित करने के लिए एक तारीख का सुझाव देंगे।

यदि आप अपना प्रसव प्रेरित करवाना नहीं चाहती तथा आपकी गर्भावस्था 42 हफ्तों अथवा उससे अधिक समय तक जारी रहती है, तो आप तथा आपके शिशु की निगरानी की जाएगी।

आपकी तथा आपके शिशु की निगरानी

आपको अल्ट्रासाउंड स्कैन प्रदान करके तथा आपके शिशु की हरकतों तथा हृदय गति की जांच प्रदान करके आपकी नर्स या डॉक्टर आपके तथा आपके बच्चे दोनों के स्वस्थ होने की जांच करेंगे।

यदि आपके शिशु के विषय में कोई चिंताजनक बात होती है, तो डॉक्टर प्रसव को प्रेरित करने का सुझाव देंगे।

प्रेरण(इन्डक्शन) सदैव पहले से ही नियोजित होता है, इसलिए इसके लाभों तथा दोषों के बारे में आप अपने डॉक्टर या नर्स से विचार-विमर्श करने में समर्थ होंगे, इससे पता लगाएं कि वे आपके प्रसव को प्रेरित करवाने के बारे मे क्यों विचार कर रहे हैं।

अपने प्रसव को प्रेरित करवाना अथवा ना करवाना यह आपकी इच्छा है।

42 हफ्तों से अधिक की गर्भवती

अधिकतर महिलाएं 42 हफ्तों की गर्भवती होने तक प्राकृतिक रूप में प्रसव में चली जाती हैं।

यदि आपकी गर्भावस्था 42 हफ्तों से अधिक समय तक रहती है तथा आप अपना प्रसव प्रेरित नहीं करवाने का निर्णय करती हैं, तो आपको अधिक निगरानी प्रदान की जानी चाहिए जिससे आपके शिशु के स्वास्थ्य की जांच की जा सके।

यदि आप 42 हफ्तों से अधिक की गर्भवती होती है तो मृतजन्म (स्टिल बर्थ) का जोखिम अधिक होता है, हालांकि अधिकतर शिशु स्वस्थ रहते हैं।

इस समय, विश्वसनीय ढंग से इस बात का पूर्वानुमान लगाने का कोई तरीका नही है कि कौन से शिशुओं मे जन्म पूर्व मृत्यु का जोखिम अधिक है, इसलिए प्रेरण (इन्डक्शन) उन सभी महिलाओं को प्रदान किया जाता है जो 42वें हफ्ते तक प्रसव मे नही जाती।

आपके शिशु के लिए नियत तारीख के बाद प्रसव प्रेरण (इन्डक्शन) करवाना सिज़ेरीअन सेक्शन की संभावना को नही बढ़ाता। वास्तव मे कुछ प्रमाण बताते हैं कि यह सिज़ेरीअन सेक्शन की संभावना को थोड़ा कम कर सकता है।

सामग्री का स्त्रोतNHS लोगोnhs.uk
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

आगे क्या पढ़ें
गर्भावस्था के संकेत और लक्षण( Signs and symptoms of pregnancy)
जिन महिलाओं का मासिक चक्र नियमित होता है, उनमें गर्भावस्था का सबसे शुरुआती और सबसे भरोसेमंद संकेत है- निर्धारित समय पर पीरियड न होना।
गर्भावस्था के शुरुआती दिन(The early days of pregnancy)
जैसे ही आप को इस बात का पता चले कि आप गर्भवती हैं आपको तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए।
33-36 सप्ताह की गर्भावस्था
गर्भावस्था के 33 सप्ताह तक, बच्चे का मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र पूरी तरह से विकसित हो जाता है।