COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
25th January, 20217 min read

क्या गर्भावस्था के दौरान भी आपको माहवारी (पीरियड) हो सकती है?

Medical Reviewer: Dr Ann Nainan
Author: Helen Prentice
मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है। यह Helen Prentice द्वारा लिखा गया है और Dr Ann Nainan ने इसकी मेडिकल समीक्षा की है।

यदि आपको लगता है कि आप गर्भवती हैं, तो आप अपने शरीर में कुछ बदलाव महसूस कर सकती हैं, जैसे - कमज़ोरी या उबकाई, या स्तनों में भारीपन और दर्द होना। अगर आपको हर महीने समय पर माहवारी आ जाती हैं और किसी महीने बीच में माहवारी रुक जाए तो ये भी आपके गर्भवती होने का एक संकेत है।

यदि आप गर्भवती हैं तो आपकी माहवारी रुक जाएगी। लेकिन कुछ लोगों को गर्भावस्था के दौरान भी रक्तस्राव होता है, जिसकी वजह से उन्हें ऐसा लगता है कि उन्हें माहवारी हो रही हैं, आपने बहुत से ऐसे लोगों के बारे में सुना होगा, जिन्हें गर्भावस्था के दौरान भी रक्तस्राव होता है, जिस कारण उन्हें पता नहीं चल पाता, कि वे गर्भवती हैं। ऐसी अवस्था में रक्त स्त्राव का समय निर्धारित नहीं होता।

अगर आपको गर्भावस्था के दौरान रक्तस्राव हो रहा है, तो इसमें घबराने वाली कोई बात नहीं, आप किसी डॉक्टर से संपर्क करें। गर्भावस्था के दौरान माहवारी क्यों नहीं आती, और गर्भावस्था के दौरान रक्तस्राव होने के क्या कारण हो सकते हैं; इस बारे में जानने के लिए आगे पढ़ें।

गर्भावस्था और माहवारी (Periods and pregnancy)

जब एक शुक्राणु (स्पर्म) आपके अंडाशय (ovaries) से निकलने वाले एक अंडे (एग) के साथ मिलता है, तो ऐसी अवस्था में गर्भ धारण होता है। ये निषेचित अंडा आपके गर्भाशय तक पहुंचता है और स्वयं को गर्भाशय की दीवार या अस्‍तर पर स्थापित कर लेता है। इसे भ्रूण कहा जाता है और यह विकसित होकर शिशु बन जाता है।

जब आप गर्भवती नहीं होती हैं, तो अंडा निषेचित न होने के कारण आपका गर्भाशय आपके अस्तर को बहा देता है जिसे माहवारी या पीरियड कहते हैं, लेकिन जब आप एक बार गर्भवती हो जाती हैं, तो ऐसा नहीं होता और आपकी माहवारी रुक जाती हैं।

गर्भावस्था के दौरान रक्तस्त्राव क्यों होता है? (Causes of bleeding during pregnancy)

गर्भावस्था के दौरान रक्तस्राव होने पर थोड़ा चिंतित होना स्वाभाविक है, लेकिन यह एक बहुत ही सामान्‍य समस्‍या है। इसका मतलब ये नहीं कि कोई दिक्‍कत की बात नहीं है। ज्यादातर लोगों की गर्भावस्था सामान्य होती हैं , लेकिन अगर आपको ऐसी कोई समस्या हो, तो जल्द से जल्द अपने नर्स या डॉक्टर से सलाह लें, खासकर तब जब आप के पेट में दर्द रहता हो।

रक्त स्त्राव होने के कई अलग - अलग कारण हो सकते हैं, जैसे आप अपने गर्भावस्था के किस पड़ाव में हैं।

यदि आप हाल ही में गर्भवती हुई है, तो निम्न कारण हो सकते हैं:

  • प्रत्यारोपण के बाद होने वाला रक्तस्राव (इम्‍प्‍लाटेंशन ब्‍लीडिंग): अगर आपको गर्भ ठहरने के थोड़े ही दिनों बाद, थोड़ी-थोड़ी मात्रा में हल्के रंग का रक्त स्त्राव होता है तो इसे 'स्पॉटिंग' कहा जाता है, ये लम्बे समय तक नहीं होता है - पर आपको ऐसा लगना स्वाभाविक है कि आपको माहवारी हो रही है। निषेचन के बाद, भ्रूण का गर्भाशय के अस्‍तर पर स्थापित होना, इस प्रकार की ब्लीडिंग का कारण होता है। ये गर्भधारण प्रक्रिया का एक सामान्‍य लक्षण है।
  • गर्भाशय ग्रीवा (cervix) में बदलाव आना: गर्भाशय ग्रीवा को गर्भ की गर्दन भी कहा जाता हैं, जिसमें गर्भावस्था के दौरान बदलाव आ जाता हैं, इस बदलाव को सर्वाइकल एक्टाेपी (‘cervical ectopy’) कहा जाता हैं। ये एक आम बदलाव हैं, जिसके कारण सहवास के समय या बाद में रक्तस्राव होने की संभावना बढ़ जाती हैं। ऐसा ख़ास तौर पर हार्मोन में बदलाव के कारण ऐसा होता है, और ये बच्चा पैदा होने के 3 से 6 महीने तक चला जाता है।
  • अस्थानिक गर्भावस्था(एक्टोपिक प्रेग्नेंसी): ऐसा तब होता है, जब एक निषेचित अंडा गर्भाशय के अलावा कही और खुद ही विकसित हो जाता है। आमतौर पर, ये उन ट्यूबो में होता हैं जो अंडाशय से गर्भ तक जाती हैं इसे फैलोपियन ट्यूब (ओवरी से अंडे को गर्भाशय तक पहुंचाने वाली ट्यूब) कहते हैं इसमें हमेशा लक्षण दिखाई नहीं देते, लेकिन इसके कारण रक्तस्राव और भूरे रंग का डिस्चार्ज और पेट में दर्द होने लगता है, अफसोस कि बात है कि इस कारण अंडा बच्चे का रूप नहीं ले पाता, जिससे उसे निकालना पड़ता है। किसी प्रकार की दवा से या फिर सर्जरी करवाकर आप इसे हटवा सकती हैं। अगर आपको लगता है कि आपको अस्थानिक गर्भावस्था होने की संभावना है, तो आपको तुरंत अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए।

अगर आपके गर्भावस्था को काफी समय हो गया है, तो आप अपने शरीर में कुछ बदलाव महसूस कर सकती हैं:

  • ऊपर वर्णित रूप में, गर्भाशय ग्रीवा में बदलाव आना।
  • योनि में संक्रमण होना। ऐसा होने पर चिंता करने वाली कोई बात नहीं है इसके लिए आप डॉक्टर से मिलकर सही इलाज ले सकती हैं।
  • 'शो' ये एक ऐसी अवस्था होती है जो तब होती हैं जब आपके गर्भाशय ग्रीवा में एक प्लग आता हैं, और ये इस बात का संकेत होता हैं कि, आपका शरीर प्रसव के लिए तैयार है। प्रसव की ये प्रक्रिया कुछ दिन पहले ही शुरू हो जाती हैं।
  • प्लेसेंटल अब्रप्शन: प्लेसेंटा (ये गर्भाशय के ऊपरी हिस्से में मौजूद रहता है, जिसे डिलीवरी होने के बाद गर्भाशय की दीवार से अलग कर दिया जाता हैं) अब्रप्शन (abruption) ऐसी अवस्था होती है जिसमें प्लेसेंटा पहले ही अलग होने लगता है। अगर आपके पेट में बहुत दर्द हो, और कभी-कभी रक्त स्त्राव हो, तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए।
  • लो - लाइंग प्लेसेंटा (प्लेसेंटा प्रीविया), ये तब होता हैं जब प्लेसेंटा गर्भाशय की निचली दीवार में गहराई तक चला जाता हैं , गर्भाशय ग्रीवा के पास जो आपके गर्भ के निचले हिस्से से जुड़ा होता हैं, जिसके कारण आपको बहुत अधिक रक्तस्राव की समस्या हो सकती हैं, इसलिए आपको तुरंत आपातकालीन उपचार की आवश्यकता पड़ सकती है, इसलिए देर न करें तुरंत मदद लें।

गर्भावस्था के दौरान रक्तस्त्राव और गर्भपात (Bleeding during pregnancy and miscarriage)

आपने गर्भपात miscarriage के बारे में तो सुना ही होगा - जब गर्भावस्था के पहले 23 हफ्ते के दौरान आपके गर्भ में पल रहा शिशु नहीं रहता तो यह गर्भपात कहलाता है। ऐसा होने के बहुत से कारण हो सकते हैं - जैसे हमारे शरीर के हार्मोन में गड़बड़ी होना ,खून के थक्‍के जमने की समस्या भी इसका कारण हो सकता है ,या फिर पेट में पल रहे बच्चे से जुड़ी कोई समस्या हो सकती हैं।

ज्यादातर गर्भपात, गर्भावस्था के पहले 12 हफ्तों के दौरान ही होते हैं इसका मुख्य कारण रक्त स्त्राव होता हैं। साथ ही में आपके पेट के निचले हिस्से में ऐंठन और दर्द भी होता हैं अगर आपको अपने अंदर ऐसे लक्षण महसूस हो रहे हैं तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं। वे आपका सही परीक्षण करेंगे अर्थात अल्ट्रासाउंड जांच के द्वारा बच्चे की स्थिति जानेंगे।

लगभग 1 से 8 गर्भावस्थाओं में गर्भपात हो जाता हैं उनमें से कई महिलाओं को ये पता होता है कि वे गर्भवती हैं। कई बार ऐसा होता हैं कि औरतें गर्भपात होने तक जान नहीं पाती है कि वो गर्भवती थीं।

अपने डॉक्टर से बात करना

अगर आपको गर्भावस्था के दौरान रक्तस्राव हो रहा है, या फिर यहां बताए गए कुछ और लक्षणों में से कुछ महसूस हो‌ रहा , तो तुरंत अपने दाईं (मिडवाइफ) या डॉक्टर से सलाह लें।

वे आपसे आपके अन्य लक्षणों जैसे दर्द या हल्के सिरदर्द आदि के बारे में पूछेंगे, फिर आपकी अच्छे से जांच की जाएग ी- ये एक शारीरिक जांच होती हैं, जिसमें अल्ट्रासाउंड करना और खून की जांच करना शामिल होता हैं। कुछ मामलों में, डॉक्टर आपकी हालत को देखते हुए, आपको अस्पताल में भर्ती होने की सलाह देते हैं ताकि वे पेट में पल रहे बच्चे पर सही ढंग से नजर रख सकें।

प्रमुख बिंदु

  • अगर आप गर्भवती हैं तो आपकी माहवारी रुक जाती है।
  • वैसे तो गर्भावस्था के दौरान रक्तस्राव होना आम तौर पर चिंता की बात नहीं है, लेकिन कभी-कभी ये चिंता या समस्या वाली बात भी हो सकती हैं।
  • रक्तस्राव होने का कारण इस बात पर भी निर्भर करता हैं कि आप गर्भावस्था के किस पड़ाव में हैं।
  • अगर आपको गर्भावस्था के दौरान रक्तस्राव की समस्या हो रही हैं तो डॉक्टर से शीघ्र संपर्क करना चाहिए।
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।