COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
14 min read

बिनाइन प्रोस्टेट का बढ़ना (Benign prostate enlargement)

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है।

बिनाइन प्रोस्टेट का बढ़ना

यह एक मेडिकल टर्म है जो बढ़े हुए प्रोटेस्ट के बारे में बताने के लिए इस्तेमाल होती है। यह एक ऐसी स्थिति होती है जो आपके पेशाब करने के तरीके पर असर डालती है।

50 साल से ज़्यादा उम्र के आदमियों में BPE सामान्य है। यह कैंसर नहीं है और आमतौर पर ये स्वास्थ्य के लिए खतरनाक नहीं होता है।

बनाइन प्रोस्टेट के बढ़ने के लक्षण (Symptoms of benign prostate enlargement)

प्रोस्टेट (prostate) एक छोटी ग्रंथि होती है जो पीनस (penis) और मूत्राशय (bladder) के बीच पेल्विस (pelvis) में स्थित होती है।

अगर प्रोस्टेट बड़ा हो जाता है तो यह मूत्राशय (bladder) और मूत्रमार्ग (urethra) (पेशाब निकलने वाले ट्यूब) पर दबाव बना सकता है।

यह आपके पेशाब करने के तरीके पर प्रभाव डाल सकता है और इससे निम्नलिखित परेशानियां हो सकती हैं:

  • पेशाब निकलने में परेशानी
  • जल्दी-जल्दी पेशाब लगना
  • मूत्राशय (bladder) पूरी तरह खाली करने में कठिनाई होना

कुछ पुरुषों में लक्षण हल्के होते हैं और इलाज की ज़रूरत नहीं पड़ती है लेकिन अन्य में यह बड़ी परेशानी बन सकते हैं।

बनाइन प्रोस्टेट बढ़ने के लक्षणों के बारे में और पढ़ें।

बहुत से लोगों को चिंता होती है कि प्रोस्टेट (prostate) के बढ़ने का मतलब उनमें प्रोस्टेट कैंसर (prostate cancer) होने का खतरा बढ़ गया है। पर ऐसा नहीं है।

प्रोस्टेट कैंसर (prostate cancer) का खतरा बढ़े हुए प्रोस्टेट (prostate) वाले पुरुषों में उतना नहीं है, जितना कि वैसे पुरुष जिनका प्रोस्टेट (prostate) न बढ़ा हो।

प्रोस्टेट बढ़ने के कारण (Causes of benign prostate enlargement)

प्रोस्टेट (prostate) बढ़ने का कारण अज्ञात है लेकिन इसे पुरुषों में आयु बढ़ने के साथ होने वाले हार्मोनल परिवर्तन से सम्बन्धित माना जाता है।

जैसे-जैसे आप बूढ़े होते हैं आपके शरीर में हार्मोन का संतुलन बदलने लगता है। यह आपके प्रोटेस्ट ग्रंथि (prostate gland) के बढ़ने का कारण हो सकता है।

प्रोस्टेट बढ़ने का पता लगाना (Diagnosing benign prostate enlargement)

आपका प्रोस्टेट (prostate) बढ़ा हुआ है या नहीं इसका पता लगाने के लिए आपको कई अलग-अलग जांच करवाने पड़ सकते हैं।

आपके डॉक्टर आपके पेशाब की जांच कर सकते हैं लेकिन अन्य जांचों के लिए आपको अस्पताल जाने की ज़रूरत पड़ सकती है।

BPE जैसे लक्षणों वाली दूसरी बीमारियों जैसे प्रोस्टेट कैंसर (prostate cancer) के होने की सम्भावना को खारिज करने के लिए कुछ परीक्षण करने की आवश्यकता हो सकती है।

प्रोस्टेट के बढ़ने का पता लगाने के बारे में और पढ़ें।

बढ़े हुए प्रोस्टेट का इलाज (Treating benign prostate enlargement)

बढ़े हुए प्रोस्टेट (prostate) का इलाज आपके लक्षणों की गम्भीरता पर निर्भर करता है।

अगर आपको हल्के लक्षण हैं तो आपको आमतौर पर तुरंत इलाज की ज़रूरत नहीं पड़ेगी लेकिन आपको नियमित प्रोस्टेट (prostate) जांच के लिए जाना पड़ेगा।

आपको अपने जीवनशैली में बदलाव की सलाह दी जा सकती है जैसे कि

  • गैस मिश्रित पेय (fizzy drinks), कैफ़ीन और शराब का कम सेवन करें
  • स्वीटनर्स के प्रयोग को सीमित करें
  • रोज़ व्यायाम करें
  • शाम को शराब कम पीयें

BPE के मध्यम से लेकर गंभीर लक्षणों का इलाज करने के लिए आपको दवा दी जा सकती है, जिससे आपके प्रोस्ट्रेट (prostate) के आकार को कम किया जा सके और मूत्राशय को आराम मिल सके।

सर्जरी आमतौर पर प्रोस्टेट (prostate) बढ़ने के केवल उन्हीं सीमित से गम्भीर लक्षणों में निर्धारित की जाती है जो दवाई से ठीक नहीं होते हैं।

प्रोस्टेट (prostate) बढ़ने के बारे में और पढ़ें

प्रोस्टेट बढ़ने से होने वाली कठिनाई (Complications of prostate enlargement)

प्रोस्टेट (prostate) के बढ़ने की वजह से निम्नलिखित परेशानियां हो सकती हैं:

  • पेशाब के रास्ते में संक्रमण (urinary tract infection)
  • एक्यूट यूरिनरी रिटेंशन (acute urinary retention)

एक्यूट यूरिनरी रिटेंशन (acute urinary retention) वह अवस्था है जिसमें आप पेशाब करने में अचानक असमर्थ हो जाते हैं।

AUR के लक्षणों में ये शामिल हैं:

  • अचानक पेशाब करने में असहाय महसूस करना
  • पेट के निचले हिस्से में तेज़ दर्द
  • मूत्राशय (bladder) में सूजन जिसे आप हाथों से महसूस कर सकते हैं

अगर आप एक्यूट यूरिनरी रिटेंशन (AUR) के लक्षणों को महसूस कर रहे हैं तो तुरंत अपने नज़दीकी आपातकालीन विभाग में जाएं।

प्रोस्टेट बढ़ने के लक्षण (Symptoms of benign prostate enlargement)

प्रोस्टेट बढ़ने के लक्षणों में ये शामिल हैं

  • पेशाब करने में मुश्किल होना
  • पेशाब करते वक़्त दबाव महसूस करना
  • पेशाब की कमजोर धार निकलना
  • पेशाब में रुकावट
  • जल्दी-जल्दी पेशाब लगना
  • रात में पेशाब के लिए जल्दी-जल्दी उठना
  • बिना पता चले पेशाब हो जाना (urinary incontinence)

लीकिंग यूरिन तब होता है जब आप आपको अचानक से जोर से पेशाब लगता है और आपके टॉयलेट में जाने से पहले ही पेशाब होने लगता है। इसको अर्ज इंकॉन्टिनेंस (urge incontinence) कहते हैं।

पेशाब का रिसाव तब भी होता है जब आप तनाव में होते हैं। जैसे कि जब आप खांसते ,छींकते हैं या कोई भारी सामान उठाते हैं। इसे स्ट्रेस इंकॉन्टिनेंस (stress incontinence) कहते हैं।

जब पेशाब करने के बाद थोड़ी मात्रा में पेशाब आपके अंडरवियर में गिर जाता है, उसे सबसे सामान्य रिसाव कहते है।

मेडिकल सलाह लेने की जरूरत कब होती है (When to seek medical advice)

आगर आपको नीचे लिखे कोई भी लक्षण है तो अपने डॉक्टर को दिखाएं।

अगर हल्के लक्षण भी हैं तो भी आपको डॉक्टर से दिखाना चाहिए ताकि ये पता लगाया जा सके कि लक्षण किस वजह से हैं।

पेशाब में अगर खून आता है तो डॉक्टर को दिखाना बहुत ज़रूरी है, ताकि पता चल सके कि कहीं कोई गंभीर बीमारी तो नहीं है।

प्रोस्टेट बढ़ने का पता लगाना (Diagnosing benign prostate enlargement)

यह देखने के लिए कि आपकी प्रोस्टेट ग्रन्थि (prostate gland) बढ़ी हुई है, आपको कुछ जाँच करवाने की ज़रूरत पड़ सकती है।

कुछ जांच आपके डॉक्टर द्वारा किये जा सकते हैं और ज़रूरत पड़ने पर अन्य जांच पेशाब की समस्याओं के विशेषज्ञ यूरोलोजिस्ट (urologist) द्वारा किये जा सकते हैं।

डॉक्टर द्वारा किये जाने वाले जांच और परीक्षण (doctor examination and tests)

आपके डॉक्टर आपके लक्षणों, आपको क्या चिंता है और उससे आपके जीवन की गुणवत्ता पर क्या असर हुआ है, उसके बारे में पूछेंगे।

आपको ये पूरा करने के लिए कहा जा सकता है

  • यूरिनरी फ्रीक्वेंसी वॉल्यूम चार्ट (A urinary frequency-volume chart): यह सामन्यतः दिनभर में कितना पानी पीते हैं, कितनी पेशाब करते हैं और दैनिक आधार पर आप कितनी बार अपने मूत्राशय (bladder) को खाली करते हैं साथ ही साथ आपको कोई रिसाव होता है इसका रिकॉर्ड रखेगा।
  • आई पी एस एस प्रश्नावली (IPSS questionnaire): इंटरनेशनल प्रोस्टेट सिम्पटम स्कोर (International Prostate Symptom Score) प्रश्नावली आपके डॉक्टर की यह जानने में मदद करेगी कि आपके लक्षण कितने गम्भीर हैं।

आपके डॉक्टर आपका शारीरिक परीक्षण कर सकते हैं। वह आपके पेट और जननांग के क्षेत्र की जांच कर सकते हैं।

वे आपके गुदा (rectum) की दीवार से आपके प्रोस्टेट ग्रन्थि (prostate gland) की जाँच कर सकते हैं। इसे डिजिटल रेक्टल परीक्षण (digital rectal examination) कहते हैं।

आपकी किडनी ठीक से काम कर रही है कि नहीं यह देखने के लिए आपके डॉक्टर आपको खून की जांच का आदेश दे सकते हैं।

प्रोस्टेट कैंसर (prostate cancer) की जांच के लिए आपको प्रोस्टेट स्पेसिफिक एंटीजन prostate-specific antigen (PSA) खून के जांच की सलाह दी जा सकती है।

यह देखने के लिए आपको डायबिटीज या संक्रमण तो नहीं है, आपको यूरिन जांच के लिए कहा जा सकता है।

यूरोलोजिस्ट के पास जाना (Referral to a urologist)

आपके डॉक्टर आपको यूरोलोजिस्ट (urologist) या किसी अन्य विशेषज्ञ के पास भेज सकते हैं अगर

  • पहले के इलाज आपके पेशाब की समस्या में मदद नहीं करतें
  • पेशाब के लक्षण नहीं जाते हैं और नियमित रूप से वापस आ जाते हैं
  • आप अपना मूत्राशय (bladder) पूरी तरह खाली नहीं कर पाते हैं
  • आपको किडनी की समस्या है
  • आपको स्ट्रेस इंकॉन्टिनेंस (stress incontinence) है : जब आपका मूत्राशय (bladder) दबाव में होता है तब आपका पेशाब रिसने लगता है। उदाहरण के लिए जब आप खांसते या हँसते हैं।

आपको विशेषज्ञ को भी दिखाना चाहिए यदि आपके डॉक्टर चिंतित है कि आपके लक्षण कैंसर के कारण हो सकते हैं, हालांकि ज्यादातर पुरुषों के लिए यह कैंसर का कारण नहीं होते है।

मदद के लिए, पता लगाएं कि आपके लक्षणों का कारण क्या है और यह निश्चित करिये कि इसे अच्छी तरह कैसे ठीक किया जा सकता है। आपको अतिरिक्त जांच के लिए जाना पड़ सकता है, ताकि निम्नलिखित चीजों को मापा जा सके:

  • आपके पेशाब की धारा कितनी तेज़ है
  • आपके पेशाब करने के बाद मूत्राशय (bladder) में कितनी पेशाब रह जाती है।

आपके लक्षणों के आधार पर और आपका जो उपचार चल रहा है, उसके आधार पर आपकी कुछ अन्य जाँच भी की जा सकती है।

बढ़े हुये प्रोस्टेट का इलाज (Treatment for enlarged prostate)

बढ़े हुए प्रोस्टेट (prostate enlargement) का इलाज आपके लक्षणों की गम्भीरता पर निर्भर करता है।

मुख्य इलाज निम्नलिखित हैं:

जीवनशैली में बदलाव (Lifestyle changes)

दवाएं (Medications)

कैथेटर्स (Catheters)

सर्जरी (Surgery)

जीवनशैली में बदलाव (Lifestyle changes)

आप अपने जीवनशैली में साधारण बदलाव करके लक्षणों से आराम पा सकते हैं। जैसे कि

शराब, कैफ़ीन, स्वीटनर्स और कुछ गैस मिश्रित पेय कम पीना; पीने वाली चीज़ें जिसमें शराब मिला हो, कैफ़ीन (चाय, कॉफी, कोला), स्वीटनर्स और गैस मिले हुए पेय पदार्थ मूत्राशय (bladder) को तकलीफ दे सकते हैं और पेशाब सम्बन्धी लक्षणों को और खराब कर सकते हैं।

शाम को कम पीना: कोशिश करें कि शाम को पीने की मात्रा कम हो और सोने से 2 घण्टे पहले कुछ भी पीने से बचें। यह आपको रात में उठने से बचाने में सहायता कर सकता है। यह सुनिश्चित कर लें कि आप दिन में पर्याप्त द्रव्य का सेवन कर रहे हैं।

अपने मूत्राशय (bladder) को खाली करना याद रखें:

लम्बी यात्रा से पहले या जब आपको पता हो कि जहाँ आप जा रहे हैं, वहाँ आप आसानी से शौचालय तक न जा पाएं, उस स्थिति में आप यात्रा से पहले पेशाब करना न भूलें।

डबल वॉइडिंग (double voiding) : इसमें दोबारा जाने से पहले पेशाब करने के बाद थोड़ी देर इंतज़ार करना शामिल होता है। यह आपको मूत्राशय (bladder) पूरी तह खाली करने में मदद करता है। लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि ज्यादा जोर न लगाएं।

दवाईयों की जांच करें: जब भी आप दवा लें अपने डॉक्टर से जांच करवाएं, जैसे कि बास एंटीडिप्रेसेंट (bas anti depressants) या सर्दी खांसी की दवा (decongestants) आपके पेशाब के लक्षणों को और खराब कर सकते हैं।

ज़्यादा फल और फाइबर का सेवन करें: यह आपको कब्ज़ (constipation) से बचाव में सहायता करेंगे। जो आपके मूत्राशय पर दबाव डाल सकता है और प्रोस्टेट बढ़ने के लक्षणों को और खराब कर सकता है।

पैड या शीथ का प्रयोग करें: आप अंडरवियर के अंदर शोषक पैड और पैंट पहन सकते हैं, या आप बिना अंडरवियर पहने भी इन्हें पहन सकते हैं। ये किसी भी तरह के रिसाव को सोख सकते हैं।

ड्रिब्लिंग (dribbling) को सोखने में भी यूरिनरी शीथ मदद कर सकते हैं। वे एक ट्यूब लगे कंडोम की तरह दिखते हैं जो बाहर निकला होता है। ट्यूब एक बैग से जुड़ती है जिसे आप अपने पैरों पर कपड़ों के अंदर बांध सकते हैं।

मूत्राशय परीक्षण (bladder training): मूत्राशय परीक्षण (bladder training) एक तरह का व्यायाम होता है जो आपको देर तक बिना पेशाब किये रहने में मदद करता है और ज़्यादा पेशाब आपके मूत्राशय (bladder) में रोके रहता है। आपको एक लक्ष्य दिया जाएगा जैसे कि हर बार पेशाब करने के बाद आपको 2 घण्टे के लिए इंतज़ार करना होगा।

मूत्राशय परीक्षण चार्ट (bladder training chart) का इस्तेमाल एक अच्छा उपाय है, जो आपको इस बात का रिकॉर्ड रखने में सहायता करता है कि आपने कितनी बार और कितनी मात्रा में पेशाब किया। आपको इसे मापने के लिए एक प्लास्टिक जग की ज़रूरत पड़ सकती है। आपके डॉक्टर घर ले जाने के लिए आपको एक चार्ट दे सकते हैं।

आपको कुछ व्यायाम सिखाये जाएंगे जैसे कि आराम से सांस लेना और छोड़ना, मांसपेशियों का व्यायाम जो आपको पेशाब से दिमाग हटाने में मदद करेंगे।

समय के साथ आपके टार्गेट टाइम को बढ़ाया जाएगा और कार्यक्रम के अंत में आप पाएंगे कि आप बिना पेशाब किये काफी देर तक रह सकते हैं।

इनमें से किसी भी जीवनशैली परिवर्तन के बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या विशेषज्ञ नर्स से बात करें।

दवाएं (Medicines)

अगर जीवनशैली में बदलाव आपकी सहायता नहीं कर रहे हैं या आपके लिए उचित नहीं है तो आपको दवाओं की सलाह दी जा सकती है।

अल्फा ब्लॉकर्स (alpha blockers): प्रोस्टेट ग्रन्थि (prostate gland) के मांसपेशियों और मूत्राशय (bladder) की सतह को कोमल करते हैं और पेशाब करना आसान बनाते हैं। टेम्सुलोसिन (tamsulosin) और अल्फुज़ोसिन (alfuzosin) सामान्य अल्फा ब्लॉकर्स हैं, जिनका इस्तेमाल किया जाता है।

अगर मूत्राशय (bladder) अधिक क्रियाशील है, तो एंटीकोलिनर्जिक (anticholinergic) उसे आराम देता है।

5 अल्फा रिडक्टेज इंहैबिटर्स (5 alpha reductase inhibitors): प्रोस्टेट ग्रन्थि (prostate gland) अगर बढ़ी हुई है तो उसे सिकोड़ता है। फाइनस्टेराइड (finasteride) और ड्यूटासेराइड (dutasteride) दो उपलब्ध 5-अल्फा रिडक्टेज इंहैबिटर्स (5 alpha reductase inhibitors) हैं।

डाइयुरेट्इक (diuretic): पेशाब के बनने में तेज़ी लाता है। अगर आपने इसे दिन के दौरान लिया है तो यह रात में पेशाब बनने की मात्रा को कम करता है।

डेस्मोप्रेसिन (desmopressin): पेशाब लगना धीमा करता है इसलिए रात में पेशाब का कम होती है।

आपके डॉक्टर आपको पेशाब के लक्षणों को ठीक करने के लिए होमियोपैथी homeopathy), हर्बल इलाज (herbal treatment) या एक्यूपंक्चर acupuncture) की सलाह नहीं देंगे।

क्योंकि इनके बारे में कोई विश्वसनीय सबूत नहीं है कि ये कितने अच्छे से कार्य करते हैं या ये कितने सुरक्षित हैं।

हर्बल उपचार (herbal treatment) भी दुष्प्रभाव का कारण बन सकता है या अन्य दवाओं के साथ रिएक्शन कर सकता है।

कैथेटर (catheters)

अगर आपको पेशाब करने में परेशानी जारी रहती है, एक स्थिति जिसे स्थायी यूरीन रिटेंशन (chronic urine retention) कहते हैं, तो आपको अपना मूत्राशय (bladder) खाली करने के लिए एक कैथेटर (catheter) की ज़रूरत पड़ सकती है।

कैथेटर (catheter) एक नरम ट्यूब होता है जो पेशाब को मूत्राशय (bladder) से शरीर के बाहर निकालता है। इसे पेशाब के रास्ते (urethra) या पेट के अंदर प्यूबिक हड्डी के ऊपर छोटे छेद में डाला जाता है।

आपको रिमूवेबल कैथेटर या लम्बे समय तक आपके पेट में रहने वाले कैथेटर की सलाह दी जा सकती है।

सर्जरी (surgery)

ज़्यादातर लोगों में सर्जरी करवाने की ज़रूरत नहीं पड़ती है लेकिन जब अन्य इलाज काम ना करें, तो यह भी एक विकल्प हो सकता है।

ट्रांस यूरेथ्रल रिसेक्शन ऑफ प्रोस्टेट (transurethral resection of the prostate) (TURP) में एक ट्यूब के इस्तेमाल से, जो मूत्रमार्ग (urethra) से डाला जाता है, उससे प्रोस्टेट ग्रन्थि के भाग को निकाल दिया जाता है। जिन पुरुषों के प्रोस्टेट बढ़ गए होते हैं उनके लिए TURP उचित है।

प्रोस्टेटैक्टॉमी को खोलना (open prostatectomy): प्रोस्टेटैक्टॉमी में एक चीरे की सहायता से प्रोस्टेट ग्रन्थि (prostate gland) को निकाला जाता है। यह प्रक्रिया उन पुरुषों के लिए ठीक है जिनका प्रोस्टेट निश्चित साइज़ से ज़्यादा बढ़ा है।

सिस्टोप्लास्टि (cystoplasty): सिस्टोप्लास्टी (cystoplasty) आंत से मूत्राशय (bladder) की दीवार में ऊतक के एक टुकड़े को सिल कर मूत्राशय (bladder) के आकार को बढ़ाने की एक प्रक्रिया है। यह बाधा उन पुरुषों की मदद कर सकती है जिनके मूत्राशय (bladder) की मांसपेशियां सिकुड़ने से पहले भर जाती हैं।

बोटुलिनम टॉक्सिन (botulinum toxin) इस प्रक्रिया में मूत्राशय की दीवारों में बोटुलिनम टॉक्सिन (botulinum toxin) का इंजेक्शन लगाया जाता है। यह बाधा उन पुरुषों की मदद करती है जिनका मूत्राशय (bladder) भरने से पहले मूत्राशय (bladder) की मांसपेशियां संकुचित हो जाती हैं।

इम्प्लांटेड सेक्रल नर्व रुट स्टिमुलेशन (Implanted sacral nerve root stimulation): त्वचा के अंदर एक इलेक्ट्रॉनिक यंत्र डाला जाता है जो मूत्राशय (bladder) और यूरिन सिस्टम के बढिया नियंत्रण के लिए डाला जाता है। यह उन पुरुषों के लिए उचित है जिनका मूत्राशय (bladder) भरने से पहले मूत्राशय (bladder) की मांसपेशियां संकुचित हो जाती हैं।

यूरिनरी डायवर्जन (urinary diversion): इसमें ट्यूब्स को जोड़ा जाता है जो शरीर के बाहर से होते हुए किडनी से मूत्राशय तक जुड़ी होती हैं इससे पेशाब बिना मूत्राशय में गए एकत्रित हो जाता है। यह प्रक्रिया उन पुरुषों के लिए ठीक है जिनके लक्षण, खुद से ली दवाओं से ठीक नहीं होते और जो सिस्टोप्लास्टि (cystoplasty) और सेक्रल नर्व रुट स्टिमुलेशन (sacral nerve root stimulation) नहीं करवाना चाहते हैं।

NHS के मूल कॉन्टेंट का अनुवादHealthily लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।