1 min read

केलॉइड स्कार्स या निशान (Keloid scars)

मेडिकली रिव्यूड

कुछ घावों की वजह से होने वाले दाग़, उस घाव की अपेक्षा गांठदार और बड़े हो जाते हैं - इसे केलॉइड स्कारिंग (keloid scarring) या केलॉइड दाग़ कहते हैं। किसी को भी केलॉइड स्कार हो सकता है, लेकिन काली त्वचा के लोगों में ये ज़्यादा आम है, जैसे अफ्रीकी, अफ्रीकी-कैरिबियन और दक्षिण भारतीय समुदायों के लोग।

केलॉइड स्कार्स (दाग़) क्या होते हैं?

जब त्वचा फटती है - उदाहरण के तौर पर, कटने, काटने, खरोंच लगने, जलने, मुहांसो की वजह से या चुभने और छेद होने पर - शरीर एक प्रकार के प्रोटीन का अधिक उत्पादन करता है, इसे कोलेजन (collagen) कहते हैं।

कोलेजन प्रभावित त्वचा के आसपास जमा हो जाता है और उसका निर्माण घाव को सील करने में मदद करता है। इस प्रकार बनने वाला निशान कुछ समय बाद हल्का पड़ जाता है, और नर्म होकर कम नज़र आने लगता है।

लेकिन कुछ दाग़ों (scars) का बढ़ना कम नहीं होता है, वे स्वस्थ त्वचा पर हमला करते रहते हैं और दाग़ मूल घाव से बड़े हो जाते हैं। इनको केलॉइड स्कार्स कहा जाता है। यह सभी घावों में से लगभग 10 से 15 प्रतिशत तक को प्रभावित करते हैं।

केलॉइड स्कार्स सामान्यतः छाती के ऊपरी हिस्सों, कंधों, सर (ख़ासकर ईयरलोब्स) और गर्दन पर बनते हैं, लेकिन ये कहीं पर भी बन सकते हैं।

सामान्य तौर पर ये:

  • चमकीले होते हैं
  • बाल रहित होते हैं
  • आसपास की त्वचा से ऊपर उठे हुए होते हैं
  • कठोर और रबर जैसे होते हैं
  • भूरे या पीले होने से पहले, लाल और बैंगनी रंग के होते हैं

ये सालों तक बने रह सकते हैं और कभी-कभी शुरुआती चोट के महीनों या सालों के बाद विकसित होते हैं।

अक्सर ये दर्दरहित होते हैं, लेकिन कुछ की वजह से निम्न समस्याएं हो सकती हैं:

  • दर्द
  • दबाने पर पीड़ा (Tenderness)
  • खुजली
  • जलन महसूस होना
  • यदि यह जोड़ों को असर करता है तो जोड़ों की हरकत कम हो सकती है

कई लोगों को इस की वजह से शर्मिंदगी और परेशानी महसूस होती है क्योंकि उन्हें लगता है कि यह दाग उन्हें करुप बना रहा है।

विशेषज्ञ पूरी तरह से नहीं समझ सके हैं कि केलॉइड स्कार्स कैसे बनते हैं। वे संक्रामक नहीं होते हैं और ना ही कैन्सर में बदल सकते हैं।

केलॉइड स्कार्स कभी-कभी त्वचा पर छोटी सी क्षति से बन जाते हैं, जैसे जलना, मुहांसों के दाग और यहां तक कि चेचक (chicken pox)। लेकिन कभी-कभी ये पूर्व में हुए त्वचा पर आघात के बिना भी अनायास बन सकते हैं। यदि आपको पहले से केलॉइड स्कार है, तो आपको ये और हो सकते हैं।

केलॉइड स्कार्स किसे होते हैं?

केलॉइड स्कार्स किसी को भी हो सकते हैं, लेकिन सामान्यतः ये सांवली या काली त्वचा पर होते हैं और यह भी समझा जाता है कि ये आनुवंशिक भी हो सकते हैं। आमतौर पर 10 से 30 साल की उम्र के लोगों में इसके होने की सम्भावना ज़्यादा होती है।

क्या केलॉइड स्कार्स की रोकथाम कर सकते हैं?

आप केलॉइड स्कार्स की पूरी तरह से रोकथाम नहीं कर सकते, लेकिन त्वचा को जानबूझकर कर काटना जैसे टैटूज या कोई छेद करना, जिसमें कान छेदना भी शामिल है, से परहेज कर सकते हैं।

मुहांसों का इलाज करने से मुहांसों के निशान को होने से रोका जा सकता है। यदि संभव हो, तो त्वचा के उन हिस्सों में जहां पर केलॉइड स्कार्स होने की आशंका हो, में छोटी-मोटी सर्जरी कराने से बचना चाहिए, जैसे- छाती का ऊपरी हिस्सा, पीठ और ऊपरी भुजा।

केलॉइड स्कार्स का उपचार

इसके बहुत सारे उपचार उपलब्ध हैं, लेकिन कोई भी उपचार दूसरे उपचार से अधिक प्रभावशाली नहीं है। उपचार कठिन हो सकता है और हमेशा सफल नहीं रहता।

केलॉइड को सपाट करने में निम्न उपचार सहायक हो सकते हैं:

  • स्टेरॉयड इन्जेक्शंस (steroid injections)
  • दिन में बारह घंटों तक स्टेरॉयड लगे हुए टेप (steroid-impregnated tape) का इस्तेमाल
  • कई महीनों तक सिलिकॉन जैल (silicone gel) की शीट का प्रयोग

अन्य उपायों में निम्न शामिल हैं:

  • शुरू में बनते केलॉइड को लिक्विड नाइट्रोजन (liquid nitrogen) से जमाकर उसको बढ़ने से रोकना
  • लेज़र उपचार से उसके लालपन को कम करना - लेकिन इससे दाग़ छोटा नहीं होता
  • केलॉइड को हटाने के लिए सर्जरी, कभी-कभी बाद में रेडियोथेरेपी (radiotherapy) की जाती है, पर केलॉइड फिर बन सकता है और पहले से बड़ा हो सकता है

यदि आप केलॉइड स्कार से परेशान हैं और सहायता चाहते हैं, तो अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

NHS के मूल कॉन्टेंट का अनुवादYOURMD लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।