अगर घर पर रहने के दौरान आप घरेलू हिंसा का शिकार हो रही हैं, तो आपके पास क्या विकल्प है?

14th April, 2020 • 3 min read

संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के अनुसार:'विश्व भर में हम हिंसा में भयावह रूप से बढ़ोत्तरी देख रहे हैं' जो दुनिया भर के देशों में हो रहे लॉकडाउन से जुड़ा हुआ प्रतीत हो रहा है।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है। यह Meera Senthilingam द्वारा लिखा गया है और Healthily's medical team ने इसकी मेडिकल समीक्षा की है।

कुछ देशों में ये मामले दोगुना बढ़ गए हैं।

लॉकडाउन कुछ लोगों को हिंसक पार्ट्नरों के साथ रहने को मजबूर कर रहा है, और प्रतिबंधन की वजह से हो रहे सामाजिक अलगाव और आर्थिक दबाव की वजह से घरेलू हिंसा और बढ़ रही है।

और यह सब एक ऐसे समय में हो रहा है जब स्वास्थ्य और आपातकालीन सेवाएं अत्यंत व्यस्त हैं, गुटेरेस ने बताया।

आम धारणा के विपरीत, घरेलू हिंसा केवल महिलाओं को प्रभावित नहीं करती है और इसका तात्पर्य सिर्फ़ पति पत्नी के बीच शारीरिक हिंसा नहीं है। रिश्तों में या परिवार के सदस्यों के बीच शारीरिक या मानसिक हिंसा में यौन, मौखिक, भावनात्मक और पैसे से सम्बंधित मामले(जैसे कि किसी के पैसे का सभी का उपयोग करना) शामिल हैं।

आप पास क्या विकल्प हैं?

यदि आप घरेलू हिंसा से प्रभावित हैं, तो कुछ बातों पर अमल कर आप अपनी सुरक्षा कर सकते हैं।

मदद माँगें

अपने स्थानीय या राष्ट्रीय घरेलू हिंसा में मदद करने वाली संस्थाएँ को ऑनलाइन सम्पर्क करें या हेल्पलाइन
पर कॉल करें।

अधिकांश देशों और शहरों की अपनी सेवाएँ होती हैं।

भारत में राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) ने घरेलू हिंसा के मामलों को रिपोर्ट करने के लिए एक व्हाट्सएप नंबर लॉन्च किया है, जिसमें कोरोनोवायरस लॉकडाउन अवधि के दौरान वृद्धि देखी गई है।
NCW ने कहा कि WhatsApp नंबर --7217735372 - पर आप ऑनलाइन शिकायत भेज सकते हैं।

एक सुरक्षा योजना बनाएं

भले ही आपको घर में रहने के लिए कहा गया हो, पर यदि आप हिंसा का सामना कर रहे हैं तो अपने घर से निकल कर बाहर की मदद लेना बेहतर है।

यदि आप खतरे में हैं तो योजना बनाएं और घर से जाने की तैयारी करें। यदि आप बाहर नहीं निकल सकते हैं, तो पुलिस को फोन करें या अपने किसी मित्र या परिवार के किसी सदस्य से कॉल करने को कहें।

योजना कैसे बनाएँ:

  • जिस दोस्त, परिवार के सदस्य या पड़ोसी पर आप भरोसा करते हैं, उसे चुनें। उन्हें अपनी स्थिति के बारे में बताएं की आपको ख़तरा है
  • दोस्तों और परिवार के साथ एक कोड वर्ड पर सहमत हों ताकि वे पुलिस को कॉल कर सकें, यदि आप ख़ुद कॉल करने में असमर्थ हैं
  • यदि सम्भव हो तो दोस्तों या परिवार के पास ओवरनाइट बैग रख दें
  • यदि आपके बच्चे हैं, तो सुनिश्चित करें कि वे जानते हैं कि आपके घर में कौन सी जगह सुरक्षित है
  • पुलिस को फोन करने से न डरें, और अपने बच्चों को भी इसके बारे में सिखाएँ
  • लॉकडाउन के बावजूद, यदि आपको तत्काल घर छोड़ने की आवश्यकता है, तो उसकी योजना का पूर्वाभ्यास करें
  • अगर आप बिना ध्यान आकर्षित किए, पैसा अलग रख सकते हैं तो ऐसा करें। और बैंक कार्ड और एक छोटी राशि हर समय अपने पास रखें
  • अगर आपके पास मोबाइल फोन है, तो उसे हर समय अपने पास रखें

रेफ़्रेन्स:

Tweet by Secretary-General of the United Nations António Guterres.[Internet] Twitter.com 2020 [Cited 14 April]. Available

here
.

Coronavirus (Covid-19): Support for victims of domestic abuse. [Internet] gov.uk [Cited 14 April]. Available

here
.

Domestic violence and abuse [Internet] nhs.uk [cited 14 April]. Available

here
.

Tweet by Official Account of the National Commission for Women

here
.

What is financial abuse? [Internet] Womensaid.org.uk [Cited 14 April]. Available

here
.

Coronavirus: Safety tips for survivors [Internet] Refuge.org.uk [Cited 14 April]. Available

here
.

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।