1 min read

लड़कियों का शरीर (प्रश्न-उत्तर)

मेडिकली रिव्यूड

यौवनावस्था का आरम्भ या प्यूबर्टी एक असमंजस या भ्रम की स्थिति हो सकती है- जैसे-जैसे आप बड़ी होती हैं, आपका शरीर और भावनाएं बदलती हैं। यहाँ कुछ उन सवालों के जवाब दिए गए हैं जो लड़कियाँ अपने शरीर के बारे में पूछती हैं।

प्यूबर्टी किस उम्र में शुरू होती है?

आपको शायद दस साल की उम्र के बाद से ही बदलाव दिखने लगेंगे, पर इसके शुरू होने का कोई सही या गलत समय नहीं है। कुछ लोग इस अवस्था से अन्य के मुकाबले देर से गुजरते हैं। यह सामान्य है। अगर 16 साल की उम्र तक यौवनावस्था के कोई लक्षण नहीं हैं तो आपको डॉक्टर से जांच कराने की जरूरत है।

लड़कियों और यौवनावस्था के बारे में और जानें।

क्या योनि से स्राव होना सामान्य है?

हाँ, यह बिल्कुल सामान्य है। प्यूबर्टी से गुजरते समय लड़कियों में योनि स्राव (द्रव्य) बनने की मात्रा बढ़ जाती है और योनि व गर्भाशय ग्रीवा या सर्विक्स की ग्रन्थियों के हॉर्मोन्स काम करना शुरू कर देते हैं। यह द्रव्य योनि के हिस्से को नम रखता है और इसे संक्रमण व क्षति से बचाता है।

यौवनावस्था से पहले, अधिकांश लड़कियों को बहुत कम स्राव होता है। यौवनावस्था के बाद, जो चीज एक लड़की के लिए सामान्य है वह दूसरी के लिए नहीं होगा। कुछ में बहुत ज्यादा द्रव्य बनता है और कुछ में बहुत कम।

जब आपका मासिक धर्म शुरू होता है, तब आप शायद यह ध्यान देंगी कि मासिक चक्र के दौरान अलग-अलग समय पर आपका स्राव बदलता रहता है।यह रंगहीन या क्रीम जैसा सफेद हो सकता है, और यह और ज्यादा चिपचिपा हो सकता है व इसकी मात्रा बढ़ सकती है।

मेरे स्राव में से गन्ध आती है। क्या यह सामान्य है?

अगर आपकी योनि का हिस्सा खुजली भरा या सूजा हुआ है तो यह सामान्य नहीं है। इन लक्षणों का अर्थ है कि आपको कोई संक्रमण है, जैसे थ्रश, जो आम है और जिसका आसानी से इलाज हो सकता है।

अगर स्राव गंधयुक्त व हरा हो जाता है और आपने बिना कंडोम के यौन संबंध बनाए हैं, तो यह खतरा है कि आप सेक्सुअली ट्रांसमिटेड इंफेक्शन या यौन-क्रिया द्वारा होने वाले संक्रमण( एसटीआई) से ग्रसित हैं।

अगर आपका स्राव आपके उस स्राव से अलग है जो आपको आमतौर पर होता है तो, डॉक्टर या नर्स से मिलें। अगर आप 16 साल से कम की हैं तो भी सलाह मुफ्त और गुप्त है।

अपनी योनि को साफ व स्वस्थ कैसे रखें के बारे में और पढ़ें।

मेरा मासिक चक्र कब शुरू होना चाहिए?

लड़कियों का मासिक धर्म सामन्यतया, 10 से 16 की उम्र के बीच शुरू हो जाता है। अधिकांश लड़कियों को 12 साल की उम्र के आसपास यह शुरू होता है। क्योंकि हर किसी के विकास की दर अलग होती है इसलिए किसी लड़की के लिए मासिक धर्म शुरू होने की कोई गलत या सही उम्र नहीं होती।

जब आपका शरीर तैयार होगा, तब आपका मासिक धर्म शुरू हो जाएगा, और आप इसे जल्दी या देर से शुरू करने के लिए कुछ नहीं कर सकते।

अगर 16 साल की उम्र तक आपका मासिक धर्म शुरू नहीं हुआ है तो अपने डॉक्टर से जांच के लिए मिलें।

मासिक धर्म शुरू होने पर आपको क्या इस्तेमाल करना चाहिए?

अपने पहले मासिक धर्म की तैयारी के लिए अपने साथ घर पर सैनिटरी पैड (जिन्हें कभी कभी सैनिटरी टॉवल भी कहते हैं) या टैम्पोन्स रखें , और कुछ अपने बैग में भी रखें।

टैम्पोन्स और पैड्स दोनो ही सुरक्षित व उचित हैं। हालांकि आप पहले मासिक धर्म के लिए पैड्स इस्तेमाल करना बेहतर समझेंगी क्योंकि टैम्पोन्स के इस्तेमाल का अभ्यस्त होने में थोड़ा वक्त लग सकता है।

सैनिटरी पैड्स आपके अंतर्वस्त्रों के स्तर पर चिपक जाते हैं और योनि से निकलने वाले रक्त को सोख लेते हैं। टैम्पोन्स को योनि के अंदर लगाया जाता है और वो रक्त को योनि से बाहर निकलने के पहले ही सोख लेते हैं। टैम्पोन्स में एक धागा होता है जो योनि से बाहर लटकता रहता है और आप टैम्पोन को हटाने के लिए इस धागे को खींच लेती हैं।

सैनिटरी पैड्स और टैम्पोन्स को टॉयलट में नहीं बहाना है। उनको कागज में लपेट कर कूड़ेदान में डालना होता है। अधिकतर महिला टॉयलेट्स या प्रसाधन गृहों में सैनिटरी उत्पादों के लिए अलग से विशेष डब्बे रखे होते हैं।

खून के हल्के , मध्यम और तेज बहाव के लिए अलग अलग तरह के टैम्पोन्स और सैनिटरी पैड्स आते हैं। जिसमे आप सबसे ज्यादा सुविधाजनक महसूस करती हैं उसे इस्तेमाल करिए। अलग-अलग प्रकारों को इस्तेमाल करें जब तक कि वो मिल जाये जो आपके लिए उचित है। अपने मासिक धर्म के दौरान आपको अलग-अलग समय पर अलग अलग तरह के इस्तेमाल करने की जरूरत हो सकती है। आपको अपने पैड्स या टैम्पोन्स को एक दिन में कई बार बदलने की जरूरत होगी।

आपको पैकेट पर उनको किस तरह इस्तेमाल करना है के निर्देश लिखे मिल जाएंगे। सैनिटरी पैड्स और टैम्पोन्स सुपर मार्केट्स, दवाखानों और कुछ अखबार के एजेंटों व पेट्रोल स्टेशन पर भी उपलब्ध होते हैं।

टॉक्सिक शॉक सिंड्रोम (टीएसएस) (toxic shock syndrome (TSS),एक जानलेवा संक्रमण है। किन्ही अनजान कारणों की वजह से इसके बहुत ज्यादा मामले उन महिलाओं में पाए जाते हैं जो टैम्पोन्स, खासकर ज्यादा सोखने(भारी बहाव) वाले का इस्तेमाल करती हैं।

अगर आप माहवारी या मासिक धर्म से जुड़ी किसी बात से चिंतित हैं या अधिक जानकारी चाहती हैं तो किसी बड़ी उम्र की महिला, जैसे आपकी मां, बड़ी बहन , स्कूल शिक्षिका या नर्स से बात करें। आपका डाक्टर या स्थानीय गर्भनिरोधक या युवा क्लीनिक भी मदद कर सकता है।

सामान्य मासिक धर्म की अवधि कितनी होती है?

अगर आपका मासिक आपकी मित्र के मासिक जितना नहीं है तो परेशान मत हों। हर लड़की अलग होती है। रक्तस्राव आठ दिन तक रह सकता है हालांकि यह सामन्यतया 5 दिन तक रहता है। शुरू के दो दिन में रक्तस्राव सबसे ज्यादा होते हैं।

आपके मासिक धर्म के दौरान आपका रक्तस्राव बहुत ज्यादा होता हुआ लगता है परंतु वास्तव में सिर्फ 5 से 12 चाय के चम्मच जितना खून बहता है। हालांकि आपको ऐसी माहवारी भी हो सकती है जो सामान्य से ज्यादा हो। इसे मेनोरहेजिया(menorrhagia) कहते हैं और इसके इलाज के लिए दवा होती है, इसलिए अगर आप चिंतित हैं तो अपने डॉक्टर से बात करें। यह देखने के लिए कि क्या आपकी माहवारी ज्यादा है, आप अधिक स्राव वाली माहवारी की स्वयं जांच भी कर सकती हैं।

मसिक धर्म की आम अवधि (आपकी माहवारी के पहले दिन से अगली माहवारी के एक दिन पहले तक) 28 दिन होती है, मगर इसका 24 से 35 दिन होना भी सामान्य है।

आपके हॉर्मोन का चक्र आपको भावनात्मक और शारीरिक रूप से प्रभावित कर सकता है। कुछ स्त्रियों में कोई लक्षण नहीं होते पर मासिक धर्म होने के कुछ पहले दिनों में आपमें प्री-मेंसुरल सिंड्रोम के लक्षण हो सकते हैं। इन लक्षणों में आते हैं:

  • सरदर्द
  • पेट फूलना
  • चिड़चिड़ापन
  • कमरदर्द
  • अवसादग्रस्त महसूस करना
  • भावुक या परेशान महसूस करना
  • नींद आने में तकलीफ
  • ध्यान केंद्रित करने में तकलीफ
  • स्तनों में सूजन या नरम होना
  • 1 किलो तक वजन बढ़ जाना

एक बार आपका मासिक धर्म शुरू हो जाता है तो ये लक्षण आमतौर पर सुधर जाते हैं। आपके मासिक धर्म खत्म होने पर ये गायब हो जाते हैं।

कभी-कभी मासिक धर्म दर्दनाक भी हो सकता है। दर्द का सटीक कारण पता नही है पर आपके पेट, कमर या योनि में पीड़ा हो सकती है। यह आपके मासिक धर्म के शुरू होने के थोड़ा ही पहले शरू होती है और कुछ दिन बाद तक बनी रह सकती है। पीड़ा-निवारक गोलियां मददगार हो सकती हैं।

दर्दनाक मासिक धर्म के उपचार के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करें

क्या होगा अगर मेरा मासिक धर्म देर से आता है ?

अगर आप अपने मासिक धर्म के बारे में चिंतित हैं तो अपने डॉक्टर या स्थानीय सामुदायिक गर्भनिरोधक या युवा लोगों के क्लिनिक पर जाएं।

लड़कियों का मासिक धर्म कई अलग-अलग कारणों , जिसमे तनाव भी शामिल है, से अनियमित हो सकता है। मासिक धर्म के देर से होने का एक अन्य कारण गर्भावस्था है। अगर आपने गर्भ निरोधक के बिना यौन संबंध बनाए हैं और आपका मासिक धर्म मे देर हो गयी है तो जितनी जल्दी हो सके उतनी जल्दी गर्भावस्था परीक्षण करें।

आपको आपके स्थानीय डॉक्टर, गर्भनिरोधक क्लिनिक या युवा लोगों के क्लीनिक पर परीक्षण की किट या डिब्बा मिल जायेगा। आप दवाखाने या सुपरमार्केट से यह किट खरीद कर यह गर्भावस्था परीक्षण खुद भी कर सकती हैं।

क्या मेरे स्तन बहुत छोटे हैं?

नहीं। हर स्त्री अलग होती है और हर किसी का शरीर अपनी खुद की दर पर विकसित होता है। इस बारे में चिंता ना करें कि कौन सा आकार 'सामान्य' है।

कैसे पता चलेगा कि क्या मुझे स्तन कैंसर है?

किशोरियों में स्तन कैंसर होना असामान्य है। स्तनों में गांठें, उभार या बदलाव होना सामान्य है, और इनमे से अधिकतर कैंसर वाले नहीं होते(benign)।

आपके स्तनों की जांच की कोई निश्चित प्रक्रिया नहीं है, मगर आपको उनके बारे में पता होना चाहिए कि वे कैसे दिखते और महसूस होते हैं ताकि अगर कोई बदलाव आए तो आपको पता चल जाए। आपके स्तनों के आकार में परिवर्तन आना और मासिक धर्म के दौरान उनका कोमल या थोड़ा दर्दीला हो जाना सामान्य है।

मुझे सरवाईकल स्क्रीनिंग जांच(cervical screening test) की जरूरत कब है?

सरवाईकल स्क्रीनिंग टेस्ट (जिसे स्मीयर जांच (smear test) कहते हैं) वह जांच है जिसमे स्त्री की सर्विक्स (योनि के ऊपर स्थित) से कोशिकाओं को उनमे हुए उन बदलावों की जांच के लिए लिया जाता है, जो सरवाईकल कैंसर में बढ़ सकते हैं।

अगर सरवाईकल स्क्रीनिंग से शुरुआत में ही पता चल जाए तो सरवाईकल कैंसर को रोका जा सकता है।

हाइमन (hymen) क्या है?

हाइमन (hymen) त्वचा का वह घेरा है जो योनि के खुलने वाले स्थान को ढकता है। यह योनि को पूरी तरह से नहीं ढक देता । हर लड़की हायमन के साथ पैदा होती है पर यह टैम्पोन्स के इस्तेमाल से, खेलने कूदने से ब अन्य क्रियाओं जैसे, यौन संबंध बनाने से फट सकती है।

क्या दवा(गर्भनिरोधक) खाने से आप का वजन बढ़ जाता है?

नहीं। ऐसा कोई प्रमाण नहीं है कि गर्भनिरोधक खाने से वजन बढ़ता है। कुछ लड़कियों और स्त्रियों में गोली खाते समय वजन बढ़ जाता है, मगर यह उन लड़कियों और स्त्रियों में भी बढ़ता है जो गोली नहीं खाती हैं।

अगर आपके गर्भनिरोधक गोलियों या गर्भनिरोधक उपायों , जैसे, इंजेक्शन, इम्प्लांट या पैच से जुड़े कोई सवाल हैं तो किसी डॉक्टर, स्थानीय गर्भनिरोधक क्लीनिक या युवा क्लिनिक पर जाएं। अगर आप 16 से कम उम्र की हैं तो भी, आपको यौन संबंध, गर्भनिरोधक और गर्भपात के बारे में मुफ्त और गुप्त सलाह मिल जाएगी।

अगर आप अपने मासिक धर्म के दौरान सम्भोग करती हैं तो क्या आप गर्भवती हो सकती हैं?

हाँ। अगर कोई लड़की मासिक धर्म के दौरान किसी भी समय किसी लड़के के साथ सम्भोग करती है तो वो गर्भवती हो सकती है, और पहली बार संभोग करने पर भी गर्भवती हो सकती है।

इसलिए, आपको गर्भनिरोधक का इस्तेमाल हमेशा करना चाहिए। बहुत से अलग-अलग तरीके हैं, जिनमे शामिल हैं:

  • कम्बाइंड गोलियां
  • कंडोम्स(स्त्री-पुरूष दोनो के लिए)
  • कॉन्ट्रासेप्टिव कैप
  • गर्भनिरोधक इम्प्लांट
  • गर्भनिरोधक इंजेक्शन
  • गर्भनिरोधक पैच
  • डायाफ्राम(diaphragms)
  • इंट्रायूट्राइन डिवाइस(आईयूडी) (intrauterine device) (IUD)
  • मिरेना (mirena) (इंट्रायूट्राइन सिस्टम या आईयूएस) (intrauterine system)
  • प्राकृतिक परिवार नियोजन
  • प्रोजेस्टिन-ओनली-गोली (progestogen only pill) (मिनी पिल) (mini-pill)
  • योनि-रिंग (vaginal rings)

सिर्फ कंडोम आपको एसटीआई (STI) और गर्भावस्था से बचा सकते हैं, इसलिए हर बार यौन संबंध बनाते समय कंडोम का और साथ ही अपने द्वारा चुने गए गर्भनिरोधक तरीके का इस्तेमाल करें।

क्लाइटोरिस(clitoris) क्या है?

क्लाइटोरिस(clitoris) योनि के द्वार पर पाया जाने वाला छोटा, कोमल उभार है। यह बहुत संवेदी होता है और इसे छूने या उत्तेजित करने से यौन सुख की तीव्र अनुभूति होती है। अधिकतर लड़कियां इस तरह से हस्त मैथुन करती हैं। अधिकतर लड़कियों और स्त्रियों में यौन क्रिया के दौरान चरम आनंद को पाने के लिए क्लाइटोरिस (clitoris) को उत्तेजित करना होता है।

सामग्री का स्त्रोतNHS लोगोnhs.uk
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

आगे क्या पढ़ें
जब यौन संबंध जोखिम भरा हो जाए
असुरक्षित यौन संबंध काफी खतरनाक हो सकता है। ऐसा करने से गर्भ धारण होने का खतरा और यौन सम्बंधित संक्रमण, और एचआईवी (HIV) संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है, ज...
पुरुष कंडोम : तथ्यों को जानें
पुरुषों के कंडोम के बारे में बहुत सारी निराधार जानकारियाँ प्रचलित हैं। इनका इस्तेमाल करने से पहले , इस बात को सुनिश्चित करें कि आप इसके तथ्यों को जानत...
सेक्सटिंगः क्या आप इसके खतरे जानते हैं?
अपने किसी जानने वाले को सेक्स संदेश या अपनी सेक्स से जुड़ी तस्वीरें भेजने से हो सकता है कोई नुकसान न हो लेकिन अगर ये किसी दूसरे के हाथ लग गईं तो क्या ...