1 min read

प्यूबिक लाइस (क्रैब्स)

मेडिकली रिव्यूड

प्यूबिक लाइस क्या है?

प्यूबिक लाइस(थाइरस प्यूबिक) छोटे परजीवी कीट होते हैं, जो मानव शरीर के कुछ खास हिस्से में पाए जाते हैं, जैसे- जननांग के बाल।

प्यूबिक लाइस(थाइरस प्यूबिक) छोटे परजीवी कीट होते हैं, जो मानव शरीर के कुछ खास हिस्से में पाए जाते हैं, जैसे- जननांग के बाल।

ये शरीर के क़रीबी संपर्क के जरिए फैलते हैं, सबसे आम है- यौन संबंध।

प्यूबिक लाइस होने के बाद इसके लक्षण दिखने में पांच दिनों से लेकर कई हफ्तों तक लग सकते हैं। इसके लक्षणों में शामिल हैं -

  • प्रभावित जगहों पर खुजली
  • खुजलाने की वजह से प्रभावित जगहों पर सूजन या जलन
  • अंतवस्त्र में काला पाउडर
  • त्वचा पर नीले रंगे के धब्बे जहां जूं रह रहा है। जैसे- आपकी जांघों पर या पेट के निचले हिस्से पर (ऐसा जूं के काटने की वजह से होता है)
  • आपके अंत:वस्त्र या त्वचा पर खून के छोटे-छोटे धब्बे।

प्यूबिक लाइस के लक्षणों के बारे में और पढ़ें

जननांग के बालों के साथ-साथ प्यूबिक लाइस कभी-कभी इनमें भी होते हैं:

  • बगल और पैर के बालों में
  • छाती के बाल, पेट और पीठ पर
  • चेहरे के बाल जैसे- दाढ़ी और मूंछों पर
  • पलकों और भौंहों पर(बहुत कम)

प्यूबिक लाइस को कभी-कभी क्रैब लाइस कहा जाता है क्योंकि वे केकड़े जैसे दिखते हैं। वयस्क जूं करीब दो मिलीमीटर लंबे होते हैं और रंग में पीले-भूरे या मटमैले होते हैं। जूं अपने अंडों को बालों की जड़ों से जोड़ देते हैं। इन अंडों को सेने के बाद जो सफेद खोल छूट जाते हैं, उन्हें निट कहा जाता है।

ये जूं एचआईवी या कोई अन्य यौन प्रसारित संक्रमण(एसटीआई, STI) नहीं फैलाते हैं लेकिन अगर आपको प्यूबिक लाइस है तो यौन स्वास्थ्य चेकअप कराने की सलाह दी जाती है।

प्यूबिक लाइस सिर के जूं जैसे नहीं होते और आपके सर के बालों पर नहीं रहते हैं।

आपको प्यूबिक लाइस कैसे होता है?

प्यूबिक लाइस खराब व्यक्तिगत साफ-सफाई से जुड़ा नहीं होता है। यह जिस व्यक्ति को होता है, उससे करीबी शारीरिक संपर्क के जरिए फैलता है। ये जूं बालों से बालों में चले जाते हैं लेकिन ये उड़ या कूद नहीं सकते हैं। इन्हें जिंदा रहने के लिए मानव शरीर की जरूरत होती है। इसलिए सामान्यत: एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में जाने के लिए ही किसी व्यक्ति के शरीर से निकलते हैं।

प्यूबिक लाइस सबसे ज्यादा यौन संबंध के दौरान स्थानांतरित होते हैं। कंडोम इसे एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में जाने से नहीं रोक सकता है। यह भी संभव है कि एक दूसरे के कपड़े, तौलिया और बिस्तर इस्तेमाल करने से भी यह फैल सकता है।

मेडिकल सलाह की जरूरत कब पड़ती है?

अगर आपको लगता है कि आपको प्यूबिक लाइस हो सकता है तो जितना जल्दी संभव हो चेकअप कराने के लिए अपने डॉक्टर या नजदीकी यौन स्वास्थ्य क्लीनिक, में जाएं।

प्रभावित जगह का परीक्षण करके प्यूबिक लाइस का पता लगाना बहुत आसान है। डॉक्टर या नर्स जूं के संकेत देखने के लिए, जैसे- पीले रंग के अंडे को या जूं को, मैग्नीफाइंग ग्लास का इस्तेमाल कर देख सकते हैं।

अगर आपको यौन संबंध की वजह से प्यूबिक लाइस हुआ है तो आपको अन्य यौन प्रसारित संक्रमण की भी जांच करवानी चाहिए।

प्यूबिक लाइस का इलाज

आप एक खास तरह का लोशन, क्रीम या शैंपू का इस्तेमाल करके घर में ही खुद प्यूबिक लाइस का इलाज कर सकते हैं। आपके डॉक्टर या फार्मासिस्ट आपको कौन-सा इलाज लेना चाहिए और कैसे, इस बारे में सलाह दे सकते हैं। उनकी सलाह को मानना बेहद जरूरी है।

यह इलाज आपके शरीर की सभी बाल वाली जगहों पर इस्तेमाल किया जाता है सिर्फ सिर के बालों, पलकों और भौंहों को छोड़कर। इसे अमूमन तीन से सात दिनों में दोहराने की जरूरत पड़ती है।

अगर इलाज काम नहीं करता है तो आपको दूसरा तरीका इस्तेमाल करने की जरूरत पड़ सकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि कभी-कभी प्यूबिक लाइस कुछ निश्चित इलाजों के लिए प्रतिरोधक क्षमता विकसित कर लेता है। आपके डॉक्टर या फार्मासिस्ट आपको उचित विकल्प की सलाह दे सकते हैं। यह भी जरूरी है कि आप अपने करीबी शारीरिक संपर्क में रहने वाले व्यक्ति का भी इलाज करवाएँ, जिसमें आपका मौजूदा सेक्स पार्ट्नर और घर-परिवार का कोई व्यक्ति शामिल हो सकता है।

प्यूबिक लाइस के इलाज के बारे में और पढ़ें।

आपको प्यूबिक लाइस कैसे हो सकता है?

प्यूबिक लाइस खराब व्यक्तिगत साफ-सफाई से जुड़ा नहीं होता। यह अमूमन किसी संक्रमित व्यक्ति से करीबी के शारीरिक संबंध के जरिए फैलता है। जूं एक व्यक्ति के बाल से दूसरे व्यक्ति के बाल में रेंगकर पहुंचता है। ये न तो कूद सकते हैं, न उड़ सकते हैं या न ही तैर सकते हैँ।

यौन संबंध-

प्यूबिक लाइस ज्यादातर यौन संबंध के जरिए दूसरे व्यक्ति में पहुंचते हैं। इसमें योनि, एनल और ओरल सेक्स शामिल है।

कंडोम या किसी दूसरे तरह का निरोध इस्तेमाल करके आप प्यूबिक लाइस से नहीं बच सकते हैं।

दूसरी तरह के करीबी शारीरिक संपर्क में शामिल है- जैसे- गले लगाना, चुंबन लेना, इनसे भी जूं फैल सकता है।

प्यूबिक लाइस फैलने के दूसरे रास्ते-

यह भी माना जाता है कि प्यूबिक लाइस संक्रमित चीजों से भी फैल सकता है। जैसे-

  • कपड़े
  • चादर तकिया, बिछौना
  • तौलिया
  • शौचालय की सीट

हालांकि, प्यूबिक लाइस का इसतरह फैलना बहुत ही कम होता है।

प्यूबिक लाइस का जीवनकाल

प्यूबिक लाइस एक से तीन महीने तक जीवित रहता है। इस दौरान मादा जूं 300 अंडे तक दे सकती है। ये अंडे छह से 10 दिनों में सेए जाते हैं और दो से तीन हफ्तों बाद जूं परिपक्व होता है और दोबारा उत्पादन शुरू कर सकता है।

अगर प्यूबिक लाइस मानव शरीर पर नहीं है, तो ये 24 घंटे तक ही जिंदा रह सकता है। हालांकि, जूं जिंदा रहने के लिए मानव शरीर पर निर्भर रहता है इसलिए वे बहुत मुश्किल से ही किसी दूसरे व्यक्ति में पहुंचने के अलावा मानव शरीर छोड़कर किसी दूसरी जगह जाते हैं। प्यूबिक लाइस दूसरे जानवरों पर जिंदा नहीं रह सकते हैं।

प्यूबिक लाइस से छुटकारा कैसे पाएं?

प्यूबिक लाइस का घर पर ही कीटनाशक क्रीम, लोशन या शैंपू से इलाज किया जा सकता है। इसे अमूमन एक बार इस्तेमाल करने की जरूरत पड़ेगी और फिर तीन से सात दिनों बाद दोहराया जाता है।

ज्यादातर इलाज प्रभावित जगह और पूरे शरीर पर इस्तेमाल किया जाता है, सिर्फ खोपड़ी, चेहरे, भौंहों और पलकों को छोड़कर (लेकिन अगर दाढ़ी या मूंछों में जूं है तो वहां भी इस्तेमाल सकते हैं), आपके डॉक्टर, नर्स या फार्मासिस्ट आपको इस बारे में ज्यादा सलाह दे सकते हैं।

आप जिस-जिस व्यक्ति से क़रीबी शारीरिक संपर्क में रहे हैं, साथ ही साथ उसी समय उनका भी इलाज कराया जाना चाहिए। इसमें कोई यौन साथी शामिल हो सकता है, जिसमें साथ आपने पिछले तीन महीनों में संबंध बनाया हो और आपके घर के सभी सदस्य हो सकते हैं।

कभी-कभी प्यूबिक लाइस से छुटकारा पाना मुश्किल हो सकता है क्योंकि वे कीटनाशक इलाजों के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता विकसित कर सकते हैं। इस स्थिति में आपको एक से ज्यादा तरीके का इलाज करने की आवश्यकता पड़ सकती है। आपके डॉक्टर या फार्मासिस्ट आपको उचित विकल्पों की सलाह दे सकते हैं।

खुद अपना इलाज करना

आप कीटनाशक क्रीम, लोशन या शैंपू से खुद घर में ही अपना इलाज कर सकते हैं। ये आपके डॉक्टर की लिखी पर्ची पर उपलब्ध होंगे या आप अपनी फार्मेसी से बिना डॉक्टर के पर्चे के भी इन्हें खरीद सकते हैं।

इलाज करने से पहले अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से उसे इस्तेमाल करने का सही तरीका जरूर पूछ लें। उनके निर्देशों का पालन करें, भले ही वह पैकेजिंग पर दिए गए निर्देशों से अलग हों।

अगर इनका इलाज करा रहे हैं तो सलाह जरूर लें:

  • 18 साल से कम उम्र का बच्चा

  • ऐसा कोई जो गर्भवती हो या स्तनपान कराती हो

इस तरह के लोगों को खास तरह के इलाज की जरूरत पड़ सकती है।

लोशन और क्रीम

दो सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाले कीटनाशक हैं:

  • मेलाथियॉन(malathion) 0.5 प्रतिशत जलीय लोशन
  • पेरमेथ्रिन(permethrin) 5 प्रतिशत डर्मल क्रीम

ज्यादातर मामलों में, मेलाथियॉन लोशन या पेरमेथ्रिन क्रीम को ऐसे इस्तेमाल करने को कहा जाता है:

  • जब आपकी त्वचा साफ, सूखी और ठंडी हो, तो अपने पूरे शरीर में लोशन लगाएँ, खासतौर से बाल वाली जगहों पर। लोशन को अपने चेहरे, सिर के बाल, अपनी पलकों या भौंहों पर न लगाएँ
  • अगर जूं हैं तो लोशन अपनी दाढ़ी और मूंछों पर लगाएं।
  • जननांग के आसपास की जगहों पर लोशन लगाएं, जिनमें जननांग के बाल, पैरों के बीच के बाल और आपकी गुदा के आसपास के बाल शामिल हैं।
  • सावधान रहें, लोशन को अपनी आंखों में न जाने दें। अगर ऐसा हो जाए तो पानी से अच्छी तरह अपनी आंखें धोएं।
  • एक अनुमान के मुताबिक, एक वयस्क को करीब 100 मिलीलीटर लोशन या 30 से 60 ग्राम क्रीम की जरूरत पड़ेगी।
  • मेलाथियॉन लोशन को 12 घंटों के लिए लगाकर छोड़ दें। पेरमेथ्रिन क्रीम को 24 घंटे के लिए लगाकर छोड़ें।
  • अगर इलाज के समय के दौरान आप शरीर के किसी हिस्से को धोते हैं तो वहां दोबारा लोशन या क्रीम लगाएं।
  • इलाज का समय पूरा होने के बाद लोशन या क्रीम को साफ कर लें।
  • तीन से सात दिनों के बाद निर्देशानुसार फिर से इलाज दोहराएं।

दो से अधिक बार दवा का इस्तेमाल न करें।

पलकों में संक्रमण का इलाज

अगर आपकी पलकें संक्रमित हो गई हैं तो विशेषज्ञ की सलाह लें और अपने डॉक्टर से मदद लें। आप वही कीटनाशन लोशन या क्रीम जो अपने शरीर पर किया है, इस्तेमाल न करें क्योंकि इससे आंखों में जलन होगी। आपके डॉक्टर आपके लिए वैकल्पिक इलाज की सलाह देंगे।

आंखों की दवाई

सफेद या पीले मुलायम पैराफिन बेस के साथ आंखों की दवाई लगाने की सलाह दी जा सकती है। इससे जूं पर चिकनी दवाई का लेप हो जाता है, जिससे उसका दम घुटने लगता है। आपको ये करना चाहिए:

  • इस दवाई को दिन में दो बार अपनी पलकों पर लगाना चाहिए। और यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि आपकी पलकों पर यह पूरी तरह लगे।
  • हर बार जब भी आप दोबारा दवा लगाएँ तो पहले अपनी पलकों को बहुत आराम से पोछें और टिश्यू से पलकों को अच्छी तरह साफ करें। इसके बाद टिश्यू को दूर फेंक दें।
  • यह इलाज कम से कम आठ दिनों तक करें।
  • अगर फिर भी आपको जूं या उनके बिना सेए अंडे (न कि खाली अंडे के खोल, जिन्हें निट कहते हैं) दिखते हैं तो इलाज को दस दिनों तक जारी रखें क्योंकि अंडे सेने में इतना समय लग सकता है।

साइड इफेक्ट (दुष्परिणाम)

प्यूबिक लाइस के इलाज में जो कीटनाशक इस्तेमाल किया जाता है, उससे त्वचा या आंखों में जलन हो सकती है। जैसे- खुजली, लाल होना, चुभन या जलन होना।

अगर आपको इससे दुष्परिणाम होते हैं तो जलन वाली जगह से कीटनाशक को साफ कर दें। अगर कीटनाशक आंखों में चला गया है तो आंखों को ढेर सारे पानी से अच्छी तरह धोएं।

कुछ जलीय और एल्कोहल आधारित दवाएं बालों को घुंघराला, रंगीन या फीका कर सकती हैं। ज्यादा जानकारी के लिए मरीज के लिए दी जाने वाली जानकारी की पुस्तिका को जांचें।

इलाज के बाद क्या करें?

पहला इलाज संभवत: जुंओं को मार देगा लेकिन हो सकता है कि अंडों को नष्ट न कर पाए। इसका मतलब है कि और जुएं पैदा हो सकते हैं और वही प्रक्रिया दोबारा शुरू हो सकती है। सात दिनों के बाद

इलाज फिर दोहराकर यह सुनिश्चित किया जाता है कि उन जुंओं को इतना परिपक्व होने से पहले ही खत्म कर दिया गया है कि वे और अंडे देते।

अपने दूसरे इलाज के एक हफ्ते बाद यह जाँचने के लिए कि जुएं खत्म हैं या नहीं, अपने डॉक्टर, यौन स्वास्थ्य क्लीनिक जाएं ताकि वे इसकी जांच कर सकें।

अगर आपको अडों के खाली खोल मिलें तो इसका ये मतलब ये नहीं है कि आप अब भी संक्रमित हैं। वे इलाज के बाद भी बालों में चिपके रह सकते हैं। हालांकि, अगर आप ऐसे जुएं या अंडे पाते हैं, जिनमें से फिर अंडे निकल सकते हैं तो आपका इलाज सफल नहीं हुआ है और आपको डॉक्टर से बात करनी चाहिए। हो सकता है कि आपने जो इलाज इस्तेमाल किया, उसके प्रति ये जुएं प्रतिरोधक क्षमता विकसित कर चुके हों। ऐसे में डॉक्टर वैकल्पिक इलाज की सलाह दे सकते हैं।

अन्य लोगों का इलाज

दोबारा संक्रमण से बचने के लिए, ऐसा कोई भी जो आपके करीबी संपर्क में रहा हो, अपने साथ ही साथ उसका भी इलाज जरूर कराना चाहिए। इसमें आपके यौन साथी और आपके घर के सभी सदस्य शामिल हो सकते हैं। भले ही उनमें कोई लक्षण न हों।

यौन संबंध से संक्रमण-

अगर आपका प्यूबिक लाइस यौन संबंध के जरिए आया है तो आपके डॉक्टर आपको जीयूए क्लीनिक जाने की सलाह दे सकते हैं ताकि दूसरे यौन प्रसारित संक्रमण(एसटीआईज) जैसे- क्लामायडिया की भी जांच की जा सके।

क्लीनिक का स्टाफ आपको सलाह देगा कि पिछले तीन महीनों के दौरान जिस किसी यौन साथी से संपर्क बनाया है, उसे सूचित करें ताकि वे उसमें प्यूबिक लाइस की जांच कर सकें और जरूरत पड़ने पर उसका इलाज कर सकें।

कुछ लोग अपने मौजूदा या पूर्व यौन साथियों से प्यूबिक लाइस के बारे में बात करने से नाराज, दुखी हो जाते हैं या शर्मिंदा हो जाते हैं। क्लीनिक स्टाफ से अपनी चिंताओं को लेकर डरें नहीं बल्कि बात करें। वे उनसे संपर्क बनाने का कोई अच्छा तरीका सुझा सकते हैं। अगर आप कहेंगे तो वे आपकी जानकारी छिपाते हुए भी आपके यौन साथी से संपर्क कर सकते हैं।

प्यूबिक लाइस के लक्षण

प्यूबिक लाइस के संपर्क में आने के बाद किसी भी तरह का नोटिस करने लायक लक्षण दिखने में पांच दिनों से लेकर कई हफ्ते भी लग सकते हैं।

ये लक्षण पुरुषों और महिलाओं, दोनों में ही एक जैसे होते हैं। इनमें शामिल हैं:

  • प्रभावित जगहों पर खुजली
  • खुजलाने से प्रभावित जगह पर सूजन या जलन
  • आपके अंत:वस्त्र में काला पाउडर
  • त्वचा में उस जगह नीला धब्बा, जहां जूं जिंदा रहता है जैसे- आपकी जांघों पर या पेट के निचले हिस्से में (यह जूं के काटने के कारण होता है।)
  • आपकी त्वचा पर जहां जूं ने काटा होता है, वहां खून के छोटे-छोटे धब्बे भी दिखते हैं

खुजली

खुजली प्यूबिक लाइस का सबसे आम लक्षण है। हालांकि किसी भी तरह की खुजली का पहला लक्षण महसूस करने में आपको कई हफ्ते लग सकते हैं। खुजली जूं द्वारा आपको काटने की वजह से नहीं होती। यह जूं की लार की एलर्जी (हाइपरसेंसटिविटी)

के कारण होती है।

यह खुजली अमूमन रात में बहुत बुरी हो जाती है, जब जूं ज्यादा गतिशील होते हैं।

प्यूबिक लाइस और अंडे

वयस्क प्यूबिक लाइस बहुत छोटे(करीब 2 मिलीमीटर लंबे) होते हैं और इन्हें देखना कठिन होता है। ये पीले-भूरे या मटमैले रंग के होते हैं और इनके छह पैर होते हैं। दो पैर बाकी पैरों से बड़े होते हैं और केकड़े के पंजे जैसे होते हैं। जूं इनका इस्तेमाल बालों पर पकड़ बनाने के लिए करते हैं। ये जुएं थैलियों में अंडे देते हैं जो बालों से मजबूती से चिपक जाते हैं और भूरे पीले रंग के हो जाते हैं। जब अंडा बाहर निकलता है तो खाली थैलियां सफेद होती हैं। यद्यपि प्यूबिक लाइस और जुएं के अंडे बहुत छोटे होते हैं और इन्हें देखना आसान नहीं होता। मगर ये आपके शरीर में कहीं भी रफ़ बालों(आपके सिर के बालों को छोड़कर) में दिखाई दे सकते हैं।

आप अपने बालों पर खाली सफेद अंडे के खोल भी पा सकते हैं, जिन्हें निट कहते हैं। हालांकि यह जरूरी नहीं है कि आपको अभी भी जघन जूँ का संक्रमण है।

प्यूबिक लाइस होने से कैसा महसूस होता है?

एना को प्यूबिक लाइस की समस्या हुई थी। वह बताती हैं - मैं गर्मियों में अपनी कुछ सहेलियों के साथ छुटिटयां मनाने गई थी और करीब एक हफ्ते के लिए बाहर थी, जब मैंने लक्षण महसूस करना शुरू किया। मेरे जननांग की जगह के आसपास काफी खुजली होती थी और कुछ चकत्ते भी पड़ गए थे। पहले तो मैंने इसके बारे में ज्यादा नहीं सोचा लेकिन कुछ दिनों के बाद खुजली और बदतर हो गई। मैं समझ ही नहीं पाई कि क्या हुआ था? लेकिन मेरी एक दोस्त ने डॉक्टर के पास जाने की सलाह दी।

डॉक्टर के पास जाना सच में बहुत शर्मिंदगी भरा था। और जब उसने कहा कि यह प्यूबिक लाइस है तो मुझे बहुत घृणा महसूस हुई। उनकी बातें सुनकर मेरा पेट फूल गया था और मुझे सच में बहुत गंदा महसूस हो रहा था। डॉक्टर ने मुझसे कहा कि ये किस तरह यौन संबंध के जरिए स्थानांतरित हुए थे। मुझे एहसास हुआ कि मुझे यह किससे हुआ है, छुटिटयों पर जाने से ठीक पहले मेरा छोटा सा प्रेम प्रसंग हुआ था। इसने मुझे थोड़ा बीमार बना दिया।

मुझे जूं और उनके अंडे मारने के लिए एक खास क्रीम दी गई और मुझे दो बार इलाज करना पड़ा। अपने दोस्तों से इसे छिपाना थोड़ा मुश्किल था लेकिन मैं सच में नहीं चाहती थी कि कोई ये बात जाने। मुझे इसके बारे में बहुत शर्मिंदगी महसूस हुई। इलाज के बाद भी खुजली हो रही थी। और मैं बहुत चिंतित थी कि इसमें काम नहीं किया था। लेकिन जब मैं दोबारा डॉक्टर के पास गई तो उन्होंने कहा कि जो हुआ है, वह सामान्य है, परेशान मत हो।

प्यूबिक लाइस होने से मैं अपनी यौन सेहत को लेकर ज्यादा सावधान हो गई। जब मैं छुट्टी से घर लौटी तो मैं सेक्सुअल हेल्थ क्लीनिक गई और अपना पूरा चेकअप करवाया। मुझे बहुत चिंता हो रही थी कि अगर मुझे प्यूबिक लाइस हो गया है तो कहीं कोई और संक्रमण भी न हो गया हो। लेकिन शुक्र है, मैं बिल्कुल ठीक थी लेकिन तब से मैं और भी ज्यादा सावधान हो गई।

प्यूबिक लाइस की जाँच कैसे हो सकती है?

अगर आप सोचते हैं कि आपको प्यूबिक लाइस है तो जितना जल्दी हो आपको जांच करानी चाहिए। आप यहां जा सकते हैं:

  • सेक्सुअल हेल्थ क्लीनिक- इसे जेनिटूरिनरी मेडिसिन (जीयूएम) क्लीनिक भी कहा जाता है।
  • कंट्रासेप्शन (गर्भनिरोध) क्लीनिक
  • डॉक्टर के पास

सेक्सुअल हेल्थ और जीयूएम क्लीनिक अक्सर अस्पतालों या स्वास्थ्य केंद्रों पर स्थित होते हैं।

कई मामलों में स्वास्थ्यकर्मी प्रभावित जगह की जांच करके प्यूबिक लाइस की पुष्टि कर सकता है। वे मैग्नीफाइंग ग्लास का इस्तेमाल करके ये चीजें देख सकते हैं-

  • पीले-भूरे या मलमैले लाल रंग के जुएं
  • भूरे जुएं के अंडे या खाली अंडे के खोल (निट)

अगर आपको खाली अंडों के खोल या निट दिखते हैं तो जरूरी नहीं कि इसका मतलब ये हो कि आपमें सक्रिय संक्रमण है। हालांकि, फिर भी आपका इलाज किया जाएगा।

एसटीआईज की जांच कराना

अगर यौन संबंध के जरिए प्यूबिक लाइस स्थानांतरित हुआ है तो यह सलाह दी जाती है कि एहतियात के तौर पर आप दूसरे यौन प्रसारित संक्रमणों (एसटीआईज) की भी जांच कराएं। यह भी सलाह दी जाती है कि पिछले तीन महीने में आपके जो भी यौन साथी रहे हैं, उन्हें भी दिखाया जाए और उनका इलाज कराया जाए।

प्यूबिक लाइस की जटिलताएँ

प्यूबिक लाइस संक्रमण से कभी-कभी बहुत छोटी समस्याएं होती हैं। जैसे- त्वचा और आंख की समस्याएं।

त्वचा समस्याएं-

अगर आपको प्यूबिक लाइस है तो आपकी त्वचा में खुजलाने पर जलन हो सकती है।

खुजलाने से आपकी त्वचा पर खरोंच के निशान बन सकते हैं या इससे इम्पेटिगो जैसा संक्रमण( impetigo, एक संक्रामक जीवाणु संबंधी त्वचा संक्रमण) या फरंक्युलोसिस (furunculosis, फोड़ा या त्वचा में छाले) हो सकता है।

आंखों में समस्या

अगर आपकी पलकें प्यूबिक लाइस से संक्रमित हैं तो आंखों का संक्रमण जैसे- कन्जंगक्टीवाइटिस (conjunctivitis), या आँखों में इंफ़्लेमेशन जैसे- ब्लेफेराइटिस(blepharitis), भी कभी-कभी विकसित हो सकता है।

अगर आपकी आंखों में पीढ़ा हो तो डॉक्टर को दिखाएं।

सामग्री का स्त्रोतNHS लोगोnhs.uk
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

आगे क्या पढ़ें
एसटीआई(STI) के लक्षण जिनकी जांच ज़रूरी है
यौन संचारित संक्रमण STI से पीड़ित ज्यादातर लोगों में लक्षण दिखाई नहीं देते, इसलिए अगर आप ठीक महसूस कर रहे हों तो भी आपको ये परीक्षण कराने चाहिए।
क्या मुख मैथुन से कैंसर हो सकता है?
कुछ तरह के मुंह के कैंसर मुंह और गले में ह्यूमन पेपिलोमा वायरस (human papilloma virus, एचपीवी (HPV)) के संक्रमण से संबंधित होते हैं। जानिए, मुख मैथुन ...
यौन संचारित संक्रमण (STIs)
यौन संचारित संक्रमण (STIs) एक से दूसरे व्यक्ति मे असुरक्षित यौन संबंध अथवा जननांग संपर्क द्वारा पारित होते हैं।