COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
22nd June, 20205 min read

पित्ती (hives) को ठीक होने में कितना समय लगता है?

Medical Reviewer: Healthily's medical team
Author: Tomas Duffin
मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है। यह Tomas Duffin द्वारा लिखा गया है और Healthily's medical team ने इसकी मेडिकल समीक्षा की है।

अगर आपको त्वचा पर लाल, उभरे हुए और खुजलीदार रैशेज नजर आते हैं तो हो सकता है कि आपको पित्ती (hives)की समस्‍या हो।

पित्ती, गोलाकार या रिंग के आकार के पैच या चकत्ते होते हैं जो त्वचा पर निर्मित होते हैं और वे शरीर के किसी भी हिस्से पर हो सकते हैं।

पित्ती (hives) होने के कारण कई सारे एलर्जी रिएक्शन हो सकते हैं जैसे खाना, संक्रमण, गंभीर स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याएं, कुछ प्रकार की दवाइयां, तनाव या शराब का सेवन आदि - और कुछ प्रकार के शारीरिक उत्‍तेजक जैसे - तापमान परिवर्तन या शारीरिक दबाव भी पित्ती (hives)को ट्रिगर कर सकते हैं।

लेकिन पित्ती (hives) अक्सर गर्मियों या गर्म मौसम से संबंधित कारकों के द्वारा ट्रिगर हो सकता है जैसे - कीट का काटना, पराग कण, धूप लगना और लू लग जाना। गर्मी के दिनों में ये सारे कारक ही पित्ती (hives) उभरने के लिए पर्याप्त हैं।

अगर आपको पित्ती (hives) की समस्या हो जाती है तो आपको जानने की इच्छा होगी कि ये कितने दिनों में ठीक हो जाएगी। कई मामलों में पित्ती (hives) एक से दो दिन में ठीक हो जाती है, लेकिन ये पित्ती (hives) होने के प्रकार पर भी निर्भर करता है कि इसे पूरी तरह से ठीक होने में कितना समय लगेगा।

पित्ती (hives) कितने प्रकार की होती है -- और इसे ठीक होने में कितना समय लगता है

एक्यूट पित्ती (Acute hives)

एक्यूट पित्ती (कभी-कभार इसे एक्‍यूट अर्टिकेरिया या एक्‍यूट स्पॉन्टेनियस अर्टिकेरिया) के नाम से जाना जाता है, अचानक से पूरे शरीर पर उभर आती है, और अपने आप ही ठीक हो जाती है।

इस प्रकार की पित्ती को ठीक होने में 24-48 घंटे का समय लगता है, हालांकि कुछ मामलों में गंभीर पित्ती कई हफ्तों तक भी रह सकती है।

आपने नोटिस किया होगा कि कुछ चकत्ते घंटे भर में अपने आप ठीक हो जाते हैं, जबकि कुछ नए चकत्ते किसी और जगह उभर आते हैं। उन्हें देखने पर ऐसा महसूस होता है कि वो पूरे बदन पर गतिशील हैं।

कुछ लोगों को त्वचा की भीतरी सतह ((angioedema)) में सूजन महसूस होती है, जो कि आपके शरीर के किसी भी अंग को प्रभावित कर सकते हैं लेकिन यह अक्सर हाथों, होंठो, पैरों, आंखों या जननांगों पर होती है।

अध्ययनों से पता चला है कि 6 में से 1 लोगों को अपने जीवन में कभी न कभी एक्यूट पित्ती की समस्या को झेलना पड़ा। इसके होने के कारणों को जानना मुश्किल है लेकिन यह स्थिति जान के लिए घातक नहीं होती है और घर पर ही इसके लक्षणों को आसानी से प्रबंधित किया जा सकता है।

क्रॉनिक पित्‍ती (Chronic hives)

ब्रिटिश एसोसिएशन ऑफ डर्मेटोलॉजिस्ट के अनुसार, क्रॉनिक या परसिस्टेंट पित्ती, पित्ती का वो प्रकार होती है जिनमें लक्षण 6 या उससे अधिक हफ्ते तक मौजूद रहते हैं, लेकिन सामान्यतः ये 6 से 12 महीने तक मौजूद रहती है, कई बार इसके लक्षण इससे भी ज्यादा समय तक बने रहते हैं।

अगर आपको क्रॉनिक पित्‍ती की शिकायत है तो आपके लक्षण आते-जाते रहेंगे, ऐसा थोड़े-थोड़े अंतराल पर होता है कि आपको खुजली, लाल चकत्ते हों।

क्रॉनिक पित्‍ती, आटोइम्‍यून कंडीशन जैसे - रिम्‍यूटॉइड ऑर्थराइटस या ल्‍यूपस (rheumatoid arthritis or lupus) के कारण होती है। शोध में यह बात स्पष्ट हुई है कि क्रॉनिक पित्‍ती कुछ बीमारियों जैसे - वायरल हेपेटाइटिस (hepatitis) और अंडरएक्टिव थायराइड (हाइपोथायरायडिज्म) (underactive thyroid) से लिंक होती है, लेकिन क्रॉनिक पित्‍ती के कुछ मामलों में ट्रिगर का पता नहीं लगाया जा सकता है।

यदि आपको लगता है कि आप क्रॉनिक पित्‍ती से ग्रस्त हैं तो आपको संभावित ट्रिगर और कारणों का पता लगाने के लिए डॉक्टर से मदद लेनी चाहिए। डॉक्टर आपको कुछ दवाइयां लिखकर इसके लक्षणों को नियंत्रित करने में मदद कर सकते हैं।

फिजिकल अर्टिकेरिया (Physical urticarias)

फिजिकल अर्टिकेरिया, किसी भी प्रकार की पित्‍ती के लिए मेडीकल नाम है जो कि दूरस्थ, फिजिकल स्‍टीमुलाई के कारण होती है। उदाहरण के लिए, कुछ लोगों में पसीना आने या उनकी त्वचा रगड़ने के कारण पित्‍ती उभर आती है।

वहीं कुछ लोगों में ठंडे तापमान, धूप या घर्षण ट्रिगर के कारण भी पित्ती की समस्या हो जाती है। बहुत कम मामलों में देखा गया है कि पानी के कारण किसी को पित्ती की समस्या हुई हो।

यदि आपको फिजिकल अर्टिकेरिया (Physical urticarias) है तो यह कुछ मिनट के भीतर ही उभर आती है और 1 घंटे में ही ठीक हो जाएगी। अगर आप इस प्रकार की पित्‍ती से अक्सर ग्रसित हो जाते हैं तो इसके कारणों या ट्रिगर को जानने का प्रयास करें और उनसे बचकर रहें।

अगर आपने गौर किया है कि एंटीहिस्टामाइन के सेवन से आपको पित्‍ती के लक्षणों में राहत मिलती है तो किसी डॉक्टर को दिखाएं और एंटीहिस्टामाइन (antihistamine) को लेने के बारे में बात करें। डॉक्टर द्वारा सुझाव देने के बाद ही आप इसे निर्देशानुसार कुछ दिनों के लिए ले सकते हैं।

पित्ती होने पर डॉक्‍टर को कब दिखाएं

अगर आपको पित्ती उभरती है तो 2 दिन तक आराम न मिलने की स्थिति में या रैशेज ज्यादा पड़ने अथवा लक्षणों के गंभीर होने पर डॉक्टर को दिखाना सही रहेगा। अगर 2 दिन लक्षण आते-जाते रहते हैं, तब भी डॉक्टर को दिखा लें क्योकि ये आपमें किसी प्रकार की एलर्जी का संकेत भी हो सकता है।

अगर आपको पित्ती के साथ-साथ बुखार भी चढ़ रहा है या त्वचा की भीतरी सतह (angioedema) पर सूजन आ रही है तो डॉक्टर को अवश्य दिखाएं।

यदि नीचे दिए गए लक्षणों में से कोई भी लक्षण आपको पित्ती उभरने के दौरान दिखाई देता है तो बिना देरी किए शीघ्र ही डॉक्टर को दिखा लें:

  • सांस लेने में कठिनाई
  • निगलने में कठिनाई
  • बेहोशी या चक्‍कर आना
  • मतली या उल्टी होना
  • हृदय दर (हार्ट रेट) का तेज होना
  • चेहरे, मुंह या गले में अधिक सूजन होना
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।