COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
23rd June, 20205 min read

घर पर पित्ती (hives) का उपचार कैसे करें

Medical Reviewer:Healthily's medical team
Author:Alex Bussey
मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है। यह Alex Bussey द्वारा लिखा गया है और Healthily's medical team ने इसकी मेडिकल समीक्षा की है।

पित्ती (hives), त्वचा पर होने वाली सूजन और खुजलीदार रैश होते हैं जोकि रंग में लाल या सफेद हो सकते हैं।

कभी-कभार इन्हें नेटल रैश, वेल्‍ट्स या अर्टिकेरिया के नाम से भी जाना जाता है, ये कई प्रकार की आकृति और आकार में होते हैं। सामान्यतः: ये किसी एलर्जी रिएक्शन के परिणामस्वरूप होते हैं, लेकिन तापमान, गर्मी या शारीरिक दबाव, भावनात्‍मक दबाव, संक्रमण, व्यायाम या कुछ मेडिसिन के सेवन के फलस्‍वरूप भी आकस्मिक परिवर्तन की प्रतिक्रिया के फलस्वरूप भी ये हो जाती है।

ये ट्रिगर आपकी त्वचा में हिस्टामाइन के उच्‍च स्‍तर को स्रावित करते हैं जिसकी वजह से ब्‍लड वैसेल्‍स खुल जाती हैं और त्वचा लाल पड़ने के साथ-साथ सूज जाती है।

पित्ती (hives) होने पर बहुत खुजली होती है और काफी असहज महसूस होता है लेकिन आमतौर पर ये नुकसान नहीं पहुँचाती हैं, और कई लोगों ने देखा है कि ये 24 से 48 घंटों में अपने आप ही धुँधली हो जाती हैं।

पित्ती (hives) होने पर डॉक्‍टर को कब दिखाना चाहिए?

अगर आपको 2 दिन से अधिक समय तक पित्ती के लक्षण रहते हैं जो कि नीचे दिए गए हैं, तो डॉक्टर को दिखा लें:

  • अगर आपको लगता है कि रैश बढ़ते जा रहे हैं।
  • पित्ती (hives) की समस्‍या बार-बार हो रही है
  • आपको उच्च तापमान या तेज बुखार है
  • आपको त्वचा के निचले हिस्से में सूजन लगती है

पित्ती कब तक रहती है ये आपको हुई पित्ती के प्रकार के आधार पर निर्भर करता है लेकिन अधिकतर मामलों में यह समस्या 48 घंटों के भीतर समाप्त हो जाती है। पित्ती 2 दिन से ज्यादा होने पर किसी गंभीर एलर्जी का संकेत हो सकती है। लेकिन ये ऐसी समस्या है जिसे आप घर ही आसानी से हैंडल कर सकते हैं।

घर पर पित्ती का उपचार

एंटीहिस्‍टामाइन

कुछ लोगों में देखा गया है कि मुंह से ली जाने वाली एंटीहिस्टामाइन (antihistamines) से उनको पित्ती से आराम मिला।

ये दवाएं शरीर में हिस्टामाइन (histamine) के प्रभाव को अवरुद्ध करके काम करती हैं। यह त्वचा में सूजन को कम करने में मदद करती हैं, और पित्ती के कारण होने वाली खुजली और परेशानी से छुटकारा दिला सकती है।

अधिकतर देशों में आपको एंटीहिस्टामाइन (antihistamines) खरीदने के लिए किसी डॉक्टर के पर्चे की आवश्यकता नहीं होती है। हालांकि, अगर आप कुछ दिनों के लिए कई बार एंटीहिस्टामाइन लेने की सोच रहे हैं तो डॉक्टर से अवश्य संपर्क कर लें।

आपको यह याद रखना होगा कि एंटीहिस्टामाइन सेवन करने से नींद आती है। सुनिश्चित कर लें कि इसके सेवन से पहले आप इसके संभावित दुष्प्रभावों के बारे में जान लें और पैकेज पर दिए गए निर्देशों को अच्छी तरह से पढ़ लें।

कैलामाइन लोशन लगाना (Applying calamine lotion)

कैलामाइन लोशन एक ऐसी मेडिसिन है जिसे घमौरी (heat rash) या चेचक (chickenpox) जैसी त्वचा संबंधी समस्याओं में खुजली से छुटकारा पाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

अगर आपको पित्ती की समस्या है तो आप कैलामाइन लोशन लगाएं, इससे त्वचा को ठंडक मिलेगी और वो सूद होगी।

आप कैलामाइन लोशन को बिना डॉक्टर की सलाह के भी खरीद सकते हैं।

कोल्‍ड कम्‍प्रेस लगाएं (Applying a cold compress)

प्रभावित क्षेत्र पर कोल्‍ड कम्प्रेस करें, इससे ब्‍लड वैसेल्‍स सिकुड़ जाएगी और त्वचा की सूजन कम हो जाएगी।

घर पर कोल्ड कंप्रेस करने के लिए, एक साफ कपड़े को लेकर उसे ठंडे पानी में भिगोए, और फिर उसमें से पानी को अच्छी तरह से निचोड़ लें। इसके बाद उसे त्वचा पर रखें।

आप दिन में कई बार इसे कर सकते हैं, जब तक कि आपको प्रभावित क्षेत्र में बहुत ठंडक न महसूस होने लगे, इसे लगाते रहें।

ठंडे पानी से स्‍नान करें (Taking a cool shower)

कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि ठंडे या हल्‍के गरम पानी से स्नान करने से त्वचा को नरमी मिलती है। इससे आपकी पित्ती बिल्कुल ठीक नहीं होती है लेकिन आपको थोड़ी देर के लिए इसके लक्षणों जैसे खुजली या दर्द से आराम मिल सकता है।

क्‍या पित्ती को रोका जा सकता है?

अगर आप पित्ती होने के कारणों के बारे में जानते हैं, तो आप इससे ग्रसित होने से रोक सकते हैं, या आप अपनी खुराक में थोड़ा बहुत परिवर्तन करके भी इससे बच सकते हैं।

अगर आप इन ट्रिगर के बारे में नहीं जानते हैं, तो आपको नीचे दिए गए टिप्स लाभ पहुँचा सकते हैं:

  • एक फूड डायरी में सब लिखें - अगर आप पित्ती होने के कारणों को जानना चाहते हैं तो अपनी डाइट को ध्‍यान में रखें कि आपने कब क्या खाया या पिया। मूंगफली, अंडे या शैलफिश से कुछ लोगों को ये समस्या बढ़ सकती है।
  • ढीले और हल्के कपड़े पहने - अगर आपको गर्मी या शारीरिक दबाव के कारण पित्ती होती है तो हल्‍के और ढीले कपड़े पहनें।
  • अत्यधिक गर्मी, मसालेदार भोजन या कड़ा शारीरिक व्यायाम से परहेज करना - अगर गर्मी या पसीना ज्यादा निकलता है तो पित्ती निकलने का कारण ये हो सकता है।
  • एस्पिरिन (aspirin) और अन्य नॉन-स्टेरायडल (non-steroidal) एंटी-इंफ्लामेट्री (anti-inflammatory ) मेडिसिन को न लें - इन मेडिसिन के प्रति सेंसिटिव होने पर कई बार इन मेडिसिन के सेवन से पित्ती निकल आती है।
  • शराब का सेवन न करना - कुछ लोगों में शराब का सेवन, पित्ती निकलने का कारण बन सकता है।

यह याद रखना महत्वपूर्ण है कि आप पित्ती के सभी कारणों को जान नहीं सकते हैं और न ही सभी को रोक सकते हैं, लेकिन अगर आपको बार-बार ये समस्या होती है तो आपको इन परहेज को करने से आराम मिल सकता है।

क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।