COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
31st December, 20195 min read

क्‍या आपको बिना ग्‍लूटेन या डेयरी-मुक्त आहार लेने का प्रयास करना चाहिए?

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है।

ग्लूटेन (gluten) और डेयरी मुक्त (dairy-free) आहार पहले से कहीं अधिक लोकप्रिय हो रहे हैं क्योंकि इन दिनों कई लोग मानने लगे हैं कि ग्लूटेन और डेयरी मुक्त आहार स्वास्थ्यवर्धक होता है। लेकिन अगर आपको इसकी आवश्यकता नहीं है तो ग्लूटेन और डेयरी मुक्त आहार के कई सारे दुष्परिणाम भी हो सकते हैं।

ऐसा मानकर मत चलें कि ग्लूटेन या डेयरी मुक्त आहार आपके लिए सही विकल्प है क्योंकि ऐसा जरूरी नहीं। इसके बजाय, अपनी खुराक से ग्लूटेन या डेयरी को हटाने के लाभ और हानि के बारे में अवश्य पढ़ लें।

ग्लूटेन या डेयरी मुक्त आहार कब लें (When to go gluten or dairy-free)

यदि आपको सीलिएक रोग (coeliac disease) या लैक्टोज से असहनशीलता (lactose intolerance) है, तो अपने आहार से ग्लूटेन या डेयरी को हटा देना सही रहेगा क्योंकि इससे आप अपनी स्थिति को सुधार सकते हैं। हालांकि, कुछ सुझाव के अनुसार ग्लूटेन या डेयरी-मुक्त आहार लोगों को वजन कम करने, ऊर्जा के स्तर में वृद्धि, पाचन स्वास्थ्य में सुधार या मुंहासे को ठीक करने में बिना किसी शर्त के मदद करता है।

ग्लूटेन (gluten) और डेयरी मुक्त (dairy-free) आहार (diet) को शुरू करने से आपके स्वास्थ्य पर गंभीर प्रभाव पड़ सकता है और आपको कई आवश्यक पोषक तत्वों की कमी हो सकती हैं जो कि निम्न हैं:

  • फाइबर (fibre)
  • आयरन (iron)
  • विटामिन डी (vitamin D)
  • विटामिन बी 2 (राइबोफ्लेविन) (vitamin B2 (riboflavin))
  • विटामिन बी 1 (थायमिन) (vitamin B1 (thiamine))

अध्ययनों से पता चलता है कि स्पष्ट चिकित्सा आवश्यकताओं और निर्देशों के बिना इन आहारों का पालन करने से हृदय रोग (cardiovascular disease )और ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis) जैसी स्थितियों का खतरा बढ़ सकता है। यदि आपको लगता है कि ग्लूटेन या डेयरी-मुक्त आहार लेने का कोई चिकित्सकीय कारण है तो आप अपने डॉक्टर से बात कर लें। वे आपको इस बारे में सलाह देंगे कि आपके लिए ये डाइट कितनी सही है।

ग्लूटेन-मुक्त आहार के बारे में आपको क्या जानने की जरूरत है

ग्लूटेन एक प्रोटीन है जो गेहूं, जौ, राई और अन्य अनाजों में पाया जाता है।

यदि आपको सीलिएक रोग या गेहूं से एलर्जी है, तो ग्लूटेन आपकी छोटी आंत की परत में चिड़चिड़ाहट पैदा कर सकता है जिससे सूजन हो सकती है या वो क्षतिग्रस्त हो सकती हैं। ग्लूटेन, इरीटेबल बॉवेल सिंड्रोम (आईबीएस) (irritable bowel syndrome (IBS)) या गैर-सीलिएक ग्लूटेन संवेदनशीलता (non-coeliac gluten sensitivity) वाले लोगों को प्रभावित कर सकता है, लेकिन वर्तमान में इस बारे में कोई निश्चित साक्ष्य नहीं मिले हैं।

यदि आपको सीलिएक रोग (coeliac disease) या गेहूं से एलर्जी (wheat allergy) है तो आपके आहार से ग्लूटेन को खत्म करना महत्वपूर्ण है। हालांकि, अपने आहार को बदलने से पहले एक डॉक्टर को अवश्य दिखा लें।

अपने आहार से ग्लूटेन को कैसे हटाएं

अपने आहार से ग्लूटेन (gluten) को हटाना कई कारणों से मुश्किल हो सकता है। सबसे पहले, आपको ब्रेड, पास्ता, केक, बीयर और नाश्ते के अनाज के स्वादिष्ट विकल्प ढूंढना मुश्किल लग सकता है। दूसरा, ग्लूटेन अक्सर उन खाद्य पदार्थों में पाया जाता है जिनमें आप उम्‍मीद भी नहीं कर सकते हैं जैसे सॉसेज और तैयार भोजन। इसके लिए आप फूड लेबल को सावधानीपूर्वक पढ़ें और ग्‍लूटेन को गलती से खाने से बचें। इस प्रकार की सामग्रियों से बने पदार्थों को ध्यान से देखें:

  • गेहूँ
  • राई
  • जौं

ग्लूटेन-मुक्त होने के जोखिम क्या हैं?

कई खाद्य पदार्थ जिनमें ग्लूटेन होता है वे फाइबर (fibre), आयरन (iron) और अन्य आवश्यक पोषक ( other essential nutrients) तत्वों के महत्वपूर्ण स्रोत होते हैं। अगर आप ग्लूटेन-मुक्त आहार का सेवन शुरू करने वाले हैं तो आपको पोषण की कमी के बढ़ने से होने वाले जोखिम को कम करने के लिए कोई वैकल्पिक स्रोत ढूंढना होगा। इसके लिए आप किसी डॉक्टर या डायटिशियन (dietician) से बात करें। ऐसा करने से आपको डाइट प्लान (diet plan) बनाने में मदद मिलेगी जिससे आपको होने वाले जोखिम में कमी आएगी।

डेयरी-मुक्त होने के बारे में आपको क्या जानने की जरूरत है

दूध (milk) या दही (yoghurt) जैसे डेयरी उत्पादों में लैक्टोज (lactose) नामक एक शर्करा होती है। कुछ लोगों में लैक्टोज (लैक्टोज असहनशीलता) के प्रति प्रतिक्रिया होती है, जिसके लक्षण निम्न प्रकार के होते हैं:

  • दस्त या डायरिया (diarrhoea)
  • सूजन या ब्लोटिंग (bloating)
  • पेट में दर्द (stomach cramps)
  • मतली (nausea)

क्या आपको ऐसा लगता है कि आपको लैक्टोस असहनशीलता है?

अगर ऐसा है तो डेयरी-मुक्त (dairy-free) आहार का सेवन आपके लिए एक अच्‍छा विकल्‍प है लेकिन ऐसा करने के कुछ नुकसान भी हैं।

डेयरी-मुक्त होने के जोखिम क्या हैं? (What are the risks of going dairy-free?)

डेयरी कैल्शियम, विटामिन डी और विटामिन बी 12 का अच्छा स्रोत है। एक डेयरी-मुक्त आहार आप में इन पोषक तत्वों की कमी कर सकता है और ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis) के विकास की संभावनाओं को बढ़ा सकता है। यदि आप डेयरी-मुक्त आहार लेने के बारे में सोच रहे हैं, तो कैल्शियम, विटामिन डी और विटामिन बी 12 के वैकल्पिक स्रोतों के बारे में डॉक्टर से बात करें।

एक ग्लूटेन (gluten) या डेयरी मुक्त (dairy-free) आहार (diet) के विकल्प क्या हैं?

यदि आपको सीलिएक रोग है, लैक्टोज असहनशीलता या कोई अन्य मेडिकल कंडीशन है, तो आपके इन लक्षणों को नियंत्रित करने के लिए ग्लूटेन (gluten) या डेयरी मुक्त (dairy-free) आहार (diet) एक बेहतर विकल्प है। अपने डॉक्टर से मिलें, बाद के फॉलो-अप को भी शेड्यूल रखें जोकि किसी भी डाइट प्लान के बदलाव के दौरान जरूरी होता है।

क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।