COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
7 min read

स्टेरॉयड टैब्लेट (Steroid tablets)

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है।

स्टेरॉयड टैब्लेट (steroid tablets) जिन्हें कॉर्टिकोस्टेरॉइड टैब्लेट(corticosteroid tablet) भी कहा जाता है, एक प्रकार की एंटी-इन्फ्लामेट्री (anti-inflammatory) दवा होती हैं जिनका इस्तेमाल कई तरह की स्थितियों में इलाज के लिए किया जाता है।

इनका उपयोग एलर्जी (allergies), अस्थमा (asthma), एक्ज़ीमा (eczema), इन्फ्लामेट्री आन्त्र रोग (inflammatory bowel disease) और आर्थराइटिस arthritis) जैसी स्थितियों के इलाज में किया जाता है।

स्टेरॉयड टैब्लेट केवल डॉक्टर के पर्चे पर ही उपबल्ध होती हैं। ये घुलने वाली, लिक्विड और सिरप के रूप में भी उपलब्ध हैं।

कुछ सामान्य उदाहरणों में प्रेडनिसोलोन (prednisolone), बीटामेथासोन (betamethasone) और डेक्सामेथासोन (dexamethasone) शामिल हैं।

इस पेज में निम्न विषयों पर जानकारी दी गयी है हैं:

  • इन्हें कब और कैसे लेना चाहिए
  • दुष्प्रभावों का सामना करना
  • इन्हें अन्य दवाओं, भोजन या शराब के साथ लेना
  • इन्हें कौन ले सकता है? (गर्भावस्था से जुड़ी सलाह)
  • ये कैसे काम करती हैं?

स्टेरॉयड टैब्लेट (steroid tablets) कैसे और कब लेनी चाहिए?

डॉक्टर की सलाह के अनुसार अपनी दवा लें। वो आपको समझाएंगे कि उसकी कितनी खुराक कितनी बार लेनी है।

आमतौर पर स्टेरॉयड दवाइयां खाने के साथ या खाने (मुख्य तौर पर नाश्ते) के तुरंत बाद लेना सबसे अच्छा माना जाता है क्योंकि इससे वो आपके पेट में जलन पैदा नहीं करेंगी।

अगर आप एक खुराक भूल जाएं या फिर बहुत ज्यादा ले ली हो (If you miss a dose or take too much)

अगर आप एक खुराक भूल जाते हैं तो जितनी जल्दी आपको याद आए आप इसे ले लीजिए। अगर अगली खुराक का समय हो गया हो, तो जो खुराक आप भूल गए हैं उसे छोड़ दें।

जो खुराक आप भूल गए हैं, उसे पूरा करने के लिए दवा की दोगुनी खुराक ना लें।

एक बार बंद करने के बाद फिर अचानक कई स्टेरॉयड की दवा लेना नुकसानदायक होता है। अगर आप चिंतित हैं तो डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बात करें।

लंबी अवधि तक स्टेरॉयड दवाइयां लेने से आपको साइड इफेक्ट होने की अधिक संभावना रहती है।

इलाज बंद करना (Coming off treatment)

अपने डॉक्टर से सलाह लिए बिना दवा लेना बंद ना करें।

अगर आप कई दिनों से स्टेरॉयड की गोली ले रहे हैं तो आपको इसकी खुराक को धीरे-धीरे कम करना होगा।

ये दुष्प्रभावों से बचने में मदद कर सकता है (दवा छोड़ते वक्त होने वाले दुष्प्रभाव)।

जैसे गंभीर थकान, जोड़ों में दर्द, उल्टी और चक्कर आना - और आपके मूल लक्षणों को अचानक से वापस आने से रोकना।

स्टेरॉयड दवाइयों के दुष्प्रभाव

तीन हफ्ते से कम समय तक स्टेरॉयड दवाइयां लेने से कोई खास दुष्प्रभाव नहीं होता है लेकिन अगर आप इसे लंबे समय तक या इसकी अधिक खुराक लेते हैं तो आपको कुछ दुष्प्रभाव हो सकते हैं।

स्टेरॉयड टैब्लेट (steroid tablets) के निम्न दुष्प्रभाव हो सकते हैं:

  • अपच या पेट में जलन
  • भूख में वृद्धि जिससे वजन बढ़ सकता है
  • सोने में परेशानी
  • मूड और व्यवहार में परिवर्तन जैसे चिड़चिड़ापन या बेचैनी महसूस होना
  • संक्रमण का बढ़ा हुआ खतरा खासकर, चेचक (chickenpox), दाद (shingles) और खसरा (measles)
  • उच्च ब्लड शुगर या डायबिटीज़
  • हड्डियों की कमज़ोरी (osteoporosis)
  • उच्च रक्तचाप
  • कुशिंग सिंड्रोम (cushing’s syndrome) - पतली त्वचा जो आसानी से छिल जाए, खिंचाव के निशान और चेहरे पर वसा (fat) का जमा होना इसके लक्षण हैं
  • आंखों की स्थिति जैसे कि ग्लूकोमा (glaucoma) और मोतियाबिंद (cataracts)
  • मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ी परेशानियां जैसे डिप्रेशन या आत्महत्या से जुड़े ख्याल

जैसे ही आपका ट्रीटमेंट बंद होता है, अधिकांश दुष्प्रभाव खत्म हो जाते हैं। अगर ये आपको फिर भी परेशान करें, तो अपने डॉक्टर को बताएं।

स्टेरॉयड टैब्लेट ((steroid tablets) के दुष्प्रभावों को कम करना

स्टेरॉयड दवाइयों के दुष्प्रभावों को कम करने के सुझाव:

  • अपनी दवा को सुबह नाश्ते के साथ लें (हालांकि कुछ विशेष रूप से कोटेड दवाईयों को खाली पेट भी लिया जा सकता है) – ये अपच, पेट में जलन और सोने में परेशानी को रोकने में मदद कर सकता है।
  • स्वस्थ और संतुलित आहार लें और रोज़ व्यायाम करें - ये वजन बढ़ने और ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis) को रोकने में मदद कर सकता है।
  • जो लोग बीमार हैं, उनके सम्पर्क में आने से बचें - अगर आपको लगता है कि आप किसी ऐसे इंसान के सम्पर्क में आए हैं, जो किसी संक्रमण से ग्रसित है तो तुरंत डॉक्टरी सलाह लें।
  • इस बात को सुनिश्चित करें कि आपके सभी टीके (vaccines) अपडेट हों - लेकिन आपके शरीर में “शिंगल्स वैक्सीन” जैसा कोई लाइव टीका नहीं हो।

अगर आपको किसी प्रकार के दुष्प्रभाव हो रहे हैं तो डॉक्टर आपको दवाई की कम खुराक या फिर कम बार लेने (उदाहरण के तौर पर, एक दिन छोड़कर) की सलाह दे सकते हैं।

कुछ दुष्प्रभावों को कम करने के लिए वे आपको स्टेरॉयड के साथ कुछ अन्य दवाइयां लेने की सलाह दे सकते हैं। ऐसी दवाइयां जो पेट में जलन और अपच को रोकने में कारगर हो।

आपको एक खास स्टेरॉयड उपचार (steroid treatment) कार्ड दिया जा सकता है, जो आपको समझाएगा कि कैसे आप साइड इफेक्ट्स के खतरे को कम कर सकते हैं।

किसी अन्य दवा, खाने या फिर एल्कोहल के साथ स्टेरॉयड दवाई लेना (Taking Steroid tablets with other medicines, food or alcohol)

कुछ दवाइयां, स्टेरॉयड के काम करने के तरीके पर असर डालती हैं। अगर आप हर्बल उपचार या सप्लीमेंट सहित कोई अन्य दवा ले रहे हैं तो स्टेरॉयड दवा शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर को बताएं।

अगर आप पहले से ही स्टेरॉयड टैब्लेट(steroid tablets) ले रहे हैं तो कोई अन्य दवा, उपचार या सप्लीमेंट लेने से पहले, अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से सलाह लें।

स्टेरॉयड दवाइयां लेने के साथ आप आमतौर पर अल्कोहल ले सकते हैं, पर बहुत अधिक ना पीयें क्योंकि इससे आपके पेट में परेशानी हो सकती है।

स्टेरॉयड दवाइयां लेते हुए आप लगभग सब कुछ खा सकते हैं।

प्रेडनिसोलोन (prednisolone) लेते वक्त शराब का सेवन ना करें। हालांकि ये आपके शरीर में दवा की मात्रा बढ़ा सकती है।

स्टेरॉयड दवाइयां कौन ले सकता है?

ज्यादातर लोग स्टेरॉयड दवाइयां ले सकते हैं।

इलाज शुरू करने से पहले अपने डॉक्टर को इन स्थितियों के बारे में जरूर बताइए:

  • पहले कभी आपको स्टेरॉयड (steroids) से कोई एलर्जी हुई है
  • आपको कोई इंन्फेक्शन है (आंखों का इन्फेक्शन भी)
  • अगर आपने हाल ही में कोई टीका लगवाया है या लगवाने वाले हैं
  • कोई ताजा जख्म है जो अभी तक भरा नहीं है
  • प्रेग्नेंट हैं, स्तनपान करवाती हैं या फिर बच्चे के लिए कोशिश कर रहे हैं
  • अन्य कोई स्थिति जैसे डायबिटीज़ (diabetes), मिर्गी (epilepsy), उच्च रक्तचाप (high blood pressure) या फिर दिल, लिवर और किडनी से जुड़ी समस्या हो

स्टेरॉयड दवाइयां इन मामलों में उपयुक्त नहीं मानी जाती है। हालांकि डॉक्टर आपको इन्हें लेने की सलाह दे सकते हैं, अगर उसे लगे कि इससे कोई जोखिम नहीं बल्कि आपको फायदा पहुंचेगा।

स्टेरॉयड दवाइयां कैसे काम करती हैं? (How Steroid tablets work)

स्टेरॉयड इंसानों के द्वारा बनाया गया एक हॉर्मोन है जो आमतौर पर किडनी के ऊपर पाई जाने वाली दो छोटी ग्रंथियों, अधिवृक्क ग्रंथि (adrenal glands) के द्वारा बनाया जाता है।

जब इसे आपके शरीर में सामान्य रूप से बनने वाली मात्रा से अधिक लिया जाता है तो स्टेरॉयड लालिमा और सूजन (inflammation) को कम करता है। ये अस्थमा (asthma) और एक्ज़ीमा (eczema) जैसी इन्फ्लेमेटरी कंडीशन्स (inflammatory conditions) में मदद करता है।

स्टेरॉयड (steroid) रोगों और संक्रमण से लड़ने वाली शरीर की प्राकृतिक प्रतिऱोधक क्षमता, प्रतिरक्षा प्रणाली की गतिविधि को भी कम करता है।

ये प्रतिरक्षा प्रणाली के द्वारा गलती से शरीर पर हमला करने के कारण होने वाली ऑटोइम्यून स्थितियों (autoimmune conditions) जैसे रूमेटोइड गठिया (rheumatoid arthritis), या लुप्स (lupus), का इलाज करने में मदद कर सकता है।

स्टेरॉयड दवाइयां एनाबॉलिक स्टेरॉयड्स (anabolic steroids) से अलग होती हैं, जो कि एथलीट्स और बॉडी बिल्डर्स के द्वारा अपने प्रदर्शन में सुधार के लिए लिया जाता है।

NHS के मूल कॉन्टेंट का अनुवादHealthily लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।