COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
3 min read

रात में पसीना आना (night sweats)

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है।

रात में पसीने (night sweats) से परेशान लोग पाते हैं कि रूम का तापमान सामान्य या ठंडा होने पर भी उनके कपड़े और बिस्तर पसीने से भीग जाते हैं। पसीना आने की (sweating) यह अजीब व असामान्य स्थिति परेशानी भरी तो है लेकिन आमतौर पर इससे कोई नुकसान नहीं होता है।

हालांकि रात में पसीना (night sweats) आने की समस्या कभी-कभी अंदरूनी स्वास्थ्य अवस्था की वजह से भी हो सकती है। अगर आपको बार-बार इस समस्या का सामना करना पड़ता है और आप इसे लेकर चिंतित हैं तो डॉक्टर (doctor) को दिखाना चाहिए।

इस बीच आप रात में पसीना (night sweats) आने की संभावित वजह का एक बेहतर अनुमान इस बारे में पढ़कर प्राप्त कर सकते हैं। हालांकि आपको इस पेज का इस्तेमाल अवस्था का खुद से पता लगाने के लिए नहीं करना चाहिए। इसे हमेशा अपने डॉक्टर पर छोड़ दें।

रात में पसीना (night sweats) आने की स्थिति के लिए चिकित्सीय शब्द नॉक्टरनल हाइपरहाइड्रोसिस (nocturnal hyperhidrosis) है। आमतौर पर इसका मतलब है रात के समय अत्यधिक पसीना आना।

इसके क्या कारण हैं?

मुख्य अवस्थाएं और दवाइयाँ, जो रात में पसीने (night sweats) की वजह बनती हैं, उनके बारे में नीचे बताया गया है। हालांकि यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि नीचे वर्णित स्थितियों में पसीने के अलावा भी कई अन्य विशेष लक्षण पैदा होंगे:

  • रजोनिवृत्ति (the menopause)
  • ऑब्सट्रक्टिव स्लीप एपनिया (obstructive sleep apnoea), यह एक ऐसी अवस्था है जो सोने के दौरान सांस लेने में रुकावट का कारण बनती है।
  • दवाइयाँ- एंटीडिप्रेसेंट (antidepressants) और मानसिक समस्याओं के लिए इस्तेमाल होने वाली कुछ अन्य दवाएं (psychiatric drugs) कभी-कभी रात में पसीने की वजह बनती हैं, जैसे कि एस्पिरिन (aspirin) और स्टेरॉइडल दवा प्रेडनिसोलोन।
  • शराब का सेवन और ड्रग का गलत इस्तेमाल। मुख्य रूप से हेरोइन (heroine) का इस्तेमाल।
  • हाइपोग्लाइसीमिया: लो ब्लड शुगर, जो सामान्य रूप से डायबिटीज और इंसुलिन (insulin) लेने से सम्बन्धित है।
  • संक्रमण: ट्यूबरक्लोसिस (tuberculosis) सबसे सामान्य संक्रमण है जो रात के पसीने (night sweats) से सम्बंधित है। लेकिन पसीना अन्य संक्रमणों के कारण भी हो सकता है। इसमें एंडोकार्डाइटिस (endocarditis) हृदय के वॉल्व में सूजन, ऑस्टियोमाइलाइटिस (एक प्रकार का हड्डियों का संक्रमण), एबसीस (abscesses) और एचआईवी शामिल हैं।
  • कैंसर (cancer): रात में पसीना आना कुछ प्रकार के कैंसर जैसे कि लिम्फोमा (lymphoma) या ल्यूकेमिया के सामान्य लक्षण हो सकते हैं। हालांकि ये सामान्य है और कैंसर के अन्य लक्षण (जैसे कि अस्पष्ट रूप से वज़न का घटना) भी पैदा हो सकते हैं।
  • हार्मोन डिसऑर्डर जैसे कि फीयोक्रोमोसाइटोमा (pheochromocytoma) और कार्सिनॉइड सिंड्रोम (carcinoid syndrome) (एक ऐसा ट्यूमर जो शरीर को ज़्यादा हार्मोन निर्माण करने का कारण बनता है।) और एक अत्यधिक सक्रिय थायराइड ग्रंथि (thyroid gland)
  • गैस्ट्रोएसोफेगल रिफ्लक्स डिजीज (GORD), जिसमें पेट का एसिड पेट से ग्रसिका (gullet) में रिसने लगता है। हालांकि रात में पसीना (night sweats) आना इसका सामान्य लक्षण नहीं है।

रात में पसीने आने के पीछे कोई स्पष्ट वजह न हो, ऐसा भी हो सकता है। और हर बार ऐसा होने की वजह से आपको झुंझलाहट हो सकती है। जब कारण ज्ञात न हो, तो इसे इडियोपैथिक हाइपरहाइड्रोसिस (idiopathic hyperhidrosis) के रूप में जाना जाता है

NHS के मूल कॉन्टेंट का अनुवादHealthily लोगो
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।