COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
5 min read

वयस्कों में मुँह के छाले(Oral thrush in adults)

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां

छाले होना एक प्रकार का फंगल संक्रमण हैं। यह संक्रामक नहीं होता और एंटीफंगल (antifungal) दवाईयों से इसका सफलतापूर्वक इलाज किया जा सकता है।

इसे ओरल कैंडिडोसिस (oral candidosis) भी कहते हैं क्योंकि ये कैंडिडा जाति (Candida) के यीस्ट के कारण फैलता है।

मुँह के छाले के लक्षण

मुंह के छालों के लक्षण में शामिल हो सकते हैं:

  • सफेद धब्बे या प्लाक (plaque) जो आमतौर पर पूरी तरह ठीक किए जा सकते हैं, लेकिन इनसे लाल निशान पड़ जाते हैं जिनसे खून भी निकल सकता है।
  • स्वाद का ना महसूस होना या खराब स्वाद महसूस करना
  • मुँह और गले के भीतर का भाग लाल हो जाना
  • मुँह के किनारों का फटना
  • मुँह के भीतर दर्द और जलन महसूस होना

कुछ मामलों में छाले के लक्षण खाने पीने में परेशानी पैदा कर सकते हैं।

डॉक्टर को कब दिखाएं

यदि आपमें छाले के लक्षण विकसित होते हैं तो अपने डॉक्टर से बात करें। यदि इसका इलाज नहीं हुआ तो लक्षण बने रहेंगे और आपका मुँह असहज महसूस करता रहेगा।

गम्भीर मामलों में अगर उपचार न मिले तो संक्रमण शरीर के भीतर फैलने का खतरा रहता है जो गंभीर भी हो सकता है।

आपके डॉक्टर आपके मुँह की सामान्य जांच करके छालों का पता लगा लेंगे। कभी-कभी छालों के साथ अन्य स्थितियों जैसे कि मधुमेह (diabetes) और पोषक तत्वों की कमी का पता लगाने के लिए खून जांच की सलाह भी दी जा सकती है।

मुंह के छाले होने की वजह

थोड़े बहुत फंगस कैंडिडा (Candida) ज़्यादातर लोगों में प्राकृतिक रूप से पाए जाते हैं और किसी परेशानी की वजह नहीं बनते हैं। लेकिन अगर वे बढ़ने लगें तो छाले हो सकते हैं।

यह विभिन्न कारणों से होता है, जैसे:

  • एंटीबायोटिक (antibiotics) दवाओं का अधिक मात्रा में सेवन करना, विशेष रूप से लंबे समय तक
  • अस्थमा के लिए सांस की दवा कॉर्टिकोस्टेरॉइड (corticosteroid) का लेना
  • डेन्चर (dentures) या नकली दाँत लगाने पर उनका ठीक तरह फिट न होना
  • मुँह का खराब रख-रखाव
  • मुँह सूखा रहना, मेडिकल कंडीशन या आपके द्वारा ली जा रही दवाई की वजह से ऐसा हो सकता है
  • धूम्रपान
  • कैंसर के उपचार में कीमोथेरेपी (chemotherapy) या रेडियोथेरेपी (radiotherapy) करवाने से

शिशुओं, छोटे बच्चों और बुजुर्गों के साथ ही कुछ विशेष परिस्थिति के लोगों में छाले होने का खतरा अधिक होता है। इनमें मधुमेह, आयरन की कमी या विटामिन बी 12 की कमी, अंडरएक्टिव थायरॉयड (hypothyroidism) और एचआईवी (HIV) से ग्रस्त लोग शामिल हैं।

ज़्यादातर लोगों के मुँह में कैंडिडा (Candida) फंगस पहले से मौजूद होता है इसलिए ये संक्रामक नहीं है अर्थात ये दूसरों में नहीं फैल सकता है।

मुंह के छालों का उपचार

छालों को एंटीफंगल दवाओं (antifungal medicines) द्वारा सफलतापूर्वक ठीक किया जा सकता है। ये आमतौर पर जेल या द्रव के रूप में आते हैं जिन्हें सीधे मुँह में लगाया जाता है। लेकिन कभी-कभी गोली और कैप्सूल का भी इस्तेमाल किया जाता है।

लगाने वाली दवाओं को आमतौर पर 7 से 14 दिनों तक दिन में कई बार लगाया जाता है। गोली या कैप्सूल दिन भर में एक बार लेना होता है।

इन दवाओं का कोई दुष्प्रभाव नहीं होता है हालांकि कुछ से मितली, उल्टी, सूजन, पेटदर्द और डायरिया (diarrhoea) हो सकता है।

यदि एंटीबायोटिक्स (antibiotics) या कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स (corticosteroids) को आपके छालों का कारण माना जाता है, तो दवा या उसे देने के तरीके में बदलाव कर सकते हैं या खुराक को कम किया जा सकता है।

मुंह के छालों की रोकथाम

इन तरीकों से आप छालों को बढ़ने से रोक सकते हैं:

  • खाने के बाद मुँह की सफाई
  • दिन में दो बार फ्लोराइड (fluoride) युक्त टूथपेस्ट से ब्रश करें। दांतों को नियमित रूप से साफ करें।
  • अपने डेंटिस्ट के पास चेकअप के लिए नियमित रूप से जाएं तब भी जब आप डेन्चर पहनते हों या आपके दांत ना हों।
  • हर रात अपने डेन्चर को निकालकर पानी और डेन्चर क्लीनिंग टैबलेट के घोल में रखने से पहले उसे साबुन से अच्छी तरह साफ कर लें।
  • यदि आप डेन्चर पहनते हैं या आपके दांत नहीं हैं तो अपने मसूड़ों, जीभ और मुंह के अंदर नरम ब्रश से दिन में दो बार ब्रश करें।
  • यदि आपका डेन्चर ठीक से फिट नहीं हो रहा है तो डेंटिस्ट को दिखाएं।
  • यदि आप धूम्रपान करते हैं तो उसे त्याग दें।
  • दवाई के लिए कॉर्टिकोस्टेरॉइड इन्हेलर (corticosteroid inhaler) और स्पेसर (एक प्लास्टिक का सिलेंडर जो इन्हेलर से जुड़ा होता है) का प्रयोग करने के बाद मुँह को अच्छी तरह धुलें और पानी का कुल्ला करके थूक दें।
  • यदि आपको स्वास्थ्य संबंधी कोई परेशानी जैसे मधुमेह (diabetes) है तो सुनिश्चित कर लें कि वह नियंत्रण में है।

यदि आपकी स्थिति ऐसी है जो आपको छालों के बढ़ने के बड़े खतरे में डाल सकती है तो आपके डॉक्टर इसे रोकने के लिए एंटीफंगल (antifungal) दवा लेने की सलाह दे सकते हैं।

डेन्चर (denture) के रख-रखाव और दंत स्वास्थ्य के विषय में और पढ़ें।

सामग्री का स्त्रोतNHS लोगोnhs.uk
क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

आगे क्या पढ़ें

पुरुषों में छाले

थ्रश एक प्रकार का फ़ंगल संक्रमण है जो कैंडिडा अल्बीकेन्स (Candida albicans) नामक फंगस से होता है। स्त्री और पुरुष दोनों को ही ये हो सकता है परंतु इसक...