COVID-19: नवीनतम सूचनाओं के लिए यहाँ क्लिक करें

×
30th May, 20193 min read

स्त्री स्वच्छता (Feminine hygiene): योनि स्वास्थ्य से संबंधित भ्रांतियाँ

मेडिकल समीक्षा के साथ

स्वास्थ्य संबंधी सभी लेखों की चिकित्सीय सुरक्षा जांच की जाती है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जानकारी चिकित्सकीय रूप से सुरक्षित है। अधिक जानकारी के लिए हमारी सम्पादकीय नीति देखें।

यह लेख मूल रूप से अंग्रेजी में लिखा गया था। इस लेख का मूल संस्करण यहां देखा जा सकता है।

योनि स्वास्थ्य (vaginal health) के बारे में बहुत सारी गलत जानकारी उपलब्ध है, एक पूरे उद्योग के लिए जो स्त्री स्वच्छता (‘feminine hygiene’) को समर्पित है। वास्तव में, योनि स्वयं को साफ करने में सक्षम है, इसलिए स्त्री स्वच्छता उत्पाद अनावश्यक हैं, और वो खतरनाक भी हो सकते हैं।
यहां हम योनि की शारीरिक रचना को रेखांकित करेंगे, यह कैसे खुद को साफ करती है, और स्त्रैण स्वच्छता को लेकर कई भ्रांतियाँ हैं, उनसे होने वाले नुक़सान पर भी चर्चा करेंगे।

योनि क्या है?

योनि एक मस्कूलर ट्यूब (muscular tube) है जो गर्भाशय ग्रीवा (cervix) को योनि के मुख (vaginal opening) से जोड़ती है। कभी-कभी ‘योनि’ शब्द का उपयोग सभी बाहरी महिला जननांगों को संदर्भित करने के लिए किया जाता है, लेकिन बाहरी जननांग (external genitalia) को वास्तव में वल्वा (vulva) कहा जाता है।
वल्वा ग्लैंस क्लिटोरिस (glans clitoris), लेबिया मिनोरा (labia minora), लेबिया मेजोरा (labia majora) और मूत्रमार्ग के छिद्र और योनि से बना है।

योनि खुद कैसे साफ होती है?

प्राकृतिक स्राव (जिसे डिस्चार्ज भी कहा जाता है) जो गर्भाशय ग्रीवा (cervix) से उत्पन्न होती हैं के कारण योनि साफ रहने में सक्षम है।
स्वस्थ स्त्राव में तेज गंध या रंग नहीं होना चाहिए। योनि स्राव (vaginal discharge) का गाढ़ापन मासिक धर्म चक्र (menstrual cycle) के दौरान अलग होगा, और उसकी मात्रा बढ़ या घट सकती है।
यदि आप असामान्य स्त्राव (abnormal discharge) का अनुभव करती हैं, या यह गंध (smell), रंग बदलना (change colour) या खुजली (itch) का कारण बनने लगता है, तो आपको अपने डॉक्टर को दिखाना चाहिए।
योनि में बैक्टीरिया भी होते हैं, जो कुछ अलग तरीकों से संक्रमण को रोकने में मदद करते हैं। सबसे पहले, योनि में अच्छे बैक्टीरिया आमतौर पर किसी भी खराब बैक्टीरिया से ज़्यादा मात्रा में होते हैं जो योनि में प्रवेश करते हैं। अच्छे बैक्टीरिया निम्न प्रभाव भी डालते हैं:
• योनि में एक स्वस्थ पीएच स्तर (healthy pH level) बनाए रखना
• खराब बैक्टीरिया की मात्रा को कम करने या कम करने के लिए प्राकृतिक एंटीबायोटिक्स का उत्पादन करते हैं
• खराब बैक्टीरिया को योनि की दीवारों से चिपके रहने और उस ऊतक पर हमला करने से रोकते हैं।

‘स्त्री स्वच्छता’ (feminine hygiene) की प्रचलित भ्रांतियाँ क्यों खतरनाक हैं?

फेमिनिन हाइजीन से सम्बंधित भ्रांतियाँ, जैसे डाउचिंग (douching), सुगंधित वाइप्स (scented wipes), या वेजाइनल डिओडोरेंट (vaginal deodorant), खतरनाक हो सकते हैं, क्योंकि वे योनि में अच्छे बैक्टीरिया को बाधित करते हैं, जिससे असंतुलित वातावरण बनता है।
यदि योनि का पीएच स्तर (pH level) बढ़ने में सक्षम है, तो खराब बैक्टीरिया की संख्या भी बढ़ सकती है। इससे बैक्टीरियल वेजिनोसिस (bacterial vaginosis) और थ्रश (thrush) जैसे संक्रमण हो सकते हैं।
सेंटिड वाइप्स का उपयोग करने या डाउचिंग के बजाय, हर दिन बिना खुशबू वाले साबुन और पानी के साथ धीरे से साफ करें। आपको योनि को धोने की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि यह स्वयं को साफ करता है।
अपनी योनि को लेकर चिंतत कब हों
यदि आप निम्नलिखित लक्षणों में से किसी का अनुभव करते हैं, तो अपने डॉक्टर से मिलें। वे एक योनि संक्रमण या एक अन्य स्त्री रोग संबंधी (gynaecological) स्थिति का संकेत दे सकते हैं:
• योनि में जलन (vaginal irritation)
• योनि स्राव (vaginal discharge) की मात्रा, रंग या गंध में परिवर्तन
• योनीमुख के आसपास लाल होना (redness around the vulva)
• खुजली (itching)
• सेक्स के दौरान या बाद में रक्तस्राव (bleeding)
• सेक्स के दौरान दर्द (pain during sex)
• पीरियड्स के बीच खून आना (bleeding)
• रजोनिवृत्ति (menopause) के बाद रक्तस्राव (bleeding)
• पेशाब करते समय दर्द (pain when peeing)
• पैल्विक दर्द (pelvic pain) (आपके पेट और जांघों के बीच कोई दर्द)।

क्या यह लेख उपयोगी था?

महत्वपूर्ण सूचना: हमारी वेबसाइट उपयोगी जानकारी प्रदान करती है लेकिन ये जानकारी चिकित्सीय सलाह का विकल्प नहीं है। अपने स्वास्थ्य के बारे में कोई निर्णय लेते समय आपको हमेशा अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।